Tuesday, October 26, 2021

एफएसएन ई-कॉमर्स वेंचर्स लिमिटेड का आईपीओ 28 अक्टूबर, 2021 को खुलेगा

मुंबई, 26 अक्टूबर, 2021:एफएसएन ई-कॉमर्स वेंचर्स लिमिटेड (''कंपनी'') अपने आईपीओ (''ऑफर'') की निविदा/ऑफर अवधि 28 अक्टूबर, 2021 को खोलेगा।

ऑफर का प्राइस बैंड 1,085 रु. से 1,125 रु. प्रति इक्विटी शेयरके बीच तय किया गया है। न्‍यूनतम 12 इक्विटी शेयर्स और उसके बाद 12 इक्विटी शेयर्स के गुणकों में बोलियां लगायी जा सकती हैं।

आईपीओ में कुल 630 करोड़ रु. तक के इक्विटी शेयर्स का फ्रेश इश्‍यू (''फ्रेश इश्‍यू'') शामिल है और विक्रेता शेयरधारकों द्वारा 41,972,660 इक्विटी शेयर्स का ऑफर फॉर सेल उपलब्‍ध कराया जा रहा है।

ऑफर में पात्र कर्मचारियों द्वारा खरीद के लिए 250,000 इक्व्टिी शेयर्स तक का आरक्षण शामिल है।

यह ऑफर सिक्‍योरिटीज कंट्रैक्‍ट्स (रेग्‍यूलेशन) रूल्‍स, 1957, यथा संशोधित (''एससीआरआर'') के नियम 19(2)(बी) की शर्तों जिन्‍हें सेबी आईसीडीआर विनियमन के नियम 31 के साथ पढ़ा जाये, के अनुसार है। इस ऑफर को सेबी आईसीडीआर विनियमन के विनियम 6(2) की शर्तों के अनुसार बुक बिल्डिंग प्रक्रिया के जरिए उपलब्‍ध कराया जा रहा हैजिसमें नेट ऑफर का न्‍यूनतम 75 प्रतिशत पात्र संस्‍थागत खरीदारों (''क्यूआईबी'' और इस तरह का हिस्‍सा, ''क्‍यूआईबी पोर्शन'') को आनुपातिक आधार पर आवंटित किये जाने के लिए उपलब्‍ध होगा, बशर्ते हमारी कंपनी, लीड मैनेजर्स के परामर्श से विवेकानुसार क्‍यूआईबी हिस्‍से का 60 प्रतिशत तक एंकर निवेशकों को आवंटित कर सकती है, जिसमें से एक-तिहाई केवल घरेलू म्‍यूचुअल फंड्स के लिए आरक्षित होगा, बशर्ते सेबी आईसीडीआर विनियमनों के अनुसार घरेलू म्‍यूचुअल फंड्स से एंकर निवेशक आवंटन मूल्‍य पर या इससे अधिक मूल्‍य पर वैध बोलियां प्राप्‍त हों। एंकर निवेशक हिस्‍से में पर्याप्‍त सब्‍सक्रिप्‍शन नहीं होने पर या अनावंटन की स्थिति में, शेष इक्विटी शेयर्स शुद्ध क्‍यूआईबी पोर्शन में जुड़ जायेंगे।

आगे, नेट क्‍यूआईबी पोर्शन का 5 प्रतिशत आनुपातिक आधार पर केवल म्‍यूचुअल फंड्स को आवंटित किये जाने के लिए उपलब्‍ध होगा, और नेट क्‍यूआईबी पोर्शन का शेष हिस्‍सा आनुपातिक आधार पर म्‍यूचुअल फंड्स सहित सभी क्‍यूआईबी बोलीदाताओं (एंकर निवेशकों को छोड़कर) को आवंटित किये जाने के लिए उपलब्‍ध होगा, बशर्ते वैध बोलियां ऑफर मूल्‍य या इससे ऊपर प्राप्‍त हों।हालांकि, अगर म्यूचुअल फंड से कुल मांग क्यूआईबी हिस्से के 5% से कम है, तो म्यूचुअल फंड हिस्से में आवंटन के लिए उपलब्ध शेष इक्विटी शेयरों को क्यूआईबी के आनुपातिक आवंटन के लिए शेष शुद्ध क्यूआईबी हिस्से में जोड़ा जाएगा। आगे, नेट ऑफर का 15 प्रतिशत से अनधिक हिस्‍सा आनुपातिक आधार पर गैर-संस्‍थागत बोलीदाताओं को आवंटित किये जाने के लिए उपलब्‍ध होगा और नेट ऑफर का 10 प्रतिशत से अनधिक हिस्‍सा सेबी आईसीडीआर विनियमनों के अनुसार खुदरा व्‍यक्तिगत बोलीदाताओं (''आरआईबी'') को आवंटित किये जाने के लिए उपलब्‍ध होगा, बशर्ते वैध बोलियां ऑफर मूल्‍य या इससे अधिक पर प्राप्‍त हों।सभी बोलीदाताओं (एंकर निवेशकों को छोड़कर) को अनिवार्य रूप से अप्लिकेशन सपोर्टेड बाय ब्‍लॉक्‍ड एमाउंट (''एएसबीए'') का प्रयोग करना होगा और अपने-अपने एएसबीए खातों और यूपीआई मेकेनिज्‍म का उपयोग करने की स्थिति में यूपीआई आईडी प्रदान करना होगा, जिसके अनुसार उनकी संबंधित निविदा राशि सेल्‍फ सर्टिफाइड सिंडिकेट बैंक (''एससीएसबी'') या स्‍पॉन्‍सर बैंक द्वारा ब्‍लॉक कर दी जायेगी। एंकर निवेशकों को एएसबीए प्रक्रिया के जरिए ऑफर में भाग लेने की अनुमति नहीं है।

जानकारी हेतु, रेड हेरिंग प्रॉस्‍पेक्‍टस के पृष्ठ 446 से शुरू ''ऑफर सूचना'' देखें।

रेड हेरिंग प्रॉस्‍पेक्‍टस के जरिए उपलब्‍ध कराये जाने वाले इक्विटी शेयर्स बीएसई और एनएसई पर सूचीबद्ध किये जाने हेतु प्रस्‍तावित हैं।

No comments:

Post a Comment

टाटा पावर ने भारत में ईवी-चार्जिंग के बुनियादी ढांचे को ऊर्जा प्रदान करने के लिए ह्युंदाई मोटर इंडिया के साथ की साझेदारी

राष्ट्रीय 17 मई 2022 : देश की एक सबसे बड़ी एकीकृत बिजली कंपनी और ईवी चार्जिंग की बुनियादी सुविधाएं प्रदान करने वाली अग्रणी कंपनी टाटा पावर ने...