Thursday, October 21, 2021

अनिल बिश्‍नोई को कृष्णमृगों के संरक्षण हेतु उनके कार्य के लिए नैटवेस्ट‍ ग्रुप अर्थ हीरोज अवार्ड्स 2021 में ''सेव द स्पीशीज'' अवार्ड से सम्मानित किया गया

जयपुर, 21 अक्टूबर, 2021: नैटवेस्‍ट ग्रुप इंडिया (पूर्व नाम आरबीएस इंडिया), जो नैटवेस्‍ट ग्रुप का वैश्विक क्षमता केंद्र है, ने आज 11वें नैटवेस्‍ट ग्रुप अर्थ हीरोज अवार्ड्स के विजेताओं के नामों की घोषणा की। श्री अनिल बिश्‍नोई ने कृष्णमृगों के संरक्षण हेतु अपने द्वारा किये गये प्रयासों के लिए ''सेव द स्पीशीज'' वर्ग के अंतर्गत पुरस्‍कार जीता। वर्ष 2021 के अवार्ड्स की थीम ''जैवविविधता - लोचदार प्रकृति वह नींव है जिस पर सभी जलवायवीय अल्‍पीकरण एवं अनुकूलन प्रयास करने होंगे (Biodiversity – A resilient nature is the foundation on which all climate mitigation and adaptation efforts must be raised”) पर एक वर्चुअल समारोह के जरिए आठ विजेताओं को सम्‍मानित किया गया। समारोह की मुख्‍य अतिथि सुश्री इवोन हाइगुएरो, महासचिव, कन्‍वेंशन ऑन द इंटरनेशनल ट्रेड इन इंडेंजर्ड स्‍पेसीज ऑफ वाइल्‍ड फॉना एंड फ्लोरा (सीआईटीईएस), यूएन थीं।

ये वार्षिक पुरस्कार एक राष्ट्रीय पहल हैं जो पूरे भारत में व्यक्तियों और संस्थानों के प्रयासों को मान्यता देता है जो समाज और प्रकृति के बीच बेहतर संबंध के लिए देश की समृद्ध जैव विविधता के संरक्षण और संवर्द्धन के द्वारा जलवायु परिवर्तन को कम करने के लिए अथक प्रयास कर रहे हैं।

श्री अनिल बिश्‍नोई राजस्‍थान के हनुमानगढ़ जिले के रहने वाले हैं और उन्‍होंने अपने जीवन को कृष्‍णमृगों के संरक्षण हेतु समर्पित कर दिया है। पिछले तीन दशकों से वह उनके प्राकृतिक आवास को बचाने के लिए अभियान चला रहे हैं। निवास स्थान के नुकसान और अवैध शिकार के कारण, उन्होंने 50 पंचायतों में शिकारियों के खिलाफ एक सक्रिय अभियान शुरू किया। श्री बिश्नोई ने अपनी क्षमता और साथी निवासियों की मदद से काले हिरणों की पानी की जरूरतों को पूरा करने के लिए 60 से अधिक छोटे से मध्यम आकार के जलाशयों का निर्माण किया। वर्षों से उनके अथक प्रयासों के कारण, आज इस क्षेत्र में काले हिरणों की आबादी लगभग १०,००० हो गई है, जो कुछ साल पहले सिर्फ कुछ दर्जन या उससे ज्यादा थी।

श्री बिश्नोई के असाधारण कार्य को देखते हुए राजस्थान सरकार ने उन्हें मानद वन्यजीव वार्डन के रूप में नामित करके एक विशिष्ट दर्जा प्रदान किया। उन्हें पर्यावरण और जल संरक्षण पर उनके काम के लिए डालमिया जल पर्यावरण संरक्षण पुरस्कार और राज्य स्तरीय अमृता देवी पर्यावरण संरक्षण पुरस्कार से भी सम्मानित किया गया था।

पुरस्कार के लिए नैटवेस्‍ट ग्रुप को धन्यवाद देते हुए, श्री अनिल बिश्‍नोई ने कहा, ''मैं 'सेव द स्पीशीज' अर्थ हीरो अवार्ड प्राप्त करके बहुत सम्मानित महसूस कर रहा हूं। मैं लोगों से उसी तरह वन्य जीवन और पर्यावरण की देखभाल करने की अपील करना चाहता हूं जिस तरह से हम अपनी देखभाल करते हैं। मैं इस सम्‍मान के लिए नैटवेस्ट समूह को धन्यवाद देता हूं और मैं अपने संरक्षण प्रयासों को जारी रखूंगा। मैं उन सभी को भी धन्यवाद देना चाहता हूं जिन्होंने सकारात्मक बदलाव लाने के लिए मेरे काम में मेरा समर्थन किया है।''

इस अवसर पर, माननीया मुख्‍य अतिथि, सुश्री इवोन हाइगुएरो ने कहा, ''मुझे नैटवेस्ट ग्रुप इंडिया की पहल का हिस्सा बनने और देश में जैव विविधता संरक्षण को आगे बढ़ाने के लिए सभी विजेताओं को उनके समर्पण और कड़ी मेहनत के लिए पुरस्कार प्रदान करने की खुशी है। वैश्विक महामारी से उत्पन्न चुनौतियों से लड़ते हुए, उन व्यक्तियों और संस्थानों को याद रखना महत्वपूर्ण है जो वन्यजीवों और उनके समर्थन वाले समुदायों के भविष्य को सुरक्षित करने के लिए प्रयास करना जारी रखते हैं।''

इस अवसर पर, नैटवेस्‍ट इंडिया फाउंडेशन और सस्‍टेनेबल बैंकिंग इंडिया के हेड, एन सुनिल कुमार ने कहा, ''इंटरगवर्नमेंटल पैनल ऑन क्लाइमेट चेंज (आईपीसीसी) की हालिया रिपोर्ट, 'क्लाइमेट चेंज 2021: द फिजिकल साइंस बेसिस', जिसने जलवायु संकट के अपरिवर्तनीय प्रभावों का संकेत दिया, दुनिया के सभी नीति निर्माताओं के लिए एक चिंताजनक संकेत है। जब ग्लोबल वार्मिंग और जलवायु जोखिमों को कम करने की बात आती है तो दुनिया और विशेष रूप से भारत को प्रयास तेज करने की जरूरत है। सकारात्मक बदलाव लाने के लिए प्रकृति, विरासत और अपने आसपास के वन्यजीव पारिस्थितिकी तंत्र की रक्षा करना हमारे लिए अनिवार्य हो गया है। अर्थ हीरोज अवार्ड्स भारत की जैव विविधता और महत्वपूर्ण प्राकृतिक पारिस्थितिक तंत्र के संरक्षण में उनके उत्कृष्ट कार्य के लिए कल के नेताओं को मनाने, पहचानने और आगे प्रेरित करने और प्रेरित करने का एक तरीका है। मैं 2021 के विजेताओं को तहे दिल से बधाई देता हूं और उम्मीद करता हूं कि अधिक से अधिक भारतीय इस कार्य को अपनाएंगे।''  

2021 नैटवेस्ट ग्रुप अर्थ हीरोज अवार्ड्स के विजेता:

विजेता

स्थान

पुरस्कार श्रेणी

नीतीश कुमार

उड़ीसा

ग्रीन वॉरियर

शिल्पा एसएल

कर्नाटक

ग्रीन वॉरियर

सतपुड़ा टाइगर रिजर्व

मध्‍य प्रदेश

अर्थ गार्जियन

परम्‍बीकुलम टाइगर कंजर्वेशन फाउंडेशन

केरल

अर्थ गार्जियन

अरुणिमा सिंह

उत्‍तर प्रदेश

सेव द स्पीशीज

अनिल बिश्‍नोई

राजस्‍थान

सेव द स्पीशीज

कर्मा सोनम

लद्दाख

इंस्‍पायर

बृज मोहन सिंह राठौड़

मध्‍य प्रदेश

लाइफटाइम अचीवमेंट

 

इस पहल पर टिप्‍पणी करते हुए, नैटवेस्‍ट ग्रुप के हेड, पुनीत सूद ने कहा, ''नैटवेस्ट ग्रुप में हम जलवायु परिवर्तन से निपटने के लिए तत्काल कार्रवाई की आवश्यकता को समझते हैं। एक वैश्विक संगठन के रूप में, हम संरक्षण और स्थिरता की चुनौतियों को दूर करने के लिए प्रतिबद्ध हैं और अर्थ हीरोज अवार्ड्स उन अनुकरणीय व्यक्तियों और संस्थानों के हमारे समर्थन का प्रमाण हैं जिन्होंने खुद को इस तरह के एक महान कारण के लिए समर्पित किया है। हम जैव विविधता और संरक्षण की दिशा में योगदान करने के लिए और प्रयासों को प्रोत्साहित करने की आशा करते हैं।''

वर्ष 2011 में शुरू किया गया, नैटवेस्‍ट ग्रुप अर्थ हीरोज अवार्ड्स (पूर्व नाम आरबीएस अर्थ हीरोज अवार्ड्स) का यह 11वां वर्ष है और यह लगातार उन चैंपियंस को राष्‍ट्रीय मंच प्रदान करता रहा है जिन्‍होंने भारत की समृद्ध जैवविविधता की सुरक्षा एवं संरक्षण में बढ़-चढ़कर हिस्‍सा लिया है। पुरस्‍कार विजेताओं का चयन एक स्‍वतंत्र जुरी द्वारा किया गया जिसमें संरक्षण विज्ञान एवं प्रबंधन, मीडिया और सरकार से जुड़ी जानी मानी हस्तियां शामिल रहीं।  

2007 में, नैटवेस्ट ग्रुप (पूर्व में आरबीएस ग्रुप) ने भारत के संयुक्त राष्ट्र सतत विकास लक्ष्यों (तब मिलेनियम डेवलपमेंट गोल्स) में योगदान करने के लिए नैटवेस्ट इंडिया फाउंडेशन (पूर्व में आरबीएस फाउंडेशन इंडिया) की स्थापना की, जिसमें महत्वपूर्ण प्राकृतिक पारिस्थितिक तंत्र और बहिष्कृत समुदायों के चौराहे पर ध्यान केंद्रित किया गया था। आजीविका में सुधार और प्राकृतिक संसाधनों के स्थायी उपयोग/संरक्षण पर काम करते हुए, फाउंडेशन ने 23 चल रही परियोजनाओं के माध्यम से 13 राज्यों के 2,100 गांवों में 1,82,000 से अधिक परिवारों को प्रभावित किया है, जिनमें से कुछ को राष्ट्रीय पुरस्कारों के अलावा संयुक्त राष्ट्र विकास कार्यक्रम और संयुक्त राष्ट्र विश्व पर्यटन संगठन द्वारा मान्यता दी गई है।

No comments:

Post a Comment

टाटा पावर ने भारत में ईवी-चार्जिंग के बुनियादी ढांचे को ऊर्जा प्रदान करने के लिए ह्युंदाई मोटर इंडिया के साथ की साझेदारी

राष्ट्रीय 17 मई 2022 : देश की एक सबसे बड़ी एकीकृत बिजली कंपनी और ईवी चार्जिंग की बुनियादी सुविधाएं प्रदान करने वाली अग्रणी कंपनी टाटा पावर ने...