Saturday, October 30, 2021

हिन्दू जागरण मंच का दीपावली स्नेह मिलन का हुआ आयोजन


जयपुर। शनिवार को पत्रकार दीपावली स्नेह मिलन कार्यक्रम का आयोजन सहकार मार्ग स्थित सेवा सदन में किया गया। कार्यक्रम के दौरान मंच के राजस्थान क्षेत्र के संगठन मंत्री मुरली मनोहर का सानिध्य मिला। उपस्थित पत्रकारों को संबोधित करते हुए श्रीमान मुरली मनोहर जी ने कहा कि देश को आंतरिक खतरों से आगाह करने की आवश्यकता है। हिन्दू जागरण मंच इस विचार को निचले स्तर तक पहुंचाने के प्रतिज्ञत है।

कार्यक्रम में जयपुर शहर के सैकड़ों पत्रकारों को हिन्दू जागरण मंच के कार्य योजनाओं के बारे में जानकारी दी गई। अनौपचारिक बातचीत व चाय-अल्पाहार के साथ कार्यक्रम का समापन किया गया। 

इस दौरान प्रान्त महामंत्री सुभाष जी, प्रान्त सह विधि प्रमुख धनंजय दिवाकर, प्रान्त प्रचार प्रमुख यादवेन्द्र यादव, महानगर अध्यक्ष राजकुमार जी भी मौजूद थे।

जयपुर में ‘आज़ादी का अमृत महोत्सव’ के तहत 33/11 किलोवॉट के पहले जीआईएस सब-स्टेशन का उद्घाटन किया गया

जयपुर, 30 अक्टूबर, 2021: भारत सरकार की आईपीडीएस योजना के तहत आज राजस्थान के जयपुर में 33/11 किलोवॉट के जीआईएस सब-स्टेशन का उद्घाटन किया गया। महारत्न सीपीएसई कंपनी और भारत में विद्युत क्षेत्र में अग्रणी नॉन-बैंकिंग फाइनैंशियल फर्म पावर फाइनैंस कॉर्पोरेशन लिमिटेड (पीएफसी) आईपीडीएस योजना के तहत इस परियोजना के लिए नोडल एजेन्सी है तथा जयपुर विद्युत वितरण निगम लिमिटेड (जेवीवीएनएल) परियोजना के लिए कार्यान्वयन एजेन्सी है।

33/11 किलोवॉट केजीआईएस सब-स्टेशन का उद्घाटन वर्चुअल तरीके से राजस्थान के विद्युत मंत्री डॉ बी.डी. कल्ला ने किया। इस अवसर पर श्री भास्कर सावंत, चेयरमैन डिस्कोम्स, श्री नवीन अरोड़ा, एमडी, जेवीवीएनएल, श्री आमीन काज़ी, एमएलए, किशन पोल, श्री डीसी अग्रवाल, चीफ़ इंजीनियर, जयपुर ज़ोन, श्री डी के शर्मा, सीई, पीपीएम, श्री एके त्यागी, एसई, जयपुर शहर और पावर फाइनैंस कॉर्पोरेशन से वरिष्ठ अधिकारी भी मौजूद थे। भारत के 75 वें स्वतन्त्रता दिवस के उपलक्ष्य में ‘आज़ादी का अमृत महोत्सव’ के तहत यह इस सब-स्टेशन का उद्घाटन किया गया।

33/11 किलोवॉट के जीआईएस सब-स्टेशन का उद्घाटन राजस्थान की राजधानी में स्थित जनाना अस्पताल में किया गया, यह राजस्थान का पहला जीआईएस सब-स्टेशन है जिसे 8.00 करोड़ के निवेश के साथ बनाया गया है। इस सबस्टेशन से जयपुर में चांदपोल के आस-पास के इलाकों में तकरीबन 5000 परिवारों को अच्छी विद्युत आपूर्ति मिलेगी। यह आधुनिक सब-स्टेशन एससीएडीए इनेबल्ड है और इसकी शुरूआत एक रिमोट कंट्रोल के माध्यम से की गई। जीआईएस सब-स्टेशन की कार्यप्रणाली को रिमोट लाकेशन पर स्थित सेंट्रल कंट्रोल रूम से नियन्त्रित किया जा सकता है।

हाल ही में पीएफसी ने आज़ादी का अमृत महोत्सव के तहत देश भर में कई जीआईएस/एआईएस सबस्टेशनों और आरटी-डीएएस सिस्टम्स का उद्घाटन किया है। 

पोदार वर्ल्ड स्कूल के छात्रों ने लौह पुरुष की 145वीं जयंती पर ‘यू फॉर यूनिटी’ का दिया संदेश

30 अक्टूबर, 2021- सरदार पटेल की 145वीं जयंती के अवसर पर पोदार वर्ल्ड स्कूल के छात्रों ने ‘यू फॉर यूनिटी’ के संदेश दिया। इसके साथ बड़े आकार का कट-आउट बनाकर राष्ट्रीय एकता के प्रति अपनी प्रतिबद्धता व्यक्त की। इस महत्वपूर्ण अवसर को यादगार बनाने के लिए, भारतभर के पोदार वर्ल्ड स्कूलों के छात्रों ने अपने परिसर में अपने हाथों के निशान का उपयोग करते हुए ‘यू फॉर यूनिटी’ के संदेश के साथ एक कट-आउट बनाया। 8वीं से 12वीं कक्षा के छात्रों ने मिलकर इस अनूठी संरचना का निर्माण किया और राष्ट्रीय एकता का संकल्प व्यक्त किया।

इस अनूठी पहल के बारे में जानकारी देते हुए पोदार एजुकेशन के चेयरमैन श्री राघव पोदार ने कहा, ‘‘हम सब जानते हैं कि लौह पुरुष सरदार पटेल ने देश की 562 रियासतों को एक साथ लाकर देश के एकीकरण में एक प्रमुख भूमिका निभाई। उनका हमेशा से मानना था कि इन राज्यों के साथ-साथ भारत की सुरक्षा और संरक्षण इसके विभिन्न हिस्सों के बीच एकता और आपसी सहयोग पर निर्भर करता है।’’
उन्होंने आगे कहा, ‘‘हम देश को मिले-जुले साझा प्रयासों से एक नई ऊंचाई की ओर ले जा सकते हैं, लेकिन अगर हम बिखरे रहे, तो हमें अनेक आपदाओं का सामना करना होगा। राष्ट्रीय एकता दिवस के अवसर पर हम सरदार पटेल के विचारों को अधिक मजबूती के साथ अपने छात्रों तक पहुंचाना चाहते थे और इसीलिए हमने इस पहल का आयोजन किया। इस तरह विद्यार्थियों के पास न केवल एक वास्तविक समय का अनुभव होगा, बल्कि वे कुछ अन्य सॉफ्ट स्किल्स जैसे रचनात्मकता, टीम वर्क, नेतृत्व, कम्युनिकेशन और को भी आत्मसात करने में सक्षम होंगे।’’


ओला कार्स अब जयपुर में मौजूद; भारत के सबसे बड़े कार फेस्टिवल की घोषणा की

जयपुर, 30 अक्टूबर, 2021: भारत के सबसे बड़े मोबिलिटी प्लेटफॉर्म ओला ने जयपुर में अपना नया व्हीकल कॉमर्स प्लेटफॉर्म ओला कार्स पेश किया है। ओला कार्स उपभोक्ताओं को नाटकीय रूप से बेहतर वाहन खरीद और स्वामित्व का अनुभव प्रदान करती है।

ओला कार्स ग्राहकों को ओला ऐप के जरिए नए और पुराने दोनों तरह के वाहन खरीदने में सक्षम बनाएगी। यह ग्राहकों को तरह-तरह की सेवाएं प्रदान करेगा, जिसमें खरीद, वाहन वित्त और बीमा, पंजीकरण, रखरखाव सहित वाहन स्वास्थ्य निदान और सेवा, सहायक उपकरण और अंत में ओला कारों को वाहन का पुनर्विक्रय शामिल है। यह उन ग्राहकों के लिए वन स्टॉप शॉप होगी जो अपनी कारों को बिना किसी परेशानी के खरीदना, बेचना और उनका प्रबंधन करना चाहते हैं।

ओला कार्स प्री-ओन्ड के साथ शुरू होगी और समय के साथ, ओला इसे ओला इलेक्ट्रिक और अन्य ऑटोमोटिव ब्रांडों के नए वाहनों के लिए भी खोलेगी, जिससे उन्हें उपभोक्ताओं की अभूतपूर्व पहुंच और समझ और उनकी गतिशीलता आवश्यकताओं के साथ एक सहज, विश्वसनीय मंच प्रदान किया जाएगा।

ओला कार्स के मुख्‍य कार्यकारी अधिकारी, अरुण सिरदेशमुख ने कहा, ''ओला पुराने डीलरशिप आधारित वाहन वाणिज्य प्लेटफॉर्म के 100 से अधिक साल पुराने मॉडल की फिर से कल्पना करने के लिए प्रतिबद्ध है। ओला कारों के साथ, हम जयपुर के लोगों के लिए नए और स्वामित्व वाले वाहनों दोनों के लिए खरीदने, बेचने और समग्र स्वामित्व के लिए एक बिल्कुल नया अनुभव ला रहे हैं। ओला कारों के साथ, हम न केवल खरीदने और बेचने की पेशकश करते हैं, बल्कि वाहन वित्त, बीमा, साथ ही रखरखाव - हमारे ग्राहकों के लिए एक एंड-टू-एंड डिजिटल-फर्स्ट अनुभव प्रदान करते हैं।''

ओला ने ओला कार्स पर सर्वोत्तम सौदों और ऑफर्स के साथ दिवाली कार कार्निवल की भी घोषणा की, जिसमें ग्राहकों को ₹1 लाख तक की छूट दी गई, साथ ही कई इंडस्‍ट्री-फर्स्‍ट ऑफ़र जैसे 2 साल तक मुफ्त सर्विसिंग, 12 महीने की वारंटी और 7-दिन की वारंटी, आसान वापसी नीति दिये गये।

ओला कार्स अपने परिचालन के पहले महीने में पहले ही 5000 वाहन बेच चुकी है; और हाल ही में पूरे भारत के 100 शहरों में 300 केंद्रों के साथ भारत का सबसे बड़ा ऑटोमोटिव सर्विस नेटवर्क स्थापित करने की दिशा में रखरखाव सुविधाओं में वाहन डायग्नोस्टिक्स, ब्रांड चैंपियन जैसे कार्यों में 10,000 नए कर्मचारियों के साथ आक्रामक विस्तार की घोषणा की।

Friday, October 29, 2021

कोरोना से बच्चों को हताश नहीं होकर लक्ष्य पर ध्यान केंद्रित करना आवश्यक : गोविंद कुमावत

 





-- तेजस स्कूल में विभिन्न प्रतियोगिताओं के विजेता बच्चों के अभिभावक हुए सम्मानित
-- विजेता बच्चों और अभिभावकों को दिए गए चांदी मेडल

नवीन कुमावत
किशनगढ़ रेनवाल। तेजस चिल्ड्रन एकेडमी संस्था निदेशक गोविंदराम कुमावत ने कहा कि बच्चों को किसी भी विपदा का सामना करने के लिए तैयार रहना सीखना होगा। उन्हें कोरोना या अन्य किसी बीमारी से घबराने की जरूरत नहीं है। अपना आत्मबल बढ़ाने और बचाव के उपायों को अपनाना आवश्यक है।
कुमावत ने ये बात कुमावत धर्मशाला के पास स्थित तेजस चिल्ड्रन एकेडमी में विभिन्न प्रतियोगिताओं के विजेता विद्यार्थियों और उनके अभिभावकों के एक सादे सम्मान समारोह के दौरान कही। कुमावत ने कहा की बच्चों को अपने लक्ष्य का ध्यान रखते हुए दृढ़ संकल्पित रहना चाहिए। उन्होंने सभी विजेता विद्यार्थियों और अभिभावकों को उज्ज्वल भविष्य की शुभकामना दी।
प्रधानाचार्य बद्रीनारायण वर्मा ने बताया कि रीडिंग, राइटिंग (हिंदी और इंग्लिश) डिसिप्लिन, ड्राइंग, पेंटिंग, मीनिंग, स्पोर्ट्स आदि प्रतियोगिताओं के प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय स्थान पाने वाले विजेता विद्यार्थियों एवं उनके अभिभावकों को अतिथियों द्वारा एक सादे समारोह में फूल की माला पहनाकर एवं मोमेंटो देकर सम्मानित किया गया।
इस सादे समारोह में अध्यक्ष भगवान सहाय ढाका थे। मुख्य अतिथि छितर खां कायमखानी, मदन उजीवाल एवं वरिष्ठ पत्रकार नवीन कुमार कुमावत रहे। इस अवसर पर सभी विजेता विद्यार्थियों और अभिभावकों का इन अतिथियों के हाथों सम्मान किया गया।
संस्था निदेशक गोविंदराम कुमावत ने बताया कि इन प्रतियोगिताओं में प्रथम स्थान पर
क्रमशः जीविका कुमावत, आयुषी बुनकर,अक्षिता ताकर, मोहित कुमावत,प्रिया कुमावत, देविक दायमा, साहिल कुमावत, हर्षित कुमावत, समर कुमावत, रितिका कुमावत, कृष्णा कुमावत, मोनिका कुमावत, हर्षिता देवल, यंशिका कुमावत,अंजू ढाका,नीतू कुमावत,विशाल कुमावत, प्रज्ञा शर्मा, नेहा जाट, चेतन कुमावत,किरण धायल, कोमल ताकर, निधि कुमावत, गौरव कुमावत रहे। दूसरे स्थान पर क्रमशः मोहित कुमावत,लक्की कुमावत,हर्षित कुमावत,  कमल किशोर कुमावत , मनीष कुमावत, प्रवीण मीणा, नितिन कुमावत, कृष्णा कुमावत, संदीप महला, मनीषा कुमावत, समीक्षा महला, लक्षिता कुमावत, दिव्या कंवर,  माही कुमावत, रोहित जाट,  गरिमा कुमावत,  अंजलि कुमावत,  रूद्र शेखावत, सूर्या शेखावत एवं निधि कुमावत रही। वहीं तृतीय स्थान पर क्रमशःहिमांशु राजोरा,राघव कुमावत,निकिता कुमावत,रौनक चौधरी,हैदर अली,आदित्य कुमावत, यश वर्मा, मुस्कान कुमावत, लोकेश कुमावत, यशराज कुमावत, सुरेंद्र सिंह, आर्यन कुमावत, हिमांशु जाजोरिया, सुरेंद्र सिंह, निशा कुमावत, नवीन मीणा, अंशु मीणा, जयंती कुमावत एवं विजय कुमावत रहे। 
इस मौके पर प्रधानाचार्य बद्रीनारायण शर्मा, शिक्षक गण - पूजा कुमावत ,करिश्मा कुमावत ,किरण कुमावत, राधिका पाराशर ,राजेंद्र चौधरी , मनोज कुमावत ,कृष्ण गोपाल कुमावत, सिमरन आदि मौजूद रहे।

एसबीआई लाइफ इंश्योरेंस ने 30 सितंबर, 2021 को समाप्त अवधि के लिए 10,288 करोड़ रु. का नया बिजनेस प्रीमियम दर्ज कराया

एसबीआई लाइफ इंश्योरेंस, जो देश के अग्रणी जीवन बीमाकर्ताओं में से एक है, ने 30 सितंबर, 2021 की अवधि में 10,288 करोड़ रु. का नया बिजनेस प्रीमियम दर्ज कराया, जबकि 30 सितंबर, 2020 को समाप्‍त अवधि में यह 8,998 करोड़ रु. रहा। 30 सितंबर, 2020 को समाप्‍त अवधि में नियमित प्रीमियम में 47 प्रतिशत की वृद्धि हुई है।

सुरक्षा पर एक स्पष्ट ध्यान केंद्रित करते हुए, एसबीआई लाइफ का सुरक्षा नया व्यापार प्रीमियम 30 सितंबर, 2021 को समाप्त अवधि के लिए 1,211 करोड़ रुपये रहा, जो 33% की वृद्धि को दर्शाता है। प्रोटेक्शन इंडिविजुअल न्यू बिजनेस प्रीमियम ने 38% की वृद्धि दर्ज की और 30 सितंबर, 2021 को समाप्त अवधि के लिए 370 करोड़ रुपये पर रहा। 30 सितंबर, 2020 को समाप्त इसी अवधि में 54% की वृद्धि के साथ व्यक्तिगत नया बिजनेस प्रीमियम 6,475 करोड़ रुपये है।

 30 सितंबर, 2021 को समाप्त अवधि के लिए एसबीआई लाइफ का कर पश्चात लाभ 470 करोड़ रुपये है।

1.50 की नियामक आवश्यकता के मुकाबले कंपनी का सॉल्वेंसी अनुपात 30 सितंबर, 2021 को 2.12 पर मजबूत बना हुआ है।

एसबीआई लाइफ का एयूएम भी 30 सितंबर, 2021 को 30 सितंबर, 2020 को 1,86,360 करोड़ रुपये से बढ़कर 31% बढ़कर 2,44,178 करोड़ रुपये हो गया, जिसमें 70:30 का डेट-इक्विटी मिश्रण था। 95% से अधिक ऋण निवेश एएए और सॉवरेन उपकरणों में हैं।

कंपनी के पास 2,00,190 प्रशिक्षित बीमा पेशेवरों का एक विविध वितरण नेटवर्क है और देश भर में 947 कार्यालयों के साथ व्यापक उपस्थिति है, जिसमें मजबूत बैंकएश्योरेंस चैनल, एजेंसी चैनल और अन्य शामिल हैं जिनमें कॉर्पोरेट एजेंट, दलाल, माइक्रो एजेंट, सामान्य सेवा केंद्र, बीमा विपणन, फर्म, वेब एग्रीगेटर और प्रत्यक्ष व्यवसाय शामिल हैं।

30 सितंबर, 2021 को समाप्त अवधि के लिए प्रदर्शन

  • नये बिजनेस का मूल्य (वीएएनबी) 77% बढ़कर 1,417 करोड़ हुआ
  • वीओएनबी मार्जिन* 510 आधार अंक सुधरकर 3% हुई
  • 6% बाजार हिस्सेदारी के साथ 4,993 करोड़ रुपये के व्यक्तिगत रेटेड प्रीमियम (आईआरपी) में निजी बाजार नेतृत्व।
  • प्रोटेक्शन शेयर में 166 बीपीएस की वृद्धि के साथ प्रोटेक्शन एनबीपी में 33% से 1,211 करोड़ रुपये की मजबूत वृद्धि।
  • इंडिविजुअल न्यू बिजनेस प्रीमियम में 54% से 6,475 करोड़ रुपये की मजबूत वृद्धि।
  • व्यक्तिगत नए व्यवसाय बीमा राशि में 28% की वृद्धि
  • 13वें महीने का निरंतरता अनुपात $ 155 बीपीएस बढ़कर 72% हो गया।
  • 12 का मजबूत सॉल्वेंसी अनुपात।
  • प्रबंधन के तहत संपत्ति (एयूएम) 31% बढ़कर 2,44,178 करोड़ रुपये हो गई।

 

*प्रभावी कर दर आधार पर

$प्रीमियम आधार पर

 

राजीव आनंद एक्सिस बैंक के 'उप प्रबंध निदेशक' के रूप में प्रोन्नत

मुंबई, 29 अक्टूबर, 2021भारत के निजी क्षेत्र के तीसरे सबसे बड़े बैंक, एक्सिस बैंक ने आज घोषणा की कि निदेशक मंडल ने राजीव आनंद, ईडी - थोक बैंकिंग को बैंक के उप प्रबंध निदेशक (डीएमडी) के रूप में नियुक्त करने की मंजूरी दे दी है। यह नियुक्ति आरबीआई और बैंक के शेयरधारकों से आगे की मंजूरी के अधीन है। प्रमुख थोक बैंकिंग के अलावा, राजीव नियंत्रण और शासन के पहलुओं को मजबूत करने के लिए बोर्ड के साथ मिलकर काम करेंगे।

एक्सिस बैंक के निदेशक मंडल के अध्यक्ष, श्री राकेश मखीजा ने कहा, ''राजीव ने बैंक में अपनी विभिन्न भूमिकाओं के माध्यम से महत्वपूर्ण योगदान दिया है। हम एक्सिस के विकास और सफलता के इस अध्याय में उनके नेतृत्व और अनुभव का लाभ प्राप्त करना जारी रखते हुए बेहद खुश हैं।''

एक्सिस बैंक के प्रबंध निदेशक और मुख्‍य कार्यकारी अधिकारी, अमिताभ चौधरी ने कहा, ''राजीव ने विभिन्न प्रमुख पहलों को चलाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है और हमारी जीपीएस नीति में बदलाव के मद्देनजर, बैंक को और अधिक मजबूत, विकास केंद्रित संगठन बनाने के लिए उन्‍होंने साथ मिलकर काम किया है।''

राजीव के पास भारतीय और बहुराष्ट्रीय बैंकों में वित्तीय सेवाओं में कार्य करने का 30 वर्षों से अधिक समय का समृद्ध और विविधतापूर्ण अनुभव है। एक्सिस समूह के साथ अपने 12 से अधिक वर्षों के सहयोग में, राजीव ने कई नेतृत्व पदों पर कार्य किया है जैसे कि एक्सिस एएमसी के एमडी और सीईओ, ईडी - रिटेल बैंकिंग और ईडी - थोक बैंकिंग की वर्तमान भूमिका। राजीव अब से बैंक के रणनीतिक डिजिटल बैंकिंग एजेंडे का नेतृत्व करेंगे, जो थोक बैंकिंग, विपणन और कॉर्पोरेट संचार के साथ-साथ एक्सिस फ्रैंचाइज़ी के सभी हिस्सों को प्रभावित करेगा। 

शिल्पा शेट्टी बनीं गोदरेज नुपुर नैचुरल हिना आधारित हेयर कॅलर का चेहरा

मुंबई, 29 अक्टूबर, 2021: गोदरेज नुपुर, जो गोदरेज कंज्यूमर प्रोडक्‍ट्स लिमिटेड (जीसीपीएल) का भारत का सबसे बड़ा हिना ब्रांड है, ने गोदरेज नुपुर नैचुरल हिना आधारित हेयर कॅलर के ब्रांड एंबेसडर के रूप में लोकप्रिय बॉलीवुड अभिनेत्री शिल्‍पा शेट्टी की नियुक्ति की घोषणा की। यह गठबंधन शहरी और ग्रामीण बाजारों में ब्रांड के मेहंदी आधारित पाउडर हेयर कॅलर की पैठ बढ़ाने के लिए है। गोदरेज नुपुर ने उत्पाद सुविधाओं को उजागर करने और इसकी दृश्यता बढ़ाने के लिए क्रिएटिवलैंड एशिया द्वारा परिकल्पित एक नए टीवीसी अभियान का अनावरण किया है।

अभिनेत्री, उद्यमी और फिटनेस एक्‍सपर्ट जैसी विभिन्‍न भूमिकाएं निभाने वालीं, शिल्‍पा प्राकृतिक तरीके से जीवन जीने की असली पैरोकार हैं और उन्‍होंने जीवनशैली से जुड़ी अपनी पसंदों के जरिए इसकी मिसाल कायम की है। यही कारण है कि वो गोदरेज नुपुर हिना आधारित हेयर कॅलर के लिए उपयुक्त पसंद है। इस हेयर कॅलर को मेहंदी और 9 जड़ी-बूटियों जैसे कि आंवला, एलोवेरा, हिबिस्‍कस, शिकाकाई, नीम, मेथी, भृंगराज, जटामांसी, ब्राह्मी के प्राकृतिक गुणकारी तत्‍वों से तैयार किया गया है। ये कुदरती पदार्थ बालों को चमकदार बनाने और उन्‍हें प्राकृतिक रंग प्रदान करने के लिए जाना जाता है।

सहयोग के बारे में बताते हुए, शिल्पा शेट्टी ने कहा, “गोदरेज एक लिगेसी ब्रांड है जिसकी जड़ें गहराई से भारत से जुड़ी हैं और यह देश में हेयर कॅलर में अग्रणी हैं। गोदरेज नुपुर नेचुरल मेहंदी आधारित हेयर कलर के साथ ब्रांड एंबेसडर के रूप में जुड़ने की मुझे खुशी हो रही है। गोदरेज नुपुर उपभोक्ता के बालों के रंग की जरूरतों को समझता है और मुझ सहित उन सभी की बालों की पसंद की जरूरत को पूरी करता है। गोदरेज नुपुर नेचुरल हिना आधारित हेयर कलर उन लोगों के लिए भी है जो पहली बार बालों को रंगने से डरते हैं क्योंकि वे बालों के रंग के लिए कुदरती तत्‍वों को सुरक्षित मानते हैं।''

गोदरेज कंज्‍यूमर प्रोडक्‍ट्स लिमिटेड के मुख्‍य कार्यकारी अधिकारी - भारत और सार्क, सुनिल कटारिया ने इस सहयोग के बारे में कहा, ''भारत में मेहंदी की पर्याय, गोदरेज नुपुर मेहंदी का उपयोग घर-घर में बालों के स्‍वास्‍थ्‍य एवं पोषण के लिए किया जाता है।हमारी नवीनतम पेशकश गोदरेज नुपुर नेचुरल हिना आधारित हेयर कॅलर, ब्रांड पोर्टफोलियो का एक विस्तार है। इसके त्‍वरित उपयोग वाले और प्रयोग में आसान पाउडर हेयर कॅलर में मेहंदी के गुणकारी तत्‍व मिले हुए हैं। हम अभिनेत्री शिल्पा शेट्टी को गोदरेज नुपुर नेचुरल हिना आधारित हेयर कलर्स के चेहरे के रूप में शामिल करते हुए प्रसन्न हैं क्योंकि वह ब्रांड के प्राकृतिक और स्टाइलिश होने के दृष्टिकोण के साथ अच्छी तरह फिट बैठता है। मात्र 10 रुपये की किफ़ायती कीमत पर, हमारे मेहंदी आधारित बालों का रंग उन लोगों को भी पसंद आएगा जो प्राकृतिक अवयवों को पसंद करते हैं, लेकिन पहली बार बालों के रंग का उपयोग करना चाहते हैं।”

गोदरेज नुपुर नैचुरल हिना आधारित हेयर कॅलर, पाउडर-आधारित हेयर कॅलर है जो प्राकृतिक काले (10 ग्राम पैक) और प्राकृतिक भूरे (15 ग्राम पैक) दो शेड्स में आता है जिनकी कीमत मात्र 10 रु. है। यह हेयर कॅलर सामान्‍य ट्रेड स्‍टोर्स में उपलब्‍ध है।

एसबीआई किसान क्रेडिट कार्ड (फसल उत्पादन ऋण)

विवरण और प्रक्रिया

एसबीआई किसान क्रेडिट कार्ड (केसीसी)

एसबीआई का किसान क्रेडिट कार्ड किसानों को उनके खेती के खर्च को पूरा करने के लिए समय पर और पर्याप्त ऋण प्रदान करता है। यह एक सरल प्रक्रिया के माध्यम से किसानों के आकस्मिक खर्चों और सहायक गतिविधियों से संबंधित खर्चों को भी पूरा करता है, जिससे उधारकर्ताओं को उनकी जरूरतों के आधार पर ऋण प्राप्त करने की सुविधा मिलती है।

विशेषताएं और फायदे

-  केसीसी एक रिवाल्विंग कैश क्रेडिट अकाउंट की तरह होगा

-  यदि खाते में काई जमा शेष हो, तो उस राशि पर बचत बैंक की ब्याज दर मिलेगी

-  अवधि- 5 साल, वार्षिक समीक्षा के अधीन हर साल सीमा में 10 प्रतिशत वार्षिक वृद्धि के साथ

-  इंटरेस्ट सबवेंशन- जल्द उधारकर्ताओं के लिए 3 प्रतिशत इंटरेस्ट सबवेंशन, 3 लाख रुपए तक

-  चुकौती- फसल अवधि (छोटी/लंबी) और फसल के लिए मार्केटिंग अवधि के अनुसार चुकौती अवधि

-  सभी पात्र केसीसी उधारकर्ताओं के लिए रुपे कार्डों का आवंटन

-  रुपे कार्डधारकों के लिए 1 लाख रुपए का दुर्घटना बीमा, यदि कार्ड 45 दिनों में एक बार सक्रिय होता है

पात्रता

-  सभी किसान-व्यक्ति/संयुक्त उधारकर्ता जो मालिक किसान हैं

-  काश्तकार किसान, मौखिक पट्टेदार, बटाईदार, आदि।

-  काश्तकार किसानों, बटाईदारों आदि सहित किसानों के एसएचजी या संयुक्त देयता समूह।

ब्याज दर

-  3.00 लाख रुपए तक - 7 प्रतिशत

-  3.00 लाख रुपए से ऊपर - जैसा कि समय-समय पर लागू हो

बीमा

-  70 वर्ष से कम आयु के केसीसी उधारकर्ता व्यक्तिगत दुर्घटना बीमा योजना (पीएआईएस) के अंतर्गत आते हैं।

-  पात्र फसलें प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना (पीएमएफबीवाई) के अंतर्गत कवर की जाती हैं।

सुरक्षा

-  प्राथमिक- फसल का हाइपोथिकेशन

-  कोलेटरल- कृषि भूमि पर बंधक/प्रभार (कोलेटरल सुरक्षा के लिए इन्हें छूट दी गई है-

-  1.60 लाख रुपए तक केसीसी की सीमा

-  टाई-अप के तहत- केसीसी की सीमा 3 लाख रुपए

एसबीआई किसान क्रेडिट कार्ड के लिए आवेदन कैसे करें

एसबीआई से आवेदन पत्र डाउनलोड करें -

https://sbi.co.in/documents/14463/22577/application+form.pdf/24a2171c-9ab5-a4de-08ef-7a5891525cfe

-  किसान सीधे एसबीआई शाखा में भी जा सकते हैं और केसीसी आवेदन पत्र मांग सकते हैं

-  आवश्यक विवरण भरें और शाखा में जमा करें

-  बैंक आवेदन की समीक्षा करेगा, आवेदक के विवरण की पुष्टि करेगा और कार्ड को मंजूरी देगा

 

योनो एसबीआई के माध्यम से केसीसी रिव्यू करने की मुख्य विशेषताएं-

-  योनो ऐप या योनो शाखा के माध्यम से परेशानी मुक्त केसीसी रिव्यू

-  योनो ऐप के माध्यम से संपर्क रहित और कागज रहित आवेदन

-  योनो शाखा पोर्टल पर एंड-टू-एंड प्रोसेस

-  केसीसी रिव्यू प्रक्रिया का मानकीकरण

-  किसान और शाखा द्वारा न्यूनतम डेटा प्रविष्टि

योनो के माध्यम से केसीसी की समीक्षा कैसे करें

-  योनो एसबीआई में लॉग-इन करें

-  योनो कृषि पर क्लिक करें

-  खाता पर क्लिक करें

-  किसान क्रेडिट कार्ड पर क्लिक करें

आगे आपको बस इतना करना है-

व्यक्तिगत विवरण की पुष्टि करें

भूमि विवरण की पुष्टि करें

फसल विवरण की पुष्टि करें

आवेदन जमा करें

दस्तावेज़

-  पता और पहचान प्रमाण- आधार कार्ड, पैन कार्ड, वोटर आईडी, ड्राइविंग लाइसेंस, आदि (कोई भी एक)

-       कृषि भूमि के दस्तावेज

-  आवेदक का हाल ही का पासपोर्ट आकार का फोटो

-  जारीकर्ता बैंक सुरक्षा के लिए पोस्ट डेटेड चेक जमा करने के लिए भी कह सकते हैं

 

आईसीआईसीआई बैंक ने सेना के जवानों को विशेष लाभ देने के लिए भारतीय सेना के साथ अपने समझौता ज्ञापन का नवीनीकरण किया

मुंबई, 29 अक्टूबर, 2021- आईसीआईसीआई बैंक ने भारतीय सेना के साथ अपने समझौता ज्ञापन (एमओयू) को नवीनीकृत किया है, ताकि सेवारत और सेवानिवृत्त सभी सैन्य कर्मियों को अपने डिफेंस सेलेरी अकाउंटके माध्यम से विशेष रूप से क्यूरेटेड फायदे और अन्य अनेक नई सुविधाओं की पेशकश की जा सके। समझौता ज्ञापन पर दिल्ली में लेफ्टिनेंट जनरल आर पी कलिता, यूवाईएसएम, एवीएसएम, एसएम, वीएसएम, महानिदेशक- जनशक्ति योजना और कार्मिक सेवा, भारतीय सेना और श्री विशाल बत्रा, रीजनल बिजनेस हैड और हैड ऑफ डिफेंस ईकोसिस्टम, आईसीआईसीआई बैंक ने हस्ताक्षर किए।

एमओयू के हिस्से के रूप में, बैंक सैन्य कर्मियों को अनेक विशिष्ट लाभ प्रदान करेगा, जिनमें शामिल हैं- जीरो बैलेंस अकाउंट, प्राथमिकता के आधार पर लॉकर का आवंटन और देश में आईसीआईसीआई बैंक के साथ-साथ गैर-आईसीआईसीआई बैंक एटीएम पर असीमित मुफ्त लेनदेन की सुविधा। नवीकृत लाभों के हिस्से के रूप में, बैंक सैन्य कर्मियों को कई प्रकार के बीमा लाभ प्रदान कर रहा है। खाताधारकों को 50 लाख रुपए के बीमा के साथ व्यक्तिगत दुर्घटना बीमा कवर मिलता है। आतंकी कार्रवाई में मौत होने पर अतिरिक्त 10 लाख रुपए का बीमा मिलता है, जो डिफेंस सैलरी अकाउंटऑफर करने वाले सभी बैंकों में सबसे ज्यादा है। आकस्मिक मृत्यु के मामले में बीमा कवर के हिस्से के रूप में बैंक बच्चों की शिक्षा के लिए 5 लाख रुपए की पेशकश कर रहा है और सेना के शहीद जवानों की बच्ची के लिए अतिरिक्त 5 लाख रुपए उपलब्ध कराएगा। ये लाभ सभी रैंक के कर्मियों के लिए उपलब्ध हैं।

नई पेशकश के बारे में बोलते हुए श्री विशाल बत्रा, रीजनल बिजनेस हैड और हैड ऑफ डिफेंस ईकोसिस्टम, आईसीआईसीआई बैंक ने कहा, ‘‘हम भारतीय सेना के साथ समझौता ज्ञापन को नवीनीकृत करने और बैंकिंग सेवाओं और लाभों की एक पूरी रेंज प्रदान करने के लिए गर्व का अनुभव कर रहे हैं। ये ऐसे फायदे हैं, जो खास तौर पर सैन्य कर्मियों की सुविधा के लिए क्यूरेट किए गए हैं। बैंक की शाखाओं, एटीएम और डिजिटल बैंकिंग चैनलों के हमारे बड़े नेटवर्क के माध्यम से सेना के जवानों को दैनिक लेन-देन में आराम और सुविधा प्रदान करते हुए उनके लिए बैंकिंग तक आसान पहुंच को संभव बनाया गया है। इसके अतिरिक्त, कर्मियों और उनके परिवारों को अधिक सुरक्षा प्रदान करने के लिए, हम सैन्य कर्मियों के बच्चों की उच्च शिक्षा के लिए उन्नत बीमा कवर के साथ-साथ वित्तीय सहायता भी प्रदान कर रहे हैं। हमें विश्वास है कि इस नए प्रस्ताव से सेवारत और सेवानिवृत्त सैन्य कर्मियों के एक बड़े वर्ग को लाभ होगा।’’

रक्षा बलों के प्रति बैंक की प्रतिबद्धता के हिस्से के रूप में, आईसीआईसीआई बैंक स्वचालित रूप से उन सैन्य कर्मियों को नवीनीकृत एमओयू के सभी लाभों का विस्तार करेगा जो डिफेंस सेलेरी अकाउंटके मौजूदा ग्राहक हैं। मौजूदा खाताधारकों को नए एमओयू के लाभों को अपग्रेड करने के लिए किसी शाखा में जाने या कागजी कार्रवाई पूरी करने की कोई आवश्यकता नहीं होगी।

सैन्य इंजीनियरिंग सेवा (एमईएस), सीमा सड़क संगठन (बीआरओ) और अन्य रक्षा नागरिकों के नियमित कर्मचारियों के लिए बैंक द्वारा डिफेंस सेलेरी अकाउंटका लाभ भी दिया जाता है।

आईसीआईसीआई बैंक के डिफेंस सेलेरी अकाउंटकी कुछ उन्नत और नई विशेषताओं में शामिल हैं-

- 50 लाख रुपए का व्यक्तिगत दुर्घटना बीमा प्रदान करने वाला एकमात्र बैंक, आतंकी कार्रवाई में मौत होने पर अतिरिक्त 10 लाख रुपए

- 1 करोड़ रुपए का हवाई दुर्घटना बीमा कवर। 50 लाख रुपए का कुल स्थायी और आंशिक स्थायी दिव्यांगता बीमा कवर।

- आकस्मिक मृत्यु के मामले में बीमा कवर के हिस्से के रूप में बच्चों की शिक्षा के लिए 5 लाख रुपए की पेशकश और सेना के शहीद जवानों की बच्ची के लिए अतिरिक्त 5 लाख रुपए।

 - व्यक्तिगत दुर्घटना बीमा जेंटलमैन कैडेटों, पुनर्नियोजित अधिकारियों और 80 वर्ष की आयु तक के सेवानिवृत्त रक्षा कर्मियों को दिया जाता है।

- सेना के जवानों को बैंक के प्रीमियम जेमस्टोन की ओर से आजीवन मुफ्त क्रेडिट कार्ड मिलता है।

- बैंक शीघ्र ही रक्षा बैंकिंग ग्राहकों के लिए एक विशेष टोल फ्री डिफेंस बैंकिंग हेल्पलाइनस्थापित करेगा।

खाते के लिए आवेदन करने के लिए, सेना के जवान निकटतम आईसीआईसीआई बैंक शाखा में जा सकते हैं या रक्षा वेतन खाते के लिए छावनी / रेजिमेंट के लिए बैंक के आउटरीच के दौरान आईसीआईसीआई बैंक के अधिकारियों से संपर्क कर सकते हैं।

अंबुजा सीमेंट लिमिटेड किसानों की सहायता के लिए आई आगे, अपने संयंत्रों के लिए बायोमास ईंधन की खरीद के माध्यम से अतिरिक्त आमदनी अर्जित करने का अवसर

मुंबई, 29 अक्टूबर, 2021- कटाई के बाद फसल अवशेषों को जलाना न सिर्फ मिट्टी की गुणवत्ता के लिए हानिकारक है, बल्कि इसका किसानों और स्थानीय समुदायों पर नकारात्मक आर्थिक प्रभाव भी पड़ता है। इसके अतिरिक्त, इस प्रक्रिया से वायु प्रदूषण भी होता है और जलवायु परिवर्तन संबंधी चुनौतियों में भी बढ़ोतरी होती है।

इस बाधा को दूर करने के लिए अंबुजा सीमेंट लिमिटेड की सीएसआर शाखा अंबुजा सीमेंट फाउंडेशन (एसीएफ) किसानों को अपनी फसल के अवशेष कंपनी को बेचने की सुविधा दे रही है। इस प्रकार किसान उत्पादक संगठनों (एफपीओ) के माध्यम से एकत्र किए गए अवशेषों का उपयोग वैकल्पिक ईंधन संसाधनों के रूप में किया जाएगा। इसके कृषि आधारित आजीविका कार्यक्रम के तहत एसीएफ ने एफपीओ का गठन किया है, ताकि सभी किसानों की उत्पादकता और लाभप्रदता को बढ़ाया जा सके। एफपीओ के माध्यम से संचालित यह मूल्य श्रृंखला किसानों को फसलों के अवशेष इकट्ठा करने और कंपनी के संयंत्रों के लिए बायोमास ईंधन का उत्पादन करने के लिए प्रोत्साहित करती है।

वर्तमान में, 10,000 किसानों को एफपीओ के माध्यम से कवर किया गया है जिससे किसानों और उनके परिवारों के लिए दीर्घकालिक सुविधा मिलती है।

अंबुजा सीमेंट्स के एमडी और सीईओ नीरज अखौरी ने कहा, ‘‘अंबुजा सीमेंट्स की संस्कृति में ही सामुदायिक भलाई का भाव गहराई से निहित है। हमारे प्रयासों का उद्देश्य न केवल ग्रामीण समुदायों की सामाजिक-आर्थिक स्थिति को बेहतर बनाना है, बल्कि इनके माध्यम से हम स्थायी कृषि पद्धतियों को बढ़ावा देने में भी सहायता करते हैं।’’

विलायती बबूल (जूली फ्लोरा) बायोमास की कटाई के लिए नई तकनीकों को पेश किया गया है। इसेे विशेष रूप से किसान समूहों द्वारा डिजाइन किया गया है और स्थानीय स्तर पर तैयार किया गया है। इसने किसानों को लागत बचाने में मदद की है क्योंकि इसमें न्यूनतम रखरखाव की आवश्यकता होती है। अपने संयंत्र संचालन के लिए बायोमास ईंधन खरीदकर, अंबुजा सीमेंट किसानों और खेत मजदूरों के लिए उनके कचरे से कमाई करने और आय बढ़ाने के लिए संसाधन बनाकर एक महत्वपूर्ण प्रभाव उत्पन्न करता है।

 

इस प्रयास से लाभान्वित हुए किसान प्रह्लाद बावरिया ने एसीएफ की पार्टनर कंपनी बालाजी फार्मर प्रोड्यूसर कंपनी में शामिल होने के बाद अपनी आजीविका में व्यापक तौर पर बदलाव देखा है। अपनी छोटी-सी जमीन के साथ गहरे कर्ज में दबे होने के कारण वह अपनी आवश्यकताओं को पूरा करने में असमर्थ था। लेकिन आज अंबुजा सीमेंट फाउंडेशन की पहल के कारण वह हर महीने लगभग 30,000 रुपए की आमदनी कर रहा है। न केवल उसने अपना कर्ज चुकाया है, उसके पास अब उसके साथ काम करने वाले 10-15 मजदूर भी हैं, उसके बच्चे निजी स्कूलों में जाते हैं और वह अपनी पत्नी के कॉस्मेटिक की दुकान खोलने के सपने को पूरा करने में सक्षम है। एक जिम्मेदार संगठन के रूप में, एसीएफ लगातार काम कर रहा है न केवल ग्रामीण समुदायों के जीवन में सुधार लाने के लिए, बल्कि एक हरित और बेहतर कल का निर्माण करने के लिए भी।

रुपे प्लेटफॉर्म पर क्रेडिट कार्ड लॉन्च करने के लिए कोटक महिंद्रा बैंक ने एनपीसीआई के साथ की साझेदारी

मुंबई, 29 अक्टूबर, 2021- कोटक महिंद्रा बैंक (केएमबीएल) और नेशनल पेमेंट्स कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (एनपीसीआई) ने आज रुपे प्लेटफॉर्म पर कोटक क्रेडिट कार्ड लॉन्च करने के लिए साझेदारी करने का एलान किया। केएमबीएल द्वारा रुपे नेटवर्क पर पेश किया गया क्रेडिट कार्ड वीरजो विशेष रूप से सशस्त्र बलों के लिए है।

कोटक रुपे वीर क्रेडिट कार्ड दो वेरिएंट में उपलब्ध है। कोटक रुपे वीर प्लेटिनम और कोटक रुपे वीर सलेक्ट क्रेडिट कार्ड विशेष रूप से उन लोगों की जरूरतों को पूरा करने के लिए डिज़ाइन किए गए हैं, जिन्होंने खुद को देश की सेवा के लिए समर्पित कर दिया है, यानी देश के सशस्त्र बलों - सेना, नौसेना और वायु सेना। ये संपर्क रहित कार्ड जीरो ज्वाइनिंग फीस के साथ आत हैं और साथ ही कार्डधारकों को अनेक आकर्षक और रोमांचक लाभ प्रदान करते हैं।

एनपीसीआई की सीओओ सुश्री प्रवीणा राय ने कहा, “हमें रुपे क्रेडिट कार्ड जारी करने के लिए कोटक महिंद्रा बैंक के साथ साझेदारी करते हुए खुशी का अनुभव हो रहा है। सशस्त्र बलों के लिए कोटक रुपे क्रेडिट कार्ड वीरहमारे वर्दीधारी कर्मियों और उनके परिवारों को एक सुरक्षित, रिवार्डिंग और संपर्क रहित खरीदारी अनुभव प्रदान करेगा। हम कोटक के साथ लंबे समय तक जुड़े रहने की उम्मीद करते हैं और ग्राहकों की जरूरतों के अनुरूप कस्टमाइज्ड रुपे कार्ड बनाना जारी रखते हैं।

कोटक महिंद्रा बैंक के प्रेसिडेंट-कंज्यूमर एसेट्स श्री अंबुज चांदना ने कहा, “पिछले कुछ वर्षों में रुपे भुगतान नेटवर्क में अभूतपूर्व वृद्धि हुई है और हमें एनपीसीआई के साथ गठजोड़ करने और रुपे प्लेटफॉर्म पर कोटक क्रेडिट कार्ड लॉन्च करने की खुशी है। साथ में हमारी पहली पेशकश भी एक बहुत ही खास है - वीरक्रेडिट कार्ड जिसे विशेष रूप से हमारे भारतीय सशस्त्र बलों के लिए डिज़ाइन किया गया है। भारत में क्रेडिट कार्ड उद्योग तेजी से बढ़ने के लिए तैयार है और हम रुपे के साथ एक नई साझेदारी शुरू करने के लिए उत्साहित हैं, क्योंकि हम विकसित भारतीय उपभोक्ता की जरूरतों को पूरा करने का प्रयास करते हैं।’’

कोटक रुपे वीर क्रेडिट कार्ड के ऑफर में अनेक खूबियां और फायदे उपलब्ध हैं, जिनमें शामिल हैं- ईंधन अधिभार और रेलवे अधिभार से छूट, कार्ड एक्टिवेशन ऑफ़र, वार्षिक शुल्क छूट, एक आकर्षक रिवार्डिंग प्रोग्राम और हवाई अड्डे के लाउंज का उपयोग, इत्यादि।

Thursday, October 28, 2021

मोईन अली गेंदबाज़ बहुत कम हैं- संजय मांजरेकर


T20 World Cup: इंग्लैंड के खिलाफ पहले खेलते हुए बांग्लादेश ने 20 ओवर में 9 विकेट पर 124 रन बनाए. जिसमें मुशफिकुर ने सबसे ज्यादा 29 रन बनाए.  इंग्लैंड के गेंदबाजों ने कमाल का परफॉर्मेंस किया और बांग्लादेश को बड़ा स्कोर नहीं बनाने दिया. मैच की शुरूआत में ही इंग्लैंड के गेंदबाजों ने समझदारी से गेंदबाजी की और थोड़े-थोड़े अंतराल पर विकेट लेते रहे. खासकर मोईन अली (Moeen Ali) ने कमाल किया और 2 विकेट लेने में सफल रहे. मोईन ने एक ही ओवर में बांग्लादेश के 2 विकेट लेकर इंग्लैंड को बड़ी सफलता दिला दी थी. बता दें कि बांग्लादेश के दोनों ओपनरों को मोईन ने अपनी फिरकी में फंसाकर पवेलियन की राह दिखाई. लिटन दास ने 9 रन और मोहम्मद नईम ने 5 रन बनाए. दोनों ओपनर लगातार 2 गेंद पर मोईन अली का शिकार बने. 

लिटन दास ने क्रीज पर गेंदबाज का ध्यान भटकाने के लिए रणनीति अपनाई और गेंदबाज के गेंद करने से पहले ही अपने क्रीज पर चहलकदमी करने लगे. लेकिन मोईन ने दिमाग लगाकर उन्हें छोटी गेंद दी जिसपर दास ने स्वीप शॉट मारा, यहां पर ही लिटन फंस गए और लेग साइड पर लिविंगस्टोन को एक आसान कैच दे बैठे. इसके अगली गेंद पर मोईन ने मोहम्मद नईम को भी चलता कर दिया. 

पहला विकेट गिर जाने के बाद भी नईम ने सावधानी नहीं बरती और अगली गेंद पर छक्का जमाने की कोशिश में उन्होंने अली की फ्लाइट गेंद पर आगे बढ़कर हवाई शॉट खेल दिया. लेकिन अली की गेंद को बल्लेबाज अच्छी तरह से टाइम नहीं कर पाया और लॉग ऑन पर क्रिस वोक्स को कैच दे बैठे.

मोईन अली को लेकर संजय मांजरेकर ने किया ''कू''

मोईन अली की घातक गेंदबाजी को देखकर भारत के पूर्व क्रिकेटर संजय मांजरेकर ने कू ऐप पर अपने विचार शेयर किए हैं. उन्होंने लिखा, 'मोईन अली',  क्या प्रतिभा है! एक बैटर के साथ-साथ  एक शुद्ध गेंदबाज के रूप में जगह बना सकते हैं,  टी20 में उनके जैसा बहुत कम होते हैं.'

Wednesday, October 27, 2021

जेईसीआरसी में 847 जॉब ऑफर, जयपुर के छात्र बने मल्टीनेशनल कंपनियों की पहली पसंद

 

- जेईसीआरसी फाउंडेशन ने जारी कि प्लेसमेंट बैच 2022 के पहले चरण के आंकड़े
- अमेजन ने ऑफर किए 44 लाख के पैकेज,  दूसरे चरण में आ रही हैं 39 कंपनियां
जयपुर : हाल के कुछ वर्षों में गुणवत्तापूर्ण शिक्षा के मामले में जयपुर ने अपनी अलग पहचान स्थापित की है। अब यहां के शिक्षण संस्थानों के विद्यार्थी मल्टीनेशनल कंपनियों की पसंद बन रहे हैं। कैंपस प्लेसमेंट के लिए अभी तक सिर्फ आईआईटी, एनआईटी जैसे संस्थानों की तरफ रुख करने वाली कंपनियां अब जयपुर के विद्यार्थियों की प्रतिभा को पहचानते हुए आकर्षक जॉब ऑफर कर रही हैं। जेईसीआरसी फाउंडेशन ने नए प्लेसमेंट बैच 2022 का शानदार आगाज किया है। फाउंडेशन की तरफ से जारी पहले चरण के आंकड़ों के मुताबिक पिछले साल की तुलना में इस बार 40 फीसद की बढ़़ोतरी हुई है। अभी तक 847 विद्यार्थियों को जॉब ऑफर हो चुकी है। इनमें से 140 से अधिक को 7 लाख का पैकेज व 360 से अधिक विद्यार्थियों को 5 लाख प्रतिवर्ष का पैकेज ऑफर किया गया है।
फॉर्च्यून -  500 में शामिल विश्व की टॉप मल्टीनेशनल कंपनीज जैसे कि एचपीई, डेलॉइट, इंफोसिस, एलटीआई, अमेजन, कैपजेमिनी, एसेंचर और क्लाउडएरा, इंफोएज, ज़ीएस एसोसिएट्स ने इस बार जेईसीआरसी के विद्यार्थियों को काफी बेहतर पैकेज ऑफर किए हैं। अभी जेईसीआरसी में कैंपस प्लेसमेंट ड्राइव चल रहा है और दूसरे चरण में 39 से अधिक मल्टी नेशनल कंपनियां आ रही हैं।
44 लाख का पैकेज ऑफर किए गए विद्यार्थियों में शामिल प्रज्ज्वल गिदवानी ने अपनी सफलता का श्रेय कैंपस रिक्रूटमेंट ट्रेनिंग (सीआरटी),  प्रैक्टिकल क्लासेज़ को दिया। प्रज्ज्वल ने बताया कि सीआरटी और पूरे कोर्स के दौरान कराए गए प्रैक्टिकल ट्रेनिंग के बलबूते पर ही मैं और अन्य विद्यार्थी अमेजन के 44 लाख प्रतिवर्ष के पैकेज हासिल कर पाए हैं।
छात्राओं का भी हुआ शानदार प्लेसमेंट
जेईसीआरसी की छात्राओं ने भी इस बार पहले फेज में शानदार ऑफर हासिल किए हैं। लगभग 70 फीसद छात्राओं को टॉप कंपनियों ने बेहतरीन सैलरी दी है। क्लाउडएरा की तरफ से 23 लाख प्रतिवर्ष का पैकेज पाने वाली छात्रा क्रति मित्रा ने बताया कि जेईसीआरसी अपने स्टूडेंट्स पर काफी मेहनत करता है। उसी का परिणाम है कि यहां के स्टूडेंट्स को अच्छे पैकेज पर बड़ी कंपनियों में जॉब ऑफर हुई है। ट्रेनिंग एंड प्लेसमेंट सेल के प्रमुख रमेश रावत ने बताया कि विद्यार्थियों के बीच जेईसीआरसी पर बढ़ते विश्वास ने हमें एक संस्थान के रुप में अधिक मेहनत करने की प्रेरणा दी है। कोरोना काल के बाद अब कंपनियां वर्चुअल मोड में भी इंटरव्यू लेकर स्टूडेंट्स को जॉब ऑफर कर रही हैं। इससे हमारे विद्यार्थियों को अपनी प्रतिभा दिखाने के अधिक अवसर मिले हैं। इस सफलता का श्रेय प्री प्लेसमेंट ट्रेनिंग और विद्यार्थियों की कठिन मेहनत को जाता है। जेईसीआरसीयंस की ये सफलताएं मौजूदा विद्यार्थियों को प्रेरित करती रहेंगी। 

स्ट्रोक के लगभग 70 फीसदी मामलों का या तो इलाज हो सकता है या इन्हें रोका जा सकता है : डॉ. विपुल गुप्ता

 

गुरुग्राम: एक आकलन है कि दुनिया में स्ट्रोक से हर 40 मिनट पर एक व्यक्ति पीडि़त होता है और हर चार मिनट पर एक व्यक्ति की स्ट्रोक से मौत हो जाती है। 25 फीसदी आबादी जीवन के किसी न किसी मोड़ पर स्ट्रोक अटैक से पीडि़त होती है जबकि स्ट्रोक के 7080 फीसदी मामले हाइपरटेंशन, डायबिटीज, कोलेस्ट्रोल लेवल का ख्याल रखने से रोके जा सकते हैं। इसके अलावा जीवनशैली में बदलाव, उचित खानपान, पर्याप्त व्यायाम, वजन पर नियंत्रण रखने तथा धूम्रपान त्यागने से स्ट्रोक को रोका जा सकता है। स्ट्रोक रोकने का एक सबसे अच्छा तरीका शारीरिक श्रम करते रहना भी है। ब्रेन स्ट्रोक मृत्यु का दूसरा बड़ा और दीर्घकालीन अपंगता का प्रमुख कारण माना जाता है। सही समय पर इलाज करने से नुकसान को कम किया जा सकता है, वहीं लोगों के लिए यह जानना भी जरूरी है कि मरीज के शुरुआती लक्षणों की पहचान कर तत्काल उसे अस्पताल ले जाया जाए। जागरूकता सत्र का आयोजन आर्टेमिस एग्रिम इंस्टीट्यूट ऑफ न्यूरोसाइंसेज में न्यूरोइंटरवेंशन के प्रमुख और स्ट्रोक यूनिट के सह निदेशक डॉ.विपुल गुप्ता तथा स्ट्रोक न्यूरोलॉजी एंड न्यूरोइंटरवेंशनल सर्जरी के डॉ.राजश्रीनिवास पार्थसारथी ने किया। स्ट्रोक के इलाज के क्षेत्र में आई तरक्की से स्ट्रोक के बाद विंडो पीरियड (निर्धारित अनुकूल अवधि) में डॉक्टर के पास आने से मरीज का न सिर्फ  बेहतर इलाज हो सकता है, बल्कि ज्यादातर मामलों में मरीजों को सामान्य स्थिति में लाया जा सकता है। सच्चाई यह है कि स्ट्रोक के लगभग 70 फीसदी मामलों का या तो इलाज हो सकता है या इन्हें रोका जा सकता है। इस सच्चाई को जानते हुए आर्टेमिस एग्रिम इंस्टीट्यूट न्यूरोसाइंस, गुरुग्राम ने आज जन जागरूकता सम्मेलन के जरिये लोगों में जागरूकता बढ़ाने के महत्व पर जोर दिया। डॉ.विपुल गुप्ता ने कहा, जब स्ट्रोक की बात आती है, तो इसमें प्रत्येक मिनट मायने रखता है। समय ही महत्वपूर्ण है’ और मरीजों के लिए यह सबसे जरूरी है कि स्ट्रोक को शुरू में ही पहचान लें, जिसमें इसके लक्षणों के बारे में जागरूकता बढ़ाना जरूरी है। प्रत्येक मिनट में 20 लाख कोशिकाओं की क्षति होती है। लिहाजा स्ट्रोक के दौरान मरीज के लिए हर गुजरता मिनट महत्वपूर्ण होता है। इन दिनों स्ट्रोक के इलाज की कई आधुनिक पद्धतियां हैं जिनमें शुरुआती स्तर के इलाज से स्ट्रोक रोका जा सकता है और मरीज को सामान्य स्थिति में लाया जा सकता है। हालांकि प्रभावी इलाज के लिए स्ट्रोक के बाद पहले गोल्डन आवर्स में इलाज काफी प्रभावी होता है। स्ट्रोक के इलाज के क्षेत्र में न्यूरोइंटरवेंशनल थ्रोम्बेक्टोमी सर्जरी जैसी तरक्की के कारण स्ट्रोक के बाद विंडो पीरियड में लाए जाने वाले मरीज का न सिर्फ  बेहतर इलाज हो सकता है, बल्कि ज्यादातर मामलों में मरीज को सामान्य स्थिति में भी लाया जा सकता है। न्यूनतम शल्यक्रिया होने के कारण स्ट्रोक थ्रोम्बेटोमी आपातकालीन इलाज का पहला स्थापित विकल्प है और अत्यंत प्रभावी तथा सुरक्षित है। इसके जरिये इलाज में कैथेटर आधारित डिवाइस के जरिये अवरुद्ध आर्टरी को खोलते हुए मस्तिष्क में रक्तप्रवाह बहाल किया जाता है।’
डॉ. राजश्रीनिवास पार्थसारथी ने कहा, एक्यूट स्ट्रोक का सार्थक इलाज सही समय पर इलाज शुरू कराने पर निर्भर करता है और इस प्रकार मरीजों को शुरुआती चरण में ही अस्पताल पहुंचाना सबसे महत्वपूर्ण माना जाता है। यानी लोगों में स्ट्रोक की शुरुआती पहचान और जागरूकता ही सबसे महत्वपूर्ण है। स्ट्रोक यूनिट तक मरीज को गोल्डन विंडो पीरियड में पहुंचाने के लिए स्ट्रोक अटैक के छह घंटे के अंदर की अवधि महत्वपूर्ण होती है, इसमें जरा भी देरी होने पर मरीज को होने वाले नुकसान की भरपाई नहीं हो पाती है और ऐसे 80 फीसदी मामलों में स्थायी अपंगता आ जाती है।’ स्ट्रोक का इलाज संभव है’ का संदेश विश्व स्ट्रोक दिवस को बढ़ावा देने में मदद कर रहा है। शुरुआती चरण में इसकी पहचान से इलाज में बड़ा बदलाव आता है और इससे आपातकालीन इलाज के दौरान अविश्वसनीय परिणाम मिलता है। हम लोगों को स्ट्रोक के लक्षणों को पहचानने और इस बारे में जानने के लिए प्रोत्साहित करते हैं। फास्ट (फेस ड्रॉपिंग, आर्म विकनेस, स्पीच स्लर्ड, टाइम टु कॉल एंबुलेंस) जान लें यानी इस दौरान चेहरा लटकने, बांहों में कमजोरी, बोली में लडख़ड़ाहट, एंबुलेंस तत्काल बुलाना बहुत जरूरी है।  लोगों को जान लेना चाहिए कि सक्रिय जीवनशैली के कई सारे स्वास्थ्य फायदे हैं और इनमें स्ट्रोक पर रोक लगाने जैसे फायदे भी हैं। ज्यादा समय तक स्क्रीन पर समय बिताने से बचना या तनाव दूर करना भी आधुनिक युग के लिए महत्वपूर्ण है।

घर के रेनोवेशन के 5 तरीके-अपने घर को करें त्योहारों के लिए तैयार

अक्टूबर का महीना चल रहा है और नवरात्रि से शुरू होने के बाद एक-एक कर त्योहार आ रहे हैं, जल्द ही दीवाली भी आने वाली है। हम सभी लक्ष्मी के स्वागत के लिए अपने घर को सजाने में जुटे हैं। तो अगर आप भी त्योहारों के इस सीज़न अपने घर को रेनोवेट करना चाहते हैं तो हम आपके लिए कुछ सुझाव लेकर आए हैं।

1. अपने दरवाज़ों और खिड़कियों को करें रेनोवेट
दरवाज़े और खिड़कियां हमारे घर का अभिन्न हिस्सा होते हैं। सही दरवाज़ों और खिड़कियों के चुनाव से न सिर्फ घर में अच्छी रोशनी और हवा आती है, बल्कि घर ज़्यादा आकर्षक भी दिखाई देता है। इसके लिए आप डीसीएम श्रीराम लिमिटेड की युनिट- भारत में दरवाज़ों और खिड़कियों के सबसे बड़ेे ब्राण्ड की ओर से उच्च गुणवत्ता के दरवाज़े और खिड़कियां चुन सकते हैं। उनके पोर्टफोलियो में शानदार परफोर्मेन्स वाले प्रोडक्ट्स शामिल हैं, जो आपके घर को बाहरी शोर, धूल, प्रदूषण, बारिश और हवा से पूरी तरह से सुरक्षित रखते हैं। भारत के चरम जलवायु को ध्यान में रखते हुए फेनेस्टा ने यूपीवीसी और सिस्टम एलुमिनियम के दरवाज़े एवं खिड़कियां डिज़ाइन किए हैं, जो हर तरह के मौसम के लिए उपयुक्त हैं। फेनेस्टा पूरी से कस्टमाइज़्ड समाधान पेश करता हैः अपने उपभोक्ताओं को सर्वे से लेकर डिज़ाइन, निर्माण, डिलीवरी, इन्सटॉलेशन तक उत्कृष्ट सेवाएं प्रदान करता है। हर प्रोजेक्ट को ध्यान में रखते हुए तालमेल बनाकर पूरी प्रक्रिया को अंजाम दिया जाता है।

फ्रैंच खिड़कियां, सीलिंग-टू-फ्लोर विंडो चुन कर आप अपने घर के इंटीरियर में बड़े बदलाव ला सकते हैं और त्योहारों में नया लुक दे सकते हैं। इसके अलावा, आप दरवाज़ों और खिड़कियां के रंग बदल कर भी घर को नया लुक दे सकते हैं।

आलांकि अगर आप अपने घर के लिए ग्रीन सोल्युशन चाहते हैं- तो पर्यावरण के अनुकूल और उर्जा प्रभावी विकल्प चुनें। इसके लिए आप फेनेस्टा की ओर से यूपीवीसी या एलुमिनियम के दरवाज़े और खिड़कियां चुन सकते हैं। ये न सिर्फ रीसायकल किए जा सकते हैं, बल्कि धूल और प्रदूषण से भी घर को सुरक्षित रखते हैं। इस तरह ये इस सीज़न आपको और आपके परिवार को हर तरह की एलर्जी से भी बचा कर रखेंगे। फेनेस्टा ढेरों डिज़ाइनों के साथ कस्टमाइज़ेशन के विकल्प भी पेश करता है, जिनसे आप अपने घर को नया लुक देकर त्योहारों के लिए तैयार कर सकते हैं।

2. रंगों का चुनाव सोच समझ कर करें।
सिर्फ रंग बदल कर ही आप अपने घर को नया लुक और नया अहसास दे सकते हैं। तो इस दीवाली लाल, पीले, नारंगी जैसे चमकदार रंगों से अपने घर को नई ताज़गी दें और घर में नई खुशियां लेकर आएं। थीम्ड वॉल या टेक्सचर भी घर को नया लुक देने का अच्छा तरीका है। अगर आप एक ही तरह के पेंट से बोर हो गए हैं तो अपने कमरे के लिए लक्ज़री वॉलपेपर चुनें और इस दीवाली घर की खूबसूरती में चार-चांद लगा दें। अपनी पसंद और अपने व्यक्तित्व को ध्यान में रखते हुए आप वॉलपेपर या पेंट चुन सकते हैं।

3. कुछ मुख्य बातों पर ध्यान दें
अगर इस सीज़न रेनोवेशन के लिए आपका बजट बहुत ज़्यादा नहीं है तो आप कुछ छोटे छोटे बदलाव ला सकते हैं। क्योंकि त्योहारों के दौरान मेहमान तो आएंगे ही। अपने घर के उस हिस्से पर ध्यान दें, जो सबसे ज़्यादा दिखाई देता है, जी हां लिविंग रूम! लिविंग रूम की दीवारों को हल्के रंग में पेंट करें, या लक्ज़री वॉलेपेपर से सजाएं। कमरे के कार्नर्स को आप किसी मास्टरपीस से सजा सकते हैं। ये छोटे से बदलाव कम खर्च में भी आपके घर की खूबसूरती को कई गुना बढ़ा देंगे। अब अपने परिवार की कुछ तस्वीरों के साथ घर को फाइनल लुक दें।
4. फर्नीचर को करें अपग्रेड
किसी भी कमरे का डेकोर फर्नीचर के बिना अधूरा रहता है। आप फर्नीचर बदल कर या मौजूदा फर्नीचर को नया लुक देकर भी घर में बदलाव ला सकते हैं। इसके अलावा पर्दे, कुशन, कारपेट बदल कर भी घर को नया लुक दिया जा सकता है, ये छोटे बदलाव भी आपको त्योहारों का खूबसूरत अहसास देंगे।
5. रोशनी से जगमगाएं
दइीवाली के दौरान हम रोशनी को नहीं भूल सकते। यह इस त्योहार का सबसे अभिन्न हिस्सा है। इसी को ध्यान में रखते हुए आप अपने घर को त्योहारों के लिए तैयार करें। इसके लिए आप लाइटिंग फिक्सचर्स बदल सकते हैं, फ्लोर लैम्प या स्ट्रिंग लाईट से अपने घर के विभिन्न कोनों को सजा सकते हैं। आप अपने लिविंग रूम के झूमर खरीद सकते हैं। लाईट्स के ढेरों विकल्प हैं। आपको बस बाज़ार जाना है और अपनी पसंद की लाईट्स लाकर अपने घर को सजाना है।

घर का रेनोवेशनः कैसे चुनें घर के लिए सही प्रोडक्ट्स

रेनोवेशन करने से आपके घर को एक नया जीवन मिलता है, पुरानी हो गई घर की संरचना ज़्यादा आकर्षक दिखने लगती है, साथ ही आप रेनोवेशन के दौरान अपनी हर ज़रूरत को भी ध्यान में रखते हैं। हालांकि यह काम पूरी योजना बनाकर, बजट को ध्यान में रखते हुए करना पड़ता है। किसी भी योजना को अंतिम रूप से देने से पहले आपको हर पहलु के बारे में जानकारी जुटानी होती है। अगर आप भी अपने घर को रेनोवेट करने की योजना बना रहे हैं, तो हम आपके लिए कुछ सुझाव लेकर आए हैं, जिनकी मदद से आप सही चुनाव कर अपने घर को बेहतरीन बना सकते हैं।

दरवाज़ों का चयन
अगर आप घर के पुराने दरवाज़े बदलने के बारे में सोेच रहे हैं, तो ध्यान रखें कि आपके नए दरवाज़े आधुनिक सामग्री, जैसे यूपीवीसी या एलुमिनियम से बने हों, जो आपके घर को आकर्षक लुक दें। इसके लिए आप भारत के सबसे बड़े विंडो एवं डोर ब्राण्ड फेनेस्टा के दरवाज़े और खिड़कियां चुन सकते हैं। उनके पोर्टफोलियो में शानदार परफोर्मेन्स वाले प्रोडक्ट्स शामिल हैं, जो आपके घर को बाहरी शोर, धूल, प्रदूषण, बारिश और हवा से पूरी तरह से सुरक्षित रखते हैं। भारत के चरम जलवायु को ध्यान में रखते हुए फेनेस्टा ने यूपीवीसी और सिस्टम एलुमिनियम के दरवाज़े एवं खिड़कियां डिज़ाइन किए हैं, जो हर तरह के मौसम के लिए उपयुक्त हैं। फेनेस्टा पूरी से कस्टमाइज़्ड समाधान पेश करता हैः अपने उपभोक्ताओं को सर्वे से लेकर डिज़ाइन, निर्माण, डिलीवरी, इन्सटॉलेशन तक उत्कृष्ट सेवाएं प्रदान करता है। हर प्रोजेक्ट को ध्यान में रखते हुए तालमेल बनाकर पूरी प्रक्रिया को अंजाम दिया जाता है।
यूपीवीसी और एलुमिनियम बाहरी दरवाज़ों के लिए बेहतरीन होते हैं, वहीं घर के भीतरी दरवाज़ों और बाथरूम के लिए आप हाइब्रिड पॉलिमर के दरवाज़े चुन सकते हैं। दरवाज़ों से ही घर के अंदर सबसे ज़्यादा रोशनी आती है। घर के अंदर पर्याप्त प्राकृतिक रोशनी रहे, इसके लिए आप फेनेस्टा की व्यापक रेंज में से अपनी पसंद का स्टाइल चुन सकते हैं, या अगर आप सिर्फ पुराने दरवाज़ों को पेंट करवाना चाहते हैं तो घर में रोशनी को ध्यान में रखते हुए दरवाज़ों का शेड चुनें, जो आपके मन को भी लुभाए।
फेनेस्टा घर के लिए उच्च गुणवत्ता के यूपीवीसी, एलुमिनियम एवं हाइब्रिड पॉलिमर दरवाज़ों की शानदार रेंज पेश करते हैं, जो आपके घर को बाहरी हलचल से सुरक्षित रखती है। ब्राण्ड ढेरों डिज़ाइनों के साथ-साथ कस्टमाइज़ेशन के विकल्प भी लेकर आता है, तो घर के लिए सबसे अच्छा दरवाज़ा चुनना अब आपके लिए मुश्किल नहीं होगा।
सही रंग चुनें
पेंट करने से घर का पूरा रूप-रंग बदल जाता है, अगर आप घर को रेनोवेट करवा रहे हैं, तो पेंटिंग की योजना भी सोच-समझ कर बनाएं। आप अलग-अलग ब्राण्ड्स के कलर्स देखकर वही रंग चुनें जो आपको सबसे अच्छा लगे। हालांकि ब्राण्ड को चुनते हुए अपने बजट को भी ध्यान में रखतें। अगर-अलग अलग रंग चुनना महंगा पड़ रहा हो तो आप ब्लैक एण्ड व्हाईट कलर्स पर भी जा सकते है। यह कॉम्बिनेशन आपके घर को कम बजट मंे आधुनिक लुक देगा।

रेनोवेशन की योजना इस तरह से बनाएं कि घर बड़ा दिखे
यह बात सभी जानते हैं कि शीशे लगाने से कोई भी जगह बड़ी दिखती है। तो अगर आपका घर छोटा है तो इसे बड़ा और स्पेशियस दिखाने के लिए आप शीशों का इस्तेमाल कर सकते हैं। यह तकनीक ज़्यादा महंगी नहीं पड़ती, और परिणाम भी बेहतरीन होते हैं।
खिड़कियांें का इन्सटॉलेशन
घर में खिड़कियों का महत्व बहुत अधिक होता है। हम इनमें बिना नहीं रह सकते। प्राकृतिक रोशनी की बात हो या वेंटीलेशन की, या बाहर के नज़ारों की- घर में खिड़कियां होना बहुत ज़रूरी है। अगर आप नई खिड़की इन्सटॉल करना चाहते हैं तो हम आपको यही सलाह देंगे कि इको-फ्रैंडली, यूपीवीसी या एलुमिनियम की खिड़कियां चुनें, ये उर्जा की बचत करती हैं और साथ ही रीसायकल भी की जा सकती हैं। फेनेस्टा उच्च गुणवत्ता की खिड़कियां पेश करता है, जो धूल और प्रदूषण से बचाती हैं, साथ ही बाहरी शोर को भी भीतर नहीं आने देतीं।
बाथरूम का रेनोवेशन
बाथरूम के लिए खरीददारी करना बहुत मज़ेदार होता है, क्योंकि बाज़ार में इसके लिए ढेरों और अच्छी गुणवत्ता के प्रोडक्ट्स उपलब्ध हैं। इसकी शुरूआत आप टॉयलेट फिक्सचर बदलने से कर सकते हैं, आप पेंट बदल सकते हैं, नया शॉवर प्रेशर लगवा सकते हैं या छोटे-बड़े कई बदलाव कर सकते हैं।
फर्श का रेनोवेशन
फर्श का रेनोवेशन आमतौर पर महंगा पड़ता है। अगर आपका बजट टाईट है तो कुछ सस्ता विकल्प ढूंढें। फिर भी अगर आपको कोई अच्छा विकल्प न मिले तो इसके बजाए अपने फर्श से मैच करते हुए बाकी चीज़ें बदल दें।

FedEx Express अध्ययन ने दर्शाया भारत है भविष्य के तैयार

भारत, 27 अक्टूबर, 2021 - FedEx Corp. (NYSE: FDX) की सहायक कंपनी और दुनिया की सबसे बड़ी एक्सप्रेस परिवहन कंपनी, FedEx Express ने आज अपने 'फ्यूचर इज़ नाउ' अध्ययन के निष्कर्षों की घोषणा की, जिनमें भविष्य को अपनाने की भारत की तत्परता की पूरी पहचान करायी गयी है।

भारत परिवर्तन की दहलीज़ पर खड़ा है, महामारी ने देश में डिजिटल परिवर्तन की रफ़्तार को तेज़ किया है। स्वास्थ्य सेवा से लेकर शिक्षा तक, बैंकिंग से लेकर विनिर्माण तक, प्रौद्योगिकी हर क्षेत्र को बदल रही है, संभावनाओं से भरे भविष्य की ओर लेकर जा रही है। इस अध्ययन में 18 शहरों में 4,000 से अधिक लोगों का सर्वेक्षण किया गया, उनमें से 79% ने कहा कि भारत भविष्य के लिए तैयार विश्व के निर्माण के लिए आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस, इंटरनेट ऑफ थिंग्स और ब्लॉकचेन जैसी प्रौद्योगिकियों को प्राथमिकता दे रहा है। लगभग 83% लोगों का मानना ​​था कि साइंस फिक्शन फिल्मों में दिखाई जाने वाली तकनीक या तो पहले से ही उनकी ज़िन्दगी का हिस्सा है, या अगले कुछ वर्षों में होने की संभावना है।

प्रौद्योगिकी पर आधारित बदलाव का रुझान जारी रहने की संभावना के साथ, भविष्य के शहरों को आकार देने में प्रमुख भूमिका निभा सकते हैं ऐसे  विशिष्ट उद्योगों को पहचाना गया, जिनमें स्वास्थ्य सेवा को 35%, बुनियादी ढांचे और लॉजिस्टिक्स को 21%, और बैंकिंग और वित्त को 18% लोगों ने परिवर्तन का नेतृत्व करने वाला माना है।

FedEx Express के इंडिया ऑपरेशंस के उपाध्यक्ष मोहम्मद सईघ ने कहा, "FedEx में हम नवाचार की कई दशकों से चली आ रही विरासत को लेकर आगे बढ़ रहे है, दुनिया के लिए जिम्मेदार और संसाधनपूर्ण तरीकों से समाधान बनाने के लिए हम लगातार नवाचार करते हैं।

नवाचार, आधुनिक प्रौद्योगिकियों और डिजिटल परिवर्तन की ओर तेजी से हो रहे बदलाव के साथ, स्थिरता पर ध्यान केंद्रित करते हुए हम उद्यम के भविष्य को प्रेरित करने के लिए तैयार हैं। ब्लॉकचेन, आईओटी, ऑटोमेशन और रोबोटिक्स में प्रगति केवल लॉजिस्टिक्स उद्योग के लिए नहीं, बल्कि भविष्य में सभी उद्योगों के लिए मार्ग प्रशस्त करेगी।”  

'फ्यूचर इज़ नाउ' अध्ययन तीन मुख्य विचारों पर केंद्रित था: गतिशील होना, भारत कैसे प्रयोग और नवाचार के लिए खुला है, और देश स्थिरता के प्रति किस हद तक जागरूक है। निष्कर्षों से संकेत मिला है कि भविष्य की सफलता इन तीन प्रमुख विचारों के आधार पर अपने दृष्टिकोण को बनाने वाले व्यवसायों पर निर्भर करेगी।

भविष्य गतिशील है

उद्योग कोई भी हो, कंपनियों को अपने उपभोक्ताओं की नब्ज पर नज़र रखनी चाहिए, उनकी ज़रूरतों का अनुमान लगाना चाहिए और उनकी तेज़ी से बढ़ती हुई अपेक्षाओं से एक कदम आगे रहना चाहिए। महामारी की वजह से जीवन के लगभग हर पहलू में तेज़ी से बदलाव आया है, हम रहते कैसे हैं और काम कैसे करते हैं, व्यवसाय अपने ग्राहकों के साथ बातचीत किस तरह से करते हैं, और ग्राहक उत्पादों और सेवाओं को कैसे खरीदते हैं इन सभी में बदलाव हुए हैं।

FedEx के अध्ययन से पता चलता है कि व्यवसायों ने इस बदलाव के साथ तालमेल बिठाने के लिए काम करना पहले से ही शुरू कर दिया है, लगभग 87% उत्तरदाताओं ने कहा कि पिछले एक साल में, कंपनियों ने 'आगे क्या है?' को समझने और संभावित समाधान प्रस्तुत करने की अपनी क्षमताओं को प्रदर्शित किया।

भविष्य के लिए तैयार मानसिकता के लिए प्रयोग के लिए खुला रहना अनिवार्य है:

ग्लोबल इनोवेशन इंडेक्स में भारत का रैंक आगे बढ़ा है और आज यह संपन्न स्टार्ट-अप इकोसिस्टम का घर है जो नए विचारों और समाधानों के साथ परिवर्तन को प्रेरित करता है।

तेज़ी से गतिशील वातावरण में, व्यवसायों की सफलता उनकी अपनी सीमाओं को फ़ैलाने और प्रयोग-आधारित नवाचार की संस्कृति को बढ़ावा देने की क्षमताओं पर निर्भर करती है। FedEx सर्वेक्षण में हिस्सा लेने वालों में से अधिकांश 91% का मानना ​​है कि संगठन, समुदाय या यहां तक ​​कि ऐसे व्यक्ति जो प्रयोग करते हैं और परिवर्तन को अपनाते हैं, वे भविष्य की चुनौतियों से निपटने के लिए बेहतर ढंग से तैयार होते हैं।

स्थायी मानसिकता कोई विकल्प नहीं है, बल्कि व्यवसाय में सफलता के लिए अनिवार्य है:

आज के दौर में उपभोक्ता उनकी पसंद का आसपास की दुनिया पर क्या प्रभाव पड़ता है उसके बारे में अधिक जागरूक हो रहे हैं - चाहे वह पर्यावरण से संबंधित हो या उनके समुदायों से। यहां तक ​​​​कि उनके खरीदारी के निर्णय भी संगठन के टिकाऊ और जिम्मेदार होने के बारे में उनकी धारणा से प्रभावित होते हैं। FedEx के अध्ययन के अनुसार, 75% ने सहमति व्यक्त की है कि 'भविष्यवादी' दृष्टिकोण रखने वाले व्यक्ति, समुदाय आदि पर्यावरण के प्रति अधिक जागरूक हैं। वास्तव में, 71% उत्तरदाताओं ने दावा किया है कि, भविष्य के व्यवसाय में निर्णय लेने वाले होने के नाते, उनके लिए स्थिरता महत्वपूर्ण होगी और यही उनकी सर्वोच्च प्राथमिकता होगी।

अध्ययन में प्रतिभागियों द्वारा व्यक्त की गयी प्रतिक्रिया स्पष्ट है: अपने ग्राहकों के लिए प्रासंगिकता और दीर्घकालिक के लिए लचीलापन सुनिश्चित करने में मदद करने के लिए संगठनों को अपनी स्थिरता रणनीतियों का पुनर्मूल्यांकन और उनमें सुधार करना जारी रखना चाहिए।

जैसे-जैसे दुनिया विकसित हो रही है, प्रौद्योगिकी  और रुझान जीवन शैली, व्यवहार और दृष्टिकोण में बदलाव लाएंगे। जो अनंत संभावनाएं प्रदान करता हो ऐसे भविष्य को अपनाना, जो गतिशील, प्रयोगात्मक और टिकाऊ हो, ऐसी मानसिकता रखना व्यवसायों और व्यक्तियों दोनों के लिए, सदैव एक कदम आगे रहने के लिए अनिवार्य होगा।

###

FedEx 'फ्यूचर इज़ नाउ' अध्ययन* की कार्यप्रणाली

उपरोक्त निष्कर्ष इनोवेटिव रिसर्च सर्विसेज़ (इंडिया) प्राइवेट लिमिटेड, मुंबई द्वारा किए गए शोध फील्डवर्क पर आधारित हैं, जिसमें प्रथम और द्वितीय श्रेणी के 18 शहरों में 4,210 लोगों  के साथ आमने-सामने और टेलीफोनिक साक्षात्कार के माध्यम से इंटरव्यूज किए गए। इन 18 शहरों में से 9 प्रथम श्रेणी के शहर हैं जिनमें अहमदाबाद, बेंगलुरु, चेन्नई, दिल्ली, हैदराबाद, कोलकाता, मुंबई, पुणे और सिकंदराबाद शामिल हैं, जबकि अन्य 9 द्वितीय श्रेणी के शहर हैं जिनमें कोईम्ब्तूर, देहरादून, गुड़गांव, जयपुर, कोची, लखनऊ, सूरत, उदयपुर और वाराणसी हैं। उत्तरदाता उपरोक्त शहरों के 18-60 वर्ष के बीच आयु वर्ग के लोगों का एक रेप्रेज़ेंटेटिव सैंपल था।

पोस्टपे ने देवनागरी लिपि में ‘पे’ डिवाइस मार्क के लिए फोनपे के ट्रेडमार्क रद्द करने की दिशा में दायर किए 6 कैंसिलेशन एक्शंस

नई दिल्ली, 27 अक्टूबर, 2021- रेजिलिएंट इनोवेशंस प्राइवेट लिमिटेड (भारतपे) ने फोनपे प्राइवेट लिमिटेड के अनेक पंजीकरणों को रद्द करने के लिए दिल्ली उच्च न्यायालय के बौद्धिक संपदा प्रभाग के समक्ष 6 कैंसिलेशन एक्शंस दायर किए हैं। कंपनी ने अपने काउंसल सिम और सैन, अटॉर्नी एट लॉ के माध्यम से यह याचिका दायर की है। यह कार्रवाई देवनागरी लिपि में पेडिवाइस मार्क के लिए फोनपे के ट्रेडमार्क रद्द करने के लिहाज से की गई है। रेजिलिएंट इनोवेशंस ने हाल ही में पोस्टपेट्रेडमार्क के तहत अभी खरीदें बाद में भुगतान करेंऐप लॉन्च किया है।

रेजिलिएंट इनोवेशंस (भारतपे) के एक प्रवक्ता ने कहा, ‘‘ट्रेडमार्क की शुद्धता बड़े पैमाने पर जनता के हित में है। भारत जैसे देश में भुगतान सेवाओं से संबंधित वर्गों में देवनागरी लिपि में पेडिवाइस मार्क के लिए एक ट्रेड मार्क लेकर, जहां हिंदी जनता की प्राथमिक भाषा है, फोनपे ने व्यापक जनहित के खिलाफ काम किया है, और रेजिलिएंट इनोवेशंस इसे पूर्ववत करने के लिए प्रतिबद्ध है।’’

प्रवक्ता ने कहा, ‘‘फोनपे देवनागरी लिपि में पेडिवाइस मार्क के लिए अपने पंजीकरण को अंग्रेजी शब्द “Pe” / “Pay” के समकक्ष होने का दावा कर रहा है। फोनपे ने लगभग इसी प्रकार की स्थिति रेजिलिएंट द्वारा पोस्टपेचिह्न के उपयोग के खिलाफ हाल ही में फोनपे द्वारा बॉम्बे हाई कोर्ट में दायर एक मामले में ली गई थी। वर्तमान में इस मामले को फोनपे ने वापस ले लिया है। भले ही दिल्ली उच्च न्यायालय और बॉम्बे उच्च न्यायालय दोनों ने प्रथम दृष्टया फोनपे के दावे को गलत पाया हो, लेकिन रेजिलिएंट ने रद्दीकरण की इन कार्रवाइयों को लेकर याचिका दायर की गई है, ताकि डिजिटल भुगतान की दुनिया में सभी हितधारकों को समान अवसर प्रदान किया जा सके और हमेशा के लिए इन विवादों का निपटारा हो सके।’’

इस साल की शुरुआत में, दिल्ली उच्च न्यायालय ने अंतरिम चरण में पेशब्द पर विशिष्टता के फोनपे के दावे को खारिज कर दिया था। हाल ही में बॉम्बे हाईकोर्ट ने भी पेशब्द पर विशिष्टता के फोनपे के दावे को अंतरिम चरण में खारिज कर दिया था। दोनों न्यायालयों ने नोट किया कि पेशब्द एक ट्रेड मार्क स्टैंडअलोन के रूप में संरक्षण के लिए प्रथम दृष्टया काबिल नहीं था।

रेजिलिएंट के प्रवक्ता ने कहा, ‘‘हालांकि स्वदेशी कंपनी रेजिलिएंट में फोनपे जैसी विदेशी-वित्त पोषित संस्थाओं से निपटने के लिए पर्याप्त क्षमता, बाहुबल और प्रेरणा हो सकती है, लेकिन अनेक उभरते उद्यमीऐसे हैं, इस तरह के दबाव के आगे झुक सकते हैं। बाजार में ऐसे वास्तविक खिलाड़ियों की सुरक्षा के लिए, रेजिलिएंट ने इन रद्दीकरण कार्रवाइयों को दर्ज करके इस मुद्दे को शुरू में ही समाप्त करने का निर्णय लिया है। रेजिलिएंट की जानकारी में वर्तमान में भारत के बाजार में दस से अधिक डिजिटल भुगतान प्रोडक्ट्स उपलब्ध हैं और इनकी संख्या लगातार बढ़ रही है। इस क्षेत्र में स्वस्थ प्रतिस्पर्धा को बढ़ावा देना वांछनीय है, न कि केवल व्यक्तिगत लाभ को देखना, जो कि फोनपे जैसी कंपनियों की आदत बन गई है।

‘‘हमें उम्मीद है कि फोनपे कम से कम अब सच्चाई को समझने की कोशिश करेगा, और भारतीय बाजार में अपने गलत और दुर्भावनापूर्ण तरीके से प्रेरित एजेंडे को छोड़ देगा।’’

 


येस बैंक ने ‘येस फैमिली’ के साथ उत्सव की गर्मजोशी को और बढ़ाया - परिवार के प्रत्येक सदस्य की जरूरतों को पूरा करने का एक खास ऑफर

मुंबई, 27 अक्टूबर, 2021- इस त्योहारी सीजन के उल्लास और उमंग को और बढ़ाते हुए येस बैंक ने अपना ‘येस फैमिली’ का प्रस्ताव लॉन्च किया है। इसके तहत ग्राहक अपने परिवार में सभी की बेहतरी और देखभाल करने में सक्षम होते हैं और वो भी एक परिवार के रूप में एक साथ आनंद लेने के लिए विशिष्ट सेवाओं और विशेषाधिकारों के साथ।

अनूठे फायदों और विशेष पेशकशों से भरपूर येस फैमिली को सोच-समझकर कुछ इस तरह डिजाइन किया गया है कि इसके माध्यम से प्रत्येक ग्राहक खरीदारी और खाने से लेकर ऋण लेने तक अनेक फायदे उठा सकता है और बड़ी आसानी के साथ इन सुविधाओं का लाभ ले सकता है।

इस प्रस्ताव के प्रमुख आकर्षणों में शामिल हैं- पूरे परिवार के स्वास्थ्य की देखभाल से जुड़े लाभ, पूरे परिवार के लिए समर्पित रिलेशनशिप मैनेजर, परिवार के सभी खातों में न्यूनतम शेषराशि बनाए रखने की फ्लेक्सिबिलिटी, डोमेस्टिक एटीएम से मुफ्त निकासी, डिजिटल लेनदेन पर शुल्क में छूट, बैंकिंग संबंधी ट्रांजेक्शंस पर येस रिवार्ड्ज़, जिन्हें परिवार के भीतर स्थानांतरित किया जा सकता है, और अन्य सुविधाओं के साथ रोमांचक कैशबैक और लाइफस्टाइल संबंधी विशिष्ट ऑफ़र।

यह प्रस्ताव येस प्रॉस्पेरिटी, येस प्रेमिया और येस फर्स्ट प्रोग्राम में उपलब्ध है - जिनमें से प्रत्येक को अलग-अलग ग्राहक वर्गों की जरूरतों को पूरा करने के लिए विशिष्ट रूप से डिज़ाइन किया गया है।

इस ऑफर की लॉन्चिंग पर टिप्पणी करते हुए येस बैंक के एमडी और सीईओ प्रशांत कुमार ने कहा, ‘‘चूंकि पारिवारिक जीवन शैली में एक महत्वपूर्ण बदलाव देखा जा रहा है, ऐसी स्थितियों में हम पारिवारिक बैंकिंग के विकसित होने और समय के साथ बने रहने की अपार संभावनाएं देखते हैं। यह स्वीकार करते हुए कि आधुनिक परिवारों की वित्तीय ज़रूरतें और अपेक्षाएँ बदल गई हैं, येस बैंक ने एक ऐसे कार्यक्रम को तैयार करने का प्रयास किया है जो वर्तमान वास्तविकताओं के अनुरूप है और जिसमें परिवार के विभिन्न लोगों की अलग-अलग वित्तीय जरूरतों का ख्याल रखा गया है। ‘येस फैमिली’ के साथ, अलग-अलग आय स्तरों वापले ग्राहक अपने परिवार के साथ मिलकर अपने खर्च में सहयोग और समन्वय कर सकते हैं, जिससे परिवार के सभी सदस्यों को स्मार्ट खर्च और वित्तीय जिम्मेदारी सीखने का अवसर मिल सकता है। इस प्रस्ताव के माध्यम से हम हर महीने ग्राहकों को जोड़ने की अपनी रफ्तार में दिसंबर 2021 तक 15 प्रतिशत तक वृद्धि होने की परिकल्पना करते हैं।’’

इस प्रस्ताव में ग्राहकों को जो अन्य फायदे देने का प्रयास किया गया है, उनमें लॉकर का रियायती किराया, फिक्स्ड डिपॉजिट, रेकरिंग डिपॉजिट, होम लोन और ऑटो लोन पर प्रतिस्पर्धी ब्याज दरें शामिल हैं। और इनके साथ-साथ डाइनिंग और शॉपिंग पर मिलने वाले अन्य ऑफर भी इसमें शामिल हैं।

येस प्रॉस्पेरिटी फैमिली का प्रस्ताव उन ग्राहकों के लिए उपलब्ध है, जो 50,000 रुपए का संयुक्त औसत मासिक बैलेंस (एएमबी) बनाए रखते हैं। 2 लाख रुपए के एएमबी या पारिवारिक स्तर पर 10 लाख रुपए के नेट रिलेशनशिप वैल्यू (एनआरवी) वाले ग्राहकों के लिए येस प्रीमिया फैमिली ऑफर उपलब्ध है, जबकि येस फर्स्ट फैमिली 8 लाख रुपए के एएमबी या 30 लाख रुपए के एनआरवी को बनाए रखने वाले ग्राहकों के लिए उपलब्ध है।

 

येस फैमिलीप्रस्ताव के लिए पात्रता मानदंड

 

येस प्रॉस्पेरिटी फैमिली ऑफर

बचत खातों में 50,000 रुपए और उससे अधिक की औसत मासिक शेष राशि या पारिवारिक स्तर पर 5 लाख रुपए और उससे अधिक की सावधि जमा

 

 

 

येस प्रीमिया फैमिली ऑफर

बचत खातों में 2 लाख रुपए का औसत मासिक शेष या पारिवारिक स्तर पर 10 लाख रुपए की नेट रिलेशनशिप वैल्यू

 

 

 

येस फर्स्ट फैमिली ऑफर

बचत खातों में 8 लाख रुपए का औसत मासिक शेष या पारिवारिक स्तर पर 30 लाख रुपए की नेट रिलेशनशिप वैल्यू

 

 

 

नियम और शर्तें लागू।

लाभों और विशेषाधिकारों की विस्तृत जानकारी के लिए यहां क्लिक करें - https://www.yesbank.in/personal-banking/yes-family.

Tuesday, October 26, 2021

गार्मिन इंडिया ने नए टैक ‘अनलीश यॉर आउटडोर स्पिरिट’ के साथ मानाया आउटडोर यात्रा की सफलता का जश्न, खासी ब्लड्ज़ ने गाया यह गीत

नई दिल्ली, 26 अक्टूबर, 2021ः गार्मिन लिमिटेड (NASDAQ: GRMN) की एक युनिट गार्मिन इंडिया ने अपने डिजिटल कैंपेन ‘ओपन द डोर टू द वर्ल्ड’ की सफलता का जश्न मनाने के लिए एक नए टाइटल टैªक ‘अनलीश यॉर आउटडोर स्पिरिट’ पेश किया है। जिसे शिलोंग के लोकप्रिय बैण्ड खासी ब्लड्ज़ के द्वारा गाया गया है। यह गीत गार्मिन एडवेंचर सीरीज़- गार्मिन इंस्टिक्ट सोलर और गार्मिन फिनिक्स सोलर के साथ आउटडोर टैªवलिंग के महत्व पर रोशनी डालता है।

इस विश्वास के साथ कि हर व्यक्ति के लिए एक अलग दरवाज़ा होता है, यह डिजिटल कैंपेन ‘ओपन द डोर टू द वर्ल्ड’ को ज़बरदस्त प्रतिक्रिया मिली है और यह रोमांच प्रेमियों में यात्रा की भावना को बढ़ावा दे रहा है। कई यात्रा प्रेमियों ने इस अनूठे वर्चुअल अभियान के ज़रिए यादगार अनुभव प्राप्त किए हैं।
‘अनलीश यॉर आउटडोर स्पिरिट’ गीत की अवधारणा खासी ब्लड्ज़ के द्वारा तैयार की गई है। जो यात्रा के महत्व पर रोशनी डालता है और महामारी की चुनौतियों के बावजूद फिर से सामान्य जीवन जीने के लिए प्रेरित करता है। यह गीत बताता है कि किस तरह गार्मिन की डिवाइसेज़ अपने यूज़र्स को फिटनैस एवं यात्रा के लक्ष्यों को हासिल करने एवं अपने जुनून को पूरा करते रहने के लिए प्रोत्साहित करती हैं।
यह गीत कई कैरेक्टर्स पर फिल्माया गया है जैसे एक डासंर जो फ्रीस्टाइल में डांस कर रही है, एक फिटनैस प्रेमी जो अपनी फिटनैस दिनचर्या का पालन कर रहा है, एक रॉक क्लाइम्बर और एक बाइसाइकल राइडर जो बीते हुुए कल पर जीत हासिल करने के लिए रोमांच के पथ पर अग्रसर है।
यह मल्टी-स्पोर्ट स्मार्ट वॉचेज़ जीपीएस नेविगेशन फीचर के साथ आती हैं जो पारम्परिक सोच को पीछे छोड़ यूज़र को नए स्थानों की यात्रा के लिए प्रेरित करती हैं।
इस गीत में डिवाइस के सोलर चार्जिंग फीचर, रग्ड एवं आकर्षक डिज़ाइन, इनकी शानदार बैटरी लाईफ के बारे में बताया गया है जो हर तरह के वातावरण को झेल जाती हैं और बैकग्राउण्ड में सुनाई दे रहे शब्दां “I'mma reach as far as the rays of the sun coz my instincts solar. Even if I'd fall I'll rise again like a Fénix, this time I'mma be bolder” के साथ यूज़र को अपना सर्वश्रेष्ठ परफोर्मेन्स देने के लिए प्रेरित करती हैं।
इस अवसर पर श्री अली रिज़वी, डायरेक्टर, गार्मिन इंडिया ने कहा, ‘‘हमारे आउटडोर डिजिटल कैंपन को को एडवेंचर प्रेमियों से शानदार प्रतिक्रिया मिली है जिन्होंने इसके माध्यम से अपनी यात्रा की इच्छा को उजागर किया। बड़ी संख्या में टीकाकरण और कोविड-19 के घटते मामलों के बीच लोगों का आत्मविश्वास बढ़ा है और वे रिलेक्स होकर यात्रा कर रहे हैं, ताकि वे अपनी रोज़मर्रा से ब्रेक ले सकें। यह गीत उन लोगों के प्रति सम्मान की भावना दर्शाता है जो हर दिन अपनी चुनौतियों को पार कर सकारात्मकता के मार्ग पर बढ़ते हैं और आउटडोर एडवेंचर के साथ अपनी यात्रा के जुनून को पूरा करते हैं।’’
गार्मिन के बारे मंे
बाहरी जीवन के लिए भीतर से डिज़ाइन किए गए गार्मिन के प्रोडक्ट्स वैलनैस उद्योग में क्रान्तिकारी बदलाव लेकर आए हैं। वियरेबल्स एवं हेल्थ मेज़रमेन्ट टूल्स उपलब्ध कराने के लिए प्रतिबद्ध ये प्रोडक्ट्स हर स्तर के लोगों को स्वस्थ जीवन प्रदान करते हैं। गार्मिन का मानना है कि हर दिन इनोवेट करने और बीते कल को पीछे छोड़ आगे बढ़ने का एक नया अवसर होता है।

फेमिना मिस इंडिया और मिस इंडिया इंटरनेशनल 2021 ज़ोया अफ़रोज़ रहेगी शोस्टॉपर





-  क्लार्क्स आमेर में 'शादियां ब्राइडल फैशन एण्ड ज्वैलरी शो - सीजन 2’ का होगा आयोजन 

जोधपुर के महाराजा उम्मेद सिंह के साशनकाल से प्रेरित डिज़ाइन्स और स्टाइल होगी मंच पर मौजूद 

जयपुर। वेडिंग, शॉपिंग और डेस्टिनेशन हब बन चुके गुलाबी नगरी में वेडिंग और फेस्टिवल डिज़ाइनर परिधान और ज्वेलरी रैंप पर शोकेस होंगे। साल के सबसे बड़े पर्व दिवाली की उपलक्ष में 31 अक्टूबर को जयपुर के पांच सितारा होटल क्लार्स आमेर में 'शादियां ब्राइडल फैशन एण्ड ज्वैलरी शो - सीजन 2’ का आयोजन किया जाएगा। 

शो के दौरान चार फैशन राउंड्स होंगे जिसमें शो ओपनिंग विमल साड़ी एम्पोरियम द्वारा होगा, जिसमें वे ब्राइडल लेहंगा, हेवी साड़ीस को शोकेस करेंगे। साथ ही ज्वेलरी डिज़ाइनर आरजे ज्वैलर्स बाय अभिषेक सोनी अपने हैवी जड़ाऊ, पोल्की, कुंदन मीणा ज्वेलरी को प्रस्तुत करेंगे। दूसरे राउंड में जोधपुर से डिज़ाइनर विशाल राठौड़ अपने मेन्स कलेक्शन को मंच पर उतरेंगे। 

इस दौरान वे महाराजा उम्मेद सिंह के साशनकाल में प्रसिद्ध स्टाइल और परिधानों को प्रस्तुत करेंगे। साथ ही ऑटम- विंटर कलेक्शन 2021 के लॉन्च के साथ ही सभी मेल्स मॉडल्स अर्बन बंदगाला, हैंडक्राफ्टेड बुश कोर्ट्स, विंटर अचकन्स, अंगरखा, उदयपुर पिछवाई कला और बाड़मेर बुनाई आदि को मंच पर शोकेस करेंगे। शो के तीसरे राउंड में जश्न से डिज़ाइनर अनुराधा राठौड़ और हर्षिका राणावत का कलेक्शन राजस्थान की महारानियों से प्रेरित होगा। जिसमें वे प्योर शिफॉन साड़ियों और लहंगों पर शुद्ध चांदी की कारीगिरी से तैयार ब्राइडल कलेक्शन प्रदर्शित करने जा रही है। वहीं शो की ग्रैंड फिनाले डिज़ाइनर नेहा अस्थाना मीणा करेंगी जिसमें वे चिकन कारी और वेलवेट के साथ समावेश के साथ विंटर कलेक्शन शोकेस करेंगी, साथ ही लखनवी अनारकली लहंगों और ब्राइडल गारमेंट्स को मंच पर डिस्प्ले करेंगे।इस राउंड की शोस्टॉपर फेमिना मिस इंडिया और मिस इंडिया इंटरनेशनल 2021 ज़ोया अफ़रोज़ रहेंगी।

इस बारे में शादियां के फाउंडर संचित माथुर ने बताया कि इस शो के माध्यम से हम ना सिर्फ नए एवं उभरते डिज़ाइनर्स को आगे बढ़ने के लिए एक मंच मिलेगा बल्कि राजस्थान के पहनावे एवं यहां की कला एवं संस्कृत्ति से भी विष्व भर के लोग रू-ब-रू हो पाएगें। शो में पार्टिसिपेट करने वाले डिज़ाइनर्स और ज्वैलर्स राजस्थान की कला एवं प्रदेश के हैरिटेज से प्रेरित कलेक्शन, जिसमें गोटा पत्ती, जरी, जरदोजी, सोने-चांदी से बने पोषाकों प्रदर्शित करेंगे। इस के साथ ज्वैलर्स कुंदन मीना, पोलकी, जोधपुरी गढाई का कलेक्शन पर शोकेस करेंगे। शो का डायरेक्शन दिल्ली के कपिल गौरी करेंगे। साथ ही दिल्ली के मेल और फिमेल माॅडलस शो में डिजायनर्स कलेक्शन शोकेस करेंगे।

श्रीराम सुपर 111 और 1-SR-14 गेहूं बीज राजस्थान के किसानो को दे रहा है बेहतर उत्पादकता

जयपुर, 26 अक्टूबर, 2021ः राजस्थान के किसानों ने बताया कि डीसीएम श्रीराम लिमिटेड की युनिट श्रीराम फार्म सोल्यूशन्स की और सेे पेश किए गए श्रीराम सुपर 111 और 1-SR-14 गेहूं बीज से उनकी उत्पादकता बढ़ती है। श्रीराम फार्म सोल्यूशन्स ने किसानों की फसल उत्पादकता बढ़ाने के लिए आधुनिक एवं अनुसंधान- उन्मुख प्रोडक्ट्स विकसित किए हैं।

कई वर्षों से श्रीराम सुपर 111 गेहूं बीज राजस्थान के किसानों में बेहद लोकप्रिय हैं। इसी कड़ी को आगे बढ़ाते हुए पिछले वर्ष एक और उत्तम किस्म श्रीराम सुपर 1-SR-14 को उपलब्ध कराया गया जो किसानों की पहली पसंद बन रही है। श्रीराम फ़र्टिलाइज़र्स एण्ड केमिकल्स के विश्वविख्यात गेहूं वैज्ञानिकों द्वारा इन किस्मों को तैयार किया गया है।
श्रीराम सुपर 111 और 1-SR-14 गेहूं बीज इनकी अनुकूलन क्षमता और बेहतरीन उत्पादकता के चलते किसानों में बहुत लोकप्रिय हैं। इनका दाना मोटा और चमकदार है, इनसे चारा भी ज़्यादा मिलता है साथ ही इनकी गेहूं से बनी चपाती बहुत अच्छी गुणवत्ता की होती है। अपनी इन्हीं विशेषताओं के चलते ये दोनों किस्में राजस्थान, गुजरात, मध्यप्रदेश और महाराष्ट्र के किसानों की पहली पसंद बन गई हैं।
भीलवाड़ा के किसान चित्तर बलाई ने श्रीराम सुपर 111 गेहूं के फसल प्रदर्शन में उत्तम परिणाम को देखते हुए पिछले वर्ष इसे लगाया और वे अपने इस फैसले से बहुत खुश हैं। उनका कहना है कि जहां अन्य किस्म में 8-10 कल्ले निकलते हैं वहां श्रीराम सुपर 111 में 12-14 कल्ले निकलते हैं। अन्य किस्म में प्रति बाली 55-60 दाने होते हैं लेकिन श्रीराम सुपर 111 में प्रति बाली 75-80 दाने होते हैं। अन्य किस्म की तुलना में श्रीराम सुपर 111 में प्रति एकड़ 5 क्विंटल अधिक उत्पादन प्राप्त हुआ, जिससे उन्हें रु 10,000 प्रति एकड़ का अतिरिक्त मुनाफ़ा हुआ । अगले साल वे अपनी पूरी ज़मीन पर श्रीराम सुपर 111 बीज ही लगाएंगे।
साथ ही साथ श्रीराम द्वारा बाज़ार में लायी गई नई किस्म श्रीराम सुपर 1-SR-14 से किसान बहुत खुश हैं व उत्तम परिणाम पा रहे हैं।
भीलवाड़ा से ऐसे ही एक अनुभवी किसान मनीष सुखवाल ने पिछले साल अपने खेत में श्रीराम सुपर 1-SR-14 गेहूं बीज की बुवाई की थी। उनका कहना है कि इसमें मजबूत तना, गहरी जड़ंे, लम्बी बालियां और 70-75 दाने प्रति बाली होते हैं। इसमें उन्हें फसल गिरने की कोई शिकायत देखने नहीं मिली। अन्य किस्म से 4-5 क्विंटल प्रति एकड़ अधिक उपज और अतिरिक्त मुनाफ़ा मिलने की वजह से वे अन्य किसानों को भी श्रीराम सुपर 1-SR-14 लगाने की सलाह देते हैं।
श्रीराम सुपर 111 और 1-SR-14 गेहंू बीज के साथ-साथ, श्रीराम फार्म सोल्यूशन्स के अन्य प्रोडक्ट जैसे श्रीराम सुपर 252, श्रीराम सुपर 272 और श्रीराम सुपर 231 भी पिछले कुछ सालों से अपनी शानदार परफोर्मेन्स के चलते किसानों में बेहद लोकप्रिय हो गए हैं।
श्रीराम फार्म सोल्यूशन्स 131 वर्ष पुराने डीसीएम श्रीराम लिमिटेड की एक ईकाई है। एक अग्रणी बिज़नेस ग्रुप जिसका टर्नओवर 7767 करोड़ है। श्रीराम फार्म सोल्यूशन्स एग्री-इनपुट जैसे बीज, स्पेशलटी न्यूट्रिशन एवं फसल संरक्षण श्रेणियों के कारोबार में सक्रिय है।

किसान की तस्वीर- चित्तर बलाई

किसान की तस्वीर- मनीष सुखवाल, भीलवाड़ा

ई-फ्लुइड्स की शुरुआत के साथ गल्फ ऑयल ने मोबिलिटी के भविष्य की ओर बढ़ाया एक कदम

मुंबई, 26 अक्टूबर, 2021- हिंदुजा समूह की इकाई गल्फ ऑयल इंटरनेशनल लिमिटेड (गल्फ) ने हाइब्रिड और इलेक्ट्रिक (ईवी) यात्री कारों के लिए ई-फ्लुइड्स की एक श्रृंखला लॉन्च की है। इन उत्पादों को यूरोप, मध्य सहित अंतरराष्ट्रीय बाजारों में पेश किया गया था। इस साल की शुरुआत में पूर्व और चीन, और अब गल्फ ऑयल लुब्रिकेंट्स इंडिया लिमिटेड (जीओएलआईएल) उन्हें भारतीय बाजार में लॉन्च कर रहा है।

ई-फ्लुइड्स विशेष रूप से वाहन के प्रदर्शन और सुरक्षा को बढ़ाने के लिए तैयार किए गए हैं। गल्फ ईएलईसी ब्रेक फ्लुइड्स को ब्रेक सिस्टम को बढ़ाने और जंग से बचाने के लिए डिज़ाइन किया गया है, जबकि ईएलईसी कूलेंट ईवी की बैटरियों को खराब परिस्थितियों में भी ठंडा रखेगा। गल्फ ईएलईसी ड्राइवलाइन फ्लुइड विशिष्ट रूप से एप्लीकेशंस की विस्तृत श्रृंखला के लिए डिज़ाइन किया गया है, जिसमें इलेक्ट्रिक कारों के रियर एक्सल और ट्रांसएक्सल में गीले/सूखे, सिंगल और मल्टी-स्पीड ट्रांसमिशन शामिल हैं। इसका विशेष फार्मूला ताजा और पुराने तेल दोनों मामलों में एक्सीलैंट इलेक्ट्रिकल प्रोपर्टीज सुनिश्चित करता है और उन एप्लीकेशंस के लिए सबसे उपयुक्त है जहां एक्सल फ्लुइड इलेक्ट्रिक कंपोनेंट्स के सीधे संपर्क में है।

गल्फ फॉर्मूला हाइब्रिड एडवांस्ड इंजन सिंथेटिक तेल और हाइब्रिड कारों के लिए ट्रांसमिशन फ्लुइड अलग-अलग तापमान की स्थितियों में भी इंजन के प्रदर्शन को बेहतर बनाए रखने में मदद करेगा।

नए जमाने के उपभोक्ताओं को प्रभावी और अनुरूप समाधान प्रदान करने और गतिशीलता के भविष्य को विद्युतीकृत करने के लिए गल्फ ऑयल ने हमेशा अत्याधुनिक तकनीकों के साथ इनोवेशन को अपनाने की दिशा में पहल की है।

ई-फ्लुइड्स की लॉन्चिंग पर बोलते हुए गल्फ ऑयल लुब्रिकेंट्स इंडिया लिमिटेड के एमडी और सीईओ श्री रवि चावला ने कहा, ‘‘पिछले कुछ वर्षों में ऑटोमोटिव उद्योग में निरंतर विकास, तकनीकी बदलाव और नीतिगत सुधारों के कारण मांग में बदलाव आया है। इसी सिलसिले में हाल के दौर में इलेक्ट्रिक वाहनों की दुनिया में बड़ी तेजी से बदलाव आया है और इसके और तेज गति से बढ़ने की उम्मीद है। ग्राहकों की बढ़ती और बदलती मांगों को पूरा करने के लिए विश्व स्तरीय प्रोडक्ट्स का उत्पादन करने के लिए हमेशा बेहतर तकनीक और निरंतर विकसित होने वाले इनोवेशन को अपनाने में गल्फ ऑयल सबसे आगे रहा है। हम गतिशीलता के एक स्थायी भविष्य के निर्माण में मदद करने के लिए सुलभ समाधान बनाने पर ध्यान केंद्रित कर रहे हैं। हम जल्द ही अपनी उत्पाद पेशकशों की रेंज के साथ विभिन्न सेगमेंट में ओईएम के साथ जुड़ेंगे।’’

गल्फ ऑयल इंटरनेशनल के वाइस प्रेसिडेंट- रिसर्च एंड टेक्नोलॉजी डेविड हॉल ने कहा, ‘‘बैटरी इलेक्ट्रिक व्हीकल्स (बीईवी) को लुब्रिकेंट टाइप के फ्लुइड्स की आवश्यकता होती है, वास्तव में उन्हें बहुत विशेष फ्लुइड्स की जरूरत होती है और यही हमने गल्फ में विकसित किया है। एक पारंपरिक वाहन में ट्रांसमिशन की तुलना में ईवी में ट्रांसमिशन उच्च गति और तापमान पर संचालित होता है। इन प्रसारणों में ई-मोटर्स और पावर इलेक्ट्रॉनिक्स जैसे एम्बेडेड इलेक्ट्रिकल और इलेक्ट्रॉनिक घटक होते हैं जिन्हें ठंडा और संरक्षित करने की आवश्यकता होती है। इसमें सीलिंग और कोटिंग सामग्री होती है जिसे मेंटेन करना जरूरी होता है। ब्रेकडाउन को रोकने के लिए फ्लुइड्स कूलिंग और हाई रेसिस्टेंस प्रोपर्टीज प्रदर्शित करते हैं। ई-फ्लुइड्स केमिस्ट्री और फिजिक्स का एक बेहतर तालमेल पेश करते हैं। गल्फ ऑयल इंटरनेशनल में हम भारत जैसे देश में इस प्रोडक्ट टैक्नोलॉजी को पेश करते हुए गर्व महसूस कर रहे हैं, जो ओईएम और इलेक्ट्रिक वाहन के लिए एक प्रमुख बाजार है।’’

ज़ील ने नये टैरिफ ऑर्डर (एनटीओ) 2.0 के अनुरूप नया आला-कार्टे चैनल और बुके प्राइसिंग की घोषणा की

मुंबई, 26 अक्टूबर,2021: ज़ी एंटरटेनमेंट एंटरप्राइजेज लिमिटेड (ज़ील), जो अग्रणी भारतीय मीडिया एवं मनोरंजन पावरहाउस है, ने बॉम्बे उच्च न्यायालय के न्यू टैरिफ ऑर्डर (एनटीओ) 2.0 संबंधी दिनांक 30.06.2021 के आदेश के अनुरूप अपना नया आला-कार्टे चैनल और बुके प्राइसिंग लॉन्च किया। भारत के लाखों दर्शकों की विविधतापूर्ण मनोरंजन पसंदों को पूरा करने के लिए इन्हें लॉन्च किया गया है। उक्त प्राइसिंग माननीय सर्वोच्च न्यायालय के यहां नये टैरिफ ऑर्डर (एनटीओ) 2.0 संबंधी निर्णय हेतु लंबित सभी याचिकाओं के तहत ज़ील के अधिकारों और विवादों के पूर्वाग्रह के बिना जारी किया जा रहा है।

लगभग तीन दशक पूर्व अपनी शुरुआत के बाद से, ज़ील ने देश भर के अपने दर्शकों के साथ मजबूत और गहरा रिश्‍ता बना लिया है। ज़ी 11 भाषाओं में 67 चैनलों के व्यापक नेटवर्क के साथ कई दर्शक खंडों और शैलियों में बेहतरीन किस्म का मनोरंजन प्रदान करता है। अखिल भारतीय नेटवर्क के साथ 606 मिलियन दर्शकों की साप्ताहिक पहुंच और 163 बिलियन+ मिनट की साप्ताहिक खपत के साथ; जीईसी, मूवीज, न्यूज, म्यूजिक, लाइफस्टाइल एवं एचडी जेनर्स में मराठी, बांग्ला, कन्नड़, तेलुगु, तमिल, मलयालम, भोजपुरी और अंग्रेजी सहित हिंदी और क्षेत्रीय भाषा के बाजारों में इसके दर्शकों की संख्या बहुत बड़ी है।
नये चैनल प्राइसिंग के बारे में,ज़ी एंटरटेनमेंट एंटरप्राइजेज लिमिटेड के प्रेसिडेंट – बिजनेस, दक्षिण एशिया, राहुल जोहरी ने कहा, “ज़ीलकी अद्वितीय सफलता पूरे भारत में फैले दर्शकों के साथ इसके मजबूत बंधन और पूरे हितधारक समुदाय के साथ इसके गहरे संबंध का परिणाम है। इन असाधारण साझेदारियों ने लगभग तीन दशकों तक कई बाजारों में हमारे नेतृत्व को आगे बढ़ाया है। हम सबसे मनोरंजक और उच्चतम गुणवत्ता वाली सामग्री पेश करके, राष्ट्रीय और क्षेत्रीय चैनलों को समृद्ध करके और राजस्व मुद्रीकरण के लिए अभिनव समाधानों के माध्यम से पूरे पारिस्थितिकी तंत्र के लिए मूल्य बनाना जारी रखेंगे। हमें विश्वास है कि एनटीओ 2.0 के लागू होने के बाद, ज़ी चैनल सभी बाजारों में अपनी वृद्धि की गति को जारी रखेंगे और कंपनी के लिए उच्च मूल्य का सृजन करेंगे।‘’
घोषणा के बारे में टिप्पणी करते हुए, अतुल दास, चीफ रेवेन्यू ऑफिसर – एफिलिएट सेल्स ने कहा, “ज़ील में, हम हमारे ग्राहकों को सर्वोत्तम मनोरंजन उपलब्ध कराने के लिए संकल्पित हैं। वर्ष 2019 के नये प्राइसिंग रिजाइम ने भारत में टेलीविजन का उपभोग करने के तरीके में बड़ा बदलाव लाया। एक तरफ, इसने चैनल्स के एमआरपी में पारदर्शिता लायी, दूसरी तरफ इसने उपभोक्ताओं को उनके पसंदीदा चैनल्स के चुनाव की आजादी दी। एनटीओ 2.0 के साथ, चैनल्स के चुनाव में ग्राहकों को और अधिक छूट मिलेगी। हम देश भर के उपभोक्ताओं को अलग-अलग कीमतों पर कई बुके उपलब्ध कराते रहेंगे। ज़ी कैफेऔर &flixजैसे प्रीमियम इंग्लिश चैनल अलग-अलग बुके में उपलब्ध रहेंगे। प्रत्येक बुके में चैनलों का मिश्रण होता है, जिसमें जीईसी, फिल्में, समाचार, संगीत और लाइफस्टाइल जेनर शामिल हैं। हम अपने डीपीओ भागीदारों के साथ सहज परिवर्तन के लिए काम करने के लिए तत्पर हैं।‘’
लाखों दर्शकों के लिए अद्वितीय और मनोरंजक मौलिक सामग्री बनाने में ज़ीईएल की विशेषज्ञताने इसे अग्रणी बनाया है। औसतन, यह हर हफ्ते 419 घंटे की नई सामग्री प्रोड्युसकरता है, जिससे यह भारत में सबसे अधिक निवेशित उपभोक्ता ब्रांडों में से एक है। त्योहारी सीजन के लिए, इसने कई भाषाओं में 40 फिक्शन, 20 नॉन-फिक्शन नई सीरीज लॉन्च करने की तैयारी की है। हिंदी, अंग्रेजी और क्षेत्रीय भाषाओं में सबसे बड़े मूवी चैनल पोर्टफोलियो के साथ, यह अगले कुछ महीनों में अपने चैनलों पर 40 वर्ल्ड टेलीविज़न प्रीमियर पेश करेगा, जिससे यह लाखों उपभोक्ताओं के लिए एक आकर्षक मनोरंजन विकल्प बन जाएगा।
ज़ी टीवी, ज़ी सिनेमा, एंड टीवी, एंड पिक्चर्स और ज़ी अनमोल जैसे घरेलू ब्रांडों के साथ हिंदी भाषी बाजारों में एक मजबूत स्थिति के अलावा; इसे ज़ी बांग्ला और ज़ी मराठी के साथ बांग्ला और मराठी बाजारों में लंबे समय से नेतृत्व प्राप्त है। ज़ी कन्नड़, ज़ी तेलुगु, ज़ी तमिल और ज़ी केरलम के साथ दक्षिणी राज्यों में इसकी व्यापक उपस्थिति है और इसने क्रमशः ज़ी बिस्कोप, ज़ी पंजाबी और ज़ी सार्थक के साथ भोजपुरी, पंजाबी, ओडिया जैसे तेजी से बढ़ते भाषा बाजारों का नेतृत्व किया है। हिंदी भाषी बाजारों में ज़ी सिनेमा, एंड पिक्चर्स, ज़ी बॉलीवुड, ज़ी एक्शन, ज़ी अनमोल सिनेमा और ज़ी क्लासिक, पश्चिम में ज़ी टॉकीज़ और ज़ी चित्रमंदिर, ज़ी सिनेमालु, ज़ी पिचर के साथ कंपनी का सबसे मजबूत मूवी चैनल पोर्टफोलियो भी है। और दक्षिण में ज़ी थिरई, और पूर्व में ज़ी बांग्ला सिनेमा और ज़ी बिस्कोप। इसके अलावा, यह अंग्रेजी मूवी, मनोरंजन और लाइफस्टाइल चैनल पोर्टफोलियो की एक चुनिंदा श्रृंखला भी प्रदान करता है जिसमें ज़ी कैफे, &Flixऔर &PriveHD, संगीत और युवा चैनल ज़िंग, ज़ेस्टऔर 20 एचडीचैनल शामिल हैं जो समझदार दर्शकों के लिए बेहतरीन देखने का अनुभव प्रदान करते हैं।

एफएसएन ई-कॉमर्स वेंचर्स लिमिटेड का आईपीओ 28 अक्टूबर, 2021 को खुलेगा

मुंबई, 26 अक्टूबर, 2021:एफएसएन ई-कॉमर्स वेंचर्स लिमिटेड (''कंपनी'') अपने आईपीओ (''ऑफर'') की निविदा/ऑफर अवधि 28 अक्टूबर, 2021 को खोलेगा।

ऑफर का प्राइस बैंड 1,085 रु. से 1,125 रु. प्रति इक्विटी शेयरके बीच तय किया गया है। न्‍यूनतम 12 इक्विटी शेयर्स और उसके बाद 12 इक्विटी शेयर्स के गुणकों में बोलियां लगायी जा सकती हैं।

आईपीओ में कुल 630 करोड़ रु. तक के इक्विटी शेयर्स का फ्रेश इश्‍यू (''फ्रेश इश्‍यू'') शामिल है और विक्रेता शेयरधारकों द्वारा 41,972,660 इक्विटी शेयर्स का ऑफर फॉर सेल उपलब्‍ध कराया जा रहा है।

ऑफर में पात्र कर्मचारियों द्वारा खरीद के लिए 250,000 इक्व्टिी शेयर्स तक का आरक्षण शामिल है।

यह ऑफर सिक्‍योरिटीज कंट्रैक्‍ट्स (रेग्‍यूलेशन) रूल्‍स, 1957, यथा संशोधित (''एससीआरआर'') के नियम 19(2)(बी) की शर्तों जिन्‍हें सेबी आईसीडीआर विनियमन के नियम 31 के साथ पढ़ा जाये, के अनुसार है। इस ऑफर को सेबी आईसीडीआर विनियमन के विनियम 6(2) की शर्तों के अनुसार बुक बिल्डिंग प्रक्रिया के जरिए उपलब्‍ध कराया जा रहा हैजिसमें नेट ऑफर का न्‍यूनतम 75 प्रतिशत पात्र संस्‍थागत खरीदारों (''क्यूआईबी'' और इस तरह का हिस्‍सा, ''क्‍यूआईबी पोर्शन'') को आनुपातिक आधार पर आवंटित किये जाने के लिए उपलब्‍ध होगा, बशर्ते हमारी कंपनी, लीड मैनेजर्स के परामर्श से विवेकानुसार क्‍यूआईबी हिस्‍से का 60 प्रतिशत तक एंकर निवेशकों को आवंटित कर सकती है, जिसमें से एक-तिहाई केवल घरेलू म्‍यूचुअल फंड्स के लिए आरक्षित होगा, बशर्ते सेबी आईसीडीआर विनियमनों के अनुसार घरेलू म्‍यूचुअल फंड्स से एंकर निवेशक आवंटन मूल्‍य पर या इससे अधिक मूल्‍य पर वैध बोलियां प्राप्‍त हों। एंकर निवेशक हिस्‍से में पर्याप्‍त सब्‍सक्रिप्‍शन नहीं होने पर या अनावंटन की स्थिति में, शेष इक्विटी शेयर्स शुद्ध क्‍यूआईबी पोर्शन में जुड़ जायेंगे।

आगे, नेट क्‍यूआईबी पोर्शन का 5 प्रतिशत आनुपातिक आधार पर केवल म्‍यूचुअल फंड्स को आवंटित किये जाने के लिए उपलब्‍ध होगा, और नेट क्‍यूआईबी पोर्शन का शेष हिस्‍सा आनुपातिक आधार पर म्‍यूचुअल फंड्स सहित सभी क्‍यूआईबी बोलीदाताओं (एंकर निवेशकों को छोड़कर) को आवंटित किये जाने के लिए उपलब्‍ध होगा, बशर्ते वैध बोलियां ऑफर मूल्‍य या इससे ऊपर प्राप्‍त हों।हालांकि, अगर म्यूचुअल फंड से कुल मांग क्यूआईबी हिस्से के 5% से कम है, तो म्यूचुअल फंड हिस्से में आवंटन के लिए उपलब्ध शेष इक्विटी शेयरों को क्यूआईबी के आनुपातिक आवंटन के लिए शेष शुद्ध क्यूआईबी हिस्से में जोड़ा जाएगा। आगे, नेट ऑफर का 15 प्रतिशत से अनधिक हिस्‍सा आनुपातिक आधार पर गैर-संस्‍थागत बोलीदाताओं को आवंटित किये जाने के लिए उपलब्‍ध होगा और नेट ऑफर का 10 प्रतिशत से अनधिक हिस्‍सा सेबी आईसीडीआर विनियमनों के अनुसार खुदरा व्‍यक्तिगत बोलीदाताओं (''आरआईबी'') को आवंटित किये जाने के लिए उपलब्‍ध होगा, बशर्ते वैध बोलियां ऑफर मूल्‍य या इससे अधिक पर प्राप्‍त हों।सभी बोलीदाताओं (एंकर निवेशकों को छोड़कर) को अनिवार्य रूप से अप्लिकेशन सपोर्टेड बाय ब्‍लॉक्‍ड एमाउंट (''एएसबीए'') का प्रयोग करना होगा और अपने-अपने एएसबीए खातों और यूपीआई मेकेनिज्‍म का उपयोग करने की स्थिति में यूपीआई आईडी प्रदान करना होगा, जिसके अनुसार उनकी संबंधित निविदा राशि सेल्‍फ सर्टिफाइड सिंडिकेट बैंक (''एससीएसबी'') या स्‍पॉन्‍सर बैंक द्वारा ब्‍लॉक कर दी जायेगी। एंकर निवेशकों को एएसबीए प्रक्रिया के जरिए ऑफर में भाग लेने की अनुमति नहीं है।

जानकारी हेतु, रेड हेरिंग प्रॉस्‍पेक्‍टस के पृष्ठ 446 से शुरू ''ऑफर सूचना'' देखें।

रेड हेरिंग प्रॉस्‍पेक्‍टस के जरिए उपलब्‍ध कराये जाने वाले इक्विटी शेयर्स बीएसई और एनएसई पर सूचीबद्ध किये जाने हेतु प्रस्‍तावित हैं।

“वाविन-वेक्टस” की संयुक्तरूप से प्रथम चैनल पार्टनर मीट जश्न के साथ संपन्न हुई

जयपुर। बिल्डिंग और इंफ्रास्ट्रक्चर इंडस्ट्री के ग्लोबल लीडर वाविन ने वॉटर स्टोरेज टैंक्स और पाइपिंग सिस्टम के क्षेत्र में देश की बहुप्रतिष्ठ...