Friday, September 24, 2021

एक्सिस बैंक ने सकारात्मक जलवायु अभियान और सतत विकास लक्ष्यों का वचन लिया

मुंबई, 24 सितंबर, 2021एक्सिस बैंक, जो भारत का तीसरा सबसे बड़ा प्राइवेट बैंक है, ने पेरिस समझौते के तहत भारत की प्रतिबद्धताओं का समर्थन करते हुए सतत विकास लक्ष्‍यों (एसडीजी) को हासिल करने हेतु श्रृंखलाबद्ध वचनबद्धताओं की घोषणा की है। अपने द्वारा दिये गये वचनों के अनुरूप, एक्सिस बैंक ने अपने सतत वित्तपोषण ढांचे में शामिल प्रासंगिक क्षेत्रों के लिए होलसेल बैंकिंग के तहत अगले 5 वर्षों में 30,000 करोड़ रु. के वृद्धिशील ऋण का लक्ष्‍य रखा है।

एक्सिस बैंक अब भारत का पहला ऐसा वित्‍तीय संस्‍थान बन चुका है जिसने बोर्ड लेवल पर अलग एनवायरनमेंटल सोशल एंड गवर्नेंस (ईएसजी) कमिटी गठित की है, जो कि संगठन की योजनाओं एवं कार्य प्रदर्शन हेतु रणनीतिक वाहक के रूप में ईएसजी को अपनाने के प्रति बैंक की मजबूत इच्‍छा को दर्शाता है। बैंक ने प्रबंधन स्तर पर एक ईएसजी संचालन समिति भी स्थापित की है, जिसमें पूरे संगठन में ईएसजी एकीकरण के लिए वरिष्ठ बिजनेस लीडर्स शामिल हैं।

बैंक ने 31 अक्टूबर से 12 नवंबर तक ग्लासगो, यूके में आगामी 2021 संयुक्त राष्ट्र जलवायु परिवर्तन सम्मेलन (सीओपी26) से पहले अपनी प्रतिबद्धताओं की घोषणा की है, जहां पक्षों से 2015 में पेरिस में सीओपी21 में की गई अपनी प्रतिबद्धताओं को बढ़ाने के बारे में बात करने की उम्मीद है।

बैंक की वचनबद्धताओं में निम्‍नलिखित शामिल हैं: 

  • वित्‍त वर्ष 2026 तक सकारात्‍मक सामाजिक एवं पर्यावरणीय परिणामों वाले क्षेत्रों को होलसेल बैंकिंग के तहत 30,000 करोड़ रु. का वृद्धिशील वित्‍तपोषण 
  • अपने होलसेल बैंकिंग बिजनेस पोर्टफोलियो में कार्बन के गहन उपयोग वाले क्षेत्रों में एक्‍सपोजर कम करना  
  • अपनी ईएसजी ऋण नीति के तहत ऋण मूल्‍यांकन में ईएसजी रिस्‍क कवरेज को बढ़ाना 
  • वर्ष 2023 तक अपने बड़े कॉर्पोरेट, एसएमई और कृषि-व्‍यवसाय खंडों के लिए ईएसजी स्‍ट्रेस टेस्टिंग और ईएसजी सिनेरियो विश्‍लेषण के साथ, ईएसजी रिस्‍क एसेसमेंट टूलकिट का निर्माण एवं इसका उपयोग  
  • वित्त वर्ष 2024 तक अपने रिटेल टू-व्हीलर लोन पोर्टफोलियो का 5% इलेक्ट्रिक बनाना, और नए ईवी लोन पर 0.5% ब्याज माफी की पेशकश, तुरंत प्रभावी 
  • किफायती आवास के लिए आशा होम लोन के तहत वित्त वर्ष 2024 तक 10,000 करोड़ रुपये का वृद्धिशील संवितरण और महिला उधारकर्ताओं की हिस्सेदारी में वृद्धि
  • बैंक के #ComeAsYouAre Diversity Charter के अनुरूप, वित्‍त वर्ष 2027 तक अपने कार्यबल में महिलाओं के प्रतिनिधित्‍व को 30% पहुंचाना
  • कार्बन सिंक बनाने की दिशा में योगदान देने के लिए भारत में वित्‍त वर्ष 2027 तक 2 मिलियन वृक्ष लगाना
  • अपने व्‍यावसायिक परिचालनों में कार्बन निष्क्रियता हासिल करना   

इस घोषणा के बारे में प्रतिक्रिया व्‍यक्‍त करते हुए, एक्सिस बैंक के कार्यकारी निदेशक, श्री राजेश दहिया ने कहा, ''एक वित्तीय संस्थान के रूप में, हम भारत को समान और सतत आर्थिक विकास के पथ पर आगे बढ़ने में मदद करने की अपनी जिम्मेदारी से अवगत हैं। पिछले दो वर्षों में, हम ईएसजी को लेकर अपनी समग्र रणनीति, गवर्नेंस और प्रदर्शन बेंचमार्क को मजबूत करने के लिए अथक प्रयास कर रहे हैं। ये प्रतिबद्धताएं 'बैंकिंग जो एक अधिक समावेशी और न्यायसंगत अर्थव्यवस्था, संपन्न समुदाय और एक स्वस्थ ग्रह की ओर ले जाए' के हमारे उद्देश्य के अनुरूप तैयार की गयी हमारी दीर्घकालिक ईएसजी रणनीति का हिस्सा हैं। हम इसे केवल शुरुआत के रूप में सोचना चाहेंगे और हम समय के साथ अपनी प्रतिबद्धताओं को बढ़ाना और मजबूत करना जारी रखेंगे।''  

हाल ही में, बैंक ने अपना सस्टेनेबल फाइनेंसिंग फ्रेमवर्क लॉन्च किया जो ईएसजी-संरेखित क्षेत्रों के वित्तपोषण के लिए बैंक की रणनीति को स्पष्ट करता है और उन परियोजना श्रेणियों को परिभाषित करता है जिन्हें बैंक 'टिकाऊ' के रूप में योग्य मानता है। फ्रेमवर्क को सस्टेनलिटिक्स से द्वितीय पक्ष की राय प्राप्त हुई है, इस प्रकार वैश्विक स्थायी वित्त सर्वोत्तम प्रक्रियाओं के लिए इसके संरेखण पर उच्चतम स्तर का विश्वास प्रदान करता है। बैंक ने फ्रेमवर्क के तहत बैंक के दायित्वों और प्रतिबद्धताओं के प्रबंधन के लिए एक ईएसजी वर्किंग ग्रुप भी स्थापित किया है।

अपनी ईएसजी रणनीति के अनुरूप, एक्सिस बैंक ने 1 सितंबर, 2021 को विदेशी बाजारों में 600 मिलियन डॉलर के भारत के पहले सस्टेनेबल यूएसडी एटी1 नोटों को सफलतापूर्वक जारी किया है। इस निर्गमन के साथ, भारत अब ईएसजी एटी1 जारी करने वाला एशिया को केवल दूसरा क्षेत्र है। अंतिम मूल्य निर्धारण मार्गदर्शन घोषणा से पहले ऑर्डर बुक को 3.8 गुना ओवरसब्सक्राइब करने के साथ, इस पेशकश को निवेशकों, विशेष रूप से उच्च गुणवत्ता वाले वास्तविक धन निवेशकों से जबरदस्त प्रतिक्रिया मिली। वैश्विक निवेशकों ने इस मार्की लेनदेन में अपनी भागीदारी के साथ विश्वास का प्रदर्शन किया है। भारत के सामाजिक-आर्थिक और पर्यावरणीय परिदृश्य पर सकारात्मक प्रभाव डालने की बैंक की क्षमता।

इसके अलावा, अपनी व्यापक ईएसजी गठबंधन प्रतिबद्धताओं की पहुंच और प्रभाव का विस्तार करते हुए, बैंक ने हाल ही में #ComeAsYouAre की घोषणा की - यह नीतियों और प्रथाओं का एक ऐसा चार्टर है जो संगठन के भीतर और अपने ग्राहकों के लिए विविधता, इक्विटी और समावेश को गले लगाता है। इन पहलों के साथ, ऐक्सिस बैंक LGBTQIA+ समुदाय के लिए इस तरह के व्यापक कदमों की घोषणा करने वाली देश की पहली कंपनियों में से एक बन गया है।

कोविड-19 महामारी की शुरुआत के बाद से, बैंक अपने कर्मचारियों, ग्राहकों, व्यापार भागीदारों, समुदायों और सरकारी एजेंसियों को महामारी से लड़ने और उभरने की दिशा में सहयोग करने के लिए मिलकर काम कर रहा है। यह संकट और आपातकालीन प्रतिक्रिया दल (सीईआरटी) स्थापित करने वाले पहले बैंकों में से एक था, जिसने बैंक को महामारी के दौरान अपने हितधारकों के प्रति अपनी प्रतिबद्धताओं को पूरा करने में सक्षम बनाया।

पिछले कुछ वर्षों में, एक्सिस बैंक को उसके ईएसजी-संरेखित प्रदर्शन और प्रभाव के लिए विभिन्न प्लेटफार्मों पर मान्यता मिली है। बैंक 2016 से लगातार पांच वर्षों तक एफटीएसई रसेल द्वारा प्रतिष्ठित एफटीएसई4गुड इंडेक्स पर रहा है और एसएंडपी बीएसई 100 ईएसजी इंडेक्स और एमएससीआई इंडिया ईएसजी लीडर्स इंडेक्स के शीर्ष 10 घटकों में से एक है, और निफ्टी 100 ईएसजी सेक्टर लीडर्स इंडेक्‍स का एक घटक है।

 

No comments:

Post a Comment

गल्फ ऑयल इंडिया ने इलेक्ट्रिक मोबिलिटी को सपोर्ट करने के लिए लॉन्च किए ‘ईवी फ्लुइड्स’

मुंबई ,  , 04  अक्टूबर , 2022 -  हिंदुजा समूह की कंपनी गल्फ ऑयल लुब्रिकेंट्स ने  ‘ ईवी फ्लुइड्स ’  की विशेष श्रेणी के लिए स्विच मोबिलिटी और ...