Thursday, September 9, 2021

10 मिलियन उपयोगकर्ताओं के साथ कॉइनस्विचकुबेर भारत का सबसे बड़ा क्रीपटो प्लेाटफॉर्म बना

 

मुंबई, 09 सितंबर, 2021: कॉइनस्विचकुबेर, जो भारत का सबसे तेजी से बढ़ रहा और सबसे अग्रणी क्रिप्‍टो प्‍लेटफॉर्म है, ने आज घोषणा की कि इस हफ्ते इसके पंजीकृत उपयोगकर्ताओं की संख्‍या 10 मिलियन छू गयी है और यह भारत का सबसे बड़ा क्रिप्‍टो प्‍लेटफॉर्म बन चुका है। कॉइनस्विचकुबेर ने भारत में जून 2020 में परिचालन शुरू करने के बाद सिर्फ 15 महीनों में यह उपलब्धि हासिल कर ली है, जो कि प्‍लेटफॉर्म द्वारा इसके उपयोगकर्ताओं को प्रदान की जाने वाली सुविधा और उपयोग की आसानी का प्रमाण है। इनमें से 7 मिलियन उपयोगकर्ता सक्रिय उपयोगकर्ता हैं जिनका मासिक ट्रांजेक्‍शन वॉल्‍यूम 15,138 करोड़ रु. है।

 

इस प्लेटफॉर्म का उपयोग मिलेनियल और जेनरेशन ज़ेड द्वा बड़े पैमाने पर किया जा रहा है। इसके लगभग 75% उपयोगकर्ता 18 सेम 35 वर्ष की उम्र के हैं और उनकी औसत आयु 24 है। देश के 4000 से अधिक शहरों के विविधतापूर्ण निवेशकों द्वारा इसका इस्‍तेमाल किया जा रहा है। प्‍लेटफॉर्म का उपयोग करने वाले 55 प्रतिशत से अधिक उपयोगकर्ता टियर 2 और 3 शहरों से हैं, जबकि बाकी 45% टियर 1 शहरों से हैं। कॉइनस्विचकुबेर के निवेशकों में टियर 2 शहरों जैसे पटना, कोयम्‍बतूर, करनाल, देहरादून, गाजियाबाद, फरीदाबाद, आगरा, अमृतसर, भोपाल, अर्नाकुलम, आदि और टियर 3 शहरों जैसे मछगन, इम्‍फाल, महोली, रोहतक व अन्‍य के उपयोगकर्ता शामिल हैं। यह कंपनी के उस उद्देश्‍य के अनुरूप है जिसमें इसने क्रिप्‍टो निवेश को ऑनलाइन खाना ऑर्डर करने जितना आसान बनाने की बात कही है।

 

कॉइनस्विचकुबेर पर, औसत क्रिप्‍टो निवेश लगभग 9,000 रु. प्रति माह प्रति उपयोगकर्ता है। छोटे शहरों के मुकाबले टियर 1 शहरों के निवेशक बड़े ट्रेड्स कर रहे हैं। टियर 1 शहरों में, औसत मासिक टिकट आकार लगभग 11,600 रु., टियर 2 में 6,600 रु. और टियर 3 में करीब 3,500 रु. प्रति उपयोगकर्ता है।

 

कॉइनस्विचकुबेर के सह-संस्‍थापक और मुख्‍य कार्यकारी अधिकारी, आशीष सिंघल ने बताया, ''2020 में, महामारी के भीषण प्रकोप के बावजूद क्रिप्टो उद्योग में महीने-दर-महीने 200-300% की वृद्धि हुई। हमने जून में लॉकडाउन के दौरान भारत में कॉइनस्विचकुबेर को लॉन्च किया, और केवल छह महीनों में 1 मिलियन से अधिक उपयोगकर्ताओं को जोड़ा। 1 मिलियन से 10 मिलियन तक के सफर में हमें सिर्फ 9 महीने लगे हैं। हम अपने उपयोगकर्ताओं को निरंतर सरलता, सुरक्षा, सर्वोत्तम दरों और अनुभव की पेशकश करके इस विकास में तेजी लाने का लक्ष्य रखते हैं।''

 

उन्‍होंने आगे बताया, ''कॉइनस्विचकुबेर का मिशन क्रिप्‍टो निवेशों को सबके लिए सुलभ कराते हुए सभी भारतीयों को वित्‍तीय आजादी प्रदान करना और क्रिप्‍टो खरीद-बिक्री की प्रक्रिया से सभी जटिलताओं को दूर करना है। कॉइनस्विचकुबेर के प्‍लेटफॉर्म पर ही शैक्षणिक क्रिप्‍टो कंटेंट है जो सुनिश्चित करता है कि नये और अनुभवी दोनों ही निवेशक सोच-विचारकर निर्णय ले सकें। 10 मिलियन से अधिक उपयोगकर्ताओं के साथ भारत का सबसे बड़ा और सर्वाधिक पसंदीदा क्रिप्‍टो प्‍लेटफॉर्म बनना यह दर्शाता है कि हम भारतीयों का भरोसा हासिल करने के लिए सही दिशा में बढ़ रहे हैं, ताकि हमारे समावेशी लक्ष्‍य हासिल किये जा सकें। हम हमारे देश के करोड़ों लोगों तक क्रिप्‍टो और ब्‍लॉकचेन की बेजोड़ तकनीक को लाना चाहते हैं।''

 

कॉइनस्विचकुबेर ने वर्ष 2017 में वैश्विक परिचालन शुरू किया और इसने जून 2020 में भारत पर अपना ध्‍यान केंद्रित किया। यह टाइगर ग्‍लोबल, रिब्बिट कैपिटल, सेकोइया कैपिटल और पैराडिग्‍म कैपिटल द्वारा समर्थित है।

No comments:

Post a Comment

“वाविन-वेक्टस” की संयुक्तरूप से प्रथम चैनल पार्टनर मीट जश्न के साथ संपन्न हुई

जयपुर। बिल्डिंग और इंफ्रास्ट्रक्चर इंडस्ट्री के ग्लोबल लीडर वाविन ने वॉटर स्टोरेज टैंक्स और पाइपिंग सिस्टम के क्षेत्र में देश की बहुप्रतिष्ठ...