Sunday, August 15, 2021

स्वतंत्रता दिवस पर अभिभावकों ने तिरंगे के नीचे अपना दर्द बयां किया

'शिक्षा क्षेत्र को व्यापारियों से मुक्त कराने के लिए शिक्षा स्वतंत्रता संग्राम समय की पुकार है" - मनीष विजयवर्गीय

कोरोना काल में राजस्थान के निजी स्कूलों द्वारा अभिभावकों को फीस में राहत देने की मांग एवं निजी स्कूलों द्वारा अभिभावकों एवं बच्चों को प्रताड़ित किए जाने के विरोध में अभिभावक एकता संघ पिछले 18 महीनों से आंदोलनरत है। 15 अगस्त 2021, रविवार को जहां एक और पूरा देश स्वतंत्रता दिवस मना रहा है वही दूसरी और राजस्थान के अभिभावक संगठनों के प्रतिनिधि आजादी को अधूरी बताते हुए अपना दर्द बयां करते दिखाई दिए।
माहेश्वरी शिक्षा परिषद के अध्यक्ष प्रदीप बाहेती ने अभिभावकों को दिया आश्वासन
ताजा विवाद यह है कि जयपुर मैं माहेश्वरी समाज द्वारा संचालित 8 स्कूलों के 25000 विद्यार्थियों की फीस में 10 से 15% की बढ़ोतरी कर दी गई है, जिसके विरोध में आंदोलनरत अभिभावक एकता संघ राजस्थान के संयोजक मनीष विजयवर्गीय ने स्वतंत्रता दिवस पर अभिभावकों की 3 सूत्री मांगों को लेकर माहेश्वरी पब्लिक स्कूल जवाहर नगर पर अनशन की घोषणा की थी तदानुसार विजयवर्गीय के साथ अभिभावक प्रातः 9 बजे धरना स्थल पर पहुंचे तो पुलिस के आला अधिकारियों ने स्वतंत्रता दिवस पर अनशन पर ना बैठने की अपील की एवं पुलिस की उपस्थिति में माहेश्वरी शिक्षा परिषद के अध्यक्ष प्रदीप बाहेती और शिक्षा सचिव कमल सोमानी अभिभावक प्रतिनिधि निशा शुक्लानी, हरिओम सिंह चौधरी, विकास अग्रवाल, विशाल गहलोत मांगीलाल शर्मा, से मिले और ज्ञापन लेते हुए उनकी मांगों पर उचित कार्यवाही का आश्वासन दिए जाने पर अनशन स्थगित किया गया।
स्वतंत्रता दिवस पर अभिभावकों ने प्रधानमंत्री एवं मुख्यमंत्री के नाम दिया संदेश
अभिभावक एकता संघ राजस्थान के मीडिया कोऑर्डिनेटर हरिओम सिंह चौधरी ने बताया कि राजस्थान अभिभावक संघ के आव्हान एवं अभिभावक एकता संघ राजस्थान के समर्थन पर सेंट्रल पार्क जयपुर तिरंगे झंडे के नीचे बड़ी संख्या में एकत्रित हुए अभिभावकों को संबोधित करते हुए अभिभावक एकता संघ राजस्थान के संयोजक मनीष विजयवर्गीय ने देश की आजादी को अधूरी बताते हुए प्रधानमंत्री एवं मुख्यमंत्री के नाम संदेश जारी करते हुए लाखों अभिभावकों का दर्द बयां किया उन्होंने कहां की स्कूलों को फिर से मंदिर बनाए जाने के लिए शिक्षा को व्यापारियों से मुक्ति दिलाने के लिए शिक्षा स्वतंत्रता संग्राम समय की आवश्यकता है।
राजस्थान अभिभावक संघ ने दी राज्यव्यापी आंदोलन की चेतावनी
राजस्थान अभिभावक संघ के अध्यक्ष सुशील शर्मा ने कहा कि हम बच्चों को वैक्सीन लगे बिना स्कुल खोलने के फैसले का विरोध करते है संघ के प्रवक्ता इशांत शर्मा ने किरोडी लाल मीणा के नाम सार्वजनिक संदेश जारी करते हुए कहा कि आप सर्व समाज के नेता हैं आपका स्कुल वालों के समर्थन में खडा होना बेमानी है, स्कूल फीस के दबाव में देश मे अभिभावक व बच्चे आत्महत्या कर रहे हैं आप तराजु के दोनों पलडों को देखें फिर निर्णय लें। अभिभावक प्रतिनिधि लवलेश खूंटेटा, प्रियंका मेहता, सुनील गुप्ता, आशा अरोड़ा, लक्ष्मी शर्मा, विकास जेठानी, नरेश कृपलानी, विजय मंगलानी, राकेश जैन ने निजी स्कूलों की मनमानी कुछ सरकारी प्रोत्साहन का आरोप लगाते हुए अभिभावको की 9 सूत्री मांगे 21 दिनों में ना माने जाने पर राज्यव्यापी आंदोलन किये के प्रस्ताव का समर्थन किया।

No comments:

Post a Comment

टाटा पावर ने भारत में ईवी-चार्जिंग के बुनियादी ढांचे को ऊर्जा प्रदान करने के लिए ह्युंदाई मोटर इंडिया के साथ की साझेदारी

राष्ट्रीय 17 मई 2022 : देश की एक सबसे बड़ी एकीकृत बिजली कंपनी और ईवी चार्जिंग की बुनियादी सुविधाएं प्रदान करने वाली अग्रणी कंपनी टाटा पावर ने...