Friday, August 13, 2021

इंटरनेशनल सेंटर फॉर एक्सीलैंस के लिए आईएसडीसी ने जेईसीआरसी से किया समझौता

 

जयपुर, 13 अगस्त, 2021- ब्रिटिश शिक्षा और स्किल्स उपलब्ध कराने वाले अग्रणी अंतरराष्ट्रीय संस्थान आईएसडीसी (इंटरनेशनल स्किल डेवपलमेंट कार्पोरेशन) ने सेंटर ऑफ एक्सीलैंस (सीओई) की स्थापना के लिए एक अग्रणी निजी विश्वविद्यालय जेईसीआरसी यूनिवर्सिटी जयपुर से समझौता करने की घोषणा की है। इस सीओई में विभिन्न तरह के अंडरग्रेजुएट और पोस्टग्रेजुएट कोर्स कराए जाएंगे। आईसीओई की स्थापना छात्रों को ऐसे वैश्विक अकादमिक विषयों और सर्टिफिकेशंस की सम्पूर्ण जानकारी देने और उनसे परिचित कराने के लिए की गई है जो उन्हें दूसरों से अलग खड़ा करेंगे और उनमें नेतृत्व की विशेषताएं विकसित कर उन्हें आत्मनिर्भर नेतृत्वकर्ता बनाएंगे।

आईसीओई के जरिए जेईसीआरसी यूनिवर्सिटी के छात्र उद्योगों से सीधे तौर पर जुडे़ हुए प्रेक्टिकल और इंटीग्रेटेड पाठ्यक्रमों से जुड़ सकेंगे और इस तरह उन्हें ऐसी वैश्विक योग्यता मिलेगी जो उन्हें आगे शिक्षा और रोजगार प्राप्त करने में सहायता करेगी।

आईसीओई द्वारा कराए जाने वाले पाठ्यक्रमों में फाइनेंस एंड एनेलेटिक्स और इंटरनेशनल फाइनेंस में बी.कॉम. ऑनर्स, डिजिटल मार्केटिंग में बीबीए ऑनर्स जैसे अंडरग्रेजुएट कोर्स शामिल हैं। वहीं पोस्ट ग्रेजुएट पाठ्यक्रमों में मैनेजमेंट एकाउंटिंग में एम.कॉम., डिजिटल बिजनेस, फाइनेंशियल मार्केट्स और इंटरनेशनल फाइनेंस में एमबीए शामिल हैं।

आईएसडीसी जेईसीआरसी यूनिवर्सिटी के लिए इंस्टीट्यूट ऑफ एनेलेटिक्स (आईओए), एसोसिएशन ऑफ चार्टर्ड सर्टिफाइड एकाउंटेट्स (एसीसीए), चार्टर्ड इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट एकाउंटेट्स (सीआईएमए), डिजिटल मार्केटिंग इंस्टीट्यूट (डीएमआई), सर्टिफाइड मैनेजमेंट एकाउंटेंट (सीएमए), एआई सोसायटी इंटरनेशनल (एआईएसआई) और इंस्टीट्यूट ऑफ फाइनेंशियल मार्केट्स (आईएफएम) जैसे अंतरराष्ट्रीय संस्थानों के कोर्स लेकर आया है। छात्रों को उद्योग से जुडे़ विशेषज्ञों से प्रशिक्षण मिलेगा जो गहन और वास्तविक जानकारी देंगे। इससे छात्रों को वैश्विक कॅरियर अवसरों के लिए तैयार होने का मौका मिलेगा।

इस समझौते के बारे में आईएसडीसी के डायरेक्टर- स्टेªटेजी एंड डेवलपमेंट टॉम जोसेफ ने कहा, ‘‘हम जेईसीआरसी यूनिवर्सिटी के साथ जुड़ कर प्रसन्नता अनुभव कर रहे हैं। हम यहां ऐसे अंडरग्रेजुएट और पोस्टग्रेजुएट ग्लोबल प्रोग्राम लेकर आएंगे जो छात्रों को उद्योग की जरूरत के हिसाब से भविष्य की दक्षताओं के लिए तैयार करेंगे और जिनके दम पर वे ग्लोबल कॅरियर्स को अपना सकेंगे।’’

जेईसीआरसी कई अंडरग्रेजुएट और पोस्ट ग्रेजुएट कोर्स, वैश्विक स्तर पर मान्यता प्राप्त कोर्स, रिसर्च प्रोग्राम्स और सांइटिफिक ट्रेनिंग सुविधाएं उपलब्ध कराती है। इससे छात्रों को ऐसा जिम्मेदार नागरिक बनाया जाता है जो आज के उद्योगों की जरूरतों को पूरा कर सकते हैं।

आईएसडीसी कई विश्वविद्यालयों और उच्च शिक्षा संस्थानों के साथ काम करता है और एकेडेमिक डिग्रियों को एक्सटर्नल एक्रीडेटेशंस, मेम्बरशिप्स और योग्यताओं के लिए विकसित और अपग्रेड करता है। आईएसडीसी यूके स्किल्स फेडरेशन, स्कॉटिश क्वालिफिकेशन अथॉरिटी और कई ब्रिटिश यूनिवर्सिटीज के साथ काम कर रहा है। इसके साथ ही यह यूके की 25 प्रोफेशनल बॉडीज से जुड़ा है और उनके लिए मार्र्केट के विस्तार, ट्रांसनेशनल एजुकेशन और ग्रोथ का काम करता है।

इस समझौते के बारे में जेईसीआरसी यूनिवर्सिटी के वाइस चेयरपर्सन श्री अर्पित अग्रवाल ने कहा, ‘‘छात्रों की क्षमता को पूर्ण विकसित करने और सहयोगी प्रोजेक्ट्स पर काम करने के हमारे मिशन के तहत इंटरनेशनल स्किल डेवलपमेंट कार्पोरेशन से जुड़कर हमे बहुत प्रसन्नता का अनुभव हो रहा है। इस समझौते से कई विश्वस्तरीय प्रतिष्ठित पाठ्यकम हमारे कैम्पस में आ गए हैं। विभिन्न अंडरग्रेजुएट और पोस्ट ग्रेजुएट कोर्स के साथ ही वैश्विक प्रोफेशनल संस्थाओं के साथ हमारा जुड़ाव हुआ है और हमें उम्मीद है कि इससे हमारे छात्र आने वाले वर्षों में राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर नई ऊंचाइयां छू सकेंगे।’’

आईएसडीसी के बारे में

इंटरनेशनल स्किल डेवलपमेंट कार्पोरेशन ब्रिटिश एजुकेशन और स्किल्स उपलब्ध कराने वाला अग्रणी अंतरराष्ट्रीय संस्थान है। आईएसडीसी यूके स्किल्स फेडरेशन, स्कॉटिश क्वालिफिकेशन अथॉरिटी और कई ब्रिटिश यूनिवर्सिटीज के साथ काम कर रहा है। इसके साथ ही यह यूके की 25 प्रोफेशनल बॉडीज से जुड़ा है और उनके लिए मार्र्केट के विस्तार, ट्रांसनेशनल एजुकेशन और ग्रोथ का काम करता है।

आईएसडीसी कई विश्वविद्यालयों और उच्च शिक्षा संस्थानों के साथ काम करता है और युनिवर्सिटी डिग्रियो के साथ ही एकेडेमिक डिग्रियों को एक्सटर्नल एक्रीडेटेशंस, मेम्बरशिप्स और योग्यताओं के लिए विकसित और अपग्रेड करता है।

आईएसडीसी भारत में भी सक्रिय है और 150 यूनिवर्सिटीज के साथ काम कर रहा है। यह सेंट्रल, स्टेट, डीम्ड और प्राइवेट यूनिवर्सिटीज को विभिन्न अंडर ग्रेजुएट और पोस्ट ग्रेजुएट पाठ्यक्रम उपलब्ध कराता है। यह नेशनल स्किल डेवलपमेंट कार्पोरेशन के साथ भी काम कर रहा है और व्यवसायिक शिक्षा को वैश्विक मान्यता के साथ बढावा दे रहा है।

जेईसीआरसी यूनिवर्सिटी के बारे में

जेईसीआरसी यूनिवर्सिटी की स्थापना जेईसीआरसी यूनिवर्सिटी जयपुर एक्ट 2021 (एक्ट संख्या 15, 2021) के तहत हुई है। यह राजस्थान गजट में दो मई 2021 को प्रकाशित हुआ है। यूनिवर्सिटी आरम्भ हो चुकी है और इसने शैक्षणिक सत्र 2012-13 से विभिन्न पाठ्यक्रमों मंे प्रवेश देने भी शुरू कर दिए हैं। जेईसीआरसी यूनिवर्सिटी का कैम्पस राजस्थान की राजधानी जयपुर में है जो उत्तर-पश्चिम भारत का प्रमुख पर्यटन और व्यवसायिक शहर है। इसके 32 एकड़ में फैले कैम्पस को अनूठे क्लासिकल आर्किटेक्चर और सोच समझ कर तैयार किए गए लेआउट के साथ बनाया गया है, ताकि यहां पढाई का बेहतर माहौल बन सके। यह कैम्पस जयपुर के प्रमुख इंडस्ट्रीयल और इंस्टीट्यूशनल हब में स्थित है और शहर के सभी हिस्सों से पूरी तरह जुड़ा हुआ है। जेईसीआरसी युनिवर्सिटी में हमेशा इनोवेटिव रिसर्च को प्रोत्साहित किया जाता है। यह बात यहां के इन्फ्रास्ट्रक्चर और कार्यशैली में नजर आती है। यहां हमारे छात्र विषय आधारित शोध के जरिए विषयों की गहर समझ हासिल करेंगे और उन्हें व्यवसायिक वातावरण में काम करने का मौका मिलेगा। जेईसीआरसी यूनिवर्सिटी को मजबूत शोध संस्कृति और इंडस्ट्री से गहरे सम्बन्धों के लिए जाना जाता है। जेईसीआरसी यूनिवर्सिटी शोध और इनोवेटिव कल्चर, एकेडमिक और प्रोफेशनल एन्हांसमेंट और कल्चर के लिहाज से परिपूर्ण साधनों के माध्यम से इंडस्ट्री और समाज के लिए बेहतर संसाधन तैयार करेगी।

No comments:

Post a Comment

जेकेके में महाकाव्य महाभारत पर आधारित नाटक 'उरूभंगम' का हुआ मंचन

जयपुर।  जवाहर कला केंद्र (जेकेके) के  रंगायन  में पाक्षिक नाट्य योजना के तहत रंग साधना थिएटर ग्रुप, जयपुर द्वारा शनिवार शाम को नाटक 'उरू...