Sunday, August 15, 2021

अंगदान कर एक व्यक्ति बचा सकता है 8 लोगों की जिंदगी


डॉ.  तोमर ने अंगदान करने का संकल्प लेकर लोगों को किया प्रेरित

जयपुर। वर्ल्ड ऑर्गन डोनेशन-डे के अवसर पर निम्स हॉस्पिटल जयपुर में अंगदान के प्रति लोगों को जागरूक करने और इस नेक कार्य के लिए उन्हे ज्यादा से ज्यादा प्रेरित करने के लिए शपथ ग्रहण कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में निम्स हॉस्पिटल जयपुर के चेयरमैन डॉ. बलवीर सिंह तोमर के नेतृत्व में डॉ. पंकज सिंह, निदेशक, निम्स हॉस्पिटल,  डॉ. बी आर मीणा, वाइस चांसलर, निम्स विश्वविद्यालय, डॉ. साहिल गुप्ता, हेड लिवर ट्रांसप्लांट प्रोग्राम, एवं डॉ. प्रतीक त्रिपाठी,  डॉ. निसार अहमद और डॉ. लोकेश शर्मा सहित वहां मौजूद अन्य लोगों ने अंगदान करने की शपथ ली। डॉ. बलवीर सिंह तोमर, चेयरमैन, निम्स हॉस्पिटल ने बताया कि किसी व्यक्ति के ब्रेन डेड होने या मृत्यु के तुरंत बाद अंगदान किया जा सकता है। ऐसे लोगों के परिजनों द्वारा उनके क्रियाशील अंगों का दान कर करीब 8 लोगों के जीवन को बचा सकते हैं। उन्होंने बताया कि ऐसे बहुत सारे लोग हैं जिनका कोई महत्वपूर्ण अंग खराब हो गया हो और उन्हें अपने जीवन को बचाने के लिए किसी दूसरे व्यक्ति के अंग की जरुरत हो। ऐसे में अगर उन्हे वो अंग न मिले तो वह ज्यादा दिन अपना जीवन नहीं जी पाते। लेकिन अगर किसी व्यक्ति के ब्रेन डेड होने या मृत्यु के बाद अगर उनके परिजन उस व्यक्ति के क्रियाशील अंग दान करते हैं तो उनके अंग दूसरे मरीज को प्रत्यारोपित कर उन्हे नई जिंदगी दी जा सकती है।  डॉ. साहिल गुप्ता, हेड, लिवर ट्रांसप्लांट प्रोग्राम, निम्स हॉस्पिटल ने बताया कि निम्स हॉस्पिटल ने राजस्थान में सर्वप्रथम लिवर ट्रांसप्लांट की शुरुआत की व अब तक राजस्थान में सर्वाधिक लिवर ट्रांसप्लांट किए व कई सारे सफल किडनी प्रत्यारोपण कर लोगों को नया जीवन दिया है।

No comments:

Post a Comment

जेकेके में महाकाव्य महाभारत पर आधारित नाटक 'उरूभंगम' का हुआ मंचन

जयपुर।  जवाहर कला केंद्र (जेकेके) के  रंगायन  में पाक्षिक नाट्य योजना के तहत रंग साधना थिएटर ग्रुप, जयपुर द्वारा शनिवार शाम को नाटक 'उरू...