Thursday, August 5, 2021

टेनिस चैम्पियन सानिया मिर्जा ने लीड पावर्ड स्कूलों में 8 लाख स्टू डेंट्स के लिये फिटनेस और योग पर मास्टरक्लास (MasterClass) ली

मुंबई, 05 अगस्‍त, 2021: के-12 सेगमेंट की प्रमुख एजुकेशन टेक्‍नोलॉजी कंपनी, लीड ने पूरे भारत में अपने पार्टनर स्‍कूलों के 8 लाख से ज्‍यादा स्‍टूडेंट्स के लिये अपनी दूसरी मास्‍टरक्‍लास (MasterClass) शुरू की है। इस मास्‍टरक्‍लास (MasterClass) में पद्मभूषण पुरस्‍कार विजेता सानिया मिर्जा ने स्‍टूडेंट्स को फिटनेस और योग द्वारा स्‍वस्‍थ जीवनशैली अपनाने के लिये प्रेरित किया। टेनिस चैम्पियन ने बताया कि स्‍टूडेंट्स के लिये सीमित शारीरिक गतिविधि और चिंताओं से उभरने के लिये शारीरिक और मानसिक कसरतों का कितना महत्‍व है।

मास्‍टरक्‍लास (MasterClass) के साथ, लीड ने स्‍कूली बच्‍चों को सर्वांगीण विकास और वृद्धि का परिचय देने के लिये उद्योग में पहली बार एक पहल लॉन्‍च की है। इस पहल के तहत उसने मशहूर विशेषज्ञों के साथ भागीदारी की है, ताकि वे अपना ज्ञान और अनुभव साझा करें। इस पहल से पहले, छोटे कस्‍बों और शहरों के स्‍टूडेंट्स के पास ऐसे मौके नहीं थे। क्रियेटिव राइटिंग पर पहली मास्‍टरक्‍लास (MasterClass) का आयोजन प्रतिष्ठित लेखक चेतन भगत के साथ किया गया था।

स्‍पोर्ट्स आइकॉन के साथ ‘फिटनेस और योग’ पर मास्‍टरक्‍लास (MasterClass) स्‍टूडेंट्स और उनके पेरेंट्स के लिये फायदेमंद थी, क्‍योंकि उसमें सानिया ने ‘फिट रहने के लिये आत्‍मशक्ति और मांसपेशियों की मजबूती’ का अपना मंत्र दिया। किसी भी कीमत पर अपने सपनों को पूरा करने में यकीन रखने वाली सानिया ने स्‍टूडेंट्स को बताया कि उन्‍होंने खेल के साथ पढ़ाई को भी कैसे जारी रखा और इस तरह उन्‍हें जीवन में अनुशासन की भूमिका समझाई।

सानिया ने स्‍टूडेंट्स की माताओं से महामारी के दौरान अपने बच्‍चों को मानसिक और शारीरिक तौर पर मजबूत रहने में सहयोग देने की उनकी भूमिका पर बात की। साथ ही बताया कि उन्‍हें भी फिटनेस एक्टिविटीज अपनाकर अपने स्‍वास्‍थ का ध्‍यान रखना चाहिये।

पद्मभूषण विजेता सानिया मिर्जा ने कहा, “महामारी हमारे सपनों को पूरा करने के हमारे रास्‍ते में बाधा नहीं बननी चाहिये। आज फिटनेस और योग बच्‍चों के लिये अपनी मा‍नसिक और शारीरिक शक्ति बढ़ाने का एक बेहतरीन तरीका है। स्‍वस्‍थ शरीर और दिमाग समग्र विकास और पढ़ाई का केन्‍द्र होता है और मौजूदा स्थिति में, स्‍कूलों द्वारा स्‍टूडेंट्स को ऐसे मौके दिया जाना महत्‍वपूर्ण है।”

लीड के को-फाउंडर और सीईओ सुमीत मेहता ने कहा, “मास्‍टरक्‍लास (MasterClass) एक खास दुनिया में पहुँचाती है, जो अन्‍यथा छोटे कस्‍बों के स्‍टूडेंट्स और स्‍कूलों के लिये उपलब्‍ध नहीं होती है। हमारा मिशन है उत्‍कृष्‍ट शिक्षा को हर बच्‍चे की पहुँच में लाना और उसे किफायती बनाना। इसके अलावा बच्‍चों को चेतन भगत या सानिया मिर्जा के साथ लाइव क्‍लास का मौका कहाँ मिल सकता था? लीड ने उनके लिये यह किया है, क्‍योंकि हम मानते हैं कि छोटे कस्‍बों के बच्‍चों को अगर पहुँच और अवसर दिया जाए, तो वे भी मेट्रो शहरों के स्‍टूडेंट्स की तरह अपनी चमक बिखेर सकते हैं। और सानिया मिर्जा जैसे सफल सेलीब्रिटीज से स्‍टूडेंट्स को जीवन में फिटनेस और स्‍वास्‍थ को गंभीरता से लेने की प्रेरणा मिलेगी। क्‍योंकि एक स्‍वस्‍थ शरीर में ही स्‍वस्‍थ मस्तिष्‍क रहता है। भविष्‍य में हम लीड पावर्ड स्‍कूलों के स्‍टूडेंट्स के लिये ऐसी और भी मास्‍टरक्‍लासेस (MasterClasses) लगाएंगे!’’

लीड की मास्‍टरक्‍लास (MasterClass) के पास हर महीने कुशलता पर आधारित थीम्‍स होते हैं, जैसे योग, पब्लिक स्‍पीकिंग, मेंटल मैथ्‍स, आदि। हर सेशन प्रेरक गाथाओं, सेलीब्रिटीज और इंस्‍ट्रक्‍टर्स के साथ सवाल-जवाब के लाइव सेशंस और क्विजेस, डिस्‍कशन सेशंस, लाइव मजेदार गतिविधियों और टेक-होम असाइनमेंट्स  के रूप में भागीदारी से भरा होगा।

लीड के बारे में

लीड का प्रमोशन लीडरशिप बॉलवार्ड करती है, जो भारत में सबसे तेजी से बढ़ रही एजुकेशन टेक्‍नोलॉजी कंपनियों में से एक है। यह कंपनी टेक्‍नोलॉजी, पाठ्यक्रम और अध्‍यापन को शिक्षा देने और सीखने के एक एकीकृत तंत्र में मिलाकर देशभर के स्‍कूलों में स्‍टूडेंट्स की पढ़ाई और टीचर के प्रदर्शन को बेहतर बनाती है। 400 से ज्‍यादा शहरों में लगभग 8 लाख से ज्‍यादा स्‍टूडेंट्स के साथ 2000 से अधिक स्‍कूल लीड के पार्टनर हैं। इन शहरों में 20 राज्‍यों के टीयर 2 से लेकर टीयर 4 तक शहर शामिल हैं।                                             

No comments:

Post a Comment

जेकेके में दर्शकों ने शास्त्रीय व लोक संगीत की फ्यूजन प्रस्तुति का आनंद उठाया

जयपुर।  जवाहर कला केंद्र (जेकेके) में शुक्रवार शाम को मध्यवर्ती में अंतर्राष्ट्रीय ख्याति प्राप्त फ़्यूज़न ‘कहरवा’ की प्रस्तुति ने दर्शकों क...