Tuesday, August 10, 2021

पीरामल एंटरप्राइजेज लिमिटेड ने वित्त वर्ष 2022 की पहली तिमाही के समेकित परिणामों की घोषणा की

 

मुंबई, भारत | 10 अगस्‍त, 2021: पीरामल एंटरप्राइजेज लिमिटेड (‘PEL’, NSE: PEL, BSE: 500302) ने 30 जून, 2021 को समाप्‍त वित्‍त वर्ष 2022 की पहली तिमाही के अपने समेकित परिणामों की आज घोषणा की।

 

समेकित वित्‍तीय तथ्‍य

 

§  लाभ एवं हानि प्रदर्शन:

-          Q1 FY22 में राजस्‍व 2,909 करोड़ रु., वर्ष-दर-वर्ष आधार पर व्‍यापक रूप से स्थिर

-          Q1 FY22 का शुद्ध मुनाफा 534 करोड़ रु., 8% की वर्ष-दर-वर्ष वृद्धि

 

§  बैलेंस शीट:

-          मार्च 2019 के बाद इक्विटी 29% प्रतिशत बढ़कर 34,996 करोड़ हो गयी

-          मार्च 2019 के बाद शुद्ध ऋण में 50% की कमी, 27,677 करोड़ रु.

-          पीईएल नेट डेट-टू-इक्विटी 0.8x

 

§  डीएचएफएल अधिग्रहण – Q1 FY22 में महत्‍वपूर्ण प्रगति:

-          एनसीएलटी से रिजॉल्‍यूशन प्‍लान की स्‍वीकृति प्राप्‍त और जून 2021 में निगरानी समिति की नियुक्ति

-          रिजॉल्‍यूशन प्‍लान का क्रियान्‍वयन प्रगति पर है - विनियामक आवश्‍यकता के अनुरूप एनसीएलटी की स्‍वीकृति के 90 दिनों के भीतर पूरा होगा

 

अजय पीरामल, चेयरमैन, पीरामल एंटरप्राइजेज लिमिटेड ने कहा, ''कोविड-19 की दूसरी लहर के प्रभाव के बावजूद, हमने तिमाही के दौरान लोचदार प्रदर्शन किया है; राजस्‍व 2,909 करोड़ रु. रहा, शुद्ध मुनाफा 8 प्रतिशत बढ़कर 534 करोड़ रु. हो गया। हमने बैलेंस शीट को मजबूत बनाए रखा है और नेट डेट-टू-इक्विटी अनुपात 0.8x रहा।

वित्‍तीय सेवाओं में, डीएचएफएल के अधिग्रहण के लिए हमारे रिजॉल्‍यूशन प्‍लान को जून-2021 में एनसीएलटी की स्‍वीकृति मिली। हम एनसीएलटी की स्‍वीकृति के 90 दिनों के भीतर इस ट्रांजेक्‍शन के पूरा होने के लिए निगरानी समिति के आदेश के अनुरूप बढ़ रहे हैं। हाल के समेकन के चरण के जरिए सफलतापूर्वक गुजरते हुए, हम अब होलसेल-लेड से सुविविधीकृत वित्‍तीय सेवा व्‍यवसाय की दिशा में बढ़ रहे हैं। डीएचएफएल अधिग्रहण द्वारा वर्द्धित ट्रांजिशन से न केवल हमारे लोन बुक में भारी वृद्धि होगी बल्कि भारत-व्‍यापी प्‍लेटफॉर्म का निर्माण भी करेगा जिससे हम आने वाले वर्षों में टिकाऊ वृद्धि एवं लाभदेयता प्रदान कर सकेंगे।

हमारा फार्मा बिजनेस ने इस तिमाही में दमदार प्रदर्शन करना जारी रखा है, राजस्‍व में 31 प्रतिशत की वर्ष-दर-वर्ष की वृद्धि हुई है, जो हमारे बिजनेस मॉडल की ताकत को दर्शाता है। इसके अलावा, कार्लाइल ग्रुप से पूंजी जुटाने के बाद, हम ऑर्गेनिक और इनऑर्गेनिक दोनों ही पहलों में निवेशों के जरिए हमारे दोहरे रणनीतिक वृद्धि प्रक्षेप पर आगे बढ़े हैं।

जहां हम वित्‍त वर्ष'22 को लेकर बेहद आशावादी हूं, हमें हमारे दोनों व्‍यवसायों में विकास के लिए मजबूत रास्‍ता नजर आ रहा है। अभी हमारा ध्‍यान डीएचएफएल को हमारी वित्‍तीय सेवार कंपनी में एकीकृत करने पर होगा। उसके अनुसार, हम वित्‍तीय सेवाओं और फार्मा में दो अलग-अलग सूचीबद्ध एंटिटीज बनाने की हमारी घोषणा करने के लिए बेहतर स्थिति में होंगे।''

प्रमुख व्‍यावसायिक तथ्‍य

वित्‍तीय सेवाएं (FS)

फार्मा

§  डीएचएफएल ट्रांजेक्‍शन के जरिए वित्‍तीय सेवा व्‍यवसाय का विकास एवं विविधीकरण:

-          डीएचएफएल अधिग्रहण के जरिए रिटेल एयूएम के ~5x गुना बढ़ने की उम्‍मीद है

-          भारत के टॉप-5 एचएफसी में से एक बनने की उम्‍मीद

-          निकट अवधि में रिटेल लोन्‍स का शेयर ~50% बढ़ेगा और मध्‍यम से लंबी अवधि में दो-तिहाई वृद्धि होगी

 

§  तिमाही-दर-तिमाही आधार पर परिसंपत्ति गुणवत्‍ता स्थिर रही:

-          तिमाही-दर-तिमाही आधार पर जीएनपी (शुद्ध अर्थों में) व्‍यापक रूप से अपरिवर्तित रहा, तिमाही के दौरान हाल में कोई फिसलन नहीं हुई

 

§  किसी भी आपात स्थिति के प्रबंधन हेतु प्रावधान को पर्याप्‍त बनाए रखना:

-          2,748 करोड़ रु. के कंजर्वेटिव प्रॉविजंस को बनाए रखना, जो जून-2021 को कुल एयूएम के 5.8 प्रतिशत के समतुल्‍य है

 

§  उधारी लागत में तिमाही दर तिमाही गिरावट:

-          उधारी की औसत लागत वित्‍त वर्ष'21 की चौथी तिमाही के 10.9 प्रतिशत से गिरकर वित्‍त वर्ष'22 की पहली तिमाही में 10.1 प्रतिशत हो गयी, जिसके डीएचएफएल ट्रांजेक्‍शन के बाद लगभग 9.5 प्रतिशत तक गिरने की उम्‍मीद है

 

§  मेडन रिटेल बॉन्‍ड इश्‍यू - उधारी मिश्रण को और अधिक विविधीकृत करने की दिशा में कदम:

-          पीसीएचएफएल ने जुलाई 2021 में एनसीडी के पब्लिक इश्‍यूएंस के जरिए 805 करोड़ रु. जुटाये, जिसमें रिटेल और एचएनआई निवेशकों ने स्‍वस्‍थ तरीके से भाग लिया

 

§  जून-2021 को पूंजी पर्याप्‍तता 39% और नेट डेट-टू-इक्व्टिी 1.6x:

-          डीएचएफएल के ट्रांजेक्‍शन के बाद वित्‍तीय सेवाओं का नेट डेट-टू-इक्विटी 2.5x बढ़ेगा और निकट भविष्‍य में 3.5x बढ़ेगा

§  वित्‍त वर्ष 2022 की पहली तिमाही में राजस्‍व 31% की वर्ष-दर-वर्ष वृद्धि के साथ 1,362 करोड़ रु. हो गया:

-          सीडीएमओ राजस्‍व 17% वर्ष दर वर्ष अधिक था

-          कंप्‍लेक्‍स हॉस्पिटल जेनेरिक्‍स रेवेन्‍यूज 43% वर्ष-दर-वर्ष अधिक था

-          इंडिया कंज्‍यूमर हेल्‍थकेयर रेवेन्‍यूज 73% वर्ष दर वर्ष अधिक था

 

§  वित्‍त वर्ष'22 की पहली तिमाही में एबिटा 170 करोड़ रु. रहा, जो 56% वर्ष-दर-वर्ष अधिक था

-          कारोबार के सामान्‍य होने के साथ बेहतर क्षमता उपयोग

-          रॉ मैटेरियल्‍स का बैकवार्ड इंटिग्रेशन

 

§  ऑर्गेनिक और इनऑर्गेनिक दोनों ही पहलों में हाल में निवेश:

-          775 करोड़ रु. में हेम्‍मो फार्मास्‍यूटिकल्‍स का अधिग्रहण पूरा

-          35 मिलियन अमेरिकी डॉलर की रिवरव्‍यू फैसिलटी का विस्‍तार शुरू

-          22 मिलियन डॉलर का ऑरोरा फैसिलिटी विस्‍तार पूर्णता के करीब

 

§  अन्‍य महत्‍वपूर्ण बिंदु:

-          सीडीएमओ में बड़े ऑर्डर्स हासिल, जिनमें से 2 ऑर्डर्स में से प्रत्‍येक 10 मिलियन डॉलर के हैं

-          प्रमुख बाजारों में सेवोफ्लुरेन और इंजेक्‍टेबल पेन प्रोडक्‍ट्स की भारी मांग

-          पाइलट लॉन्‍चेज के लिए ई-कॉमर्स का उपयोग और इंडिया कंज्‍यूमर हेल्‍थकेयर बिजनेस में बिक्री बढ़ाने के लिए एनालिटिक्‍स का उपयोग। पहली तिमाही में 4 नए उत्‍पाद लॉन्‍च किये गये

 

 

 

 

Business-wise Revenue Performance:

 

Business-wise Revenue Performance                                                                             (INR Crores or as stated)

Net Sales break-up

Quarter I ended

% Sales for
Q1 FY2022

30-Jun-21

30-Jun-20

% Change

Financial Services

1,547

1,899

-19%

53%

Pharma

1,362

1,038

31%

47%

Pharma CDMO

719

614

17%

25%

Complex Hospital Generics

462

324

43%

16%

India Consumer Healthcare

181

104

73%

6%

Total

2,909

2,937

-1%

100%

Note: Pharma revenue includes foreign exchange gains/losses

 

Consolidated P&L:

 

Consolidated Financial Performance                                                                              (INR Crores or as stated)

Particulars

Quarter I ended

30-Jun-21

30-Jun-20

% Change

Net Sales

2,909

2,937

-1%

Non-operating other income

103

65

57%

Total income

3,012

3,003

0%

Other Operating Expenses

1,408

1,091

29%

Impairment on financial assets

-49

51

-

OPBIDTA

1,653

1,861

-11%

Interest Expenses

985

1,105

-11%

Depreciation

149

135

11%

Profit before tax & exceptional items

519

622

-17%

Exceptional items (Expenses)/Income

-15

-

-

Income tax – Current tax

135

161

-16%

DTA reversal / other one-time tax adjustments

-

-

-

Profit / (Loss) after tax (before Prior Period items)

368

461

-20%

Share of Associates1

165

35

373%

Net Profit / (Loss) after Tax from continuing operations

534

496

8%

Profit / (Loss) from Discontinued operations

-

-

-

Net Profit after Tax(after exceptional items)

534

496

8%

No comments:

Post a Comment

टाटा पावर ने भारत में ईवी-चार्जिंग के बुनियादी ढांचे को ऊर्जा प्रदान करने के लिए ह्युंदाई मोटर इंडिया के साथ की साझेदारी

राष्ट्रीय 17 मई 2022 : देश की एक सबसे बड़ी एकीकृत बिजली कंपनी और ईवी चार्जिंग की बुनियादी सुविधाएं प्रदान करने वाली अग्रणी कंपनी टाटा पावर ने...