Tuesday, July 20, 2021

गोदरेज अप्लातयंसेज ने डिशवॉशर श्रेणी में कदम रखा; भारतीयों से उनके डिशेज के बेहतर देखभाल का वादा किया

 

मुंबई, 20 जुलाई, 2021: गोदरेज एंड बॉयस, जो गोदरेज ग्रुप की फ्लैगशिप कंपनी है, ने घोषणा की कि इसके बिजनेस गोदरेज अप्‍लायंसेज, जो भारत की प्रमुख होम अप्‍लायंसेज कंपनियों में से एक है, ने अपने गोदरेज इऑन डिशवॉशर्स की नई रेंज के साथ भारतीय डिशवॉशर्स मार्केट में कदम रखा है।

लॉन्‍च पर प्रतिक्रिया व्‍यक्‍त करते हुए, गोदरेज अप्लायंसेज के बिजनेस हेड और एक्‍जीक्‍यूटिव वाइस प्रेसिडेंट, कमल नंदी ने कहा, ''महामारी ने उपभोक्‍ताओं का तनाव काफी हद तक बढ़ा दिया है। विशेष तौर पर शहरी ग्राहक इससे काफी अधिक प्रभावित हुए हैं - वो घरेलू काम और ऑफिस वर्क के बीच तालमेल बिठाने के लिए प्रयास कर रहे हैं और स्‍वास्‍थ्‍य के खतरों से बचाव के लिए डोमेस्टिक हेल्‍प पर निर्भरता काफी कम करने की कोशिश में लगे हैं। इसके चलते डिशवॉशर्स जैसे उपकरणों की मांग बढ़ी है। हम इस महामारी का प्रकोप शुरू होने के बाद से स्‍वास्‍थ्‍य, स्‍वच्‍छता और एफर्ट मिनिमाइजेशन से जुड़ी विभिन्‍न तकनीकों के साथ मिलकर काम कर रहे हैं और हमारे डिशवॉशर्स इन सभी दृष्टियों से बिल्‍कुल उपयुक्‍त हैं। स्‍वच्‍छता, सुविधा और कुशलता जैसे पहलुओं पर बेहतरीन काम करने वाले गोदरेज डिशवॉशर्स बेहद उपयुक्‍त तरीके से डिशवॉशिंग का काम पूरा करते हैं और डिशेज की बढि़या सफाई करते हैं। हमें विश्‍वास है कि महामारी के बाद के समय में यह श्रेणी लगातार बढ़ती रहेगी, क्‍योंकि इस प्रोडक्‍ट के महत्‍व को समझने के बाद अधिकाधिक उपभोक्‍ता इसे उपयोग में लायेंगे।''

नये गोदरेज इऑन डिशवॉशर्स विभिन्‍न दृष्टियों से जैसे कि दमदार सफाई, डिशेज के प्रकार या डिशेज की संख्‍या, पानी की बर्बादी, बिजली की खपत, लगने वाला समय आदि से जुड़ी अनेक मौजूदा भ्रांतियों को दूर करते हैं।

गोदरेज इऑन डिशवॉशर, भारतीय किचेन के लिए बिल्‍कुल उपयुक्‍त हैं और इसमें 12 और 13 प्‍लेस सेटिंग्‍स हैं जिनमें एक बार में बड़े प्रेशर कूकर्स, कड़ाही, पैन, तवा एवं अन्‍य सामान्‍य किस्‍म के भारतीय बर्तनों सहित 91 बर्तन एवं कटलरी की धुलाई की जा सकती है। यह महंगे डिनर सेट्स एवं नाजुक कप एवं ग्‍लासेज के लिए भी उपयुक्‍त है। यह टेफ्लॉननॉन-स्टिक कूकवेयर, सेरामिक, मेलामाइन, सिलिकॉन एवं डिशवॉशर सेफ के रूप में चिह्नित प्‍लास्टिक के बर्तनों की भी धुलाई कर सकता है।

सामान्‍य रूप से यह धारणा है कि डिशवॉशर्स में बहुत अधिक पानी लगता है, लेकिन इस धारणा के विपरीत गोदरेज के सभी डिशवॉशर्स में इको मोड मौजूद है, जिसमें न केवल ऊर्जा की बचत होती है बल्कि इनमें एक बार के वॉश साइकल में 9 लीटर से अधिक पानी भी नहीं लगता है।

गोदरेज डिशवॉशर्स में कई खूबियां मौजूद हैं, जैसे:

·         स्‍टीम वॉश टेक्‍नोलॉजी जिद्दी से जिद्दी दागों को भी आसानी से हटा देती है जबकि डिशेज पर यह बेहद नर्म है - जिसके चलते यह भारतीय रसोई के लिए बेहद उपयुक्‍त है जिसमें प्राय: बर्तनों पर चिकनाई एवं जिद्दी दाग पड़ जाते हैं।  

·         विशिष्‍ट यूवी टेक्‍नोलॉजी बैक्टीरिया को खत्म करती है और डिशेज को कीटाणुरहित करती है एवं बिल्‍ट-इन आयनाइज़र नकारात्मक आयनों का उपयोग करके गंध को दूर करता है।

·         स्‍मार्ट वॉश टेक्‍नोलॉजी विशेष मैलापन सेंसर प्रदान करती है जो पानी में कण पदार्थ की मात्रा का पता लगाते हैं और हर बार एक इष्टतम धोने के लिए धुलाई चक्र मापदंडों (तापमान, अवधि, पानी की मात्रा) को उसके अनुसार समायोजित करते हैं। मशीनों को पानी की कोमलता या कठोरता के लिए समायोजित किया जा सकता है।

·         डायरेक्ट वॉश फंक्शन ग्लास/फीडिंग बोतल आदि को अधिक प्रभावी ढंग से धोता है, जबकि ट्रिपल वॉश फंक्शन कठोर गंदे पैन, कुकर आदि के लिए मशीन के पीछे 2 अतिरिक्त स्प्रे को एक्टिवेट करता है।

·         स्‍पेशल टर्बो ड्राइंग टेक्‍नोलॉजी दमदार एयर सर्कुलेशन के लिए पंखे को एक्टिवेट करती है जिससे डिशवॉशर से स्‍टीम बाहर आता है और बर्तनों को अच्‍छी तरह से सुखाता है। बर्तनों के जिद्दी दागों को छुड़ाने के लिए इसमें इंटेंसिव 65°C वॉश प्रोग्राम मौजूद है, जिससे उपभोक्‍ताओं को बर्तन पोंछने की जरूरत नहीं होती है या उनके सूखने का इंतजार नहीं करना पड़ता है और उन्‍हें डिशवॉशर से हॉट - ड्राई एवं चमचमाते बर्तन मिलेंगे।

·         ऑटो डोर ओपन फीचर, सूखाते समय डोर को अपने आप हल्‍का-सा खोल देता है, जिससे बर्तनों को सूखाने के लिए बहुत अधिक ऊर्जा की आवश्‍यकता नहीं पड़ती है और इस प्रकार यह प्रक्रिया काफी एफिशियंट हो जाती है।

·         एफिशियंट बीएलडीसी इन्‍वर्टर टेक्‍नोलॉजी युक्‍त, गोदरेज इऑन डिशवॉशर की एनर्जी रेटिंग यूरोपीय मानकों के अनुसार सर्वोच्‍च A+++ है, जिससे इसमें ऊर्जा की खपत कम होती है, बर्तनों की सफाई बेहतर होती है और ये बढि़या सूखते हैं; जिससे पानी और समय दोनों की ही बचत होती है।

वित्‍त वर्ष 2026 तक भारतीय डिशवॉशर बाजार 90 मिलियन अमेरिकी डॉलर (667 करोड़ रु.) के पर पहुंचने का अनुमान है।

गोदरेज अप्‍लायंसेज के प्रोडक्‍ट ग्रुप हेड - डिशवॉशर्स, रजिंदर कौल ने आगे बताया, ''भारत में डिशवॉशर श्रेणी आरंभिक अवस्‍था में है, लेकिन कोविड-19 के चलते व्‍यक्तिगत स्‍वच्‍छता एवं सुविधा की आवश्‍यकता बढ़ जाने के चलते, इस उत्‍पाद खंड के प्रति जागरूकता एवं मांग काफी बढ़ी है। अक्‍टूबर 2020 में, हमने केवल चुनिंदा शहरों में विशेषकर प्रमुख ई-कॉमर्स प्‍लेटफॉर्म पर नयी गोदरेज इऑन डिशवॉशर रेंज लॉन्‍च की थी। अब, पूरी रेंज समूचे भारत में ऑफलाइन उपलब्‍ध करायी जा रही है। हमारे बेहतरीन मूल्‍य प्रस्‍ताव के साथ, हमें इस वित्‍त वर्ष तक 15 प्रतिशत बाजार हिस्‍सेदारी हासिल करने का भरोसा है।

उच्‍च टिकाऊपन सुनिश्चित करने हेतु स्‍टेनलेस स्‍टील इंटीरियर डोर एवं टब वाला, गोदरेज इऑन डिशवॉशर के साथ 2-साल की कंप्रिहेंसिव वारंटी है। 3 वैरिएंट्स में 13 प्‍लेस एवं 12 प्‍लेस सेटिंग्‍स में उपलब्‍ध, नये गोदरेज इऑन डिशवॉशर्स की शुरुआती कीमत करसहित 37,900 रु. है।

No comments:

Post a Comment

जेकेके में महाकाव्य महाभारत पर आधारित नाटक 'उरूभंगम' का हुआ मंचन

जयपुर।  जवाहर कला केंद्र (जेकेके) के  रंगायन  में पाक्षिक नाट्य योजना के तहत रंग साधना थिएटर ग्रुप, जयपुर द्वारा शनिवार शाम को नाटक 'उरू...