Wednesday, July 7, 2021

नए लोगो के साथ जेके सीमेंट लिमिटेड ने बनाई एक नई और जीवंत कॉर्पोरेट ब्रांड पहचान

 

नई दिल्ली, 07 जुलाई, 2021- अभूतपूर्व विकास का एक और साल दर्ज करते हुए भारत की प्रमुख सीमेंट कंपनी जेके सीमेंट लिमिटेड ने पिछले वित्तीय वर्ष में 3 गुना बढ़ोतरी के साथ अपने बाजार पूंजीकरण को तीन अरब अमेरिकी डॉलर तक पहुंचा दिया। इस तरह सीमेंट उद्योग में सबसे तेजी से बढ़ती कंपनियों में से एक के रूप में जेके सीमेंट स्थिति और मजबूत होती। महामारी से अप्रभावित और एक चुस्त रिकवरी के साथ जेके सीमेंट ने कठिन परिस्थितियों के बावजूद विकास के पथ पर आगे कदम बढ़ाना जारी रखा और वित्त वर्ष 2020-21 की तीसरी और चैथी तिमाही में अब तक का सबसे अधिक ईबीआईटीडीए रिकॉर्ड किया।

 

कंपनी की लगातार कामयाबी का जश्न मनाते हुए और पूर्व मैनेजिंग डायरेक्टर स्वर्गीय श्री यदुपति सिंघानिया के जबरदस्त योगदान को श्रद्धांजलि देते हुए, जेके सीमेंट लिमिटेड ने एक समकालीन और अग्रगामी कॉर्पोरेट ब्रांड पहचान शुरू की है। यह एक ऐसी पहचान है, जो कंपनी के विश्वास की समृद्ध विरासत और मूल मूल्यों को मजबूती के साथ दर्शाते हुए बदलते समय के अनुरूप तालमेल कायम करती है। जेके सीमेंट लिमिटेड के मैनेजिंग डायरेक्टर डॉ. राघवपत सिंघानिया, डिप्टी एमडी और सीईओ श्री माधव  कृष्ण सिंघानिया और डिप्टी एमडी और सीएफओ श्री ए.के. सरावगी ने एक बहुत ही खास वर्चुअल इवेंट में जेके सीमेंट के एक बिल्कुल नए अवतार का आधिकारिक तौर पर अनावरण किया।

 

जेके सीमेंट लिमिटेड के मैनेजिंग डायरेक्टर डॉ. राघवपत सिंघानिया, ‘‘हमारी नई कॉर्पोरेट पहचान श्री यदुपति सिंघानियाजी के विजन, उनके मूल्यों और विरासत से प्रेरित है। यह उनका दृष्टिकोण है जिसने जेके सीमेंट को निरंतर विकास की ओर अग्रसर किया है और हमें भारत की विकास गाथा का एक अभिन्न अंग बना दिया है। इसके अलावा, जेके सीमेंट में हम परिवर्तन की एक ऐसी राह पर आगे बढ़ रहे हैं जहां हम विकासशील लोगों, मजबूत ब्रांडों के निर्माण, सभी हितधारकों के लिए मूल्य बनाने, विविधीकरण और डिजिटलीकरण पर पूरा फोकस कर रहे हैं। हम एक नया लोगो पेश करना चाहते थे जो यदुपति जी की स्मृति को याद करता है और भविष्य के लिए हमारे संगठन के दृष्टिकोण का भी प्रतिनिधित्व करता है।’’

 

विकास की राह पर अपने सफर को जारी रखते हुए कंपनी ने अपनी उत्पादन क्षमता का विस्तार किया है और इसे पहले से अधिक मजबूत किया है। कंपनी ने पहले से ही स्थापित क्षमता को पिछले 2 वर्षों में 4.2 मिलियन टन तक बढ़ा दिया है, जिससे 40 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। वॉल पुट्टी सेगमेंट की बढ़ती मांग के कारण, कंपनी ने मध्य प्रदेश के कटनी में अपनी वॉल पुट्टी इकाई में अपनी उत्पादन क्षमता में 3 एलटीपीए की वृद्धि की, जिससे यह भारत में वॉल पुट्टी का सबसे बड़ा विनिर्माण संयंत्र बन गया।

 

विस्तार योजनाओं पर टिप्पणी करते हुए, श्री माधवकृष्ण सिंघानिया ने कहा, ‘‘विकास संबंधी हमारी महत्वपूर्ण योजनाओं के अनुरूप हम पन्ना, मध्य प्रदेश में स्प्लिट ग्राइंडिंग यूनिट के साथ 4 एमएनटीपीए की क्षमता वाले ग्रीन-फील्ड इंटीग्रेटेड ग्रे सीमेंट प्लांट को स्थापित करने जा रहे हैं। इस प्रोजेक्ट पर कुल 2,970 करोड़ रुपए का निवेश होगा। यह विस्तार हमें अपने ग्राहकों को सर्वोत्तम तरीके से सेवा देने और देश में अपनी मौजूदगी में सुधार करने की हमारी प्रतिबद्धता को पूरा करने में मदद करेगा। हमने बालासिनोर में 0.7 एमएनटीपीए की एक नई ग्रे सीमेंट ग्राइंडिंग इकाई को भी सफलतापूर्वक चालू किया है, जिससे गुजरात में हमारी नींव मजबूत हुई है। इसके अलावा, हमने व्हाइट सीमेंट में अग्रणी कंपनियों में से एक होने और दुनिया भर में वॉल पुट्टी के सबसे बड़े उत्पादक होने की अपनी पोजीशन को न सिर्फ बरकरार रखा है, बल्कि इसे मजबूत किया है।’’

 

डॉ. राघवपत सिंघानिया ने कंपनी की ईएसजी संबंधी पहल पर जोर देते हुए कहा, ‘‘दिवंगत यदुपति सिंघानियाजी एक जिम्मेदार और दीर्घकालिक व्यवसाय के निर्माण में दृढ़ विश्वास रखते थे। जेके सीमेंट में, हमने हमेशा अपने कार्बन फुटप्रिंट को कम करने की दिशा में काम किया है और वैकल्पिक ईंधन और कच्चे माल पर ध्यान केंद्रित करने और ऊर्जा उत्पादन के अन्य स्रोतों पर अधिक ध्यान केंद्रित किया है। साथ ही हमने सौर, पवन और अपशिष्ट ताप वसूली स्रोतों की स्थापना के साथ ग्रीन टैक्नोलाॅजी को भी अपनाने की दिशा में बदलाव किया है। इस संबंध में, हमने अपनी निर्माण इकाइयों में वेस्ट हीट रिकवरी पावर जनरेटर भी स्थापित किए हैं।’’

 

जेके सीमेंट ने मध्यम से बड़ी श्रेणी में बड़ी छलांग लगाने और चैथे इंडियन सीमेंट रिव्यू अवार्ड्स में दूसरी सबसे तेजी से बढ़ती कंपनी के रूप में मान्यता दिए जाने सहित कई पुरस्कार और प्रशंसा हासिल की है। कंपनी को लगातार दूसरे वर्ष प्रतिष्ठित ग्रेट प्लेस टू वर्क सर्टिफिकेशन भी प्राप्त हुआ है।

 

तेजी से बदलते बाजार और ग्राहकों की अपेक्षाओं के साथ तालमेल बिठाते हुए, जेके सीमेंट का नया और जीवंत कॉर्पोरेट लोगो न केवल कंपनी के दृष्टिकोण के साथ प्रतिध्वनित होता है, बल्कि सभी हितधारकों के साथ विश्वास की अपनी ठोस विरासत को मजबूत करते हुए ब्रांड को एक अलग पहचान भी प्रदान करता है।

 

No comments:

Post a Comment

जेकेके में महाकाव्य महाभारत पर आधारित नाटक 'उरूभंगम' का हुआ मंचन

जयपुर।  जवाहर कला केंद्र (जेकेके) के  रंगायन  में पाक्षिक नाट्य योजना के तहत रंग साधना थिएटर ग्रुप, जयपुर द्वारा शनिवार शाम को नाटक 'उरू...