Monday, July 26, 2021

ग्लेनमार्क लाइफ साइंसेज लिमिटेड

 


1.    ग्‍लेनमार्क लाइफ साइंसेज लिमिटेड, क्रोनिक थेरेप्‍योटिक क्षेत्रों जैसे कार्डियोवैस्‍क्‍यूलर रोग, केंद्रीय तंत्रिका तंत्र रोग, दर्द प्रबंधन एवं डायबिटीज में चुनिंदा हाई वैल्‍यू, नॉन-कमोडिटाइज्‍ड एक्टिव फार्मास्‍यूटिकल इंग्रेडिएंट्स (''एपीआई'') का एक अग्रणी विकासकर्ता एवं निर्माता है। कंपनी द्वारा गैस्‍ट्रो-इंटेस्‍टाइनल विकारों, एंटी-इंफेक्टिव्‍स एवं अन्‍य उपचारात्‍मक क्षेत्रों के लिए एपीआई का निर्माण एवं इसकी बिक्री की जाती है।  

 

2.    कंपनी द्वारा तरह-तरह के बहुर्राष्‍ट्रीय फार्मास्‍यूटिकल एवं स्‍पेशियाल्‍टी फार्मास्‍यूटिकल कंपनियों के लिए अधिकाधिक कंट्रैक्‍ट डेवलपमेंट एवं मैन्‍यूफैक्‍चरिंग ऑपरेशंस (''सीडीएमओ'') सेवाएं भी प्रदान की जा रही हैं।

 

3.    वर्तमान में, कंपनी चार बहुद्देशीय विनिर्माण संयंत्र चलाती है। ये संयंत्र भारत के गुजरात राज्‍य के अंकलेश्‍वर एवं दाहेज और महाराष्‍ट्र के मोहोल एवं कुरकुंभ में स्थित है, जिनकी कुल वार्षिक स्‍थापित क्षमता 31 मार्च, 2021 को 726.6 KL रही।

 

4.    वित्तीय वर्ष 2021, 2020 और 2019 में, अनुसंधान एवं विकास गतिविधियों के लिए इसका कुल व्यय क्रमश: 40.52 करोड़ रु. 40.03 करोड़ रु. और 37.57 करोड़ रु. या कुल राजस्‍व में परिचालन से होने वाली कुल आय क्रमश: 2.15%, 2.60% और 2.67% रही।

 

5.    31 मई, 2021 को, कंपनी ने कई प्रमुख बाजारों (जैसे संयुक्‍त राज्‍य, यूरोप, जापान, रूस, ब्राजिल, दक्षिण कोरिया, ताइवान, कनाडा, चीन एवं ऑस्‍ट्रेलिया) में यूरोपीयन फार्माकोपिया (''सीईपीएस'') के मोनोग्राफ्स के लिए 403 ड्रग मास्‍टर फाइल्‍स (''डीएमएफ'') और सर्टिफिकेट्स ऑफ सुटेबिलिटी दाखिल की थी। कंपनी के स्‍वामित्‍व या सह-स्‍वामित्‍व में 39 स्‍वीकृत पेटेंट्स थे और कई देशों में 41 पेटेंट एप्लिकेशंस लंबित थे और भारत में छ: लंबित प्रोविजनल एप्लिकेशंस थे।

 

6.    कंपनी विनियमित बाजारों और उभरते बाजारों दोनों में ग्राहक उत्पादों की बिक्री करती है। वित्तीय वर्ष 2021, 2020 और 2019 में, विनियमित बाजार उत्पादों से इसका राजस्व 1,237.41 करोड़ रु. 1,096.62 करोड़ और 968.51 करोड़ रु. था, या इसके 65.64%, 71.33% और 68.93% राजस्‍व क्रमश: इसके परिचालनों से आये।

 

7.    मार्च 2021 तक, कंपनी के पास वैश्विक स्तर पर 120 मॉलीक्‍यूल्‍स का पोर्टफोलियो है और वह भारत में अपने एपीआई बेचती है और यूरोप, उत्तरी अमेरिका, लैटिन अमेरिका, जापान और बाकी दुनिया ("आरओडब्ल्यू") के कई देशों में एपीआई निर्यात करती है। 31 मार्च, 2021 को वैश्विक स्तर पर 20 सबसे बड़ी जेनेरिक कंपनियों में से 16 इसकी ग्राहक थीं।

 

8.    विश्व स्तर पर 120 मॉलीक्‍यूल्‍स के हमारे पोर्टफोलियो के लिए बिक्री के मामले में कुल बाजार का आकार 2020 में अनुमानत: लगभग 142 बिलियन अमेरिकी डॉलर होने का है और अगले पांच वर्षों में लगभग 6.8% बढ़ने की उम्मीद है और 2026 तक लगभग 211 बिलियन अमेरिकी डॉलर तक पहुंच जाएगा। 2020 में हमारे 120 मॉलीक्‍यूल्‍स के लिए मात्रा के मामले में बाजार का आकार 9,959 टन होने का अनुमान था और अगले पांच वर्षों में 6% की दर से बढ़कर 2026 तक लगभग 12,079 टन तक पहुंचने की उम्मीद है।

 

9.    120 मॉलीक्‍यूल्‍स के इसके पोर्टफोलियो के द्वारा कवर किये गये क्रोनिक थेरेप्‍यूटिक क्षेत्र वर्तमान के 84 प्रतिशत से बढ़कर वर्ष 2026 तक 91 प्रतिशत होने का अनुमान है। इसके 120 मॉलीक्‍यूल्‍स प्रोडक्‍ट्स की भावी वृद्धि स्थिर बने रहने का अनुमान है, जिसका कारण असंक्रामक रोगों (जैसे हृदय रोग, स्‍ट्रोक, कैंसर, डायबिटीज एवं क्रोनिक लंग डिजीज) में हो रही वृद्धि, उच्‍च रक्‍तचाप, डायबिटीज एवं कैंसर, एवं बढ़ती आबादी के लिए विनियमित बाजारों से बढ़ती मांग है।

 

10.               कंपनी ने वित्तीय वर्ष 2022 के दौरान अंकलेश्वर संयंत्र में मौजूदा उत्पादन क्षमता और वित्तीय वर्ष 2022 और 2023 के दौरान दहेज सुविधा में 200 केएल की कुल वार्षिक कुल स्थापित क्षमता को बढ़ाकर अपनी एपीआई निर्माण क्षमताओं को बढ़ाने की योजना बनाई है।   

 

11.              कंपनी, फंड्स जुटाने के लिए कुल 1060 करोड़ रु. तक के ''इक्विटी शेयर्स के फ्रेश इश्‍यू'' के जरिए और ग्‍लेनमार्क फार्मास्‍यूटिकल्‍स लिमिटेड के 63,00,000 इक्विटी शेयर्स के ''ऑफर फॉर सेल'' के लिए आईपीओ लायेगी। इक्विटी शेयर्स का अंकित मूल्‍य 2.00 रु. है।

 

12.              कोटमक महिंद्रा कैपिटल कंपनी लिमिटेड, बीओएफए सिक्‍योरिटीज इंडिया लिमिटेड और गोल्‍डमैन सैच्‍स (इंडिया) सिक्‍योरिटीज प्राइवेट लिमिटेड, इश्‍यू के ग्‍लोबल-कोऑर्डिनेटर्स एवं बुक रनिंग लीड मैनेजर्स हैं। डीएएम कैपिटल एडवाइजर्स लिमिटेड (पूर्व नाम आईडीएफसी सिक्‍योरिटीज लिमिटेड), बीओबी कैपिटल मार्केट्स लिमिटेड और एसबीआई कैपिटल मार्केट्स लिमिटेड, इश्‍यू के बुक रनिंग लीड मैनेजर्स हैं।

 

No comments:

Post a Comment

अजय पीरामल को ब्रिटेन की महारानी ने प्रदान किया मानद ब्रिटिश पुरस्कार

पीरामल ग्रुप के चेयरमैन अजय गोपीकिषन पीरामल को ब्रिटेन की महारानी ने मानद कमांडर ऑफ द ऑर्डर ऑफ द ब्रिटिश एम्पायर (सीबीई) से सम्मानित किया है...