Tuesday, July 20, 2021

भारतीय फिनेटक कंपनी मोबिक्विक ने सेबी के पास डीआरएचपी जमा किया

 

गुरुग्राम, 20 जुलाई 2021: वन मोबिक्विक सिस्टम्स लिमिटेड (मोबिक्विक या कंपनी) ने अपने आईपीओ (आरंभिक सार्वजनिक निर्गम) के संबंध में सिक्योरिटीज एक्सचेंज बोर्ड ऑफ इंडिया (सेबी) के पास अपना ड्राफ्ट रेड हेरिंग प्रॉसपेक्टस (डीआरएचपी) जमा कर दिया है। यह आईपीओ 19,000 मिलियन रुपये तक का है, जिसमें 15,000 मिलियन रुपये तक के इक्विटी शेयरों का ताजा निर्गम और हमारे कुछ शेयरधारकों द्वारा 4,000 मिलियन रुपये तक के इक्विटी शेयरों की बिक्री (ऑफर फॉर सेल) शामिल है। कंपनी 4,000 मिलियन रूपये तक के इक्विटी शेयरों का प्रि-आइपीओ प्‍लेसमेंट किए जाने पर विचार कर सकती है।

मोबिक्विक को वर्ष2009 मेंबिपिनप्रीतसिंहऔरउपासनारूपकृष्णटाकूद्वारालॉन्च किया गया था। यह रेडसीर रिपोर्ट के मुताबिक वित्त वर्ष 2021 में क्रमश: मोबाइल वॉलेट ग्रॉस मर्चेंडाइज वैल्यू (जीएमवी) और बीएनपीएल जीएमवी के आधार पर भारत की सबसे बड़ी मोबाइल वॉलेट्स (मोबिक्विक वॉलेट) और बाय नाऊ पे लेटर (बीएनपीएल) कंपनियों में से एक है। कंपनीबीएनपीएलफायदों के साथरोजमर्राकेमोबाइलभुगतानकीसुविधाकोजोड़करतेजीसेबढ़तेडिजिटलभुगतानकरनेवालेउपयोगकर्ताओंकीअधूरीकर्जजरूरतोंकोपूराकरनेकेलिएबिगडेटाएनालिटिक्सऔरडीपडेटासाइंसकाइस्तेमाल करती है।

 

31 मार्च 2021 तक कंपनी के पास 101.37 मिलियन से अधिक पंजीकृत यूजर्स (उपयोगकर्ता) और 3.44 मिलियन ई-कॉमर्स, फिजिकल रिटेल और बिलर मर्चेंट्स पार्टनर्स शामिल थे। मोबिक्विक वॉलेट के जरिए ई-कॉमर्स खरीदारी, फूड डिलीवरी, बिल का भुगतान, पेट्रोल पंप, बड़ी रिटेल श्रृंखलाओं और दवा की दुकानों पर भुगतान किया जा सकता है।

 

रेडसीर की रिपोर्ट के मुताबिक वित्त वर्ष 26 तक भारत का बीएनपीएल बाजार 80-100 मिलियन यूजर्स और खर्च के मामले में इसके 45-50 बिलियन डॉलर का होने की उम्मीद है। मोबिक्विक जिप कंपनी का प्रमुख बीएनपीएल प्रोडक्‍ट है, जो भारत की उस आबादी तक सेवा पहुंचाने के लिए केंद्रित है, जिन तक अभी किसी अन्य साधन की पहुंच नहीं है। यह उनके लिए क्रेडिट का पहला अनुभव है। कंपनी का बीएनपीएल लेन-देन वित्त वर्ष 21 में पांच गुना बढ़ा और वित्त वर्ष 21 के अंत तक मोबिक्विक जिप पर इसके प्री-अप्रूव्ड यूजर्स की संख्या 22.25 मिलियन रही है।

 

कंपनी की कुल आय वित्त वर्ष 19 के बाद से लगभग दोगुनी हो चुकी है और यह वित्त वर्ष 21 में करीब 3 बिलियन रुपये से अधिक रहा है। पिछले दो वित्त वर्ष से सभी कारोबारी वर्गों में सेगमेंट लेवल पर मुनाफे की स्थिति में रही है। आईपीओ से आने वाली पूंजी का इस्तेमाल विकास को गति देने, डेटा विज्ञान, प्रोडक्‍ट एवं टेक्‍नोलॉजी में निवेश में किया जाएगा ताकि यूजर्स और कारोबारियों के अनुभव को और बेहतर बनाया जा सके।

 

मोबिक्विक हालिया 20 मिलियन डॉलर की फंडिंग के साथ 2021 की शुरुआत से अब तक करीब 35 मिलियन डॉलर की पूंजी जुटा चुकी है।

आईपीओ की घोषणा के बारे में कंपनी के मैनेजिंग डायरेक्टर और सीईओ बिपिन ने कहा, ‘’मोबिक्विक में हमारा मकसद बड़ी संख्या में उन भारतीयों को बाय नाऊ पे लेटर की सुविधा देना है, जिनके पास क्रेडिट कार्ड नहीं है। वित्तीय रूप से समावेशी भारत एक मजबूत और आत्मनिर्भर भारत की बुनियाद है।’’

आईसीआईसीआई सिक्योरिटीज लिमिटेड, बीएनपी पारिबास, क्रेडिट सुईस सिक्योरिटीज (इंडिया) प्राइवेट लिमिटेड, आईआईएफएल सिक्योरिटीज लिमिटेड और जेफ्रीज इंडिया प्राइवेट लिमिटेड इस आईपीओ के लिए बुक रनिंग लीड मैनेजर हैं।


 

No comments:

Post a Comment

टाटा पावर ने भारत में ईवी-चार्जिंग के बुनियादी ढांचे को ऊर्जा प्रदान करने के लिए ह्युंदाई मोटर इंडिया के साथ की साझेदारी

राष्ट्रीय 17 मई 2022 : देश की एक सबसे बड़ी एकीकृत बिजली कंपनी और ईवी चार्जिंग की बुनियादी सुविधाएं प्रदान करने वाली अग्रणी कंपनी टाटा पावर ने...