Friday, July 2, 2021

क्लीन साइंस एंड टेक्नोलॉजी लिमिटेड का आईपीओ 7 जुलाई 2021 को खुलेगा

 

मुंबई, 2 जुलाई 2021: स्पेशियालिटी केमिकल्स बनाने वाली कंपनी क्लीन साइंस एंड टेक्नोलॉजी का आरंभिक सार्वजनिक निर्गम (‘’आईपीओ’’ / ’’ऑफर’’) 7  जुलाई 2021 को खुलेगा। कंपनी परफॉर्मेंस केमिकल्स (एमईएचक्यू, बीएचए, एपी), फार्मास्यूटिकल इंटरमीडिएट्स (जैसे गुआयाकोल औऱ डीसीसी) और एफएमसीजी केमिकल (जैसे 4-एमएपी और एनिसोल) जैसे फंक्शनिलिटी स्पेशयालिटी केमिकल्स (क्रियाशील विशेष रसायन) का उत्पादन करती है। कंपनी ने इस आईपीओ के तहत 880 से 900 रुपये प्रति शेयर का प्राइस बैंड तय किया है। निवेशक न्यूतनम 16 इक्विटी शेयरों और इसके गुणांक के लिए बोली लगा सकेंगे।

यह आईपीओ पूरी तरह से ऑफर फॉर सेल (ओएफएस) होगा, जिसके तहत 15,466.22 मिलियन रुपये तक के शेयरों की बिक्री की जाएगी, जिसमें अशोक रामनारायण बूब की तरफ से 2,440.16 मिलियन रूपये तक के शेयरों, कृष्णकुमार रामनारायण बूब की तरफ से कुल 1,930.59 मिलियन रुपये तक के शेयरों, सिद्धार्थ अशोक सीकची की तरफ से 405.05 मिलियन रूपये तक के शेयरों, पार्थ अशोक माहेश्वरी की तरफ से 759.83 मिलियन रूपये तक के शेयरों की बिक्री की जाएगी।

इसके अलावा इस ऑफर में आशा अशोक बूब की तरफ से कुल 2,440.16 मिलियन रूपये तक के शेयरों, अशोक कुमार रामकृष्ण सीकची एचयूएफ की तरफ से 1,360.51 मिलियन रुपये तक के शेयरों, कृष्णकुमार रामनारायण बूब एचयूएफ की तरफ से 415.51 मिलियन रूपये तक के शेयरों, अशोक रामनारायण बूब एचयूएफ की तरफ से 752.60 मिलियन रूपये तक के शेयरों, निधि मोहुंता की तरफ से 759.83 मिलियन रूपये तक के शेयरों, नीलिमा कृष्णकुमार बूब की तरफ से 840.77 मिलयन रूपये तक के शेयरों, शारदा कृष्णकुमार बूब की तरफ से  440.28 मिलियन रूपये तक के शेयरों, प्रसाद कृष्णकुमार बूब की तरफ से 440.28 मिलियन रुपये तक के शेयरों, पूजा विवेक नावंदर की तरफ से 440.28 मिलियन रूपये तक के शेयरों, आशा अशोक सीकची की तरफ से 1,141.38 मिलियन रुपये तक के शेयरों, कुणाल अशोक सीकची की तरफ से 310.54 मिलियन रुपये तक के शेयरों, अशोक सीकची की तरफ से 282.43 मिलियन रूपये तक के शेयरों, नंदिता सीकची की तरफ से 273.60 मिलियन रुपये तक के शेयरों, गणपति दादासाहेब यादव की तरफ से 32.42 मिलियन रुपये तक के शेयरों की बिक्री शामिल है। प्रत्येक इक्विटी शेयरों का फेस वैल्यू एक रुपये है।

यह ऑफर सिक्योरिटीज कॉन्ट्रैक्ट्स (रेग्युलेशंस) रुल्स, 1957 के नियम 19 (2) (बी) के तहत लाया जा रहा है, जो (‘’SCRR’’) के तौर पर संशोधित है और इसे सेबी आईसीडीआर रेग्युलेशंस के नियमन 31 और सेबी आईसीडीआर विनियमन के नियम (6) 1 के साथ मिलाकर पढ़ा जाना चाहिए, जिसके तहत ऑफर का 50% आनुपातिक आधार पर योग्य संस्थागत खरीदारों ("क्यूआईबी", "क्यूआईबी भाग") को आवंटित किया जाएगा, बशर्ते कंपनी बुक रनिंग लीड मैनेजर्स के परामर्श से, सेबी आईसीडीआर विनियमों ("एंकर निवेशक भाग") के अनुसार विवेकाधीन आधार पर एंकर निवेशकों को क्यूआईबी भाग का 60% तक आवंटित कर सकता है, जिसमें से एक तिहाई घरेलू म्युचुअल फंड के लिए आरक्षित होगा, जिसे घरेलू म्‍यूचुअल फंडों से एंकर निवेशक आवंटन कीमत पर या इससे उपर वैध बोली मिलना अनिवार्य है।

 

इसके अलावा, शुद्ध क्‍यूआइबी हिस्सेदारी का 5% (एंकर निवेशक भाग को छोड़कर) आनुपातिक आधार पर केवल म्यूचुअल फंड के आवंटन के लिए उपलब्ध होगा, और शेष क्‍यूआइबी हिस्सा सभी  (एंकर इन्वेस्टर इन्वेस्टर्स को छोड़कर) क्‍यूआइबी को आनुपातिक आधार पर आवंटन के लिए उपलब्ध होगा। इसमें म्यूचुअल फंड भी शामिल हैं और यह ऑफर मूल्य पर या उससे ऊपर प्राप्त होने वाली वैध बोलियों के अधीन होगा।

इसके अलावा, ऑफर का कम से कम 15% गैर-संस्थागत बोलीदाताओं को आनुपातिक आधार पर आवंटन के लिए उपलब्ध होगा और प्रस्ताव का कम से कम 35% हिस्सा सेबी आईसीडीआर नियमनों के मुताबिक खुदरा व्यक्तिगत बोलीदाताओं ("आरआईबी") के आवंटन के लिए उपलब्ध होगा, जो ऑफर मूल्य पर या उससे ऊपर प्राप्त होने वाली वैध बोलियों के अधीन होगा।

रेड हेरिंग प्रॉसपेक्ट्स के जरिए ऑफर किए जा रहे इक्विटी शेयरों का बीएसई और एनएसई में सूचीबद्ध होना प्रस्तावित है।

इस ऑफर के लिए ऐक्सिस कैपिटल लिमिटेड, जेएम फाइनेंशियल लिमिटेड और कोटक महिंद्रा कैपिटल कंपनी लिमिटेड बुक रनिंग लीड मैनेजर्स (‘’बीआरएलएम’’) हैं।

No comments:

Post a Comment

टाटा पावर ने भारत में ईवी-चार्जिंग के बुनियादी ढांचे को ऊर्जा प्रदान करने के लिए ह्युंदाई मोटर इंडिया के साथ की साझेदारी

राष्ट्रीय 17 मई 2022 : देश की एक सबसे बड़ी एकीकृत बिजली कंपनी और ईवी चार्जिंग की बुनियादी सुविधाएं प्रदान करने वाली अग्रणी कंपनी टाटा पावर ने...