Thursday, July 15, 2021

65 छात्रों को विदेश में पोस्ट ग्रेजुएशन की पढ़ाई के लिए मिली के.सी. महिन्द्रा स्काॅलरशिप

मुंबई, 15 जुलाई, 2021ः इस साल विदेश में पोस्ट ग्रेजुएशन की पढ़ाई के लिए 65 छात्रों को के.सी. महिन्द्रा छात्रवृत्ति दी गई है। कुल 1812 आवेदनकर्ताओं में से 106 उम्मीदवारों को साक्षात्कार के लिए चुना गया था, साक्षात्कार का आयोजन 6 जुलाई 2021 को हुआ। 

देश में साक्षरता एवं उच्च शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए 1953 में के.सी. महिन्द्रा एजुकेशन ट्रस्ट की स्थापना की गई थी। अब तक यह ट्रस्ट 103.5 मिलियन डाॅलर की छात्रवृत्ति, आजीविका प्रशिक्षण प्रोग्रामों, स्कूल के बाद ट्यूशन के लिए सहयोग एवं अन्य आर्थिक सहायता के माध्यम से 5,00,000 से अधिक योग्य एवं ज़रूरतमंद छात्रों के जीवन पर सकारात्मक प्रभाव उत्पन्न कर चुकी है। 

विदेश में पोस्ट ग्रेजुएशन की पढ़ाई के लिए के.सी. महिन्द्रा स्काॅलरशिप, ट्रस्ट द्वारा स्थापित पहली छात्रवृत्ति है, जो अब तक 1500 से अधिक छात्रों को दी जा चुकी है। 1956 के बाद से छात्रवृत्ति के तहत योग्य छात्रों को ब्याज रहित ऋण दिए जा रहे हैं। के.सी. महिन्द्रा छात्रवृत्ति की मदद से पढ़ाई पूरी करने वाले छात्र न केवल प्रतिष्ठित संस्थानों में शोध और अध्यापन कर रहे हैं, बल्कि बहुत से छात्र जाने-माने नेशनल एवं इंटरनेशनल बैंकिंग, कमर्शियल, फाइनैंशियल संस्थानों, मल्टीनेशनल काॅर्पोरेशन्स में कार्यरत है, उच्च गुणवत्ता की चिकित्सा एवं कानूनी सेवाएं उपलब्ध करा रहे हैं और उभरते क्षेत्रों जैसे आईटी, बायोटेक्नोलाॅजी, आधुनिक कम्प्यूटिंग जैसे मशीन लर्निंग, आर्टीफिशियल इंटेलीजेन्स और रोबोटिक्स में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन कर रहे हैं। 

इस साल छात्रवृत्ति प्राप्त करने वाले छात्र देश भर के विभिन्न शहरों से हैं जैसे अहमदाबाद, अलाप्पुझा, अनंतपुर, बैंगलुरू, भोपाल, चण्डीगढ़, चेन्नई, दिल्ली, धर्मशाला, फरीदाबाद, गुरूग्राम, ग्वालियर, गंुटूर, हाथरस, हैदराबाद, मुंबई, इंदौर, जयपुर, जोधपुर, कोलकाता, लखनऊ, मेडचल, नई दिल्ली, पटना, पुणे, उदुपी, वड़ोदरा और वाराणसी। 

चुने गए उम्मीदवारों में से 26 ग्रेजुएट्स आईआईटी संस्थानों से हैं और शेष छात्रों ने अन्य प्रमुख शैक्षणिक संस्थानों जैसे बीआईटीएस पिलानी, नेशनल लाॅ स्कूल आॅफ इंडिया, लेडी श्री राम काॅलेज, सेंट ज़ेवियर्स काॅलेज, सेंट स्टीफन्स काॅलेज और सर जे.जे. काॅलेज आॅफ आर्कीटेक्चर से ग्रुेजुएशन की पढ़ाई पूरी की है। इन उम्मीदवारों को विदेशों के सर्वोच्च रैंकिंग वाले संस्थानों एवं विश्वविद्यालयों जैसे हार्वर्ड युनिवर्सिटी, स्टैनफोर्ड युनिवर्सिटी, मैसाचुसेट्स इंस्टीट्यूट आॅफ टेक्नोलाॅजी, कार्नेज मैलन युनिवर्सिटी, युनिवर्सिटी आॅफ कैलिफोर्निया, बर्कले, जाॅर्जिया इन्सटीट्यूट आॅफ टेक्नोलाॅजी, युनिवर्सिटी आॅफ पैनसिल्वेनिया, लंदन बिज़नेस स्कूल, लंदन स्कूल आॅफ इकोनोमिक्स, युनिवर्सिटी आॅफ आॅक्सफोर्ड और युनिवर्सिटी आॅफ कैम्ब्रिज में एडमिशन मिला है। 

पहले स्थान पर रहे तीन छात्रों को रु 8-8 लाख की छात्रवृत्ति दी जाएगी और शेष सभी छात्रों को  रु 4-4 लाख की छात्रवृत्ति मिलेगी। भारत के सबसे प्रतिभाशाली छात्रों को उच्च शिक्षा उपलब्ध कराने के उद्देश्य से इस साल कुल रु 2.72 करोड़ की छात्रवृत्ति दी जा रही है। ये प्रतिभाशाली छात्र विभिन्न विषयों जैसे कम्प्यूटर साइन्स, इंजीनियरिंग, एमबीए, आर्कीटेक्चर, डिज़ाइन, लाॅ, पब्लिक पाॅलिसी, एजुकेशन और इकोनोमिक्स आदि विभिन्न विषयों में पोस्ट-ग्रेजुएशन की पढ़ाई करेंगे। 

चुनाव समिति में प्रख्यात दिग्गज-केशुब महिन्द्रा, चेयरमैन एमेरिटस, महिन्द्रा एण्ड महिन्द्र्रा लिमिटेड; आनंद महिन्द्रा, चेयरमैन महिन्द्रा ग्रुप; भारत दोषी, चेयरमैन, महिन्द्रा इंटरट्रेड लिमिटेड; उल्हास यारगोप, चेयरमैन, ब्रिस्टलकोन; डाॅ (श्रीमति) इंदु सहानी, प्रेज़ीडेन्ट एवं चेयरपर्सन- आईएसडीआई एवं आईएसएमई; रंजन पंत, सीईओ, अडवाइज़र, ग्लोबल स्टैªटेजी मैनेजमेन्ट कन्सलटेन्ट एवं चेंज मैनेजमेन्ट एक्सपर्ट; एम.एम. मुरूगप्पन, पूर्व चेयरमैन, मुरूगप्पा ग्रुप; लीना लब्रू, पार्टनर-नियाना; ऐश्वर्या रामाकृष्णन, हैड-स्टैªटेजी मार्केटिंग एवं आॅपरेटिंग एक्सीलेन्स, एफएएएस, महिन्द्रा एण्ड महिन्द्रा लिमिटेड, और श्रुति अग्रवाल, चेयरमैन की ईए, महिन्द्रा ग्रुप शामिल थे- जिन्होंने दो दिनों के दौरान चुने गए उम्मीदवारों का साक्षात्मकार लिया। 

छात्रवृत्ति प्रोग्राम के बारे में बात करते हुए आनंद महिन्द्रा चेयरमैन, महिन्द्रा ग्रुप ने कहा, ‘‘21वीं सदी में आ रहे बड़े बदलाव दुनिया को नया आयाम दे रहे हैं। चैथी ओद्यौगिक क्रान्ति के बाद और अभी हाल ही में महामारी के चलते उच्च शिक्षा में कई तरह की रूकावटें आ रही हैं। यह देखकर गर्व का अनुभव होता है कि केसीएमईट और महिन्द्रा योग्य एवं प्रतिभाशाली छात्रों को प्रतिष्ठित संस्थानों में उच्च शिक्षा प्राप्त करने के लिए आर्थिक सहयोग दे रहे हैं। इन छात्रों के उज्जवल भविष्य के निर्माण में मदद करना ही हमारा लक्ष्य है।’’ 

वड़ोदरा से छात्रवृत्ति पाने वाले एक उम्मीदवार मैत्रेय शाह, जो युनिवर्सिटी आॅफ पैनसिल्वेनिया में उच्च शिक्षा प्राप्त करने जा रहे हैं, उन्होंने कहा, ‘‘मुझे गर्व है कि मुझे इस साल केसी महिन्द्रा छात्रवृत्ति के पहले तीन उम्मीदवारों में चुना गया है। दशकों से समृद्ध धरोहर वाले स्काॅलर्स समुदाय में शामिल होते हुए मुझे आज बहुत गर्व का अनुभव हो रहा है। चुनाव प्रक्रिया बेहद रोचक किंतु मुश्किल थी, इसने मुझे देश के कुछ प्रतिभाशाली लोगांे से मिलने का अवसर दिया। मुझे उम्मीद है कि ट्रस्ट से मिले सहयोग से मैं अपनी क्षमता का सही उपयोग कर सकूंगा और विदेश में पढ़ाई का सपना साकार कर सकूंगा। आगे चलकर मैं दिव्यांग, लाॅ एवं टेक्नोलाॅजी के क्षेत्र में काम करना चाहता हूं। मैं ट्रस्ट के प्रति आभार व्यक्त करना चाहता हूं, जिन्होंने मुझे केसी महिन्द्रा छात्रवृत्ति के लिए चुना है।’’ 

छात्रवृत्ति पाने वाले एक और उम्मीदवार- धर्मशाला से जिज्ञासा लब्रू, जो हार्वर्ड ग्रेजुएट स्कूल आॅफ एजुकेशन में पढ़ाई करने जा रही हैं, उन्होंने कहा, ‘‘मुझे गर्व है कि मुझे साल 2021 के लिए केसी महिन्द्रा फैलो के रूप में चुना गया है। यह छात्रवृत्ति मेरे इस विश्वास को और मजबूत बनाती है कि युवाओं को विश्वस्तरीय विशेषज्ञता प्रदान कर उन्हें भारत की समस्याओं को हल करने में सक्षम बनाया जा सकता है। यह छात्रवृत्ति ऐसा करने में मेरे लिए मददगार साबित होगा। हार्वर्ड जाना मेरे लिए सिर्फ डिग्री हासिल करना नहीं है, यह अवसर मेरे जीवन में नए मार्ग प्रशस्त करेगा, मैं बच्चों की सुरक्षा को सुरक्षित करने के लिए काम करना चाहती हूं। इस छात्रवृत्ति ने मुझे ऐसा अवसर प्रदान किया है जो मेरे जीवन को पूरी तरह बदल देगा और केसी महिन्द्रा के सहयोग के बिना ऐसा संभव नहीं हो पाता।’’ 


No comments:

Post a Comment

जेकेके में महाकाव्य महाभारत पर आधारित नाटक 'उरूभंगम' का हुआ मंचन

जयपुर।  जवाहर कला केंद्र (जेकेके) के  रंगायन  में पाक्षिक नाट्य योजना के तहत रंग साधना थिएटर ग्रुप, जयपुर द्वारा शनिवार शाम को नाटक 'उरू...