Wednesday, July 7, 2021

एचडीएफसी म्युचुअल फंड द्वाराएचडीएफसी फ्लेक्सी कैप फंड के 26 वर्ष पूरा करने का जश्न मनाया गया, #वेल्थक्रिएशन कैम्पेन की शुरुआत की गई


 07 जुलाई 2021,एचडीएफसी का इन्वेस्टमेंट मैनेजरमई 31, 2021 तक प्रबंधन के अन्तर्गत 4।11 लाख करोड़ की पूंजी के साथ भारत के अग्रणी म्युचुअल फंड हाउसेज में से एकएचडीएफसी एसेट मैनेजमेंट कंपनी लिमिटेड के द्वारा एचडीएफसी फ्लेक्सी कैप फंड की यात्रा के 26 वर्ष पूरे होने पर #वेल्थक्रिएशन कैम्पेन की घोषणा की। एचडीएफसी फ्लेक्सी कैप फंड(भूतपूर्वएचडीएफसी इक्विटी फंड ) भारत के सबसे पुराने म्युचुअल फंड योजनाओं में से एक है जो बाजार चक्र में सत्यापित ट्रैक रिकॉर्ड के साथ ढाई दशकों से निवेशकों को सेवा प्रदान कर रहा है।

 

एचडीएफसी फ्लेक्सी कैप ने पूर्व में मार्केट मेल्टडाउन और मार्केट एक्सेस का सफलता पूर्वक नेविगेट किया जैसे – 2000 में इंफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी, 2007 में पावरइंफ्रास्ट्रक्चर और रियल एस्टेट, 2015 के बाद फार्मास्यूटिकल्स, 2018 के बाद मिडकैप्स इत्यादि। इन सभी मौकों परफंड ने इसके निवेश में अनुशासित दृष्टिकोण सहित व्यापार की स्थिरता और मूल्यांकन के बल पर कठिन बाजार परिस्थितियों का सफलतापूर्वक आकलन  किया ।

 

इसके द्वारा पूरी की गई 26 वर्ष की यात्रा मेंएचडीएफसी फ्लेक्सी कैप फंड अपनी पोर्टफोलियो के सक्रिय प्रबंधन द्वारा बाजार में चुनौती पूर्ण समय में भी अडिग रहते हुए अपने निवेशकों के लिए भारी संपत्ति अर्जित की है। फंड की शुरुआत में यानि कि 1 जनवरी 1995 को निवेश की गई 1,00,000 रूपये 31 मई 2021 को ~18।44% के  सीएजीआर पर बढ़कर ~87।60 लाख रूपये हो चुका होगा।

 

 

शुरुआत में फंड में की गई 10,000 की एसआईपी 31 मई, 2021 को बढ़कर 9।57 करोड़ रूपए हो गई होगी। 26 साल की इस अवधि ने ~5∆% का मार्केट करेक्शन देखा है। मजबूत व्यापारोंविविधीकरण और मूल्यांकन पर ध्यान केंद्रित करने वाले समय के साथ सही साबित होने वाले दृष्टिकोण ने फंड को इन सुधारों से मजबूती पूर्वक पार पाने में सक्षम बनाया। उस समय एनएवी 882 रूपये ( 24 जून, 2021 के अनुसार) थाइसका शुरुआत से अबतक ~18% प्रति वर्ष सीएजीआर में बदल जाना इस बात की गवाही देता है ् यह यात्रा यह भी दर्शाता है कि कैसे बड़ा निवेश +समय धैर्य = संपत्ति निर्माण होता है। नीचे इन सभी के संपूर्ण प्रदर्शन के विवरण को देखें।

 

केंद्रीय बजट का  विकास और पूंजीगत व्यय पर ध्यान केंद्रित करना एक नए निवेश चक्र और आय में वृद्धि के लिए शुभ संकेत है। आर्थिक गतिविधियों के खुलने के बाद आर्थिक रिकवरी मजबूत रही है, और राजकोषीय एवं मौद्रिक उपायों,  दबी हुई मांग इत्यादि द्वारा समर्थित उच्च आवृत्ति वाले गतिविधि संकेतक तेज गति से सामान्य हो रहे हैं। इसको देखते हुएअगले 3-5 साल अर्थव्यवस्था की दृष्टिकोण से भरोसेमंद दिखाई देता है

 

साथ हीजबकि कोविड 19 कई दूसरी लहर ने भारत को जकड़ लियापहली लहर की तुलना में दूसरी लहर का आर्थिक स्थिति पर दुष्प्रभाव कम देखने को मिलाक्योंकि सभी व्यापार कोविड प्रोटोकॉल के अंतर्गत काय करने के लिए बेहतर ढंग से तैयार थे। जैसा कि आर्थिक संकेतक से वक्तव्य के अनुसार जून 2021 में लॉकडाउन में सहूलियत और वैक्सीनेशन ड्राइव के बढ़ते लय के साथअर्थव्यवस्था सामान्य रूप में लौट रही है  और उनमें से बहुत सारे अब कोविड के पहले के स्तर के नजदीक या उससे ऊपर पहुँच चुके हैं।

 

एचडीएफसी एसेट मैनेजमेंट कंपनी लिमिटेड के एग्जीक्यूटिव डायरेक्टर व चीफ इंवेस्टमेंट ऑफिसर प्रशांत जैन ने कहा कि“एचडीएफसी फ्लेक्सी कैप फंड का पोर्टफोलियो मौजूदा आर्थिक पुनरुत्थान और कॉर्पोरेट प्रॉफिटेबिलिटी में सुधार की संभावना के लिए बेहतरीन स्थिति में है। विकास पर ध्यान केंद्रित करने वाले बजटपूंजी की कम लागत,  तर्कसंगत मूल्यांकन और मजबूत आय की दृष्टि से संचालित हमारा दृष्टिकोण बाजारों के ऊपर लंबी अवधि के लिए काफी सकारात्मक है।हालांकि मार्केट रैली काफी व्यापक आधार वाला बनता जा रहा हैलेकिन फिर भी कुछ ऐसे चुनिंदा पॉकेट हैं जिनका अभी भी उनके दीर्घकालिक औसत की तुलना में  मूल्यांकन काफी कम हुआ है।

 

एचडीएफसी फ्लेक्सी कैप फंड में बाजार के विभिन्न स्पेक्ट्रम अर्थात लार्जमिड और स्मॉल कैप शेयरों में निवेश करने का लचीलापन मौजूद है। यह फंड तर्कसंगत मूल्यांकन के साथ आय की रिकवरी की संभावना वाले सेक्टरों में ओवरवेट है और सामान्यतः महंगे  सेक्टरों  में यह अंडरवेट वाला है। इस फंड का लक्ष्य उन स्टॉक्स / सेक्टरों में निवेश करना है जो तर्कसंगत मूल्यांकन पर उपलब्ध हों।

 

पूर्व में किया गया प्रदर्शन भविष्य में कायम रह भी सकता है या नहीं भी रह सकता। एचडीएफसी एएमसी/एमएफ द्वारा योजना में निवेश पर किसी भी प्रकार के रिटर्न की गारंटी या आश्वासन नहीं दिया जा रहा है। सम्पूर्ण प्रदर्शन के लिए अगले पृष्ठ पर जाएं।

 


No comments:

Post a Comment

जेकेके में महाकाव्य महाभारत पर आधारित नाटक 'उरूभंगम' का हुआ मंचन

जयपुर।  जवाहर कला केंद्र (जेकेके) के  रंगायन  में पाक्षिक नाट्य योजना के तहत रंग साधना थिएटर ग्रुप, जयपुर द्वारा शनिवार शाम को नाटक 'उरू...