Friday, June 11, 2021

भारतपे ने पेबैक इंडिया के अधिग्रहण की घोषणा की

नई दिल्ली, 11 जून, 2021- व्यापारियों के लिए भारत की अग्रणी वित्तीय सेवा कंपनी भारतपे ने आज अमेरिकन एक्सप्रेस और आईसीआईसीआई इन्वेस्टमेंट्स स्ट्रेटेजिक फंड से पेबैक इंडिया के अधिग्रहण की घोषणा की। अधिग्रहण के लिए भुगतान की गई राशि का खुलासा नहीं किया गया है। भारतपे द्वारा किया जाने वाला यह पहला अधिग्रहण है और इसके बाद पेबैक इंडिया को भारतपे के पूर्ण स्वामित्व वाली सहायक कंपनी बना देगा। इस समय पेबैक इंडिया 100 मिलियन से अधिक सदस्यों के साथ देश का सबसे बड़ा मल्टी-ब्रांड लॉयल्टी प्रोग्राम है। पेबैक इंडिया का अधिग्रहण 2023 तक 20 मिलियन से अधिक छोटे व्यापारियों का एक मजबूत और कामकाजी नेटवर्क बनाने की भारतपे की रणनीति के अनुरूप है।

पेबैक इंडिया के साथ भारतपे मर्चेंट पार्टनर्स के लिए अपने मूल्य प्रस्ताव को और अधिक बढ़ाने में सक्षम होगा। इसके अतिरिक्तयह भारतपे को समस्त ग्राहकों के लिए आकर्षक आॅफर्स पेश करने में सक्षम बनाएगाजिससे व्यापारियों की संख्या में वृद्धि होगी और वे अपने कारोबार को और तेजी से आगे बढ़ा सकेंगे। अधिग्रहण के परिणामस्वरूपपेबैक इंडिया के सभी कर्मचारी भारतपे समूह का हिस्सा बन जाएंगे। इसके साथ ही भारतपे के ग्रुप प्रेसिडेंट सुहैल समीर और गौतम कौशिक के साथ भारतपे के जनरल काउंसल सुमीत सिंह अब पेबैक इंडिया के निदेशक मंडल में शामिल हो गए हैं।

पेबैक इंडिया में लीडरशिप टीम की भूमिका का विस्तार किया जाएगा और भारतपे के 60 लाख से अधिक व्यापारियों के लिए लॉयल्टी कार्यक्रम पर भी काम किया जाएगा। प्रमोद महंत और रिजिश राघवन की अगुआई वाली टीमपेबैक इंडिया का एक नया संस्करण बनाने के लिए भारत में वित्तीय सेवाओं और लाॅयल्टी इंडस्ट्री के एक प्रसिद्ध नाम गौतम कौशिक के साथ मिलकर काम करेगी। कंपनी (पेबैक इंडिया) अपने वर्तमान नाम के तहत काम करना जारी रखेगी और पेबैक इंडिया के साथ मौजूदा ग्राहक और साझेदार संबंधों पर किसी तरह का कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा। पेबैक इंडिया पूरे भारत में सभी ग्राहकों के लिए वैल्यू प्रदान करने के लिए पहल करना जारी रखेगा।

अधिग्रहण के बारे में जानकारी देते हुए भारतपे के को-फाउंडर और सीईओ श्री अशनीर ग्रोवर ने कहा, ‘‘हमने अपने प्रोडक्ट्स को इस तरह डिजाइन किया है ताकि हम देश मंे लाखों छोटे व्यापारियों और किराना स्टोर मालिकों के कारोबार को और मजबूत बना सकें। पेबैक इंडिया के अधिग्रहण के साथहम अपने मर्चेंट वैल्यू प्रस्ताव में एक नया आयाम जोड़ने में सक्षम होंगे। व्यापारियों को उनके व्यवसाय को बढ़ाने में मदद करने के लिए भारतपे द्वारा प्रदान किए जाने वाले भुगतान और क्रेडिट उत्पादों की श्रृंखला के अलावाहम पहले से अधिक उपभोक्ताओं को उनके स्टोर तक पहुंचाने में भी सक्षम होंगे। हम भारत के सबसे बड़े और सबसे व्यस्त मर्चेंट नेटवर्क के निर्माण के लिए प्रतिबद्ध हैं और यह अधिग्रहण इसी दिशा में एक गेम-चेंजर होगा। हम सोच-समझकर रणनीतिक साझेदारी और अधिग्रहण की दिशा में कदम बढ़ा रहे हैंऔर मानते हैं कि पेबैक इंडिया का यह अधिग्रहण दोनों कंपनियों के लिए अपने ब्रांड वादों को पूरा करने के लिए कामयाबी की दिशा में एक अहम फैसला है।’’

भारतपे के ग्रुप प्रेसिडेंट गौतम कौशिक ने कहा, ‘‘उपभोक्ता आज बहुत जागरूक हैंऔर सुविधा और मूल्य के आधार पर खरीदारी का फैसला करते हैं। हमारा लक्ष्य ऑफलाइन व्यापारियों को ग्राहकों को अतिरिक्त पुरस्कारकूपनया कैशबैक प्रदान करने की क्षमता के साथ सशक्त बनाना हैताकि बिक्री और ग्राहकों को आकर्षित किया जा सके। लॉयल्टी कार्यक्रमों में पेबैक अग्रणी है और हमारे व्यापारियों के लिए मूल्य बढ़ाने के साथ-साथ 100 मिलियन से अधिक के एक बहुत बड़े ग्राहक आधार के लिए कई आॅफर्स हैं। हम पेबैक इंडिया टीम के साथ साझेदारी करने को लेकर बहुत उत्साहित हैं और हमें यकीन है कि संयुक्त रूप से मिलकर हम एक बहुत ही आकर्षक पेमेंट प्लस रिवार्ड फ्रैंचाइजी बनाने में सफल रहेंगे।’’

पेबैक ग्लोबल के सीएफओ मार्कस नॉर कहते हैं, ‘‘हमने इस बात को सर्वोच्च प्राथमिकता दी है कि सफल पेबैक इंडिया कार्यक्रम के सदस्यों के लिए कोई बदलाव नहीं होगा और उनके लिए विशिष्ट ग्राहक अनुभव को भी कायम रखा जाएगा। उपयोगकर्ता ऑफलाइन और ऑनलाइन खरीदारी करते समय अंक एकत्र कर सकते हैं और हमेशा की तरह विशेष ऑफर से लाभ उठा सकते हैंबल्कि अब उन्हें भारतपे के साथ और अधिक व्यापारियों से लाभ उठाने का अवसर मिलेगा। हम आश्वस्त हैं कि ग्राहकों के लिए शानदार पेबैक मूल्य की गारंटी स्थायी रूप से रहेगी और नए ऑपरेटर के रूप में भारतपे के साथ भी यह सुविधा लंबी अवधि तक कायम रहेगी।’’

पेबैक इंडिया को 2010 में लॉन्च किया गया था और इसमें 100 से अधिक ऑफलाइन और ऑनलाइन पार्टनर्स का नेटवर्क है। यह अपने ग्राहकों को अपने पार्टनर मर्चेंट आउटलेट पर प्रत्येक लेनदेन पर पाॅइंट्स अर्जित करने और इन्हें रिडीम करने की सुविधा प्रदान करता है।

No comments:

Post a Comment

अजय पीरामल को ब्रिटेन की महारानी ने प्रदान किया मानद ब्रिटिश पुरस्कार

पीरामल ग्रुप के चेयरमैन अजय गोपीकिषन पीरामल को ब्रिटेन की महारानी ने मानद कमांडर ऑफ द ऑर्डर ऑफ द ब्रिटिश एम्पायर (सीबीई) से सम्मानित किया है...