Friday, June 11, 2021

मेडिकल ऑक्सीजन के तेजी से वितरण के लिए आईसीआईसीआई सिक्योरिटीज और आईआईटी कानपुर ने मिलाया हाथ

11 जून 2021, कानपुर, यूपी- स्टार्टअप इनक्यूबेशन एंड इनोवेशन सेंटर (एसआईआईसी), आईआईटी कानपुर ने आज कहा कि उसने स्वदेश में ही बड़े पैमाने पर ऑक्सीजन कंसट्रेटर के विनिर्माण का समर्थन करने के लिए मिशन भारत ओ2 (एमबीओ2) के लिए भारत की अग्रणी वित्तीय सेवा कंपनी आईसीआईसीआई सिक्योरिटीज से धन जुटाया है। इस प्रोजेक्ट के साथ एसआईआईसी आईआईटी, कानपुर का उद्देश्य भारतीय स्वास्थ्य सेवा से संबंधित मैन्यूफेक्चरिंग ईकोसिस्टम को आत्मनिर्भर बनाना है।

मिशन भारत व्2 भारत में एक आत्मनिर्भर स्वास्थ्य प्रणाली की सहायता करने के लिए एसआईआईसी के व्यापक दृष्टिकोण की दिशा में एक कदम है। इस प्रोजेक्ट का नेतृत्व प्रो अमिताभ बंद्योपाध्याय, प्रोफेसर प्रभारी, इनोवेशन एंड इनक्यूबेशन, आईआईटी कानपुर, श्रीकांत शास्त्री, निदेशक, एफआईआरएस्टी-आईआईटीके और चेयरमैन, आई3जी एडवाइजरी नेटवर्क, और राहुल पटेल, हैड आॅफ स्ट्रेटेजिक इनिशिएटिव्स एसआईआईसी, आईआईटी कानपुर करेंगे। यह प्रोजेक्ट बड़े पैमाने पर ऑक्सीजन कंसट्रेटर को विकसित करने के लिए स्थानीय निर्माताओं को सपोर्ट करेगा। तेजी से उत्पाद विकास, केंद्रीकृत सोर्सिंग और विकेंद्रीकृत विनिर्माण - तीन आयामी दृष्टिकोण के माध्यम से परियोजना का उद्देश्य कोविड-19 महामारी से निपटने के लिए देश की आपातकालीन प्रतिक्रिया के रूप में 20,000 स्वदेशी और उच्च गुणवत्ता वाले ऑक्सीजन कंसट्रेटर और ऑक्सीजन संयंत्र वितरित करना है। एमबीओ2 के माध्यम से, एफआईआरएसटी का उद्देश्य विकेन्द्रीकृत विनिर्माण पॉकेट बनाना है जहां भारतीय निर्माता तेजी से ऑक्सीजन कंसट्रेटर विकसित करेंगे।

आईसीआईसीआई सिक्योरिटीज ने हमेशा देशभर में दीर्घकालिक विकास पहल की दिशा में योगदान देने का प्रयास किया है। कॉरपोरेट सोशल रिस्पॉन्सिबिलिटी (सीएसआर) के तहत कंपनी के प्रयास विभिन्न पहलों के माध्यम से राष्ट्र निर्माण के प्रति गहरी प्रतिबद्धता दिखाते हैं। महामारी से लड़ने में देश की मदद करने के लिए, आईसीआईसीआई सिक्योरिटीज ने 2020 में आईआईटी कानपुर के साथ हाथ मिलाया था, ताकि लोगों की जान बचाने के लिए किफायती, स्वदेशी वेंटिलेटर विकसित किए जा सकें।

ऑक्सीजन कंसट्रेटर की लागत तुलनात्मक रूप से आयातित उत्पादों की तुलना में कम से कम 40 प्रतिशत कम है। एसआईआईसी ने पहले ही 70 से अधिक प्रतिभागियों में से आठ मेन्यूफेक्चरिंग पार्टनर्स का चयन किया है, जिन्होंने इस स्वदेशी ऑक्सीजन संयंत्र और ऑक्सीजन कंसट्रेटर के निर्माण के लिए प्रतिस्पर्धा की थी। प्रोडक्ट की टेस्टिंग पूरी हो चुकी है और 20 जून 2021 तक प्रति निर्माता प्रति दिन 100 यूनिट के निर्माण का लक्ष्य हासिल होने की उम्मीद है।

एसआईआईसी के वोकल फाॅर लोकल विजन पर टिप्पणी करते हुए, प्रो. अमिताभ बंद्योपाध्याय कहते हैं, ‘‘आईआईटी कानपुर में एसआईआईसी टीम का लक्ष्य अत्याधुनिक अनुसंधान और विकास का समर्थन करके देश को एक मेन्यूफेक्चरिंग हब में बदलना है। देश में कोविड-19 महामारी के फैलने के बाद से हमारी इनक्यूबेटेड कंपनियों ने बहुत योगदान दिया है। हम स्थानीय निर्माताओं का एक गठजोड़ बनाने के लिए एक कदम और आगे बढ़ना चाहते हैं जो भारत को वैश्विक विनिर्माण केंद्रों के मानचित्र पर लाएंगे। आईसीआईसीआई सिक्योरिटीज का समर्थन इस दिशा में एक बहुत ही आवश्यक योगदान है।’’

एक प्रतिष्ठित फंडिंग पार्टनर के रूप में, आईसीआईसीआई सिक्योरिटीज का उदार समर्थन मिशन भारत ओ 2 के कुशल निष्पादन की दिशा में एसआईआईसी के प्रयासों को आगे बढ़ाएगा।

आईसीआईसीआई सिक्योरिटीज के एमडी और सीईओ श्री विजय चंडोक ने कहा, ‘‘समय पर और किफायती स्वास्थ्य सुविधाएं प्रदान करना वर्तमान दौर की एक बहुत बड़ी आवश्यकता है। आईसीआईसीआई सिक्योरिटीज को इस महत्वपूर्ण परियोजना के लिए इस साल भी आईआईटी कानपुर के साथ हमारी सीएसआर साझेदारी का विस्तार करने के लिए सम्मानित किया गया है, जो किफायती और उच्च गुणवत्ता वाले आॅक्सीजन कंसट्रेटर उपलब्ध कराते हुए मरीजों से लेकर निर्माताओं तक यानी स्वास्थ्य देखभाल से जुड़े ईकोसिस्टम में सभी कंपनियों और लोगों की मदद करेगा। हम विभिन्न कंपनियों को एक बड़े सामाजिक उद्देश्य के लिए एक साथ लाकर जीवन रक्षक चिकित्सा उपकरणों के निर्माण की दिशा में भारत को एक आत्मनिर्भर राष्ट्र बनाने के दृष्टिकोण के साथ आगे बढ़ रहे हैं।’’

No comments:

Post a Comment

श्री कृष्ण बलराम मंदिर में नरसिंह चतुर्दशी महोत्सव मनाया गया

जयपुर  |  हरे कृष्ण मूवमेंट जयपुर के जगतपुरा स्थित श्रीकृष्ण बलराम मंदिर में नरसिंह चतुर्दशी महोत्सव मनाया गया। इस मौके पर मंदिर अध्यक्ष अमि...