Tuesday, June 22, 2021

वेदांता द्वारा कोविड रोगियों के लिये 15 लाख लीटर से अधिक ऑक्सीजन की आपूर्ति

नई दिल्ली/मुंबई, 22 जून। भारत में माइनिंग एवं आॅयल एवं गैस के प्रमुख उत्पादक वेदांता  कोविड-19 की दूसरी लहर से राहत एवं बचाव के लिये सरकार के सहयोग के लिये तत्पर है। कंपनी ने अब तक अस्पतालों को 15 लाख लीटर से अधिक ऑक्सीजन की आपूर्ति की है ताकि केंद्र और राज्यों को देश के कई हिस्सों में आॅक्सीजन की कमी को पूरा किया जा सके। 

वेदांत केयर्स पहल के हिस्से के रूप में, कंपनी ने देश में 21 अस्पतालों में 1,410 क्रिटिकल केयर बेड स्थापित किए हैं, ताकि रोगियों, विशेष रूप से जरूरतमंद लोगों की मदद की जा सके। वेदांता ने 502 आॅक्सीजन कंसंट्रेटर और स्वास्थ्य एवं सामुदायिक कार्यकर्ताओं की सुरक्षा के लिए 10,500 से अधिक पीपीई किट की आपूर्ति की है।

महामारी के दूसरे चरण के दौरान, वेदांता ने 516 गांवों में अपनी सीएसआर पहल का विस्तार कर देश भर में लगभग 4.5 लाख लोगों को लाभान्वित किया है।

वेदांता समूह के सीईओ सुनील दुग्गल ने कहा कि “हम सरकार के प्रयासों को पूरा करने और महामारी से प्रभावित समुदाय के सहयोग हेतु प्रतिबद्ध हैं। हमने आॅक्सीजन की पर्याप्त आपूर्ति को सुनिश्चित करने के लिये विशेष संयंत्र स्थापित करने, ऑक्सीजन सिलेंडर और पोर्टेबल वेंटिलेटर उपलब्ध कराएं है। हम तीसरी लहर की संभावना को देखते हुए पहले से ही सभी प्रकार के सुरक्षात्मक उपाय कर रहे है। राहत प्रयासों के लिये हम हर संभव मदद के लिये तैयार है। 

वेदांता की इकाइ हिंदुस्तान जिंक, ईएसएल और सेसा गोवा आयरन ओर वेदांता केयर पहल के तहत कोविड -19 रोगियों को ऑक्सीजन की आपूर्ति बढ़ा रही है। वेदांता एल्युमिनियम की लांजीगढ़ इकाई, हिन्दुस्तान जिं़क और इलेक्ट्रोस्टील ऑक्सीजन को आसानी से उपलब्ध कराने के लिए विशेष ऑक्सीजन संयंत्र स्थापित किये हैं। हिन्दुस्तान जिं़क 240 मीट्रिक टन और इएसएल ने 490 मीट्रिक टन आॅक्सीजन संयंत्र और सिलेंडर के माध्यम से उपलब्ध करायी  है। वेदांता सेसा गोवा आयरन ओर बिजनेस ने अमोना में वैल्यू एडेड बिजनेस (वीएबी) से प्रति दिन 3 टन लिक्विड ऑक्सीजन प्रदान की है। 

देश की सबसे बड़ी ऑक्सीजन सुविधाओं में से एक स्टरलाइट कॉपर, के तूतीकोरिन ने बढ़ती मांग को पूरा करने के लिए अपनी इकाइयों से कुल 1000 मीट्रिक टन से अधिक ऑक्सीजन की आपूर्ति की है।

बोकारो के उप खंड अधिकारी शशि प्रकाश सिंह ने कहा कि “वेदांता ईएसएल ने हमें कोरोनोवायरस से लड़ने के लिए ऑक्सीजन कंसंट्रेटर, मास्क, चिकित्सा उपकरणों को उपलब्ध करा सहयोग किया है। साथ ही मेडिकल ऑक्सीजन की भी आपूर्ति की हैं। कंपनी के लगातार प्रयासों और सहयोग से यहां के समुदायों के बेहतर स्वास्थ्य को सुनिश्चित करने में प्रशासन की मदद की है।”

झारसुगुडा जिले के सीडीएम और पीएचओ डॉ लाल मोहन राउतरे ने कहा कि 

“वेदांता हमेशा जिला प्रशासन और झारसुगुडा के लोगों के साथ कोविड महामारी के खिलाफ लड़ाई में खड़ा रहा है। जिला कोविड अस्पताल के संचालन में उनका सहयोग महत्वपूर्ण है। बेड, वेंटिलेटर, दवाओं, ऑक्सीजन सिलेंडर, एम्बुलेंस की व्यवस्था से लेकर पूर्णकालिक समर्पित डीजी तक हमारे लोगों के जीवन को बचाने में अत्यंत महत्वपूर्ण है। हम इस लड़ाई में एक साथ खड़े हैं।

स्थानीय समुदायों के सहयोग के लिए, वेदांता अपने संचालन क्षेत्र के आस पास चिकित्सा सुविधाएं, कोविड केयर सेंटर, टीकाकरण और क्रिटीकल केयर के लिए वेंटिलेटर, आईसीयू बेड आदि चिकित्सा उपकरण उपलब्ध करा रहा हैं। वेदांता ने देश भर में प्रभावित समुदायों को सहायता के लिये अत्याधुनिक कोविड देखभाल सुविधाओं की स्थापना की है। कंपनी अब तक 84,000 से अधिक कर्मचारियों, व्यावसायिक भागीदारों और परिवार के सदस्यों का टीकाकरण कर चुकी है।


No comments:

Post a Comment

टाटा पावर ने भारत में ईवी-चार्जिंग के बुनियादी ढांचे को ऊर्जा प्रदान करने के लिए ह्युंदाई मोटर इंडिया के साथ की साझेदारी

राष्ट्रीय 17 मई 2022 : देश की एक सबसे बड़ी एकीकृत बिजली कंपनी और ईवी चार्जिंग की बुनियादी सुविधाएं प्रदान करने वाली अग्रणी कंपनी टाटा पावर ने...