Tuesday, May 18, 2021

स्पाइस मनी ने भारत के सबसे आखिरी गांव, हिमाचल प्रदेश के चितकुल में शुरू की पहली एटीएम सेवाएं

मुंबईमई 18, 2021:  भारत की अग्रणी ग्रामीण फिनटेक कंपनी स्पाइस मनी ने भारत के सबसे आखिरी गांवहिमाचल प्रदेश के चितकुल में वित्तीय सेवाएं शुरू की हैंइस गांव में आज तक एटीएम सुविधा नहीं थीवहां स्पाइस मनी ने मिनी-एटीएम सेवाएं शुरू की हैं। चितकुल गांव में केवल दो किराना दुकानें हैंउसमें से एक को कंपनी ने स्पाइस मनी 'डिजिटल दुकानबनाया है। गांव वालों और यहां आने वाले पर्यटकों को इस स्पाइस मनी डिजिटल दुकान में कॅश-इन कॅश-आउट सेवाएं मिलेंगी। वित्तीय समावेशन और भारत में एटीएम नेटवर्क को मज़बूत करने के स्पाइस मनी के लक्ष्य को पूरा करने की दृष्टि से कंपनी ने यह कदम उठाया हैजिसमें पिछले कुछ सालों में चौंका देने वाला विकास हुआ है।                                        

शहरी भागदौड़ से दूरहिमाचल प्रदेश के किन्नौर-कैलाश क्षेत्र में बसा है एक बेहद खूबसूरत गांव चितकुलजहां की आबादी मात्र 900 के करीब हैंसाथ ही 20-25 हॉलिडे रिसॉर्ट्स भी हैं जो यहां आने वाले भारतीय और विदेशी सैलानियों की खातिरदारी करते हैं।  चितकुल से सबसे नज़दीक एटीएम 25 किमी दूर सांगला में हैइंटरनेट कनेक्टिविटी ख़राब होने की वजह से इ-बैंकिंग सेवाएं भी उपलब्ध नहीं हो पाती। ज़ाहिर सी बात है कि यह गांव पिछले कई सालों से नकद और भुगतान सेवाओं में चुनौतियों का सामना कर रहा हैजिससे काफी असुविधाएं होती हैं और गांव का आर्थिक विकास बुरी तरह से प्रभावित होता आ रहा है। स्पाइस मनी ने अपनी डिजिटली सक्षम वित्तीय सेवाओं के साथ इस समस्या का समाधान ढूंढा हैउन्होंने यहां के किराना दुकान के मालिक को स्पाइस मनी अधिकारी बनाकरकिसी भी लागत के बिना उनकी डिजिटल दुकान शुरू की है। अब यह डिजिटल दुकान नकद निकासी और जमा यह बुनियादी सेवाएं प्रदान करने वाले एटीएम केंद्र के रूप में कार्य करता है। स्पाइस मनी मिनी एटीएम में सभी प्रमुख बैंकों के डेबिट और क्रेडिट कार्ड स्वीकार किए जाते हैं।

स्पाइस मनी के सीईओ श्री संजीव कुमार ने बताया"ग्रामीण भारत में नकदी अर्थव्यवस्था चली आ रही है लेकिन एटीएम और बुनियादी बैंकिंग सेवाएं न होने की वजह से गावों में नकद की कमी काफी महसूस होती है। स्पाइस मनी में हमारा उद्देश्य है कि भारत के दूरदराज़ कोने के सबसे छोटे गावों और शहरों को सशक्त बनाया जाएं और वहां एटीएम सेवाएं शुरू की जाएं। चितकुल में मिनी एटीएम सेवा को शुरू करना देश में एटीएम बुनियादी सेवाओं को बेहतर बनाने की दिशा में उठाया गया एक कदम है। इस तरह हम भारत में सबसे बड़ा एटीएम नेटवर्क निर्माण करने के हमारे लक्ष्य की ओर आगे बढ़ते जा रहे हैं। चितकुल के निवासियों और यहां आने वाले सैलानियों को नकद पाने के लिए कई कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है। हमें पूरा विश्वास है कि स्पाइस मनी ने शुरू की हुई पहली डिजिटल दुकान की वजह से उनकी यह समस्याएं अब हमेशा के लिए समाप्त हो जाएंगी।"

मिनी एटीएम सेवाएंभुगतानपर्यटन और यात्रा सेवाएं प्रदान करने के लिए और ज़्यादा वितरकों को अपने साथ जोड़कर हिमाचल प्रदेश के किन्नौर जिले में स्पाइस मनी अधिकारी नेटवर्क के विस्तार की योजना स्पाइस मनी ने बनायी है।  वर्तमान में, 5,00,000 से अधिक अधिकारी (व्यापारी / उद्यमी) स्पाइस मनी नेटवर्क में शामिल हैं और उनमें से लगभग 90% अर्ध शहरी और ग्रामीण भारत में मौजूद हैं। इस नेटवर्क के साथस्पाइस मनी भारत में 18,000 से ज़्यादा पिन कोड्स, 700 से ज़्यादा जिलों और 5000 से ज़्यादा ब्लॉक्स को सेवाएं प्रदान कर रहा है।

स्पाइस मनी 

स्पाइस मनी भारत की अग्रणी ग्रामीण फिनटेक कंपनी है जिसमें 500,000 से ज़्यादा अधिकारी (उद्यमी) नकद जमाआधार द्वारा सक्षम नकद निकासीमिनी एटीएमबीमाऋणबिल भुगतान,  ग्राहकों/ एजेंटों/एनबीएफसी/बैंकों के लिए कॅश कलेक्शन सेंटररिचार्जपर्यटन और यात्राऑनलाइन शॉपिंगपैन कार्ड और एमपीओएस सेवाएं प्रदान करते हैं। उनका 90% से अधिक नेटवर्क अर्ध-शहरी और ग्रामीण भारत में मौजूद है। स्पाइस मनी ऐप (अधिकारी ऐप) और वेब पोर्टल के माध्यम से स्पाइस मनी सेवाओं का लाभ उठाया जा सकता है। यूज़र्स के इस्तेमाल के लिए बहुत ही आसान इंटरफेस और बेहतर प्रौद्योगिकी प्लेटफॉर्म से इस ऐप को गूगल प्ले स्टोर पर 4.4 स्टार रेटिंग मिला हैजो इस उद्योग में सर्वश्रेष्ठ है। स्पाइस मनी अपनी अत्याधुनिक तकनीक और स्पाइस मनी अधिकारीयों के विस्तृत नेटवर्क के माध्यम सेभारत भर के दूरदराज़ इलाकों में बसे हुए लोगों को विभिन्न वित्तीय सेवाओं को प्राप्त करने में आने वाली समस्याओं को दूर कर रहा है।  

अधिक जानकारी के लिए कृपया https://spicemoney.com पर जाएं।

 

No comments:

Post a Comment

मंगलयान और चंद्रयान ने दिखाए बच्चों को अंतरिक्ष तक पहुंचने के सपने

-जेईसीआरसी यूनिवर्सिटी में हुआ तीन दिवसीय इसरो एग्जिबिशन का समापन - प्रिंसिपल मीट का हुआ आयोजन  जयपुर। जेईसीआरसी यूनिवर्सिटी में तीन दिवसीय ...