Saturday, May 8, 2021

जेबी केमिकल्स एंड फार्मास्युटिकल्स लिमिटेड (जेबीसीपीएल) का भारत मंं नेफ्रोलॉजी क्षेत्र में प्रवेश

मुंबई, भारत 08 मई 2021: जेबी केमिकल्स एंड फार्मास्युटिकल्स लिमिटेड, भारत में सबसे तेजी से बढ़ती फार्मास्युटिकल कंपनियों में से एक और उच्च रक्तचाप (हाइपरटेंशन) में अग्रणी कंपनी ने नेफ्रोलॉजी के क्षेत्र में प्रवेश करने की घोषणा की है। गंभीर किडनी बिमारियों पर इलाज ले रहे मरीज़ों की सेवा के लिए कंपनी ने "रेनोवा" यह नया, समर्पित डिवीज़न शुरू किया है।

नया डिवीज़न किडनी की गंभीर बिमारियों में व्यापक देखभाल पर ध्यान केंद्रित करेगा। किडनी की गंभीर बिमारियों में उच्च रक्तचाप (हाइपरटेंशन) के प्रबंधन से लेकर गुर्दे की आखरी स्टेज पर पहुंच चुकी बीमारी तक व्यापक देखभाल के लिए यह डिवीज़न प्रयासशील रहेगा।  सिलाकर® (Cilacar®) और निकार्डिया® (Nicardia®) जैसे ब्रांड्स लाकर उच्च रक्तचाप (हाइपरटेंशन) क्षेत्र की अग्रसर कंपनियों में स्थान हासिल करने के बाद अब जेबीसीपीएल ने किडनी की गंभीर बिमारियों से पीड़ित मरीज़ों की मदद करने पर भी ध्यान केंद्रित करना शुरू किया है।

किडनी की गंभीर बीमारी (क्रोनिक किडनी डिजीज - सीकेडी) दुनिया भर में होने वाली मौतों के प्रमुख कारणों में से एक है। 2015 की ग्लोबल डिसीज बर्डन रिपोर्ट के अनुसार सीकेडी को मृत्यु के सबसे सामान्य कारणों में से एक माना गया है। पिछले दस सालों में मृत्यु दर में 37.1% से बढ़ा है। भारत में, सीकेडी के बोझ का सही तरीके से आकलन नहीं किया गया है, लेकिन यह अनुमान लगाया गया है कि हर एक मिलियन (दस लाख) आबादी में सीकेडी के 800 रोगी हैं  और अंतिम चरण के गुर्दे की बीमारी से पीड़ित रोगियों की संख्या हर एक मिलियन आबादी में  150-200 रोगी है। दुर्भाग्य से, इनमें से काफी कम सीकेडी मरीज़ नेफ्रोलॉजिस्ट के पास जा पाते हैं और ज्यादातर मरीज़ बीमारी बहुत ज़्यादा बढ़ने पर, आखरी चरण में डॉक्टर के पास जाते हैं। इसलिए, इस क्षेत्र में विशेष ध्यान केंद्रित करने की आवश्यकता है।

जे. बी. केमिकल्स एंड फार्मास्युटिकल्स लिमिटेड के सीईओ और पूर्णकालिक निदेशक श्री. निखिल चोपड़ा ने बताया, "उच्च रक्तचाप (हाइपरटेंशन) क्षेत्र में अग्रसर कंपनियों में से एक कंपनी के रूप में काम करते हुए हमने देखा कि किडनी की गंभीर बिमारियों की समस्या देश में बढ़ती जा रही है और मरीज़ों की संख्या भारी मात्रा में बढ़ती जा रही है। सीकेडी से जुड़े उच्च रक्तचाप (हाइपरटेंशन) के मामले बढ़ रहे हैं और हमें विश्वास है कि यह पहल हमें सीकेडी रोगियों की बढ़ती जरूरतों को पूरा करने में सक्षम बनाएगी।”   

उन्होंने आगे कहा, "जेबीसीपीएल मरीजों की जरूरतों को पूरा करने के लिए प्रतिबद्ध है और विशेष नेफ्रोलॉजी डिवीज़न की शुरूआत करके हमने हमारी प्रतिबद्धता को पूरा करने की दिशा में आगे कदम बढ़ाया है। डिवीज़न शुरू करने के अलावा, हम सीकेडी के बारे में जागरूकता पैदा करना जारी रखेंगे और मरीजों को जल्द से जल्द चिकित्सकों के पास जाने में सक्षम बनाएंगे।”

नए डिवीज़न और रोगी-केंद्रित कार्यक्रमों की शुरुआत के साथ, जेबीसीपीएल सीकेडी के मरीज़ों की चिकित्सा जरूरतों को पूरा करने में मदद कर सकता है। इस डिवीज़न के शुरू होने से नेफ्रोलॉजिस्ट और चिकित्सक भी उनके मरीज़ों को विभिन्न उपचार विकल्प प्रदान कर सकेंगे, जिससे इन रोगियों की जीवन की गुणवत्ता में सुधार होगा। सीकेडी रोगियों को बीमारी के हर स्टेज में व्यापक सहायता देने के अपने उद्देश्य को पूरा करने के लिए जेबीसीपीएल इस डिवीज़न के तहत उत्पादों को लॉन्च करना जारी रखेगा।

 

No comments:

Post a Comment

जेके सीमेंट लिमिटेड ने मध्य भारत में अपनी उत्पादन क्षमता का किया विस्तार - उज्जैन, मध्य प्रदेश में आगामी ग्राइंडिंग यूनिट की आधारशिला रखी

उज्जैन, 05 दिसम्बर 2022: जेके सीमेंट लिमिटेड भारत में ग्रे सीमेंट के अग्रणी निर्माताओं और दुनिया के सबसे बड़े व्हाइट सीमेंट निर्माताओं में स...