Wednesday, May 12, 2021

एचएफसीएल ने 31 मार्च, 2021 को समाप्त चैथी तिमाही और वर्ष के वित्तीय परिणाम घोषित किए

नई दिल्ली12 मई2021हाई-एंड टेलीकाॅम इक्विपमेंटआॅप्टिकल फाइबर और आॅप्टिकल फाइबर केबल का निर्माण करने वाली कंपनी और दूरसंचार सेवा प्रदाताओंरेलवेरक्षा और स्मार्ट शहरों और निगरानी परियोजनाओं के लिए संचार नेटवर्क बनाने वाले भारत के प्रमुख टैक्नोलाॅजी एंटरप्राइज एचएफसीएल ने 31 मार्च2021 को समाप्त चैथी तिमाही और वर्ष के लिए लेखापरीक्षित वित्तीय परिणाम घोषित कर दिए हैं।

समेकित वित्तीय हाईलाइट्सः-

Particulars

Q4 FY21

Rs. in Crs

Q3 FY21

Rs. in Crs

Change Q-o-Q

Revenue

1391.40

1,277.48

8.9%

EBIDTA

187.77

176.87

6.1%

EBIDTA Margin (%)

13.49%

13.85%

-36 Bps

PAT

86.47

85.11

1.6%

PAT Margin (%)

6.21%

6.66%

-45 Bps

 

Particulars

FY21

Rs. in Crs

FY20

Rs. in Crs

Change Y-o-Y

Revenue

4422.96

3838.91

15.2%

EBIDTA

585.71

516.17

13.5%

EBIDTA Margin (%)

13.24%

13.45%

-21Bps

PAT

246.24

237.33

3.8%

PAT Margin (%)

5.57%

6.18%

-61Bps

स्टैंडअलोन आधार परकंपनी का तिमाही राजस्व  1,276.94 करोड़ईबीआईडीटीए  165.16 करोड़पीबीटी   109.25 करोड़टैक्स  26.75 करोड़ और पीएटी  82.50 करोड़ रहा।

 

31 मार्च2021 को समाप्त हुए वित्तीय वर्ष के लिए स्टैंडअलोन आधार पर कंपनी ने  4,105.87 करोड़ का राजस्व 501.84 करोड़ का ईबीआईडीटीए 295.87 करोड़ का पीबीटी 73.01 करोड़ का टैक्स और  222.86 करोड़ का पीएटी दर्ज किया।

कंपनी के निदेशक मंडल ने वित्तीय वर्ष 2020-21 के लिए 1 के फेस वैल्यू वाले प्रत्येक इक्विटी शेयर के लिए 15 फीसदी यानी  0.15 का डिविडेंड अदा करने की अनुशंसा भी की है।

कंपनी की परफाॅर्मेंस के बारे में टिप्पणी करते हुए एचएफसीएल के मैनेजिंग डायरेक्टर महेन्द्र नाहटा कहते हैं, ‘‘हम अपने निरंतर प्रयासों के साथ लगातार विकास की राह पर आगे बढ़ते हुए खुशी का अनुभव कर रहे हैंजैसा कि टाॅपलाइन ग्रोथ में तेजी और निरंतर मार्जिन और लाभप्रदता में सुधार से भी नजर आता है। महामारी की चुनौतियों के बीच विकास को आगे बढ़ाने के साहस और हमारे ग्राहकों के ठोस विश्वास के कारण हम कामयाबी को संभव बना सके हैं। हमारे पास आकर्षक योजनाओं के साथ   6,875 करोड़ की एक मजबूत ऑर्डरबुक है। कंपनी का जोर अपने स्वयं के आरएंडडी द्वारा नई जनरेशन के दूरसंचार और रक्षा उत्पादों को डिजाइन करने और विकसित करने पर हैक्योंकि हमें दूरसंचाररेलवे और रक्षा जैसे उद्योगों में आशाजनक अवसर नजर आ रहे हैं।’’

कंपनी का दृष्टिकोण बहुत ही आशावादी हैक्योंकि हम देख रहे हैं कि दुनियाभर में डिजिटल इकोनाॅमी के बढ़ने से ऑप्टिकल फाइबर केबल और टेलीकाॅम उपकरणों की डिमांड भारत में ही नहींबल्कि निर्यात के लिहाज से भी बढ़ रही है। इसके अलावाकंपनी की रक्षा उपकरण के निर्माण संबंधी पहल सरकार के मेक इन इंडिया अभियान में योगदान करेगी। नए उत्पादोंनए ग्राहकों और नए भूगोल पर तेजी से ध्यान देने के साथ हम निरंतर आगे बढ़ते हुए विकास की गति को बनाए रखने के बारे में उत्साहित हैं। भारतनेट के संयोजन के रूप में पीएम-वानी जैसी ट्रान्सफॉर्मल परियोजनाएंऔर जल्द ही 5जी की शुरुआत होने से निश्चित तौर पर कंपनी की संभावनाओं को काफी बढ़ावा मिलेगा। दूरसंचार क्षेत्र के लिए पीएलआई और मेक इन इंडिया कार्यक्रम को बढ़ावा देने के लिए सरकार की नीतियां घरेलू टेलीकॉम उपकरण विनिर्माण के लिए एक मजबूत और अनुकूल माहौल प्रदान करेगी। कंपनी भारत को दूरसंचार उत्पादों के लिए अगले नवाचार और विनिर्माण केंद्र के रूप में देखती है और एचएफसीएल भारत और विदेशों में अपने ग्राहकों की जरूरतों को पूरा करने के लिए पूरी तरह से तैयार है।

एचएफसीएल के बारे में

एचएफसीएल लिमिटेड (पूर्व नाम- हिमाचल फ्यूचरस्टिक कम्युनिकेशन लिमिटेड) हाई-एंड टेलीकाॅम इक्विपमेंटआॅप्टिकल फाइबर और आॅप्टिकल फाइबर केबल का निर्माण करने वाली एक अग्रणी कंपनी हैजो टेलीकाॅम सेवा प्रदाताओंरेलवेरक्षास्मार्ट सिटी और सर्विलांस प्रोजेक्ट्स के लिए आधुनिक कम्युनिकेशन नेटवर्क तैयार करने में विशेषज्ञता रखती है।

कम्पनी की अत्याधुनिक आॅप्टिकल फाइबर और आॅप्टिकल फाइबर केबल निर्माण यूनिट हैदराबाद में है आॅप्टिकल फाइबर केबल निर्माण प्लांट गोवा में और इसकी सब्सिडरी एचटीएल लिमिटेड चेन्नई में है। इसके अलावा एफआरपी राॅड निर्माण युनिट होसुर में है। इसके अलावा सोलन में एक टेलीकाॅम उपकरण निर्माण युनिट भी है।

कम्पनी का स्वयं का सेंटर फाॅर एक्सीलेंस इन रिसर्च गुडगांव और बंगलुरू में स्थापित है। इसके अलावा कई आरएंडडी हाउसेस और भारत तथा विदेश में कई स्थानों पर साझेदारों के साथ मिल कर शोध व अनुसंधान का काम किया जाता है तथा टेक्नोलाॅजी उत्पादों व साॅल्युशंस की भविष्य की रेंज तैयार की जाती है। स्वयं के शोध व अनुसंधान केन्द्र में कम्पनी ने वाईफाई सिस्टमअनलाईसेंस्ड बैंड रेडियोक्लाउड मैनेजमेंट सिस्टम और वीडियो मैनेजमेंट सिस्टम तैयार किए हैं। इसके अलावा कई उत्पाद विकसित किए जा रहे हैजिनमें इलेक्ट्रिोनिक फ्यूजइलेक्ट्रो आॅप्टिक डिवाइससाॅफ्टवेयर डिफाइन्ड रेडियोराउटरपीओएनस्माॅल सेल फाॅर 5जीइंटेलिजेंट एंटेना सिस्टम और ग्राउंड सर्विलांस रडार शामिल हैं।

No comments:

Post a Comment

मंगलयान और चंद्रयान ने दिखाए बच्चों को अंतरिक्ष तक पहुंचने के सपने

-जेईसीआरसी यूनिवर्सिटी में हुआ तीन दिवसीय इसरो एग्जिबिशन का समापन - प्रिंसिपल मीट का हुआ आयोजन  जयपुर। जेईसीआरसी यूनिवर्सिटी में तीन दिवसीय ...