Thursday, May 13, 2021

31 मार्च 2021 को समाप्त तिमाही के लिए, पिडिलाइट इंडस्ट्रीज ने पिछले साल की समान तिमाही के मुकाबले 45% की समेकित शुद्ध बिक्री वृद्धि और 52% की एबिटा वृद्धि रिपोर्ट की है.


मुंबई 13 मई 2021: भारत में एढेसिव (चिपकाने वाले पदार्थ)सीलेंट्स और कंस्ट्रक्शन केमिकल्स के अग्रणी निर्माता पिडिलाइट इंडस्ट्रीज लिमिटेड ने आज 31 मार्च2021 को समाप्त तिमाही के लिए अपने वित्तीय परिणामों की घोषणा की है.

उपभोक्ता और बाजार (सी एंड बीखंड ने इस तिमाही के दौरान पैंतालीस प्रतिशत से अधिक की मात्रा और मूल्य वृद्धि दर्ज की है. सभी प्रमुख श्रेणियों में मजबूत विकास दर्ज किया गया, जैसे चिपकाने वाले पफार्थ (एढेसिव)कंस्ट्रक्शन केमिकल्स और डीआईवाई सेगमेंट. ये विकास  ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों में निरंतर मांग से संचालित था. बिजनेस टू बिजनेस (बी 2 बी) सेगमेंट ने आर्थिक गतिविधि में आई तेजी के कारण वॉल्यूम और वैल्यू में 26% से अधिक की वृद्धि दर्ज की.

विदेशी सहायक कंपनियों ने उच्च दोहरे अंकों की निरंतर मुद्रा राजस्व वृद्धि के साथ-साथ मजबूत आय में वृद्धि की.

वित्तीय प्रदर्शन

समेकित प्रदर्शन

• पिछले साल की समान तिमाही के मुकाबले शुद्ध बिक्री 45% बढ कर 2,230 करोड़ रुपये हो गई. पिछले वर्ष की तुलना में नेट सेल्स 7,251 करोडइसने फ्लैट वृद्धि की सूचना दी. चौथे तिमाही में लाइक टू लाइक बेसिस पर (पीएपीएल को छोड़कर) नेट बिक्री में 38% की वृद्धि हुई और पूरे वर्ष के लिए 2% की गिरावट आई.

 गैर-परिचालन आय से पहले एबिटा की वृद्धि दर पिछले वर्ष की इसी तिमाही की तुलना में 52% बढ़ी और 460 करोड हो गई. पिछले वर्ष की तुलना में समाप्त वर्ष के लिए एबिटा 7% बढ कर 1,683 करोड़ रुपये था. चौथे तिमाही में लाइक टू लाइक बेसिस पर (पीएपीएल को छोड़कर) एबिटा में 41% की वृद्धि हुई और पूरे वर्ष के लिए 3% की वृद्धि रही.

 पिछले साल की समान तिमाही के मुकाबले कर पूर्व लाभ और असाधारण मद (पीबीटी) 63% की वृद्धि के साथ 415 करोड रुपये रहा. पीबीटी 1526 करोड रहा. चौथे तिमाही में लाइक टू लाइक बेसिस पर (पीएपीएल को छोड़कर) पीबीटी में 49% की वृद्धि हुई और पूरे वर्ष के लिए 4% की वृद्धि रही.

 पिछले वर्ष की समान तिमाही के मुकाबले कर के बाद लाभ (पीएटी)96% वृद्धि के साथ 307 करोड़ रुपये रहा. पीएटी पिछले साल के मुकाबले 1126 करोड रहा. चौथे तिमाही में लाइक टू लाइक बेसिस पर (पीएपीएल को छोड़कर) पीएटी में 80% की वृद्धि हुई और पूरे वर्ष के लिए 4% की वृद्धि रही.

कंपनी ने 3 नवंबर 2020 को पिडिलाइट एढेसिव प्राइवेट लिमिटेड [पूर्व में हंट्समैन एडवांस्ड मैटेरियल्स सॉल्यूशन प्राइवेट लिमिटेड (HAMSPL)] में 100 फीसदी की हिस्सेदारी का अधिग्रहण कर लिया.  

स्टैंडअलोन प्रदर्शन

• 1,851 करोड़ रुपये की शुद्ध बिक्री, पिछले साल की समान तिमाही की तुलना में 42% बढ़ीजिसमें अंतर्निहित बिक्री मात्रा और 40% की मिश्रित वृद्धि थी. बिक्री की मात्रा में 45% की वृद्धि सी एंड बी और बिक्री की मात्रा में 26% की वृद्धि और बी 2 बी के कारण थी. सालभर की शुद्ध बिक्री 6,187 करोड़ रुपये रही और पिछले साल की तुलना में इसमें 2% की गिरावट आई है.

•  पिछले वर्ष की इसी तिमाही के मुकाबले गैर-परिचालन आय से पहले एबिटा 408 करोड़ रुपये, जो 43% की वृध्हि है. पिछले साल के मुकाबले इस साल एबिटा 4% बढ कर 1,550 करोड़ रुपये रहा.

 

 

• पिछले साल की इसी तिमाही के मुकाबले पीबीटी 43% बढ कर 376 करोड रुपये. पिछले साल के मुकाबले 3% कम हो कर पीबीटी समाप्त वर्ष के लिए 1457 करोड़ रुपए रहा.

• पीएटी 277 करोड़ रुपये, पिछले वर्ष की इसी तिमाही के मुकाबले 73% की वृद्धि हुई. वर्ष समाप्त होने पर 1,081 करोड रुपये, पिछले वर्ष की तुलना में 2% कम हो गया.

तिमाही प्रदर्शन पर टिप्पणी करते हुएपिडिलाइट इंडस्ट्रीज लिमिटेड के प्रबंध निदेशकश्री भारत पुरी ने कहा:

क्यू4: 2020-21:

“इस तिमाही में सभी व्यवसायों ने सभी और भौगोलिक क्षेत्रों में मजबूत व्यापक विकास दर्ज किया. वित्त वर्ष 21 में महत्वपूर्ण चुनौतियों के बावजूदहमने क्षमता निर्माण करते हुए अनुकूलनशीलता और लचीलापन प्रदर्शित किया है. इनपुट लागत में अभूतपूर्व मुद्रास्फीति के कारण सकल मार्जिन प्रभावित होना जारी है. मूल्य निर्धारण और लागत कार्यों के बावजूदहम उम्मीद करते हैं कि आने वाली तिमाहियों में मार्जिन दबाव में रहेगा. महामारी की वर्तमान दूसरी लहर चुनौतियां ले कर आई है और पिडिलाइट इस संकट से उबरने के लिए अपने भागीदारों के साथ काम करने के लिए प्रतिबद्ध है.

No comments:

Post a Comment

मंगलयान और चंद्रयान ने दिखाए बच्चों को अंतरिक्ष तक पहुंचने के सपने

-जेईसीआरसी यूनिवर्सिटी में हुआ तीन दिवसीय इसरो एग्जिबिशन का समापन - प्रिंसिपल मीट का हुआ आयोजन  जयपुर। जेईसीआरसी यूनिवर्सिटी में तीन दिवसीय ...