Saturday, May 8, 2021

आईआईएफएल फाइनेंस ने ऋण परिसंपत्तियों में 18 प्रतिशत की वृद्धि के साथ पूरे वर्ष के लाभ में 51 प्रतिशत वृद्धि दर्ज करायी। तिमाही मुनाफे में 321% वर्ष-दर-वर्ष की वृद्धि दर्ज की गयी

आईआईएफएल फाइनेंस लिमिटेड के समेकित परिणाम - वित्‍त वर्ष'21 की चौथी तिमाही और वित्‍त वर्ष'21

करोड़ रु. में

31 मार्च, 2021 को समाप्‍त वर्ष

31 मार्च, 2020 को समाप्‍त वर्ष

वर्ष-दर-वर्ष

31 मार्च, 2021 को समाप्‍त तिमाही

31 मार्च, 2020 को समाप्‍त तिमाही

वर्ष-दर-वर्ष

कुल आय (शुद्ध)

3,364

2,459

37%

968

682

42%

परिचालन लागत

(1,190)

(1,268)

(6%)

(318)

(330)

(4%)

पूर्व-प्रावधान

परिचालन मुनाफा

2,173

1191

82%

650

352

85%

प्रावधान

(1,169)

(466)

151%

(330)

(338)

(2%)

कर-पूर्व मुनाफा

1,005

725

39%

321

15

2099%

कर-पश्चात मुनाफा

761

503

51%

248

59

321%

कुल व्‍यापक आय (प्री-माइनॅरिटी)

736

497

48%

270

55

392%

प्रति शेयर कमाई (ईपीएस)

20.1

13.3

51%

6.5

1.6

306%


1.      आईआईएफएल फाइनेंसआईआईएफएल फाइनेंस लिमिटेड के समेकित परिणामों को दर्शाता है

आईआईएफएल फाइनेंस लिमिटेड के चेयरमैनश्री निर्मल जैन ने वित्‍तीय परिणामों पर टिप्‍पणी करते हुए कहा, ''कोविड-19 महामारी के ऐसे मुश्किल भरे समय मेंहमें सचमुच हमारे उन लोगों पर गर्व है जिन्‍होंने सभी चुनौतियों का साहसपूर्वक सामना करते हुए ग्राहकों के लिए निरंतर सेवा सुनिश्चित की और कंपनी को शानदार प्रदर्शन करने में सहायता पहुंचायी। हम हमारे लोगों की सुरक्षा सुनिश्चित करने और कोविड-प्रभावित लोगों की सहायता में योगदान देने हेतु हरसंभव प्रयास कर रहे हैं। दीर्घकालिक दृष्टिकोण से लोगों एवं प्रौद्योगिकी में निवेश करते हुएहम कोविड की दूसरी लहर के अल्‍पकालिक गिराव को लेकर भी सतर्क हैं।''

 

वित्‍तीय परिणाम की समीक्षा

 

आईआईएफएल फाइनेंस की प्रबंधनाधीन ऋण परिसंपत्तियां 31 मार्च2021 को 44,688 करोड़ रु. की थीं और कुल प्रबंधनाधीन परिसंपत्ति में होम लोन सेगमेंट की 32 प्रतिशतगोल्‍ड लोन की 29 प्रतिशतबिजनेस लोन की 17 प्रतिशत और माइक्रोफाइनेंस लोन की 11 प्रतिशत हिस्‍सेदारी रही।

 

वित्‍त वर्ष'21 की चौथी तिमाही में कंपनी का वार्षिकीकृत आरओई और आरओए क्रमशः 20.7% और 2.8% रहा। कंपनी ने तिमाही के दौरान 650 करोड़ रुपये का अपना पूर्व प्रावधान परिचालन लाभ दर्ज करायाजो मुख्‍य रूप से वॉल्‍यूम में वृद्धि और फंड्स की लागत में कमी के चलते हुई। तिमाही के दौरानऔसत उधारी लागत 13 आधार अंक तिमाही-दर-तिमाही के आधार पर घट करके 8.8 प्रतिशत हो गयी।

हमारे 90% ऋण खुदरा हैं और 36% पीएसएल के अनुरूप हैं। आवंटित की गई ऋण पुस्तिकावर्तमान में 11,076 करोड़ रु. की है, जो एयूएम का 25% है। इसके अलावा, 3,828 करोड़ रु. की प्रत्‍याभूत आस्तियां हैं। हमारे ग्रैन्युलर और रिटेल बुक को देखते हुए आगे असाइनमेंट और सिक्यूरिटाइजेशन के लिए महत्वपूर्ण अवसर मौजूद हैं।

31 मार्च2021 को जीएनपीए 2.1% और एनएनपीए 1.0% रहा। इंडास के तहत अपेक्षित क्रेडिट हानि के कार्यान्वयन के साथएनपीए पर प्रावधान कवरेज मानक संपत्ति कवरेज को छोड़कर 186% है।

25 मार्च2021 को कुल सीएआर 25.4 प्रतिशत रहा जिसमें 17.5% टियर I पूंजी भी शामिल हैजबकि वैधानिक आवश्यकता 15% और 10% थी। कंपनी द्वारा पूँजी पर्याप्तता अनुपात (सीएआर) में सुधार के रूप में उप ऋण द्वारा 670 करोड़ रु. जुटाए गए।

तिमाही के अंत में देश भर में शाखाओं की कुल संख्‍या 2,439 से बढ़कर 2,563 हो गयी।

व्‍यवसाय खंड समीक्षा

होम लोनतिमाही के अंत मेंखुदरा होम लोन आस्तियां 16 प्रतिशत वर्ष-दर-वर्ष और 7 प्रतिशत तिमाही-दर-तिमाही की वृद्धि के साथ 14,439 करोड़ रु. हो गया। इस खंड में प्राथमिक रूप से किफायती एवं नॉन-मेट्रो हाउसिंग लोन्‍स पर जोर दिया जाता है। प्रधानमंत्री आवास योजना - क्रेडिट लिंक्‍ड सब्सिडी स्‍कीम के अंर्गत 43,000 से अधिक ग्राहकों को 1,026 करोड़ रु. से अधिक की सब्सिडी का लाभ प्राप्‍त हुआ।

 

गोल्ड लोन: 31 मार्च, 2021 तक गोल्ड लोन एयूएम बढ़कर 13,149 करोड़ रु. हो गयाजिसमें 44% वर्ष-दर-वर्ष और 8% तिमाही-दर-तिमाही की वृद्धि हुई। कुल मिलाकर 25 राज्यों के 600 + शहरों में हमारी व्यापक उपस्थिति के माध्यम से वेतनभोगीस्‍वरोजगारी एवं एमएसएमई ग्राहक खंडों में कई लोन प्रदान किए जाते हैं।

 

माइक्रोफाइनेंस: माइक्रोफाइनेंस व्यवसाय लगातार बढ़ता रहा और 31 मार्च, 2021 तक लोन एयूएम 40% वर्ष-दर-वर्ष और 21% की तिमाही-दर-तिमाही की वृद्धि के साथ 4,738 करोड़ रु. हो गया। माइक्रोफ़ाइनेंस के ग्राहकों की संख्‍या बढ़कर 16 लाख से अधिक हो गयी।

व्यावसायिक ऋण: प्रत्‍याभूत व्‍यावसायिक ऋण 11% वर्ष-दर-वर्ष और 1% तिमाही-दर-तिमाही की वृद्धि के साथ 5,439 करोड़ रु. हो गयाजबकि अप्रत्‍याभूत व्‍यावसायिक ऋण वर्ष-दर-वर्ष एवं तिमाही-दर-तिमाही दोनों ही आधारों पर गिरता रहा। इमरजेंसी क्रेडिट लाइन योजना के तहतहम मार्च 20212 तक 344 करोड़ रु. वितरित कर चुके हैं।

 

रियल इस्‍टेट ऋण आस्तियों का अल्‍टरनेट इन्‍वेस्‍टमेंट फंड (एआईएफ) में अंतरण

 

आईआईएफएल फाइनेंस अपने कंस्ट्रक्शन एंड रियल एस्टेट (सीआरईलोन एसेट्स का पर्याप्त हिस्सा ट्रांसफर करने की प्रक्रिया में हैजो नॉन-कन्वर्टिबल डिबेंचर के रूप में वैकल्पिक इनवेस्टमेंट फंड में है। आईआईएफएल फाइनेंसएआईएफ की कम से कम एक तिहाई इकाइयों का मालिकाना हक रखेगा। एआईएफ के पास 3600 करोड़ रुपये की लक्ष्य निधि है और इसने 1 मई को क्रेडिट ऑपर्च्‍यूनिटीज III प्राइवेट लिमिटेडजो कि एरेस एसएसजी कैपिटल मैनेजमेंट द्वारा प्रबंधित एक फंड है, के साथ कंट्रिब्‍यूशन एग्रीमेंट पर हस्‍ताक्षर किया है और एआईएफ में 1,200 करोड़ रुपये तक की यूनिट्स देने का वचन दिया है। लोन एसेट्स की पहली किश्त एआईएफ को एक सप्ताह में और शेष लोन एसेट्स को अगले कुछ हफ्तों में बेचे जाने की उम्मीद हैक्योंकि प्रलेखन और परिश्रम पूरा हो जाएगा।

उपरोक्त लेनदेन द्वारा जारी की गई पूंजीआईआईएफएल फाइनेंस बैलेंस शीट को मजबूत करेगी और इसकी रणनीति के अनुरूपखुदरा उधार पर तेजी से ध्यान केंद्रित करने में मदद करेगी।

लिक्विडिटी स्थिति

 

5,275 करोड़ रुपये के बैंकों और संस्थानों से नकद और नकद समतुल्य और प्रतिबद्ध क्रेडिट लाइनें 31 मार्च, 2021 तक उपलब्ध थीं। इस तिमाही के दौरानहमने बैंकों से अवधि ऋण और पुनर्वित्त के माध्यम से रु .3,889 करोड़ जुटाए। 3,189 करोड़ रुपये के ऋण को तिमाही के दौरान सुरक्षित और नियत किया गया था।

एमटीएन बॉन्‍ड्स का बाय बैक

मार्च और अप्रैल 2021 के दौरानहमने खुले बाजार के माध्यम से अपने एमटीएन इश्यू के मिलियन अमरीकी डालर (नाममात्र मूल्य) वापस खरीदे और नोटों को रद्द करने के लिए और पहल की। यह वर्तमान में आरबीआई नियमों के तहत अधिकतम स्वीकार्य के करीब है।

पुरस्‍कार और सम्‍मान:

·         आईआईएफएल को वित्तीय सेवा श्रेणी के तहत राष्ट्रीय प्रशिक्षण 2020 के लिए गोल्डन पीकॉक पुरस्कार मिला

·         आईआईएफएल फाउंडेशन की प्रमुख बालिका साक्षरता कार्यक्रम 'सखियां की बावड़ीको गोल्डन ग्लोब टाइगर्स इंटरनेशनल अवार्ड्स में महिला सशक्तिकरण पुरस्कार मिला।

·         सीएसआर उत्कृष्टता के लिए राष्ट्रीय पुरस्कार में आईआईएफएल फाउंडेशन को शिक्षा के क्षेत्र में उत्कृष्ट योगदान मिला

·         सीएसआईआर उत्कृष्टता के लिए राष्ट्रीय पुरस्कार पर आईआईएफएल फाउंडेशन की प्रमुख बालिका शिक्षा पहल 'सखियां की बावड़ीको 'सर्वश्रेष्ठ सीएसआर प्रभाव पहल पुरस्कारप्राप्त हुआ।

·         आईआईएफएल फाउंडेशन की hi सखियां की बावड़ी पहल को गुडरा कर्मा अवार्ड्स में सबसे अधिक होनहार सीएसआर कार्यक्रम मिला।

·         आईआईएमएल फाउंडेशन की निदेशक सुश्री माधु जैन को गोल्डन ग्लोब टाइगर्स इंटरनेशनल अवार्ड्स 2020 में सीएसआर लीडरशिप अवार्ड मिला

·         आईआईएमएल फाउंडेशन की निदेशक सुश्री माधु जैन को सीएसआर उत्कृष्टता के लिए राष्ट्रीय पुरस्कार में सीएसआर लीडरशिप अवार्ड मिला     

No comments:

Post a Comment

जेके सीमेंट लिमिटेड ने मध्य भारत में अपनी उत्पादन क्षमता का किया विस्तार - उज्जैन, मध्य प्रदेश में आगामी ग्राइंडिंग यूनिट की आधारशिला रखी

उज्जैन, 05 दिसम्बर 2022: जेके सीमेंट लिमिटेड भारत में ग्रे सीमेंट के अग्रणी निर्माताओं और दुनिया के सबसे बड़े व्हाइट सीमेंट निर्माताओं में स...