Tuesday, May 18, 2021

ग्रीनको ग्रुप हवाई मार्ग से ला रहा 1000 बड़े मेडिकल ग्रेड ऑक्सीुजन कॉन्सें ट्रेटर्स का पहला कंसाइनमेंट

हैदराबाद, 18 मई, 2021: हैदराबाद के ग्रीनको ग्रुप, जो भारत का सबसे बड़ा नवीकरणीय ऊर्जा समूह है, ने घरेलू रूप से ऑक्‍सीजन की बेहद जरूरी आपूर्ति शीघ्रातिशीघ्र पूरी करने के लिए हर संभव प्रयास करते हुए भारत में अत्‍यावश्‍यक ऑक्‍सीजन सहायता प्रणालियों को लाने हेतु दुनिया भर के सप्‍लाई चेन नेटवर्क के साथ सहयोग किया है। इसकी पांच समर्पित कार्गो प्‍लेन्‍स में से पहली प्‍लेन 200 बड़े मेडिकल ग्रेड ऑक्‍सीजन कॉन्‍सेंट्रेटर्स के साथ आज हैदराबाद लैंड कर रही है। ये कॉन्‍सेंट्रेटर्स प्रति मिनट 10 लीटर की क्षमता वाले हैं और इनके आ जाने से कोरोना संक्रमण की भयानक दूसरी लहर का मुकाबला करने में भारत की शक्ति बढ़ेगी।

तेलंगाना के नगर प्रशासन और शहरी विकास, उद्योग एवं आईटी ईएंडसी मंत्री, माननीय श्री के.टी.रामा राव ने मुख्य सचिव सोमेश कुमार के साथ प्रदेश सरकार की ओर से फ्लाइट को रिसीव किया। ग्रीनको के सह-संस्थापक, श्री अनिल चलमालासेट्टी, और श्री महेश कोल्ली भी कार्गो उड़ान की आगवानी में हवाई अड्डे पर मौजूद थे।

ग्रीनको समूह की योजनाओं का खुलासा करते हुए, ग्रीनको समूह के प्रबंध निदेशक और मुख्‍य कार्यकारी अधिकारी, श्री अनिल चलमालासेट्टी ने आज हवाई अड्डे पर संवाददाताओं से बात करते हुए कहा, “यह उन पांच समर्पित कार्गो विमानों में से पहला है, जिन्हें हम मजबूत वैश्विक आपूर्ति श्रृंखलाओं के माध्यम से ला रहे हैं और जिसे हमने पिछले दो हफ्तों में स्थापित किया है। अगले 5 दिनों के भीतर, चार और समर्पित विमान हैदराबाद, बेंगलुरु और नई दिल्ली में 1,000 बड़े मेडिकल ग्रेड ऑक्सीजन कॉन्‍सेंट्रेटर्स के साथ उतरेंगे। यह आईसीयू से पहले और आईसीयू के बाद मरीजों के स्थिरीकरण के लिए टियर 2 और टियर 3 शहरों में हमारी मेडिकल टीमों की सहायता करेगा और कोविड ​​की दूसरी लहर से निपटने में मदद करेगा, जिसने हमारे हेल्थकेयर इंफ्रास्ट्रक्चर और सपोर्ट सिस्टम पर गंभीर दबाव डाला है। हम देश की मदद करने और महामारी से लड़ने के प्रयासों में सहायता करने के लिए अपना प्रयास जारी रखेंगे जिससे कि भारत फिर से खुलकर सांस ले सके।''

माननीय मंत्री श्री के.टी.रामा राव ने ग्रीनको के संस्थापकों को उनके प्रयासों के लिए धन्यवाद दिया और कहा, "व्यापारी नेताओं और जिम्मेदार नागरिकों के रूप में सरकार के रूप में हमारी पहली प्राथमिकता मरीजों को राहत प्रदान करना और इस ऑक्सीजन संकट को यथासंभव विवेकपूर्ण और उचित तरीके से टालना है। इन प्रयासों में हमारी मदद करने के लिए हम ग्रीनको समूह के आभारी हैं।"

इसके अलावा, आने वाले सप्ताह में भारत में वितरित किए जाने के लिए 50 लीटर क्षमता के 1000 बड़े ऑक्सीजन सिलेंडर मध्य पूर्व से आ रहे हैं। ऑक्सीजन से वंचित रोगियों की अतिरिक्त आवश्‍यकता पूरी करने के लिए इन प्रणालियों को मौजूदा अस्पतालों, स्वास्थ्य इकाइयों और मोबाइल इकाइयों में स्‍टेशनरी यूनिट्स के रूप में तैनात किया जाएगा।

ग्रीनको ग्रुप, भारत की सबसे बड़ी स्वच्छ ऊर्जा कंपनियों में से एक है, जो राजनयिक, भू-राजनीतिक और लॉजिस्टिक चैनलों को नेविगेट करके विश्वसनीय और मध्यम अवधि की आपूर्ति श्रृंखलाओं को जल्दी से स्थापित करने पर केंद्रित है, ताकि भारत के विभिन्‍न राज्‍यों में ऑक्सीजन कॉन्‍सेंट्रेटर्स, ऑक्सीजन सिलेंडर सहित आवश्यक वस्तुओं की निरंतर आपूर्ति सुनिश्चित की जा सके।

श्री अनिल चलमालासेट्टी ने आगे बताया, ''एक देश के रूप में, हम सहायता / अनुदान के रूप में महत्वपूर्ण मौद्रिक और गैर-मौद्रिक सहायता प्राप्त करने को लेकर स्‍वयं को भाग्यशाली मानते हैं, लेकिन हमें महत्वपूर्ण उपकरणों और आपूर्ति के लिए स्थानीय और वैश्विक स्तर पर मजबूत मजबूत आपूर्ति श्रृंखला स्थापित करने पर ध्यान केंद्रित करना होगा। ग्रीनको ग्रुप में हमने जो आपूर्ति श्रृंखला स्थापित की है, वे 5,000 से अधिक कॉन्‍सेंट्रेटर्स, और सिलेंडर लगातार वितरित करने में सक्षम हैं, जिससे महामारी से लड़ने और फिर से स्वतंत्र रूप से सांस लेने में भारत को मदद मिलेगी

No comments:

Post a Comment

मंगलयान और चंद्रयान ने दिखाए बच्चों को अंतरिक्ष तक पहुंचने के सपने

-जेईसीआरसी यूनिवर्सिटी में हुआ तीन दिवसीय इसरो एग्जिबिशन का समापन - प्रिंसिपल मीट का हुआ आयोजन  जयपुर। जेईसीआरसी यूनिवर्सिटी में तीन दिवसीय ...