Wednesday, April 14, 2021

मुथूट फाइनेंस लिमिटेड का सिक्योर्ड रिडीमेबल नाॅन-कन्वर्टिबल डिबेंचर के सार्वजनिक निर्गम के माध्यम से 1,700 करोड़ रुपए जुटाने का इरादा

जयपुर 14 अप्रैल 2021 – मुथूट फाइनेंस लिमिटेड ने अपने सिक्योर्ड रिडीमेबल नाॅन-कन्वर्टिबल डिबेंचर की 25वीं सीरीज के सार्वजनिक निर्गम का आज एलान किया। प्रत्येक गैर-परिवर्तनीय डिबेंचर (“Secured NCDs”) की फेस वैल्यू 1000 रुपए होगी। इस निर्गम का बेस इश्यू साइज 100 करोड़ रुपए का है और इसमें 1600 करोड़ रुपए तक का ओवरसब्सक्रिप्शन रखा जा सकेगा और इस तरह इस इश्यू की ट्रेंच लिमिट 1700 करोड़ रुपए की होगी। इश्यू 08 अप्रेल, 2021 को खुलेगा और 29 अप्रेल, 2021 को बंद होगा। साथ ही, पूर्ववर्ती तिथि या विस्तारित तिथि पर बंद होने का विकल्प भी है, जैसा कि निदेशक मंडल या एनसीडी समिति द्वारा तय किया जा सकता है।

इस निर्गम के तहत जारी किए जाने वाले सुरक्षित एनसीडी को क्रिसिल द्वारा AA+/ Stable  और आईसीआरए द्वारा AA+ (Stable) रेटिंग दी गई है। क्रिसिल और आईसीआरए द्वारा सिक्योर्ड एनसीडी के लिए यह रेटिंग ‘वित्तीय दायित्वों को समय पर पूरा करने के संबंध में उच्च सुरक्षा’ की ओर इशारा करती है

एनसीडी को बीएसई पर सूचीबद्ध करने का प्रस्ताव है। आवंटन पहले आओ पहले पाओ के आधार पर होगा।

मासिक या वार्षिक ब्याज भुगतान आवृत्ति के साथ सुरक्षित एनसीडी के लिए 8 निवेश विकल्प हैं या मैच्योरिटी पर भुगतान की सुविधा भी उपलब्ध है। एनसीडी के लिए कूपन रेट 6.60 प्रतिशत वार्षिक से लेकर 8.25 वार्षिक रखी गई है।

मुथूट फाइनेंस लिमिटेड के मैनेजिंग डायरेक्टर श्री जाॅर्ज अलेक्जेंडर मुथूट ने कहा, ‘‘क्रिसिल और आईसीआरए द्वारा हमारी क्रेडिट रेटिंग को एए प्लस में अपग्रेड करने के बाद यह पहला एनसीडी पब्लिक इश्यू है। संयोग से यह एनसीडी का हमारा 25 वां सार्वजनिक निर्गम है। हमने रिटेल और हाई नेटवर्थ वाले व्यक्तिगत निवेशकों के लिए इश्यू का 80 प्रतिशत हिस्सा आवंटित किया है, जो संस्थानों और कॉर्पोरेट के लिए लागू ब्याज दर से 0.25 प्रतिशत अधिक ब्याज प्राप्त करेंगे। इस निर्गम में निवेशकों को बेहतर रेटिंग के साथ-साथ आकर्षक ब्याज का दोहरा लाभ भी मिलता है। हमने 10 साल की अवधि वाले एनसीडी भी शुरू किए हैं, जो उन निवेशकों के लिए हैं जो ब्याज दरों को लंबी अवधि के लिए लाॅक करना चाहते हैं और साथ ही भविष्य में ब्याज दरों में होने वाले उतार-चढ़ाव की अनिश्चितता को कम करना चाहते हैं। हम इस एनसीडी को लेकर निवेशकों की ओर से शानदार प्रतिक्रिया की उम्मीद कर रहे हैं।’’

इस इश्यू के माध्यम से जुटाए गए धन का उपयोग मुख्य रूप से कंपनी की ऋण संबंधी गतिविधियों के लिए किया जाएगा।

इश्यू के लीड मैनेजर एडलवाइस फाइनेंशियल सर्विसेज लिमिटेड, जे एम फाइनेंशियल लिमिटेड, एक्विरस कैपिटल प्राइवेट लिमिटेड और ए के कैपिटल सर्विसेज लिमिटेड हैं। आईडीबीआई ट्रस्टीशिप सर्विसेज लिमिटेड इश्यू के लिए डिबेंचर ट्रस्टी है। लिंक इनटाइम इंडिया प्राइवेट लिमिटेड इश्यू का रजिस्ट्रार है।

मुथूट फाइनेंस लिमिटेड के बारे मेंः

मुथूट फाइनेंस लिमिटेड भारत की सबसे बड़ी गोल्ड फाइनेंसिंग कंपनी है। कंपनी एक ‘सिस्टेमेकिली इम्र्पोटेट नाॅन-डिपाॅजिट टेकिंग एनबीएफसी’ है जिसका मुख्यालय दक्षिणी भारतीय राज्य केरल में है। मुथूट फाइनेंस का परिचालन इतिहास 82 साल की अवधि में विकसित हुआ है। एम जॉर्ज मुथूट (हमारे प्रमोटरों के पिता) ने अपने पिता निनन मथाई मुथूट द्वारा 1887 में स्थापित ट्रेडिंग बिजनेस की विरासत के तहत 1939 में स्वर्ण ऋण व्यवसाय की स्थापना की थी। कंपनी के इक्विटी शेयर 2011 से नेशनल स्टॉक एक्सचेंज ऑफ इंडिया लिमिटेड और बीएसई लिमिटेड में सूचीबद्ध हैं। इसकी 23 राज्यों, दिल्ली के राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र और भारत में पाँच केंद्र शासित प्रदेशों में 4500 से अधिक शाखाओं का व्यापक नेटवर्क है, हैं। यह गोल्ड लोन और अन्य उत्पादों के लिए हर दिन लगभग 2,00,000 से अधिक खुदरा ग्राहकों को सेवा प्रदान करती है और इसके गैर-परिवर्तनीय डिबेंचर के लिए लगभग 2,00,000 से अधिक खुदरा निवेशकों का आधार मौजूद है। यह सभी भारतीयों की वित्तीय जरूरतों को पूरा करने के लिए अपने संचालन में 25,000 से अधिक व्यक्तियों को नियुक्त करता है, चाहे वे व्यक्ति हों या एमएसएमई- कंपनी का लक्ष्य उन्हें आत्मनिर्भर बनाना है। 31 मार्च, 2020 तक कंपनी के लोन एसेट्स 41,611 करोड़ रुपए के बराबर थे और वित्त वर्ष 2020 के लिए कंपनी ने 3,018 करोड़ रुपए का कर के बाद लाभ जुटाया। 31 दिसंबर, 2020 तक कंपनी की नेट-वर्थ 14,178 करोड़ रुपए है और 26.38 प्रतिशत का कैपिटल एडिक्वेसी रेशियो था। 31 दिसंबर, 2020 को समाप्त 9 महीनों के लिए कर के बाद लाभ 2,726 करोड़ रुपए और 31 दिसंबर, 2020 तक ऋण परिसंपत्तियां 50,391 करोड़ रुपए थीं।

 

No comments:

Post a Comment

मंगलयान और चंद्रयान ने दिखाए बच्चों को अंतरिक्ष तक पहुंचने के सपने

-जेईसीआरसी यूनिवर्सिटी में हुआ तीन दिवसीय इसरो एग्जिबिशन का समापन - प्रिंसिपल मीट का हुआ आयोजन  जयपुर। जेईसीआरसी यूनिवर्सिटी में तीन दिवसीय ...