Friday, April 30, 2021

एनटीपीसी ने महामारी कोविड-19 की दूसरी लहर के प्रसार को रोकने के लिए उठाए महत्वपूर्ण कदम

जयपुर 30 अप्रैल 2021- देश में कोविड.19 से जुड़े मामलों में भारी वृद्धि को देखते हुए एनटीपीसी ने वायरस के प्रसार से लड़ने के लिए अनेक कदम उठाए हैं। एनटीपीसी अपने उन सभी 7 अस्पतालों की क्षमताओं में विस्तार कर रहा हैए जिन्हें कोविड.19 संक्रमित कर्मचारियों के उपचार के लिए इस्तमाल किया जा रहा है। एनटीपीसी ने ‘कवच’ सुविधा के लिए अपोलो अस्पताल के साथ भी करार किया है जिससे कोविड संक्रमित रोगियों को काफी राहत मिली हैए क्योंकि अब वे घर पर क्वारेंटाइन रहते हुए बेहतर इलाज करवा रहे हैं।

एनटीपीसी का मेडिकल सेल देशभर में सुपर.स्पेशियलिटी अस्पतालों के साथ लगातार संपर्क में है और वर्तमान संकट के बीच गंभीर रोगियों के अस्पताल में दाखिले और उनकी बेहतर देखभाल को सक्षम करने के लिए अपनी पूरी कोशिश कर रहा है। एनटीपीसी स्टेशन और परियोजना स्थल महत्वपूर्ण मामलों में प्राथमिकता के आधार पर गंभीर रोगियों को एयरलिफ्ट प्रदान करके अपने कर्मचारियों की सहायता कर रहे हैं। एनटीपीसी के वर्तमान और सेवानिवृत्त कर्मचारियों और उनके परिवारों के लिए एक डेडिकेटेड कोविड .19 हेल्पलाइन नंबर शुरू किया गया हैए जो उन्हें सरकारी और एनटीपीसी के अस्पतालों में परीक्षण केंद्रों और संभावित उपचार केंद्रों के बारे में जानकारी प्रदान कर रहा है। एनटीपीसी ने अपने कर्मचारियों को टेलीमेडिसिन के लिए ई.परामर्श एप्लिकेशन का उपयोग करने का सुझाव दिया हैए ताकि वे अस्पतालों में जाने से बच सकें और संक्रमण से अपने आप को बचा सकें।

एनटीपीसी के सभी स्टेशन और परियोजनाओं  पर टीकाकरण अभियान की व्यवस्था की जा रही हैए ताकि सभी कर्मचारियों और उनके परिवार के पात्र सदस्यों का टीकाकरण हो सके। एनटीपीसी ने एम्स के साथ भी सहयोग किया हैए जिसके तहत इस प्रीमियर अस्पताल के वरिष्ठ डॉक्टर एनटीपीसी के कर्मचारियों को कोविड .19 से संबंधित विभिन्न तथ्यों के बारे में जानकारी प्रदान कर रहे हंै। एम्स के  अनुभवी चिकित्सा पेशेवरों ने वेबिनार के माध्यम से सभी कर्मचारियों और उनके परिवार के सदस्यों के साथ वायरस के लक्षणों और वायरस के व्यवहार के साथ.साथ इससे लड़ने के लिए प्रभावी उपायों को अपनाने के बारे में भी संवाद किया है।  सभी कर्मचारी 24x7 नियंत्रण कक्ष से मदद ले सकते हैं जिसे सीएमओ ध् एचओएचआर के साथ समन्वय करते हुए चालू किया गया हैए ताकि समय पर दवाएं इत्यादि उपलब्ध हो सकें। 

एनटीपीसी के वरिष्ठ अधिकारीए जिसमें सीएमडी और निदेशक शामिल हैंए प्रतिदिन दैनिक समग्र स्थिति की समीक्षा करते हैं और महामारी से उपजी चुनौतियों से पार पाने के लिए रणनीतिक तरीके अपनाते हैं। एनटीपीसी का मानना है कि कोविड .19 के खिलाफ हमारी लड़ाई केवल उचित योजना और टीम वर्क के साथ सफल होगी।


आईसीआईसीआई बैंक ने लॉन्च किया ‘मर्चेन्ट स्टेक’- मर्चेन्ट्स के लिए देश का सबसे व्यापक डिजिटल और संपर्क रहित बैंकिंग प्लेटफॉर्म

जयपुर 28 अप्रैल 2021- आईसीआईसीआई बैंक ने आज देश के सबसे व्यापक डिजिटल बैंकिंग प्लेटफॉर्म ष्मर्चेन्ट स्टेकष् को लाॅन्च करने का एलान कियां। इसे खास तौर पर खुदरा व्यापारियों के लिए डिजाइन किया गया है। यह डिजिटल बैंकिंग के साथ.साथ मूल्य वर्धित सेवाओं के लिए व्यापारियों को सक्षम बनाता है। इसके माध्यम से ग्रॉसर्सए सुपर मार्केटए बड़े रिटेल स्टोर चेनए ऑनलाइन व्यवसाय और बड़ी ई.कॉमर्स फर्म अपनी बैंकिंग संबंधी आवश्यकताओं को निर्बाध रूप से पूरा कर सकते हैं और महामारी के वर्तमान चुनौतीपूर्ण दौर में अपने ग्राहकों को सेवाएं प्रदान करना जारी रख सकते हैं। । यह पहल ष्देखभाल के साथ व्यापारष् के बैंक के सिद्धांत के अनुरूप हैए जिससे खुदरा विक्रेता बैंक की शाखा में आए बिना संपर्क रहित सेवाओं का लाभ उठा सकते हैंए इसमें अनेक ऐसी सुविधाएं उपलब्ध हैंए जिन्हें इंडस्ट्री में पहली बार पेश किया गया है और जिनका उपयोग बैंक शाखा में विजिट किए बिना भी किया जा सकता है। ऐसे दौर में जबकि लोगों को घर पर रहने और सामाजिक दूरी बनाए रखने की सलाह दी जाती हैए मर्चेन्ट स्टेक के इस्तेमाल से बैंकिंग संबंधी काम आसानी से किए जा सकते हैं। बैंक के मोबाइल बैंकिंग एप्लिकेशन ष्इंस्टाबिजष् पर मर्चेन्ट्स इन सुविधाओं का तुरंत लाभ उठा सकते हैं।

मर्चेंट स्टेक रिटेलर ईकोसिस्टम के लिए एक ही स्थान पर कई तरह की बैंकिंग सेवाएं और मूल्य वर्धित सेवाएं प्रदान करता है। इस स्टैक के मुख्य स्तंभ हैं . 1द्ध नया खाता जिसे ष्सुपर मर्चेंट करंट अकाउंटष् का नाम दिया गया हैए 2द्ध पीओएस लेनदेन पर आधारित मर्चेंट ओवरड्राफ्ट और एक्सप्रेस क्रेडिट दो नई क्रेडिट सुविधाएं इस क्षेत्र में पहली बार पेश की गईंए 3द्ध मर्चेंट्स को अपना कारोबार ऑनलाइन ले जाने के लिए  डिजिटल स्टोर प्रबंधन और 5द्ध ऑनलाइन संचालन का विस्तार करने के लिए मूल्य वर्धित सेवाएं जैसे प्रमुख ई.काॅमर्स कंपनियों के साथ तालमेल और डिजिटल मार्केटिंग प्लेटफाॅर्म।

लॉन्च पर टिप्पणी करते हुए आईसीआईसीआई बैंक के श्री अनूप बागची ने कहाए ष्ष्हमने हमेशा माना है कि स्वरोजगार और एमएसएमई खंड भारतीय अर्थव्यवस्था की रीढ़ हैं। इस सेगमेंट का एक बड़ा हिस्सा थोक खुदरा विक्रेताओं से बनता है। देश में 20 मिलियन से अधिक ऐसे व्यापारी हैं जिन्होंने 2020 में लगभग 780 बिलियन यूएस डाॅलर का लेनदेन किया। आने वाले वर्षों में उनके तेजी से बढ़ने की उम्मीद है। हमारा ष्मर्चेन्ट स्टेकष् प्लेटफॉर्म को इस तरह डिजाइन किया गया है कि इसके माध्यम से व्यापारियों को एक ही स्थान पर तमाम सुविधाएं हासिल हो सकेंए ताकि वे बैंकिंग साॅल्यूशन की तलाश में अपना समय खर्च करने की बजाय अपने कारोबार पर अधिक ध्यान दे सकें। एक साल पहले हमने रिटेल कस्टमर्स को एक ही प्लेटफाॅर्म पर डिजिटल बैंकिंग की सुविधाएं प्रदान करने के लिए ष्आईसीआईसीआई स्टेकष् जारी किया था और इसी कड़ी में अब मर्चेन्ट स्टेक को लाॅन्च किया गया है।

हमारा मानना है कि ष्मर्चेंट स्टेकष् खुदरा व्यापारी ईकोसिस्टम के लिए सबसे पूर्ण बैंकिंग और मूल्य वर्धित बैंकिंग सेवाओं की पेशकश करेगा। हमारे शोध से पता चला है कि इस सेगमेंट में डिजिटल और तत्काल खाते खोलनेए एक ही स्थान पर विभिन्न डिजिटल संग्रह विकल्प और कार्यशील पूंजी की तेजी से उपलब्धता आदि की जरूरत है। इन उपयोगी जानकारी के साथए हमने विशेष रूप से व्यापारी के लिए निर्मित कई डिजिटल सेवाओं की पेशकश करते हुए एक फुल स्टेक बनाया है। इसके अलावा सभी समाधान हमारे मोबाइल ऐप इंस्टाबिज पर उपलब्ध हैं। हमने पीओएस लेनदेन के विभिन्न मापदंडों का उपयोग करने के लिए उन्नत एनालिटिक्स का भी उपयोग किया है ताकि तुरंत ओवरड्राफ्ट स्वाइप का निपटान किया जा सके। हमारा मानना है कि यह ऑल.इन.वन और पूर्ण मर्चेंट स्टेक खुदरा विक्रेताओं को एक शानदार डिजिटल बैंकिंग अनुभव प्रदान करेगाए उन्हें कागज संचालित प्रक्रियाओं से मुक्त करेगाए ताकि पूर्ण उत्पादकता और दक्षता के साथ वे अपने व्यवसाय में वृद्धि कर सकें।

मर्चेंट स्टेक की मुख्य विशेषताएं इस प्रकार हैं.

ऽ सुपर मर्चेंट करेंट अकाउंट. यह बैंक के पीओएस ;पॉइंट.ऑफ.सेलद्ध सुविधाओं के उपयोग से जुड़ा एक शून्य.बैलेंस खाता है। व्यापारी जब तक इन सुविधाओं का उपयोग करते हैंए तब तक शून्य बैलेंस खाते का लाभ उठा सकते हैं। आईसीआईसीआई बैंक ग्राहक न होने पर भी कोई भी व्यापारी डिजिटल रूप से खाता खोल सकता है। सुपर मर्चेंट करंट अकाउंट दो वेरिएंट में उपलब्ध है . सुपर एडवांटेज और सुपर एडवांटेज प्लस . जो ऑपरेशन के आकार के अनुसार व्यापारियों की जरूरतों को पूरा करेगा। इसके अलावाए चालू खाते खुदरा विक्रेताओं को कार्डए यूपीआई और भुगतान गेटवे सहित भुगतान के डिजिटल तरीकों का उपयोग करके अपने ग्राहकों के साथ आर्थिक रूप से लेनदेन करने की सुविधा प्रदान करेंगे। इसी तरह व्यापारी अपने कारोबार के लिए डिजिटल भुगतान के लिए विभिन्न विकल्प प्राप्त कर सकेंगे। यह बैंक के कनेक्टेड बैंकिंग प्लेटफॉर्म का इस्तेमाल करते हुए तत्काल सेटलमेंट से भी फायदा होगाए जो बैंकिंग और उनके अकाउंट सिस्टम के साथ इंटीग्रेटेड हैए ताकि उनका समय और प्रयास दोनों बचाया जा सके।

ऽ इंस्टेंट क्रेडिट सुविधा. मर्चेंट स्टेक पीओएस लेनदेन के आधार पर दो तत्काल ऋण सुविधाएं प्रदान करेगा . दोनों उद्योग में पहले हैं। पहली सुविधा मर्चेंट ओवरड्राफ्ट की हैए जो तुरंत डिजिटल रूप से 10ए000 करोड़ रुपये का भुगतान करेगा। 25 लाख रुपये तक की क्रेडिट सुविधा ऑनलाइन और पेपरलेस उपलब्ध कराई जाएगी। यह सुविधा बैंक के एडवांस्ड डेटा एनालिटिक्स का इस्तेमाल कर व्यापारियों के पीओएस ट्रांजैक्शन का इस्तेमाल कर क्रेडिट की पात्रता तय करने के लिए विभिन्न मापदंडों के साथ नया स्कोरकार्ड बनाएगी। बैंक की क्रेडिट पात्रता का नया तरीका बैंकिंग उद्योग के पारंपरिक तरीके में सुधार है जो बैंक स्टेटमेंटए फाइनेंशियल स्टेटमेंट और इनकम टैक्स रिटर्न का इस्तेमाल कर वर्किंग कैपिटल फैसिलिटी की पेशकश करता है। ओवरड्राफ्ट सीमा निर्धारित होने के बाद व्यापारी अपनी कार्यशील पूंजी आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए तुरंत धन प्राप्त करना शुरू कर सकते हैं। इस ऑफर से कर्ज लेने वालों को अहम सुविधा मिलेगी क्योंकि ओडी सुविधा का लाभ लेने के लिए उन्हें कुछ कार्य दिवसों का इंतजार नहीं करना पड़ेगा।

ऽ इसके अलावाए बैंक एक्सप्रेस क्रेडिट के साथ पीओएस लेनदेन का तत्काल निपटान प्रदान करेगा। इससे बढ़ी हुई सुविधा मिलेगी क्योंकि पीओएस मशीनों पर बिक्री के लिए ऋण प्राप्त करने के लिए कुछ कार्य दिवसों का इंतजार करने की बैंकिंग उद्योग की परंपरा के विपरीत व्यापारियों को तुरंत धन मिल सकता है । यह सुविधा प्रदान करने के लिएए बैंक ने दो स्तरीय पहल की है. पहलीए बैंक फंड की आवाजाही के लिए नेटवर्क पार्टनर के साथ निपटान प्रक्रिया को गति देने के लिए प्रौद्योगिकी का उपयोग करता है । दूसरीए बैंक एपीआई बनाने के लिए एडवांस्ड एनालिटिक्स का इस्तेमाल करता हैए फाइनेंशियल ट्रांजैक्शन की रियल टाइम जानकारी हासिल करता हैए कस्टमर की प्रोफाइल और क्रेडिट अकाउंट में चेक करता है.ये सभी सुविधाएं कुछ ही मिनटों में उपलब्ध हैं। व्यापारी के आईसीआईसीआई बैंक के साथ लिंक करंट अकाउंट में सप्ताहांत और बैंक की छुट्टियों सहित सभी दिनों में 24बाई7 तुरंत पैसा ट्रांसफर किया जाता है।

इन दोनों सुविधाओं का उद्देश्य न्यू.टू.क्रेडिट वाले व्यापारियों सहित सभी व्यापारियों को समय पर ऋण ऑफर प्रदान करना है।

ऽ डिजिटल स्टोर प्रबंधन. उन व्यापारियों के लिए एक डिजिटल स्टोर प्रबंधन मंच उपलब्ध है जो ऑनलाइन दुनिया में अपना व्यवसाय बढ़ाना चाहते हैं। यह एक वन.स्टॉप समाधान प्रदान करेगा जो व्यापारी अपने भौतिक स्टोर को आधे घंटे में डिजिटल स्टोर में परिवर्तित करने में सक्षम बनाएगा। इससे उन्हें चालानए इन्वेंट्री और कलेक्शन का प्रबंधन करने में भी मदद मिलेगी।

ऽ लॉयल्टी प्रोग्राम. मर्चेंट स्टेक व्यापारियों के लिए एक लाॅयल्टी रिवार्ड्स प्रोग्राम की पेशकश करेगाए जो उद्योग में पहली विशेषताओं में से एक है। इसके साथ ही व्यापारी बैंक की ईजीपे सुविधा का इस्तेमाल पीओएसध्क्यूआर सॉल्यूशन के जरिए ग्राहकों से तुरंत कैशलेस पेमेंट स्वीकार करनेए ट्रांजैक्शन के लिए अंक हासिल करने के लिए करेंगेए जिसे शॉपिंगए वाउचरए छुट्टियों के लिए रिडीम किया जा सकता है ।

मर्चेंट स्टेक में शामिल मूल्य वर्धित प्रस्ताव हैं.

ऽ इंस्टाबिज ऐप पर नए वन व्यू श्मर्चेंट वर्जन तक पहुंच. यह पूरा मोबाइल ऐप व्यवसायों को बैंक शाखा पर जाए बिना डिजिटल रूप से अपने बैंकिंग लेनदेन को पूरा करने में सक्षम बनाएगा। मर्चेंट व्यू श्मर्चेंट स्टैकश् की सभी विशेषताओं की पेशकश करेगाए उद्योग में पहली विशेषताओं में से एकए जैसे जीएसटी का तत्काल भुगतानए विभिन्न तरीकों से आसान थोक संग्रह और फंड भुगतानए स्वचालित बैंक पुनर्संबंध और आवकध्जावक प्रेषण आदि। इससे व्यापारी आईसीआईसीआई बैंक के ग्राहकों के लिए मार्केटिंग कैंपेन के जरिए भी अपना कस्टमर बेस बढ़ा सकेंगे।

ऽ बड़े प्लेटफार्मों के साथ लिंक. बैंक के विभिन्न कंपनियों के साथ संबंध है जो कंप्यूटरए नई भाषाओं और लेखांकन के लिए स्टाफ और सिक्योरिटी और ऑनलाइन कौशल पाठ्यक्रमों जैसी सेवाओं के संयोजन में विशेषज्ञता रखते हैं। व्यापारी इन कंपनियों की सेवाएं मुख्यधारा में छूट पर प्राप्त कर सकते हैं या अपने व्यवसाय का विस्तार कर सकते हैं। इसके अलावा व्यापारी विज्ञापन के लिए बड़े ई.कॉमर्स और डिजिटल मार्केटिंग प्लेटफॉर्म की सेवाओं का लाभ उठा सकते हैं और ग्राहकों को ऑनलाइन प्राप्त कर सकते हैं।

ऽ उन्नत इंटरनेट बैंकिंग प्लेटफॉर्म. कॉर्पोरेट इंटरनेट बैंकिंग ;सीआईबीद्ध प्लेटफाॅर्म और आयात.निर्यात लेनदेन के लिए विशेष डिजिटल प्लेटफॉर्म ट्रेड ऑनलाइन की उपलब्धता ।

कोई भी व्यापारी गूगल प्ले स्टोर या एप्पल ऐप स्टोर से इंस्टाबिज ऐप डाउनलोड करके ष्मर्चेंट स्टेकष् का लाभ उठा सकता है। जो व्यापारी बैंक के ग्राहक नहीं हैंए वे डिजिटल रूप से इंस्टाबिज का उपयोग करके तुरंत जीरो बैलेंस चालू खाता खोलकर स्टेक के विभिन्न लाभ ले सकते हैं। बैंक के कॉरपोरेट इंटरनेट बैंकिंग ;सीआईबीद्ध प्लेटफॉर्म से इंस्टाबिज सेवाओं का लाभ उठाया जा सकता है।


 


 


अनिल अग्रवाल द्वारा राष्ट्रीय स्वास्थ्य आपातकालीन स्थिति में सरकार के सहयोग के लिए 150 करोड़ की सहायता की घोषणा

जयपुर 30 अप्रैल 2021। देश की खनिज, आॅयल और गैस की प्रमुख निर्माता कंपनी वेदांता के चैयरमेन अनिल अग्रवाल ने कोविड 19 की दूसरी लहर से राहत एवं बचाव हेतु देश में सहायता के लिए 150 करोड़ के योगदान की घोषणा की है। पिछले वर्ष वेदांता समूह द्वारा 201 करोड़ रूपयों का सहयोग किया गया था। 

भारत सरकार और राज्य सरकारों द्वारा किए जा रहे पुरजोर प्रयासों के सहयोग में, वेदांता लिमिटेड देश के 10 शहरों में  1,000 क्रिटीकल केयर बेड की व्यवस्था करेगा। ये बेड मान्याताप्राप्त और प्रतिष्ठित चिकित्सालयों के साथ मिल कर बनाए जाएंगे।  रखे जाएंगे, जो मान्यता प्राप्त और प्रतिष्ठित अस्पतालों से जुड़े होंगे। कोविड केयर के लिए स्थापित प्रत्येक जगह पर 100 बेड होगें जो कि वातानुकूलित एवं बिजली की सुविधायुक्त होगें। क्रिटीकल केयर में 90 बेड ऑक्सीजन सपोर्ट एवं 10 बेड  वेंटिलेटर सपोर्ट सुविधायुक्त होगें।

वेदांता के चैयरमेन, अनिल अग्रवाल ने इस पहल के लिये कहा कि, “मैं कोविड -19 की दूसरी लहर के प्रभाव और बहुमूल्य जीवन को खोने के बारे में गहराई से चिंतित और दुखी हूं। वेदांता समूह महामारी से लड़ने की हमारी प्रतिबद्धता के लिए 150 करोड़ रुपये के योगदान के साथ आगे आया हैं और हम इस कठिन  परिस्थ्तिि में समुदाय और सरकार के साथ मजबूती से खड़े हैं। हमारा मानना है कि इस घातक वायरस से प्रभावित लोगों के लिए यह अतिरिक्त बुनियादी व्यवस्थाओं को तुरंत स्थापित किया जाएगा जिससे बहुत आवश्यक राहत मिल सकेगी। उन्होंने कहा कि वेदांता हमारे वीर डॉक्टरों और स्वास्थ्य कर्मियों के लिए आवश्यक चिकित्सा उपकरण भी प्रदान करेगा।हम इस संकट से उबरने में हर संभव प्रयास करते रहेंगे।‘‘

क्रिटिकल केयर बेड की अतिरिक्त क्षमता राजस्थान, ओडिशा, छत्तीसगढ़, झारखंड, गोवा, कर्नाटक और दिल्ली एनसीआर राज्यों में बनाई जाएगी। कंपनी द्वारा पहले चरण में 14 दिनों में  प्राथमिक सुविधाओं और शेष सुविधाओं को 30 दिनों में प्रारंभ कर दिया जाएगा। वेदांता  द्वारा प्रांरभ की गयी ये सुविधाएं कम से कम 6 माह तक जारी रहेगी। 

वेदांता स्थानीय स्तर पर सरकारी निकायों और प्रशासन के साथ मिलकर काम कर रहा है ताकि जरूरतमंद लोगों को चिकित्सा सुविधा और देखभाल उपलब्ध कराई जा सके। कंपनी वर्तमान में अपने व्यावसायिक स्थानों पर कोविड के रोगियों के लिए लगभग 700 बेड का सहयोग कर रही है जिसे जल्द ही बढ़ाकर 1,000 कर दिया जाएगा।

इस बीच, हिंदुस्तान जिंक, ईएसएल और सेसा गोवा आयरन ओर बिजनेस ने वेदांता केयर पहल के तहत कोविड -19 रोगियों को ऑक्सीजन की आपूर्ति बढ़ाने के लिए कदम बढ़ाया है। हिन्दुस्तान जिं़क वर्तमान में प्रति दिन 5 टन ऑक्सीजन की (100 प्रतिशत लिक्विड ऑक्सीजन क्षमता) की आपूर्ति कर रहा है जो चिकित्सा उपचार के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है और इसे 2-3टन बढ़ाने की प्रक्रिया जारी है। सेसा गोवा आयरन ओर बिजनेस गोवा राज्य सरकार और अस्पतालों को प्रतिदिन 3 टन लिक्विड मेडिकल ऑक्सीजन की आपूर्ति कर रहा है, जबकि वेदांता समूह की स्टील निर्माता कंपनी ईएसएल ने लिक्विड मेडिकल आक्सीजन  के लिए बोकारो के पास अपना प्लांट पंजीकृत किया है जिससे 10टन प्रतिदिन आॅक्सीजन की आपूर्ति की जा सकेगी। 

स्टरलाइट कॉपर को अपने तूतीकोरिन संयंत्र से ऑक्सीजन की आपूर्ति करने के लिए सुप्रीम कोर्ट से मंजूरी मिल गई है। स्टरलाइट कॉपर के ऑक्सीजन प्लांट में प्रतिदिन 1,000 टन ऑक्सीजन का उत्पादन करने की क्षमता है।

वेदांता हमारे कर्मचारियों और उनके परिवारों के लिए टीकाकरण हेतु टीके की उपलब्धता के लिये उत्पादकों से संपर्क में है। अब तक 5,000 से अधिक कर्मचारियों और परिवार के सदस्यों का टीकाकरण किया जा चुका है और हम आने वाले दिनों में पूरे वेदांता परिवार और हमारे व्यापारिक साझेदारों को शामिल करेगें।

कंपनी ने राजस्थान, ओडिशा, छत्तीसगढ़, झारखंड, कर्नाटक और उत्तरप्रदेश में डॉक्टर ऑन कॉल की सुविधा के साथ नंद घर समुदायों के लिए एक टेलीमेडिसिन कार्यक्रम शुरू किया है।  सभी कर्मचारियों और उनके परिवारों को चिकित्सा सहायता प्रदान करने के लिए अपोलो हाॅस्पीटल के साथ एक अनवरत समर्पित हेल्पलाइन भी स्थापित की है।

गत वर्ष वेदांता ने कोविड संकट के मद्देनजर 201 करोड़ रुपये का योगदान दिया था। इस योगदान ने वेदांता के तीन विशिष्ट क्षेत्रों, देश में दैनिक वेतन श्रमिकों की आजीविका,अपने सभी कर्मचारियों और संविदा भागीदारों को उनके संयंत्र स्थानों पर निवारक स्वास्थ्य देखभाल और सहायता सम्मिलित है। 


होण्डा 2 व्हीलर्स इंडिया ने अपने सभी चारों प्लांट्स में उत्पादन गतिविधियों पर अस्थायी रोक लगाई, इस दौरान होण्डा अपने प्लांट्स में पूरी करेगी सालाना रखरखाव गतिविधियां

गुरूग्राम, 30 अप्रैल, 2021ःकोविड-19 की दूसरी लहर के चलते मौजूदा गंभीर स्थिति और परिणामस्वरूप देश के विभिन्न शहरों में लाॅकडाउन्स को देखते हुए होण्डा मोटरसाइकल एण्ड स्कूटर इंडिया प्रा. लिमिटेड ने 1 मई 2021 से अपने सभी चारों प्लांट्स’ में उत्पादन गतिविधियों पर अस्थायी रोक लगाने की घोषणा की है।

होण्डा उत्पादन में अस्थायी रोक (1 मई से 15 मई 2021) का उपयोग अपने प्लांट की सालाना रखरखाव गतिविधियों के लिए करेगी। कोविड की स्थिति एवं बाज़ार में सुधार के आधार पर होण्डा आने वाले महीनों में अपनी उत्पादन योजनाओं की समीक्षा करेगी।

साथ ही कोरोना की चेन को प्रभावी रूप से तोड़ने के लिए होण्डा के सभी आॅफिस कर्मचारी घर से काम करेंगे ताकि कारोबार की निरंतरता को जारी रखा जा सके तथा उपभोक्ताओं एवं कारोबार साझेदारों को हर ज़रूरी सहयोग मिल सके। देश भर में हमारे सभी प्लांट्स एवं विभिन्न कार्यालयों में सिर्फ ज़रूरी स्टाफ ही काम करेगा। 

समाज के प्रति ज़िम्मेदार काॅर्पोरेट होने के नाते होण्डा यथासंभव सभी हितधारकों की सुरक्षा के लिए प्रतिबद्ध है और हर ज़रूरी कदम उठा रही है। 

’होण्डा 2 व्हीलर्स इंडिया के मैनुफैक्चरिंग प्लांट्स हरियाणा के मनेसर, राजस्थान के तापुकारा, कर्नाटक के नरसापुरा और गुजरात के विट्ठलपुर में हैं। 


Thursday, April 29, 2021

उत्कृीष्टे प्रशिक्षण पद्धतियों को अपनाने हेतु एनटीपीसी को प्रतिष्ठित आईएसटीडी अवार्ड से सम्माशनित किया गया

जयपुर 29 अप्रैल 2021 –एनटीपीसी लिमिटेडए जो भारत की सबसे बड़ी एकीकृत ऊर्जा कंपनी हैए को वर्ष 2018.19 और 2019. 20 के लिए उत्कृाष्ट  प्रशिक्षण पद्धतियों हेतु शिक्षण एवं विकास में प्रतिष्ठित आईएसटीडी अवार्ड से सम्माएनित किया गया है। आयोजन में कुल मिलाकर 34 टीमों ने भाग लिया और एनटीपीसी ने स्कोप कन्वेंशन सेंटर में आयोजित फाइनल राउंड में जीत हासिल की।

पुरस्कार राशि में एक प्रमाणपत्र और एक ट्रॉफी के साथ एक लाख रुण् का चेक दिया गया।  हाल ही मेंए एनटीपीसी को 11 वें सीआईआई राष्ट्रीय मानव संसाधन उत्कृष्टता पुरस्कार 2020.21 में प्रतिष्ठित एनटीपी रोल मॉडल ष्पुरस्कार से सम्मानित किया जा चुका है।


एपीएम टर्मिनल्स, पिपावाव ने हासिल की कॉस्को/ओओसीएल द्वारा संचालित सीआई 1 (चाइना-इंडिया एक्सप्रेस) सेवा

29 अप्रेल, 2021, पिपावाव, भारत- एपीएम टर्मिनल्स, पिपावाव ने कॉस्को/ओओसीएल द्वारा संचालित सीआई 1 (चाइना-इंडिया एक्सप्रेस) सेवा हासिल कर ली है। पोर्ट पिपावाव के लिए साप्ताहिक सेवा सुदूर पूर्व क्षेत्र में आयात और निर्यात के लिए सभी प्रकार के माल (एफएके) ले जाएगी। 9,500 टीईयू की क्षमता वाला पहला पोत एमवी बीजिंग अप्रैल अंत में शंघाई से सफर शुरू करेगा और मई के अंत तक बंदरगाह पहुंचेगा। यह सेवा पश्चिम और उत्तर भारत के अंदरूनी इलाकों को सुदूर पूर्वी देशों से जोड़ेगी और उत्तर पश्चिमी भारत के आयातकों और निर्यातकों को एक महत्वपूर्ण कनेक्टिविटी प्रदान करेगी। पोर्ट पिपावाव की सेवा शंघाई, निंगबो, शेकोऊ, नांशा के चीनी बंदरगाहों और सिंगापुर के बंदरगाह, मलेशिया के पोर्ट क्लैंग और मुंबई, भारत के न्हाशेवा में पोर्ट कॉल के माध्यम से जुड़ती है।

नई सेवा की शुरुआत पर टिप्पणी करते हुए एपीएम टर्मिनल्स, पिपावाव के मैनेजिंग डायरेक्टर श्री जैकब फ्रिस सोरेंसन ने कहा, ‘‘विश्व व्यापार में महत्वपूर्ण हिस्सा रखने वाले इस प्रमुख क्षेत्र से जुड़ने पर हम रोमांचित हैं। इस महीने की शुरुआत में जेबेल अली के लिए हमारी नई सेवा के बाद अब हम सुदूर पूर्वी देशों के लिए अपने बुनियादी ढांचे का समर्थन दे रहे हैं, जिससे हमारी पहुंच बढ़ रही है। यह सेवा एग्जिम कार्गो मालिकों के लिए एक मजबूत लाॅजिस्टिक चेन स्थापित करेगी, जिससे उन्हें सुदूर पूर्वी देशों में अपनी उपस्थिति बढ़ाने में मदद मिलेगी। हम अपनी सेवा क्षमताओं और बुनियादी ढांचे में उनके विश्वास के लिए काॅस्को/ओओसीएल के आभारी हैं।’’

पिछले सप्ताह जेबेल अली के लिए पीआईसी 2 सेवा हासिल करने के बाद एपीएम टर्मिनल्स पिपावाव के लिए सीआई 1 (चाइना-इंडिया एक्सप्रेस) सेवा हासिल करना एक और बड़ी उपलब्धि है। नई सेवाएं पोर्ट इन्फ्रास्ट्रक्चर और सेवाओं को लेकर एक प्रमाण है जो कि इंडियन नॉर्थवेस्ट का एक पसंदीदा प्रवेश द्वार है। पोर्ट पिपावाव भारत का पहला बंदरगाह है जिसने 180 टीईयू क्षमता वाले डबल स्टैक्ड कंटेनर ट्रेनों का संचालन शुरू किया है।

एपीएम टर्मिनल्स पिपावाव के बारे में

एपीएम टर्मिनल्स पिपावाव (गुजरात पीपावाव पोर्ट लिमिटेड) कंटेनर, आरओ/आरओ (यात्री कारों), लिक्विड बल्क और ड्राई बल्क कार्गो के लिए भारत के अग्रणी गेटवे पोर्ट में से एक है, जो भारत के समुद्र तटक्षेत्र और उत्तर पश्चिम सड़क नेटवर्क के साथ गुजरात राज्य में ग्राहकों की सेवा करता है। वर्तमान वार्षिक कार्गो हैंडलिंग क्षमता में 1.35 मिलियन टीईयू कंटेनर, 250,000 यात्री कार, 2 मिलियन मीट्रिक टन लिक्विड बल्क और 4 मिलियन मीट्रिक टन ड्राई बल्क शामिल हैं। एपीएम टर्मिनल्स पिपावाव भारत में पहला सार्वजनिक निजी भागीदारी (पीपीपी) बंदरगाह है और एपीएम टर्मिनल्स के वैश्विक टर्मिनल नेटवर्क का एक हिस्सा है।

 

Wednesday, April 28, 2021

एनटीपीसी द्वारा समर्थित भारतीय तीरंदाजों ने प्रतियोगिता में जीते 3 स्वर्ण और 1 कांस्य पदक

जयपुर 28 अप्रैल 2021 – भारतीय तीरंदाज दीपिका कुमारी, अतनु दास, अंकिता भगत और कोमलिका बारी ने ग्वाटेमाला में हाल ही में संपन्न तीरंदाजी विश्व कप (स्टेज -1) में शानदार प्रदर्शन किया। महिला और पुरुष व्यक्तिगत रिकर्व इवेंट में दीपिका कुमारी और अतनु दास ने अपने-अपने वर्ग में स्वर्ण पदक हासिल किए।

आर्चरी एसोसिएशन ऑफ इंडिया (एएआई) के साथ एनटीपीसी तीरंदाजी के सभी राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय टूर्नामेंटों के लिए योगदान कर रही है।

महिला रिकर्व टीम में शामिल दीपिका कुमारी, अंकिता भगत और कोमलिका बारी ने स्वर्ण पदक हासिल किए, जबकि अंकिता भगत और अतनु दास की भारतीय मिश्रित रिकर्व टीम ने कांस्य पदक जीता।

अपनी कॉरपोरेट सोशल रिस्पॉन्सिबिलिटी (सीएसआर) के तहत, भारत की सबसे बड़ी एकीकृत ऊर्जा कंपनी एनटीपीसी लिमिटेड ने आर्चरी एसोसिएशन ऑफ इंडिया (एएआई) के साथ भागीदारी की है। इस साझेदारी के माध्यम से एनटीपीसी का लक्ष्य भारतीय युवाओं को अपनी प्रतिभा दिखाने के लिए प्लेटफाॅर्म प्रदान करना और तीरंदाजी के क्षेत्र में भारत की प्रतिष्ठा को बढ़ाना है।

65,825 मेगावाट की कुल स्थापित क्षमता के साथ, एनटीपीसी समूह में 26 नवीकरणीय परियोजनाओं सहित 70 पावर स्टेशन हैं। समूह के पास निर्माणाधीन 18 गीगावॉट क्षमता है, जिसमें 5 गीगावॉट नवीकरणीय ऊर्जा परियोजनाएं शामिल हैं। किफायती कीमतों पर पर्यावरण के अनुकूल ऊर्जा परियोजनाओं के माध्यम से बिजली की निर्बाध आपूर्ति एनटीपीसी की पहचान रही है।

डीलशेयर ने वित्तीय वर्ष 20-21 में दर्ज की 5 गुना बढ़ोतरी

नेशनल, 28 अप्रैल, 2021ः सामुदायिक सामुहिक खरीद के लिए भारत का अग्रणी ई-काॅमर्स डीलशेयर, देश में खरीददारी का तरीका बदलने पर ध्यान केन्द्रित कर रहा है, कंपनी ने आज घोषणा की है कि इसने पिछले वित्तीय वर्ष में 5 गुना बढ़ोतरी दर्ज की है। मार्च 2021 में, महामारी के चलते आर्थिक प्रणाली हिलने के बावजूद कंपनी ने 1 मिलियन से अधिक आॅर्डर पूरे किए और 3 लाख उपभोक्ताओं को अपनी सेवाएं प्रदान कर $150ड की जीएमवी रनरेट पार कर ली। अब तक डीलशेयर के साथ 2.5 लाख से अधिक उपभोक्ता जुड़ चुके हैं और कंपनी महाराष्ट्र, राजस्थान, गुुजरात, कर्नाटक एवं एनसीआर पर ध्यान केन्द्रित करते हुए हर माह 15000 नए उपभोक्ताओं के साथ जुड़ रही है।

इस अवसर पर श्री विनीत राव, संस्थापक एवं सीईओ, डीलशेयर ने कहा, ‘‘हम हमेशा से भारत की खरीददारी के तरीके को नए आयाम देने के लिए प्रयासरत रहे हैं तथा इसी मार्ग पर आगे बढ़ते रहें हैं। वास्तव में, अपनी शुरूआत से ही हमने महसूस किया कि हमारे लक्षित उपभोक्ता मध्यम एवं निम्न आयवर्ग से हैं, जो मूल्य के प्रति सजग हैं और उनकी ज़रूरतों को पूरा नहीं किया जा रहा है। प्रोडक्ट असाॅर्टमेन्ट हो या खरीद का तरीका जैसे सामुहिक खरीद, डीलशेयर हमेशा से उनकी हर ज़रूरत को पूरा करने के लिए तत्पर रहा है। हम न केवल किफ़ायती दरों पर गुणवत्तापूर्ण उत्पाद उपलब्ध कराकर उपभोक्ताओं को खरीददारी का बेजोड़ अनुभव प्रदान करते हैं, बल्कि उनकी खरीद को अनुकूल बनाने के लिए पूरा प्रयास करते हैं। अपने लक्षित उपभोक्ताओं की ज़रूरतों को समझना हमारे लिए कारगर साबित हुआ है। हमारे विकास की तीव्र गति इस बात की पुष्टि करती है कि उपभोक्ता भी हमारे इस दृष्टिकोण को पसंद कर रहे हैं। हम सम्पूर्ण कारोबार प्रणाली के लिए स्थायी वातावरण के निर्माण के लिए कार्यरत हैं, जहां पूंजी-प्रभावी तरीकों के साथ साल-दर-साल व्यापारियों की कमाई भी बढ़ती रहे।’’
इस अवसर पर श्री सौर्जयेंदु मेड्डा, चीफ़ बिज़नेस आॅफ़िसर एवं चीफ़ फाइनैंस आॅफिसर, डीलशेयर ने कहा, ‘‘उपभोक्ता पर ध्यान केन्द्रित करना हमें सबसे अलग बनाता है। आज देश भर के उपभोक्ता मूल्य के प्रति सजग हैं और हमारा भोगौलिक प्रसार एवं विकास इसी के साथ तालमेल बनाए रखे हुए हैं। यहां तक कि बड़े महानगरों में मूल्य के प्रति सजग उपभोक्ताओं की बड़ी संख्या है, जो ब्राण्ड के नाम से ज़्यादा गुणवत्ता को महत्व देते हैं। जहां एक ओर, हम एनसीआर, मुंबई और बैंगलोर जैसे महानगरों को कवर करते हैं, वहीं दूसरी ओर चोमू, दौसा और नड़ियाद जैसे छोटे शहरों को भी अपनी सेवाएं प्रदान कर रहे हैं। पिछले वित्तीय वर्ष में 800 से अधिक नए पिनकोड्स और 2 मिलियन से अधिक उपभोक्ता हमारे साथ जुड़े हैं। राजस्व की बात करें तो राजस्थान की हिस्सेदारी सबसे ज़्यादा बनी हुई है, जो हमारे राजस्व में 45 फीसदी योगदान दे रहा है। इसके बाद महाराष्ट्र और गुजरात एक साथ मिलकर 45 फीसदी योगदान देते हैं। हमने $150ड से अधिक जीएमवी रनरेट दर्ज किया है, हमें उम्मीद है कि इस वित्तीय वर्ष में भी हम 50 फीसदी माह-दर-माह का विकास जारी रखेंगे। अगले वर्ष के दौरान हमने अपनी पहुंच को 10000 पिन-कोड्स तक विस्तारित करने, 250 मिलियन से अधिक लोगों को अपनी सेवाएं प्रदान करने तथा 10000 से अधिक परिवारों को रोज़गार उपलब्ध कराने की योजना बनाई है।’’
डिस्कवरी-उन्मुख माॅडल पर संचालित डीलशेयर के माध्यम से उपभोक्ता अपने लिए तो खरीददारी कर ही सकते हैं, साथ ही अपने दोस्तों के साथ डील्स शेयर कर सामुदायिक खरीद यानि कम्युनिटी काॅमर्स को भी बढ़ावा दे सकते हैं। डीलशेयर ने डीलशेयर दोस्त जैसे कई नए सीजीबी माॅडल्स शुरू किए हैं और आज मध्यम एवं निम्न आय वर्ग के लिए अनुकूल प्लेटफाॅर्म बन चुका है। डीलशेयर के इन्हीं प्रयासों के चलते उपभोक्ताओं द्वारा दोबारा खरीद के रूझान बढ़े हैं। डीलशेयर पर दोबारा खरीद की दर 80 फीसदी है।

‘‘कोविड की पहली लहर को देखते हुए यह ज़रूरत महसूस की गई कि अब लोगों की रोज़मर्रा की ज़रूरतों को डिजिटल माध्यमों से ही पूरा किया जा सकता है, यहां तक कि छोटे नगरों के लिए भी डिजिटल सेवाओं का महत्व बहुत अधिक बढ़ गया। ऐसे में पहली बार आॅनलाईन राशन खरीदने वाले उपभोक्ताओं की संख्या तेज़ी से बढ़ी। हम अपनी बात करें तो नए उपभोक्ताओं के साथ-साथ कार्ट के मूल्य में भी तेज़ी से बढ़ोतरी हुई है। पिछले एक साल में औसत कार्ट मूल्य रु 500 से बढ़कर रु 800 तक पहुंच गया है। कोविड की मौजूदा लहर इन बदलावों को और अधिक सशक्त बनाएगी। हम इस बदलाव के अनुसार उपभोक्ताओं की ज़रूरतों को पूरा करने के लिए तैयार हैं।’’ श्री सौैर्जयेन्दु मेड्डा ने अपनी बात को जारी रखते हुए कहा।
डीलशेयर की सबसे खास बात यह है कि यह सिस्टम को मजबूती देता है तथा मूल्य के प्रति सजग उपभोक्ताओं को फायदा पहुंचाता है। साथ ही इसने स्थानीय निर्माताओं को भी अपना कारोबार तेज़ी से बढ़ाने में मदद की है। ‘‘हम पिछले 2 सालों से डीलशेयर के साथ जुड़े हुए हैं। उन्होंने मेरे स्थानीय ब्राण्ड को राष्ट्रीय ब्राण्ड बनाने में मदद की है। मुझे खुशी है कि आज मैं देश भर में उपभोक्ताओं को अपनी सेवाएं प्रदान कर रहा हूं।’’ जयपुर से श्री राम भुजिया के मालिक रमेश जी ने बताया। ‘‘हमें हर महीने डीलशेयर से 16000 सेे अधिक आॅर्डर मिलते हैं। उन्होंने मेरे जैसे छोटे से कारोबारी को सशक्त बनाया है, आज इस मुश्किल समय में उनकी वजह से मैं अच्छी कमाई कर पा रहा हूं।’’ जयपुर से एक कम्युनिटी लीडर एवं सूक्ष्म-उद्यमी प्रथमेश ने कहा।
हर खरीददारी को सर्वश्रेष्ठ बनाने के अलावा, डीलशेयर ने राजस्थान, गुजरात, महाराष्ट्र और कर्नाटक के 200 से अधिक क्षेत्रीय निर्माताओं के विकास में भी मदद की है और वर्ष के अंत तक इस आंकड़े को दोगुना करने की योजना बना रही है। डीलशेयर के साथ साझेदारी के चलते ये ब्राण्ड बाज़ार में अपनी पहुंच बढ़ा पाए हैं और पिछले एक साल में उनकी बिक्री में 6 गुना बढ़ोतरी हुई है।

स्टेलेंटिस ने भारत और एशिया प्रशांत क्षेत्र के लिए प्रमुख नेतृत्वकारी नियुक्तियों की घोषणा की

जयपुर 28 अप्रैल 2021 – स्टेलेंटिस इंडिया और एशिया पैसिफिक ने आज भारत के भीतर और आस-पास के क्षेत्रों में अपने संचालन के लिए प्रमुख नेतृत्वकारी नियुक्तियों की घोषणा की है।

श्री रोलैंड बुशर को स्टेलेंटिस इंडिया का मुख्‍य कार्यकारी अधिकारी और प्रबंध निदेशक नियुक्त किया गया है जिसमें उन्हें समूह के विनिर्माण कार्यों के साथ साथ जीप और सिट्रॉन नेशनल सेल्स कंपनीज (एनएससीज) की पूरी जिम्मेदारी दी गई है।

2017 से ही रोलैंड ने ब्रांड के सेल्स एंड मार्केटिंग के वाइस प्रेसिडेंट के रूप में अपनी क्षमता का बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए सिट्रॉन इंडिया का सफलतापूर्वक संचालन किया है। इसमें सिट्रॉन ब्रांड के हाल में ही लॉन्च और भारत में इसके पहले उत्पाद – नए सिट्रॉन सी5 एयरक्रॉस के लॉन्च से लेकर अंत तक सफलतापूर्ण निष्पादन शामिल है।

अंतर्राष्ट्रीय मोटर वाहन और परामर्श व्यवसायों में रोलैंड का अनुभव बहुत ही मजबूत एवं विविधतापूर्ण है। वर्ष 2017 में ग्रुप पीएसए में शामिल होने से पहले, रोलैंड रेनॉल्ट में कई प्रमुख नेतृत्वकारी पदों पर रहे, जिनमें प्रबंध निदेशक यूके, यूरोप (जर्मनी, यूके, स्पेन और इटली) एनएससी के प्रमुख और एशिया प्रशांत एवं चीन के एसवीपी सेल्स एंड मार्केटिंग शामिल हैं।

डॉ पार्थ दत्ता ने भारत और एशिया प्रशांत क्षेत्र में इंजीनियरिंग, डिजाइन, अनुसंधान और विकास (आर एंड डी) के संचालन की जिम्मेदारी संभाली है। 2019 से पार्थ ने नए जीप कम्पास के सफल लॉन्च और स्थानीय रूप से असेंबल किए गए जीप रैंगलर सहित एफसीए इंडिया के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक के रूप में नेतृत्व किया है।

पार्थ, वर्ष 1999 में बतौर इंजीनियर एफसीए के साथ जुड़े। पिछले बीस वर्षों में, उन्होंने अंतरराष्ट्रीय औद्योगिक और वाणिज्यिक संचालन, शासन, व्यवसाय विकास परियोजनाओं, इंजीनियरिंग और वाहन एकीकरण में वरिष्ठ नेतृत्व के पदों पर काम किया है। एफसीए में अपने कार्यकाल के दौरान, पार्थ चेन्नई और पुणे में तकनीकी केंद्रों के निदेशक और साथ ही साथ चीन में उत्पाद इंजीनियरिंग के प्रमुख रह चुके हैं।

स्टेलेंटिस इंडिया और एशिया पैसिफिक के मुख्य परिचालन अधिकारी कार्ल स्माइली ने आज नियुक्तियों की घोषणा की।

“मैं रोलैंड और पार्थ दोनों को स्टेलेंटिस के लिए उनकी नई भूमिकाओं की घोषणा करके बहुत खुश हूं।

“पारंगत अंतरराष्ट्रीय बिक्री और विपणन कार्यकारी, रोलैंड को भारत में बतौर मुख्‍य कार्यकारी अधिकारी और प्रबंध निदेशक उनकी नई भूमिका के साथ उन्‍हें व्‍यापक वाणिज्यिक अनुभव प्राप्‍त है। वह वैश्विक रूप से कंपनी के प्रमुख विकास बाजार भारत में स्टेलेंटिस के ब्रांड, नेटवर्क और व्यापार के विकास एवं विस्तार के लिए जिम्मेदार होंगे।

अपने व्यापक अभिनव विचारों और उत्पाद विकास के अनुभव के कारण पार्थ स्टेलेंटिस के इंजीनियरिंग, डिजाइन और अनुसंधान एवं विकास कार्यों का नेतृत्व करने के लिए आदर्श उम्मीदवार थे। श्री स्माइली ने कहा, “पार्थ का जीप ब्रांड के स्थानीय उत्पाद की योजना को भारत में पहुंचाने में महत्वपूर्ण भूमिका थी और वो एक ऐसी टीम का नेतृत्व करेंगे जो क्षेत्रीय उत्पाद के वितरण की रणनीति पर ध्यान केंद्रित करेगी और साथ ही विकास के नए अवसरों की पहचान करने और विकास के नए मौकों प्रदान करने के लिए मिलकर काम करेगी।”

रोलैंड और पार्थ दोनों ही तुरंत प्रभाव से अपनी नई भूमिकाओं को ग्रहण करेंगे।

स्‍टेलेंटिस के विषय में

स्टेलेंटिस दुनिया के अग्रणी वाहन निर्माताओं और गतिशीलता प्रदाताओं में से एक है, जो एक स्पष्ट दृष्टि द्वारा निर्देशित है: जिसमें विशिष्ट, सस्ती और विश्वसनीय गतिशीलता समाधान के साथ गतिशीलता की स्वतंत्रता पेश करना शामिल है। इस समूह की समृद्ध विरासत और विस्तृत भौगोलिक उपस्थिति के अलावा, इसकी सबसे बड़ी ताकत इसके धारणीय प्रदर्शन, अनुभव की गहराई और वैश्विक स्तर पर काम करने वाले कर्मचारियों की व्यापक प्रतिभाओं में निहित है। स्टेलेंटिस अपने व्यापक और प्रतिष्ठित ब्रांड पोर्टफोलियो की शक्ति का लाभ उठाएगा, जिसकी स्थापना दूरदर्शी लोगों द्वारा की गई थी, जिन्होंने जुनून और एक प्रतिस्पर्धी भावना के साथ मार्कस को भरा किया था जो कर्मचारियों और ग्राहकों के लिए समान रूप से आवाज उठाते हैं। स्टेलेंटिस की ख्वाहिश सबसे बड़ा बनने के बजाय सबसे अच्छा बनने की है, जो सभी हितधारकों के साथ-साथ जिन समुदायों के लिए यह काम करता है, उनके लिए अतिरिक्त मूल्य जोड़ने के कार्य करता है।

ट्रुलीमैडली का मैचमैकिंग इंजन सही प्लाज़्मा डोनर्स ढूंढने में कोविड-19 मरीज़ों की मदद करेगा

जयपुर 28 अप्रैल 2021 :  देश में दर्ज़ की जा रही कोविड-19 केसेस की रोज़ाना संख्या पूरी दुनिया में सबसे ज़्यादा हो गयी है, ऑक्सीजन और प्लाज़्मा के साथ-साथ दूसरे स्त्रोतों की कमी के कारण उनकी मांग आपूर्ति पर भारी पड़ रही है। इस विपदा की स्थिति में मरीज़ों की ओर सहायता का हाथ बढ़ाते हुए ट्रुलीमैडली, भारत के अग्रणी डेटिंग ऍप ने कोविड मरीज़ों को उनके लिए सही प्लाज़्मा डोनर्स ढूंढने में मदद के लिए अपने मैचमैकिंग अल्गोरिथम को तैनात किया है। इस विशेषता को ट्रुलीमैडली की पहल कोरोना क्लस्टर्स में शामिल कर दिया गया है। लोगों को महामारी के बारे में ताज़ा जानकारी देते रहने के लिए पिछले साल इस पहल को शुरू किया गया था। हर महीने 30 लाख से ज़्यादा यूज़र्स इसका उपयोग कर रहे हैं।

प्लाज़्मा मैचमैकिंग ’सुविधा प्लाज्मा डोनर्स और मरीज़ों, दोनों को सही मैच ढूंढने में मदद करती है। इससे प्लाज्मा डोनर्स के परिवार वालों के लिए एक उन्मत्त खोज को राहत मिलती है। साथ ही, प्लाज्मा डोनर्स को मरीज़ों की मदद करने का भी अवसर मिलता है।

इस पूरी प्रक्रिया को तेज़ और सक्षम बनाने के लिए प्लाज़्मा डोनेशन में मरीज़ और डोनर,दोनों की सभी महत्त्वपूर्ण जानकारी को प्राप्त करके मैच किया जाता है। इसमें उनके ब्लड ग्रुप, कोविड-19 निदान की तारीख, स्थान, संपर्क जानकारी और फोन नंबर आदि जानकारी होती है।

ट्रुलीमैडली के सीईओ और सह-संस्थापक श्री. स्नेहिल खनोर ने बताया, महामारी की दूसरी लहर ने देश को गंभीर रूप से प्रभावित किया है और जानकारी उपलब्ध होते हुए भीउसमें से ज़्यादातर जानकारी असत्यापित और पुरानी होने की वजह से उपयुक्त नहीं है।  कपल्स के लिए बनाए गए मैचमैकिंग इंजन की प्रौद्योगिकी को कोविड-19 मरीज़ों को सही प्लाज़्मा डोनर पाने में मदद करने के लिए इस्तेमाल करने का निर्णय हमने लिया। इस विशेषता को CoronaClusters.in पर लाया गया हैहम लोगों से अनुरोध करते हैं कि जो कोविड-19 से ठीक हुए हैं वो आगे आएप्लेटफार्म पर रजिस्टर करें और जिनके शरीर का प्रतिरक्षी तंत्र संक्रमण से लड़ने में सक्षम नहीं है उनकी जान बचाइए। इस पहल के जरिए हम ज़्यादा से ज़्यादा लोगों की मदद करके इस महामारी के खिलाफ लड़ाई में अर्थपूर्ण योगदान देना चाहते हैं।” 

महामारी के शुरूआती दौर में इस डेटिंग ऐप ने लोगों को कोविड-19 से जुड़ी जानकारी देने के लिए राष्ट्रीय स्तर पर बहुभाषिक वेबसाइट शुरू की, इसमें हर एक राज्य में केसेस के आंकड़ें, ज़िला और राज्य स्तरीय स्वास्थ्य समाचार आदि को शामिल किया गया था। कोरोना क्लस्टर्स में सत्यापित की गयी क्राउडसोर्स्ड जानकारी और Covid19India.org से एपीआई का इस्तेमाल किया जाता है। कुल बीमार, ठीक हुए मरीज़ों की संख्या, कोविड-19 के कारण हुई मौतों की संख्या इसमें सांझा की जाती है।

इसे जन हित में जारी किया गया है, प्लाज़्मा मैच ढूंढने के लिए लिंक: https://coronaclusters.in/plasma

 ट्रुलीमैडली

ट्रुलीमैडली ऐप मिलाव, योग्यता और जांच-परख पर आधारित सुरक्षित मैचमैकिंग सेवाएं प्रदान करता है। भारत में 8.5 मिलियन यूज़र्स इस ऐप के लाभ उठा रहे हैं। भारत का सबसे पसंदीदा डेटिंग ऐप ट्रुलीमैडली आपको अपना जीवनसाथी पाने में मदद करता है, अनुकूल जीवनसाथी अपने आप पाने के लिए मिलेनियल्स का यह पसंदीदा प्लेटफार्म है।

ट्रुलीमैडली के कम्पैटबिलटी असेसमेंट टूल को भारत के सबसे अच्छे मनोवैज्ञानिकों, सायकोमेट्रीशियन्स और फैमिली थेरेपिस्ट्स के सहयोग से विकसित किया गया है। यह टूल इन 6 पहलुओं के आधार पर अनुकूलता की जांच करता है – पारिवारिक मूल्य, उद्देश्य, भरोसा, मित्रता, व्यक्तिगत पहचान और चयन।

अर्थपूर्ण संबंध बनाने के लिए इच्छुक सिंगल्स के समुदाय को इस ऐप के जरिए इकठ्ठा किया गया है। यह ऐप उन्हें अपने लिए सही साथी ढूंढने और एक-दूसरे के साथ जुड़ने के लिए टूल्स प्रदान करता है।

2018 में क्रेसकेरे टेक्नोलॉजीज प्राइवेट लिमिटेड के नाम से पंजीकृत ट्रुलीमैडली का मुख्यालय नयी दिल्ली में है। श्री स्नेहिल खनोर इसके सह-संस्थापक और सीईओ है, श्री. अमित गुप्ता सह-संस्थापक और सीटीओ है।

अधिक जानकारी के लिए कृपया यहां संपर्क करें: https://trulymadly.com/

एलएसएसी ग्लोबल ने बोर्ड की परीक्षाएं स्‍थगित किये जाने के बाद एलसैट-इंडिया की तिथि मई 2021 में की

जयपुर 28 अप्रैल 2021 : केंद्रीय माध्‍यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) की 12वीं कक्षा की परीक्षाएं स्‍थगित किये जाने के बादएलएसएसी ग्‍लोबल यह घोषणा कर रहा है कि जून में लिया जाने वाला एलसैट-इंडिया 29 मई 2021 से शुरू हो जायेगा और कई दिनों तक चलेगा। टेस्‍ट अब 14 जून2021 के सप्‍ताह से नहीं बल्कि शनिवार29 मई 2021 से ही शुरू हो जायेगा।

बोर्ड परीक्षाओं की तिथिजिसकी घोषणा कम से कम 1 जून के बाद ही होगी, की अनिश्चितता के चलते एलएसएसी ग्‍लोबल को यह लगा कि लॉ स्‍कूल के चालू कक्षा के अभ्‍यर्थियों के लिए उनकी परीक्षा की तैयारियों को लटकाये रखना अनुचित होगा। सबसे महत्‍वपूर्ण बात यह है कि तिथि में हुए परिवर्तन के चलते छात्र इस बात को लेकर आश्‍वस्‍त हो सकते हैं कि परीक्षा की तिथियां एक ही दिन नहीं पड़ने वालीं जिससे छात्रों को दोनों ही परीक्षाओं की तैयारी के लिए पर्याप्‍त अवसर मिल जायेगा।

एलएसएसी के वाइस-प्रेसिडेंट, यूसुफ अब्दुल ने कहा, “इस साल के शुरू में, हमने मार्च में अलग से एलसैट-इंडिया लेने का फैसला किया था, ताकि बोर्ड की परीक्षाएं न टकराएं, क्‍योंकि हमने सोचा कि छात्रों के लिए एक ही साथ दोनों परीक्षाओं की तैयारी करना एक अतिरिक्त बोझ बन जायेगी। चूंकि हमारी परीक्षा ऑनलाइन माध्‍यम के जरिए घर से दी जा सकती हैं, इसलिए एलसैट-इंडिया में अधिक लचीलापन है। इस प्रकार, हम अभ्‍यर्थियों को एक समय में एक परीक्षा पर ध्यान केंद्रित करने का एक विकल्प प्रदान कर सकते हैं और इससे वो अन्य परीक्षाओं के बारे में चिंता किए बिना शीर्ष कॉलेजों में नामांकन हेतु अपनी वास्तविक क्षमता प्रदर्शित कर सकेंगे।”

असाधारण समस्याओं के लिए बेजोड़ समाधान की आवश्यकता होती है और पिछले साल कोविड-19 महामारी की शुरुआत के बाद से, एलसैट-इंडिया को कृत्रिम बुद्धिमत्ता-सहायता प्राप्त रिमोट प्रॉक्टरिंग का उपयोग करके ऑनलाइन टेस्‍ट डिलिवरी सिस्‍टम के जरिए लिया गया है ताकि टेस्‍ट की ईमानदारी एवं वैधता पर कोई आंच न आये। इस प्रारूप में छात्र अपने घरों में सुरक्षित रहते हुए परीक्षा दे सकेंगे और बिना किसी व्यवधान के लॉ स्‍कूल में प्रवेश से जुड़ी अपनी प्रक्रियाओं को जारी रख सकेंगे।

परीक्षा की तिथि बदल जाने के चलते, एलसैट-इंडिया के लिए पंजीकरण अब 14 मई 2021 को समाप्‍त हो जायेगा। एलसैट-इंडिया 2021 के लिए 5,000 से अधिक छात्र पंजीकृत हो चुके हैं।

भारत के कई शीर्ष लॉ कॉलेजों द्वारा उनके लॉ प्रोग्राम्‍स में प्रवेश के लिए एलसैट – इंडिया का उपयोग प्रवेश परीक्षा के रूप में किया जा रहा है। एलसैट – इंडिया के जरिए छात्र केवल एक टेस्‍ट देकर भारत के कई शीर्ष लॉ स्कूलों में आवेदन कर सकते हैं। इस प्रकार, यह उन छात्रों के लिए एक बढ़िया विकल्प है जो अपने लिए अवसरों को अधिकतम बढ़ाना चाहते हैं और अतिरिक्‍त समय एवं पैसे के व्‍यय और तनाव से बचना चाहते हैं। एलसैट-इंडिया को स्वीकार करने वाले और इसे अपना एक प्रमुख नामांकन मानदंड मानने वाले कॉलेजों की सूची https://www.discoverlaw.in/associated-law-college पर उपलब्‍ध है।

श्री अब्दुल-करीम ने आगे कहा, ”हम इस बात से भी अवगत हैं कि परीक्षा की तिथि बदले जाने से तैयारी का समय घट गया है। हालांकि, हमारे पास ऐसे ऑनलाइन टूल्‍स मौजूद हैं जिनसे छात्रों को परीक्षाओं के लिए खुद को तैयार करने में मदद मिलेगी।”

परीक्षा की तैयारी में छात्रों की मदद के लिए, एलएसएसी ने इस वर्ष कुछ समय पूर्व एलएसएसी लॉप्रेपsm लॉन्‍च किया। एलएसएसी लॉप्रेपsm में अभ्‍यास परीक्षाओं की व्‍यापक लाइब्रेरी शामिल है जो छात्रों को अधिक समग्रतापूर्ण एलसैट-इंडिया टेस्‍ट डे अनुभव प्रदान करती है और डिजिटल इंटरफेस से उनका परिचय कराने में उनकी मदद करती है। 70 वर्षों से अधिक समय के टेस्टिंग शोध एवं अनुभव पर आधारित, एलएसएसी लॉप्रेपsm एक डिजिटल लर्निंग प्‍लेटफॉर्म है जिसे एलसैट-इंडिया और आगे सफल होने के लिए आवश्‍यक विवेचनात्‍मक एवं विश्‍लेषणात्‍मक विचार कौशल के विकास में छात्रों की सहायता के लिए डिजाइन किया गया है।

एलएसएसी लॉप्रेपsm और एलसैट-इंडिया के बारे में अधिक जानकारी हेतु, डिस्‍कवर लॉ इंडिया वेबसाइट पर जाएं। छात्रों के लिए डिस्कवर लॉ वेबसाइट पर परीक्षा की तैयारी के लिए उपयोगी सामग्री उपलब्‍ध है और वो वहां से उसे डाउनलोड कर सकते हैं या discoverlawindia@LSAC.org पर ईमेल के जरिए हमसे संपर्क कर सकते हैं।

एलसैट-इंडिया के विषय में

एलसैट-इंडिया एक मानकीकृत परीक्षा है जिसे पूरे भारत के कई लॉ कॉलेजों द्वारा प्रवेश मानदंड के रूप में अपनाया जाता है। यह उन कौशलों को मापता है जिन्हें कानून विद्यालय में सफलता के लिए आवश्यक माना जाता है। एलसैट-इंडिया विशेष रूप से लॉ स्कूल एडमिशन काउंसिलयूएसए (एलएसएसी) द्वारा भारत के लॉ स्कूलों में प्रवेश के लिए बनाया गया है। एलएसएसी70 से अधिक वर्षों से विभिन्न देशों के कानून स्कूलों को अपने आवेदकों के महत्वपूर्ण सोच कौशल का मूल्यांकन करने में मदद कर रहा है।


पावरग्रिड इंफ्रास्‍ट्रक्चर इन्वेस्टमेंट ट्रस्ट के यूनिट्स का आईपीओ 29 अप्रैल, 2021 को खुलेगा और 3 मई, 2021 को बंद होगा

जयपुर 28 अप्रैल 2021 : पावरग्रिड इंफ्रास्ट्रक्चर इन्वेस्टमेंट ट्रस्ट (”पावरग्रिड इन्विट”), जो कि इन्विट विनियमनों के अनुसार स्‍वामित्‍व प्राप्‍त करने, निर्माण, परिचालन करने, संभालने एवं निवेश करने हेतु एक इंफ्रास्‍ट्रक्‍चर इन्‍वेस्‍टमेंट ट्रस्‍ट के रूप में स्‍थापित इन्विट है, के यूनिट्स का आईपीओ (”आईपीओ” या ”ऑफर”) बृहस्‍पतिवार, 29 अप्रैल, 2021 को 99 रु. से 100 रु. के प्राइस बैंड पर खुलेगा। यह ऑफर सोमवार, 3 मई, 2021 को बंद होगा। पावरग्रिड इन्विट कुल `49,934.84 मिलियन तक के यूनिट्स (”फ्रेश इश्‍यू”) उपलब्‍ध करा रहा है और विक्रेता यूनिटहोल्‍डर, ऑफर में कुल `27,415.08 मिलियन के इस तरह के यूनिट्स उपलब्‍ध करा रहे हैं। एंकर निवेशक निविदा तिथि, निविदा/ऑफर खुलने की तिथि यानी कि 28 अप्रैल, 2021 से एक कार्य दिवस पूर्व होगी।

पावरग्रिड इन्विट की इकाइयां, बीएसई लिमिटेड (“बीएसई”) और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज ऑफ़ इंडिया लिमिटेड (“एनएसई”) (एनएसई” के साथ बीएसई ”स्‍टॉक एक्‍सचेंजेज”) पर सूचीबद्ध किये जाने हेतु प्रस्तावित हैं। ट्रस्‍ट को 2 फरवरी, 2021 और 3 फरवरी, 2021 को क्रमश: बीएसई और एनएसई से यूनिट्स की लिस्टिंग के लिए लिखित स्‍वीकृति मिल चुकी है। यह ऑफ़र पोस्ट-ऑफ़र के आधार पर कम से कम 10% बकाया इकाइयों का गठन करेगा।

ऑफर से होने वाली शुद्ध आय का उपयोग निम्नलिखित मदों में किया जायेगा: (i) आरंभिक पोर्टफोलियो परिसंपत्तियों द्वारा लिये गये ऋणों जिनमें जमा ब्‍याज भी शामिल है, को चुकाने या पूर्वभुगतान करने के लिए ऋण प्रदान करने; और (ii) सामान्य उद्देश्यों के लिए।

यह ऑफर बुक बिल्डिंग प्रक्रिया के माध्यम से और [इन्विट रेग्युलेशन एवं सेबी दिशानिर्देशों] के अनुरूप उपलब्‍ध कराया जा रहा है, जिसमें संस्थागत निवेशकों को आनुपातिक आधार पर आवंटन के लिए 75% से अनधिक ऑफर उपलब्ध होगा, बशर्ते कि इन्‍वेस्‍टमेंट मैनेजर, लीड मैनेजरों के परामर्श से संस्‍थागत निवेश हिस्‍सा का 60 प्रतिशत तक इन्विट रेगुलेशंस और सेबी दिशानिर्देशों के अनुसार विवेकपूर्ण आधार पर एंकर निवेशकों को आवंटित कर सकता है।

इसके अलावा, ऑफर का 25% से अन्‍यून हिस्‍सा गैर-संस्थागत निवेशकों को आनुपातिक आधार पर आवंटित किये जाने हेतु इन्विट रेगुलेशंस एवं सेबी दिशानिर्देशों के अनुसार उपलब्ध होगा, बशर्ते ऑफर प्राइस पर या इससे अधिक पर वैध बोलियां प्राप्‍त हों।

एंकर निवेशकों द्वारा सब्‍सक्राइब की गयी यूनिट्स को छोड़कर बाकी यूनिट्स के लिए बोलीदाताओं द्वारा 1,100 यूनिट्स और इसके बाद 1,100 यूनिट्स के गुणकों में बोलियां लगायी जा सकती हैं।

आईडीबीआई ट्रस्टीशिप सर्विसेज लिमिटेड ट्रस्टी है, जबकि पावर ग्रिड कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड प्रायोजक है। पावरग्रिड ऊंचाहार ट्रांसमिशन लिमिटेड, इन्‍वेस्‍टमेंट मैनेजर है।

ऑफर के लीड मैनेजर्स में आईसीआईसीआई सिक्योरिटीज लिमिटेड, एक्सिस कैपिटल लिमिटेड, एडलवाइस फाइनेंशियल सर्विसेज लिमिटेड और एचएसबीसी सिक्योरिटीज एंड कैपिटल मार्केट्स (इंडिया) प्राइवेट लिमिटेड शामिल हैं।

अंबुजा ‘कवच’ ने हासिल की सोलर इम्पल्स फाउंडेशन के एफिशिएंट साॅल्यूशन लेबल की विश्व स्तर पर मान्यता

जयपुर 28 अप्रैल 2021 – अम्बुजा सीमेंट के उच्च गुणवत्ता वाले वाटर-रिपेलेंट सीमेंट ब्रांड अम्बुजा कवच को ‘सोलर इम्पल्स एफिशिएंसी सॉल्यूशन’ लेबल द्वारा विश्व स्तर पर एंडोर्स किया गया है और इस तरह कंपनी के ऐसे इनोवेटिव प्रोडक्ट की पहचान की है, जो एक लाभदायक तरीके से पर्यावरण की रक्षा करता है है। ‘अंबुजा कवच’ इस लेबल से सम्मानित होने वाला भारत का पहला सीमेंट ब्रांड है। यह सोलर इम्पल्स फाउंडेशन के एफिशिएंट साॅल्यूशन लेबल द्वारा मान्यता प्राप्त दस लाफार्ज होल्सिम साॅल्यूशंस में से एक है। ये ऐसे साॅल्यूशंस हैं, जो दुनियाभर में अग्रणी टैक्नोलाॅजी के माध्यम से लाभदायक तरीके से पर्यावरण की रक्षा करते हैं।

2018 में सोलर इंपल्स फाउंडेशन ने 1,000 ऐसे समाधानों का चयन करने के लिए अपनी चुनौती की शुरुआत की थी, जो पर्यावरण को लाभदायक तरीके से संरक्षित कर सकते हैं। इसका उद्देश्य इन समाधानों को नीति निर्माताओं के सामने पेश करना था, ताकि इन्हें क्रियान्वित करने की प्रक्रिया को तेज किया जा सके। चुने गए साॅल्यूशंस को उनके सकारात्मक पर्यावरण और आर्थिक प्रभाव के प्रमाण के रूप में सोलर इंपल्स फाउंडेशन की ओर से एक लेबल प्रदान किया जाता है। प्रत्येक चयनित साॅल्यूशन का स्वतंत्र विशेषज्ञों के एक पूल ने कड़ाई से मूल्यांकन किया था।

अंबुजा इन कवच ’एक सीमेंट है जो पानी के रिसने और रसायनों के खिलाफ ढाल देती है, जिससे स्ट्रच-ट्यूर अधिक टिकाऊ और टिकाऊ हो जाता है। अंबुजा इन कावाच ’में 33ः कम कार्बन फुटप्रिंट है जो कॉम-पारिसन में मानक (ओपीसी) सीमेंट के लिए है। अंबुजा इन कवच ’को विशेष रूप से पानी के रिसाव को रोकने के लिए सबसे प्रभावी तरीके से तैयार किया गया है, जिसके परिणामस्वरूप घर के स्थायित्व और सेवा जीवन में सुधार हुआ है।

अंबुजा सीमेंट्स लिमिटेड के सीईओ और एमडी श्री नीरज अखौरी ने कहा, ‘‘हमारी इनोवेशन और रिसर्च टीम ऐसे प्रोडक्ट्स को पेश करने पर लगातार काम करती है जो न केवल नए और अनूठे होते हैं, बल्कि जो टिकाऊ भी हैं और जिन पर आप भरोसा कर सकते हैं। अंबुजा ‘कवच’ को घर में होने वाले पानी के रिसाव को रोकने के लिए ग्राहकों की जरूरतों को पूरा करने के लिहाज से विकसित किया गया है। यह उत्पाद फ्रांस के ल्योन में लाफार्ज होल्सिम के वैश्विक आरएंडडी केंद्र के साथ विकसित किया गया है। हम अपने उत्पाद डिजाइन, उत्पादन और आपूर्ति श्रृंखला प्रबंधन में स्थिरता और नवीनता प्रदान करने के लिए जिम्मेदार और लागत प्रभावी उपायों का पालन करने के लिए बहुत प्रतिबद्ध तरीके से आगे बढ़ रहे हैं।’’

2020 में लॉन्च किया गया अंबुजा ‘कवच’ ग्राहकों के बीच काफी तेजी से लोकप्रिय हो रहा है।  इसके लॉन्च के बाद से हमारे ग्राहकों ने अपने घरों को अधिक टिकाऊ बनाने के लिए 3.88 लाख टन अंबुजा ’कवच’ सीमेंट का इस्तेमाल किया है।

महामारी के कारण चूंकि कंपनी फिजिकल तरीके से ग्राहकों तक पहुंचने में असमर्थ थी, इसलिए उसने अंबुजा के इतिहास में पहली बार अम्बुजा ‘कवच’ को वर्चुअल तरीके से लॉन्च करने का निर्णय लिया। इस प्रीमियम उत्पाद को भारत के कई बाजारों में क्रमिक रूप से लॉन्च किया गया, जो 2020 में लगभग 5,000 डीलरों तक पहुंचा है। यह पहल अंबुजा की दो रणनीतिक प्राथमिकताओं – इनोवेशन और सस्टेनबिलिटी पर केंद्रित है। यह अंबुजा सीमेंट के ‘मोस्ट इनोवेटिव सस्टेनेबल और कॉम्पिटिटिव बिल्डिंग सॉल्यूशंस कंपनी इन इंडिया’ की दिशा में निरंतर किए जा रहे प्रयास का एक अभिन्न हिस्सा है।

“वाविन-वेक्टस” की संयुक्तरूप से प्रथम चैनल पार्टनर मीट जश्न के साथ संपन्न हुई

जयपुर। बिल्डिंग और इंफ्रास्ट्रक्चर इंडस्ट्री के ग्लोबल लीडर वाविन ने वॉटर स्टोरेज टैंक्स और पाइपिंग सिस्टम के क्षेत्र में देश की बहुप्रतिष्ठ...