Wednesday, March 31, 2021

स्वास्थ्य बीमा सिर्फ टैक्स बचाने का साधन ही नहीं, बल्कि आपके स्वास्थ्य और बचत को सुरक्षित रखने का माध्यम भी है- विशेषज्ञ

जयपुर 31 मार्च 2021  – वर्ष 2018 में जहां स्वास्थ्य बीमा की कुल पहुंच 35 प्रतिशत तक थी, वहीं अब कोरोना महामारी के आने के साथ ही स्वास्थ्य बीमा की मांग बहुत तेजी से बढ़ी है। हालांकि ज्यादातर भारतीय अभी भी स्वास्थ्य बीमा के तहत कवर नहीं हैं।

जो लोग स्वास्थ्य बीमा में कवर हो रहे हैं, उनमें से ज्यादातर विभिन्न सरकारी योजनाओं से जुडे़ हैं जैसे आयुष्मान भारत योजना, सीजीएचएस आदि। एक चौथाई समूह या व्यक्तिगत स्वास्थ्य बीमा में कवर होते हैं, वहीं व्यक्तिगत स्वास्थ्य बीमा की पहुंच सिर्फ 3 प्रतिशत है।

इस चुनौती के बारे में केयर हैल्थ इंश्योरेंस के डायरेक्टर एंड हैड-रिटेल सेल्स श्री अजय शाह ने कहा, ‘‘पिछले दशक में सरकार, नियामक संस्थाओं और निजी क्षेत्र के सामूहिक प्रयासों से स्वास्थ्य बीमा की पहुंच काफी हद तक बढ़ी है, हालांकि आंकडे़ साफ तौर पर बताते हैं कि ज्यादातर भारतीयों के पास किसी भी तरह का स्वास्थ्य बीमा नहीं है। यहां तक कि बीमित जनसंख्या में भी लोगों के पास  कवरेज की रकम पर्याप्त नहीं है जबकि स्वास्थ्य सेवाओं की लागत काफी बढ़ गई है और बीमारियां भी तेजी से बढ़ी हैं।’’

स्वास्थ्य बीमा की पहुंच और स्वीकार्यता बढ़ाने के मामले में इस सेक्टर के सामने सबसे बड़ी चुनौती लोगों में जागरूकता का अभाव है। हालांकि महामारी के मौजूदा दौर में स्वास्थ्य बीमा की स्वीकार्यता कुछ बढ़ी है।

लोगों को इस बारे में जागरूक करने की जरूरत है कि स्वास्थ्य बीमा के जो फायदे दिखते है, उससे कहीं ज्यादा फायदे इसमें हैं। इसके फायदों के बारे में श्री अजय शाह ने कहा, ’’ज्यादातर लोग स्वास्थ्य बीमा अपने स्वास्थ्य की दृष्टि से नहीं बल्कि किसी वित्तीय योजना के कारण या परिवार या समुदाय में लोगों को देख कर लेते हैं। हालांकि बदलती जीवनशैली और हाल की महामारी के कारण अब हम स्वास्थ्य बीमा के प्रति पहले  से ज्यादा जागरूक हुए हैं। इसके कई फायदों को देखते हुए यह जरूरी है कि लोग अपने स्वास्थ्य और पैसे को बचाने के लिए इसे अपनाएं।’’

एक पर्याप्त और सम्पूर्ण स्वास्थ्य बीमा कवरेज के कई फायदे हैं और इनमें से कुछ इस प्रकार हैं-

स्वास्थ्य सेवाओं की बढ़ती लागत को देखते हुए स्वास्थ्य बीमा आपको सुरक्षित रखता है- सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि स्वास्थ्य बीमा एक बीमारी के उपचार पर होने वाले खर्च को कवर करता है और इसमें लगभग सभी तरह की बीमारिया और एक अच्छे अस्पताल या स्वास्थ्य केन्द्र में भर्ती किए जाने वाले खर्च कवर किए जाते हैं।

आपकी जमा पूंजी को सुरक्षित करता है- स्वास्थ्य बीमा का एक महत्वपूर्ण पहलू यह है कि यह आपकी जमा पूंजी को सुरक्षित करता है। अचानक सामने आई कोई बीमारी आपकी अब तक की बचत को खत्म कर सकती है। वहीं स्वास्थ्य बीमा के लिए दिए हुए एक छोटे से प्रीमियम से आप अचानक सामने आई बीमारी के उपचार और अस्पताल में भर्ती होने के खर्च का सामना कर सकते हैं।

सेहत संबंधी एक दीर्घावधि निर्णय- इससे जु़ड़े एक अन्य पहलू के बारे में भी हमें गम्भीरतापूर्वक सोचना चाहिए कि हम जितनी देर से स्वास्थ बीमा लेने का निर्णय करते हैं, उतना ही ज्यादा प्रीमियम हमें चुकाना पड़ता है। वहीं यदि कम उम्र में स्वास्थ्य बीमा लिया जाए तो प्रीमियम काफी कम रहता है। वहीं यदि स्वास्थ्य अच्छी स्थिति में है, तो इसके वेटिंग पीरियड को पूरा किया जा सकता है जो कुछ बीमारियों के मामले में दो से चार वर्ष है। इसके अलावा हर चीज की तरह स्वास्थ्य सेवाओं की लागत भी लगातार बढ़ रही है। कल हम जिस स्वास्थ्य सेवा का खर्च आसानी से वहन कर पा रहे थे हो सकता है आज वो कहीं ज्यादा महंगी हो जाए।

टैक्स की बचत का फायदा- स्वास्थ्य बीमा चुनने का और स्वाभाविक कारण यह है कि यह आपके टैक्स को भी बचाता है।

उपरोक्त कारणों की वजह से ही यह जरूरी है कि लोग स्वास्थ्य बीमा को सिर्फ वित्तीय योजना के उपाय या टैक्स बचाने के साधन मंे रूप में नहीं बल्कि अपने स्वास्थ्य, बचत और अच्छे जीवन की सुरक्षा के लिए भी अपनाएं।

केयर हैल्थ इंश्योरेंस कारपोरेट कर्मचारियों, व्यक्तिगत ग्राहकों और वित्तीय समावेशन के लिए स्वास्थ्य बीमा उत्पाद उपलब्ध कराता है। यह कम्पनी अपने ग्राहकों को ना सिर्फ अच्छी स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध कराती है, बल्कि इसने इसका विस्तार करते हुए हाॅस्टिपलाइजेशन से आगे बढ कर  सम्पूर्ण ‘केयर’ को इसमें शामिल किया है, जिसमें बचाव के लिए नियमित स्वास्थ्य जांच, वैलनेस, डाॅक्टर से परामर्श, स्वास्थ्य जांच और घरेलू देखभाल तक शामिल है। यह संस्थान ‘केयर’ के इस सिद्धांत पर चलता है कि प्रोडक्ट डिजाइन, क्लेम्स एडमिनिस्ट्रेशन, तकनीकी विकास और ग्राहक सेवा हर क्षेत्र में ग्राहक को ही केंद्र में रखा जाए और ग्राहकों को पूरी सहायता मिले।

No comments:

Post a Comment

सीबीएसई की 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षाओं में अंबुजा के स्कूलों ने किया शानदार प्रदर्शन

मुंबई, 19 अगस्त, 2022- सीबीएसई की 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षाओं में अंबुजा के संयंत्रों के आसपास स्थित पांच अंबुजा स्कूलों के 739 छात्रो...