Thursday, March 18, 2021

गोदरेज अप्लायंसेस ने शुरू किया 29 वा गोदरेज दिशा एक्सेलेंस सेंटर युवा सशक्तिकरण के लिए प्रतिबद्धता पूरी करने के लिए ब्रांड ने बढ़ाया और एक कदम

जयपुर 18 मार्च 2021  – गोदरेज ग्रुप की प्रमुख कंपनी गोदरेज एंड बॉयस ने घोषणा की है कि अपना बिज़नेस यूनिट और घरेलु उपकरणों की भारत की अग्रणी कंपनी गोदरेज अप्लायंसेस ने टेक्निकल प्रशिक्षण के लिए अपना 29 वा एक्सेलेंस सेंटर मॉन्टफोर्ट अकैडमी के सहयोग से गोवा में शुरू किया है। ‘गोदरेज दिशा‘ व्यावसायिक प्रशिक्षण पहल के तहत एक्सेलेंस सेंटर शुरू किया गया है। सरकार के राष्ट्रीय कौशल विकास अभियान के अनुरूप, सुविधाओं से वंचित रहे भारत के युवाओं को कुशल रोज़गार प्रशिक्षण देकर उनके जीवन में सुधार लाना इस पहल का लक्ष्य है।

प्रमुख शैक्षणिक संस्थान मॉन्टफोर्ट अकैडमी पिछले 23 सालों से कार्यरत है।  नए सेंटर में महाविद्यालयीन छात्र, गोवा के वंचित समुदायों के युवा और गोदरेज अप्लायंसेस के एएसपी टेक्निशियन्स के लिए प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे। 15 दिनों से 3 महीनों तक के इन प्रशिक्षण कार्यक्रमों की रचना रेफ्रिजरेटर, वाशिंग मशीन, माइक्रोवेव ओवन और एयर कंडीशनर रिपेयरिंग की जानकारी देने के लिए की गयी है।

 गोवा के माननीय मुख्यमंत्री श्री. प्रमोद सावंत जी ने नए एक्सेलेंस सेंटर का उद्घाटन किया।  इस अवसर पर गोदरेज अप्लायंसेस के रीजनल सर्विस मैनेजर श्री ग्रेगरी के पोलोज़ और मॉन्टफोर्ट अकैडमी के प्रोविन्शियल सुपरवाइज़र फर. रोलैंड कोएल्हो एसजे उपस्थित थे। प्रशिक्षण का कंटेंट और पाठ्यक्रम के आलावा एक्सेलेंस सेंटर को गोदरेज अप्लायंसेस से उपकरण, सामग्री, स्पेयर पार्ट्स, उत्पाद आदि सहयोग भी दिया जाएगा।

 इंडिया स्किल रिपोर्ट 2021 के अनुसार भारत में युवाओं की रोज़गार क्षमता 2019 में 47.38% से 2021 में 45.9% तक कम हुई है। 2019 के आईएसआर में दर्शाया गया है कि आईटीआई ग्रॅज्युएट्स में से सिर्फ 29.46% रोज़गार-योग्य हैं। ‘गोदरेज दिशा‘ के ज़रिए नामचीन प्रशिक्षण संस्थाओं के सहयोग से उच्च गुणवत्तापूर्ण व्यावसायिक प्रशिक्षण देकर कुशलताओं की कमी दूर करने के लिए गोदरेज अप्लायंसेस प्रयासशील है। वंचित वर्गों के युवाओं को अप्लायंस सर्विस टेक्निशियन्स के रूप में रोज़गार-योग्य बनाना गोदरेज अप्लायंसेस का लक्ष्य है।

 गोदरेज अप्लायंसेस के सर्विस विभाग के नेशनल हेड श्री रवि भट ने बताया, “हमारे उद्योग क्षेत्र में प्रौद्योगिकी में कई बदलाव हो रहे हैं और ग्राहकों की अपेक्षाएं लगातार बढ़ रही हैं। इससे कुशल टेक्निशियन्स की मांग भी बढ़ेगी। महामारी के कारण पिछले वर्ष देश भर में रोज़गार अवसरों पर काफी प्रभाव हुआ है।  जिम्मेदार कॉर्पोरेट के नाते हमने यह संबंद्ध कार्यक्रम शुरू किए हैं, रोज़गार सक्षमता निर्माण करना और उम्मीदवारों में उद्यमशीलता का अंतर्भाव होने में मदद करने पर इन कार्यक्रमों में ज़ोर दिया जाता है। 2020 तक हमने अप्लायंस उद्यम को 65000 से ज़्यादा कुशल युवा दिए हैं। हमारी ‘दिशा‘ पहल के जरिए वंचित समुदायों के युवाओं पर ज़ोर देते हुए रोज़गार सक्षमताओं में कमियों को दूर करने का प्रयास किया जाता है।”   

मॉन्टफोर्ट अकैडमी के प्रोविन्शियल सुपरवाइज़र फर. रोलैंड कोएल्हो एसजे ने कहा, “युवाओं को रोज़गार-योग्य बनाने में मदद कर सकें ऐसी कुशलताओं से युवाओं को सक्षम बनाना हमारे देश की प्राथमिकता है। गोदरेज जैसे भरोसेमंद ब्रांड के साथ काम करने का अवसर मिलना हमारे लिए गर्व की बात है। हमारे छात्रों के आलावा इस साझेदारी से आर्थिक रूप से कमज़ोर और सामाजिक रूप से वंचित युवाओं को कई लाभ मिलेंगे और उद्योग से जुड़ी कुशलताएं प्राप्त करके वे सक्षम हो पाएंगे , इससे रोज़गार, उद्यमशीलता और सामुदायिक उद्यम निर्माण होंगे।”

FacebookTwitterWhatsAppLinkedInTelegramShare

No comments:

Post a Comment

इस्कान मंदिर में गीता जयंती हर्षोल्लास से मनाई गई

जयपुर। इस्कॉन, श्री श्री गिरिधारी दाऊजी मन्दिर, मानसरोवर, जयपुर में 3 दिसंबर को गीता जयंती का कार्यक्रम बड़े हर्सोल्लास से मनाया गया। ओम प्र...