Wednesday, March 31, 2021

टाटा पावर गुजरात उर्जा विकास निगम लिमिटेड के लिए 60 मेगावाट सौर परियोजना विकसित करेगा

जयपुर 31 मार्च 2021 : टाटा पावर, भारत की सबसे बड़ी एकीकृत बिजली कंपनी, ने घोषणा की कि 26 मार्च 2021 को कंपनी को गुजरात उर्जा विकास निगम लिमिटेड (GUVNL) से राज्य में 60 मेगावाट की सौर परियोजना विकसित करने हेतु एक लेटर ऑफ़ अवार्ड मिला है।

ऊर्जा की आपूर्ति एक पावर पर्चेज एग्रीमेंट (PPA) के तहत गुजरात उर्जा विकास निगम लिमिटेड को की जाएगी, जो अनुसूचित वाणिज्यिक परिचालन तिथि से 25 वर्ष की अवधि के लिए वैध होगा। जनवरी 2021 में गुजरात उर्जा विकास निगम लिमिटेड द्वारा घोषित बोली में कंपनी ने यह क्षमता जीती है। इस परियोजना को पावर पर्चेज एग्रीमेंट के निष्पादन की तारीख से 18 महीने के भीतर चालू किया जाना है।

इस उपलब्धि पर बोलते हुए, टाटा पावर के सीईओ और एमडीडॉ. प्रवीर सिन्हा ने कहा, “हमें यह घोषणा करते हुए गर्व हो रहा है कि हमें गुजरात में 60 मेगावाट सौर परियोजना से सम्मानित किया गया है, और गुजरात सरकार और गुजरात उर्जा विकास निगम लिमिटेड के अधिकारियों के लिए आभारी हैं इस अवसर के लिए। इस पुरस्कार के साथ गुजरात में विकास के तहत संचयी क्षमता 580 मेगावाट होगी। हमें सौर ऊर्जा उत्पादन के माध्यम से स्वच्छ और हरित ऊर्जा के प्रति अपने देश की प्रतिबद्धता को साकार करने में योगदान करने की खुशी है। ”

इस प्लांट से प्रति वर्ष लगभग 156 MU ऊर्जा उत्पन्न होने की उम्मीद है और यह लगभग 156 मिलियन किलोग्राम कार्बन डाइ-ऑक्‍साइड को ऑफसेट करेगा।

टाटा पावर की नवीकरणीय क्षमता बढ़कर 4,007 मेगावाट हो जाएगी, जिसमें से 2,687 मेगावाट परिचालन में है और 1,320 मेगावाट कार्यान्वयन के अधीन है, जिसमें 60 मेगावाट इस पीपीए के तहत जीते गए हैं।

होण्डा ने भारत में लाॅन्च की 2021 सीबीआर650आर भारत में पहली बार नियो स्पोर्ट्स कैफ़े से प्रेरित सीबी650आर का प्रवेश बुकिंग्स आज से शुरू!

जयपुर 31 मार्च 2021  – राइडरों के जोश को चरम पर पहुंचाते हुए, होण्डा मोटरसाइकल एण्ड स्कूटर इंडिया प्रा. लिमिटेड ने आज भारत में नई 2021 सीबीआर650आर और सीबी650आर का लाॅन्च किया। यह नए माॅडल सीकेडी’ रूट के ज़रिए भारत में अपनी जगह बनाएंगे। (’कम्प्लीटली नाॅक्ड डाउन)

भारत में अपनी शुरूआत करते हुए नियो स्पोर्ट्स कैफ़े से प्रेरित 2021 सीबी650आर, चार-सिलिंडर इंजन परफोर्मेन्स और लाईट, वर्सेटाईल, रिफाइन्ड चेसीज़ हैण्डलिंग का संयोजन युवा राइडरों को खूब लुभाएगा। 2021 माॅडल अपने बेहतरीन फीचर्स के साथ राइडर को आराम, उपयोगिता और व्यवहारिकता का बेजोड़ अनुभव प्रदान करेंगे।

लाॅन्च तथा प्रीमियम मोटरसाइकल कारोबार के विस्तार के बारे में बात करते हुए श्री अत्सुशी ओगाता, मैनेजिंग डायरेक्टर, प्रेज़ीडेन्ट एवं सीईओ, होण्डा मोटरसाइकल एण्ड स्कूटर इंडिया प्रा. लिमिटेड ने कहा, ‘‘होण्डा भारतीय राइडरों को रेसिंग की दुनिया से सर्वश्रेष्ठ रोमांच और शानदार राइड का अनुभव प्रदान करने के लिए प्रतिबद्ध है। हमें गर्व है कि हम अपने प्रीमियम मोटरसाइकल प्रोडक्ट पोर्टफोलियो में दो बहु-प्रतीक्षित माॅडल- 2021 सीबीआर650आर और सीबी650आर लाॅन्च करने जा रहे हैं।’’

इस अवसर पर श्री यदविंदर सिंह गुलेरिया, डायरेक्टर- सेल्स एण्ड मार्केटिंग, होण्डा मोटरसाइकल एण्ड स्कूटर इंडिया प्रा. लिमिटेड ने कहा, ‘‘अपने लाॅन्च के बाद से सीबीआर650आर युवा मोटरसाइकल प्रेमियों के दिल की धड़कन बन बई है। हमें खुशी है कि प्रीमियम मोटरसाइकल के प्रोडक्ट पोर्टफोलियो को और अधिक सशक्त बनाते हुए हम भारत में पहली बार सीबीआर650आर के साथ मिडलवेट नेक्ड स्पोर्ट्स कैटेगरी को नए आयाम दे रहे हैं। 650 सिबलिंग्स राइडरों को रोचक अनुभव प्रदान करने के लिए तैयार हैं।’’

डिज़ाइन और स्टाइलिंग
स्टील में डिज़ाइन किया गया ट्विन ट्यूब टाईप फ्रेम बेहद प्रभावी डाउनड्रिफ्ट इनटेक लेआउट को सुनिश्चित करता है। स्विंग आर्म पिवट और इंजन हैंगर स्ट्रक्चर वज़न को कम करते हैं और पूरा वज़न केन्द्र में बना रहता है।

टाईटली रैप्ड और एग्रेसिव, सीबी650आर का नियो स्पोर्ट्स कैफ़े स्टाइल, शाॅर्ट, स्टबी टेल और शाॅर्ट ओवरहैंग हैडलाईट से युक्त सिगनेचर काॅम्पैक्ट ‘टैªपेज़ाॅइड’ प्रोपोर्शन के साथ और भी आकर्षक हो जाता है। लम्बा फ्यूल टैंक, फैमिली डिज़ाइन का अहसास देता है; रियल मैटल सरफेस और चार-सिलिंडर इंजन इसकी स्मूद लाईन को और भी खास बना देते है। छोटे साईड पैनल और स्टील से बने रियर मडगार्ड इसे मिनिमलिस्टिक बनाते हैं। राउण्ड हैडलाईट, नियो स्पोर्ट्स कैफ़े डिज़ाइन को अनूठी लैंग्वेज प्रदान करता है।

चार-सिलिंडर पावर युनिट सीबीआर650आर पर स्पष्ट रूप से डिस्प्ले की गई है जो इसे शानदार स्पोर्टिंग अपील देती है; 2021 के लिए शार्प नए रिफलेक्टर प्रोफाइल के साथ ड्यूल एलईडी हैडलाईट क्लस्टर, इसके लुक के साथ कोई समझौता नहीं होने देते- और उपरी एवं (विस्तारित) लोवर फेयरिंग्स, स्लिम लाईन और एंगल्स के साथ इसे बेहद पावरफुल बनाते हैं।

सीट युनिट अपने आप में बेहद काॅम्पैक्ट है और मशीन के रियर को बेहतरीन लुक देती है, और हार्ड-ऐजी अनुभव प्रदान करती है। स्टील रियर मडगार्ड/ नम्बर प्लेट माउन्ट के साथ नए साईड पैनल इसे मिनिमलिस्टिक अहसास देते हैं। टाॅप योक के नीचे माउन्ट किए गए क्लिप-आॅन हैण्डलबार्स के साथ एग्रेसिव राइडिंग पाॅज़िशन की शुरूआत होती है जो रियर सीट फुटपैग्स के साथ खूबसूरती से मेल खाती है।

पावरफुल और स्पोर्टी
649 सीसी, डीओएचसी 16 वाॅल्व चार-सिलिंडर इंजन, रेव रेंज और हार्ड-हिटिंग, हाई-रेविंग टाॅप एंड के माध्यम से फास्ट पिक-अप के साथ मस्ती भरा क्लासिक परफोर्मेन्स देता है। यह इंजन 64kW @ 12,000rpm की नेट पावर और 57.5 Nm @ 8,500 rpmका अधिकतम टोर्क प्रदान करता है।

दोनों माॅडल असिस्ट /स्लिपर क्लच के साथ आते हैं जो आसानी से अपशिफ्ट करने और हार्ड डाउन बदलाव को प्रबंधित करने में मदद करते हैं। असिस्ट मैकेनिज़्म के कारण क्लच लिवर आॅपरेटिंग लोड कम हो जाता है। इसी तरह स्लिपर मैकेनिज़्म, डाउनशिफ्टिंग के कारण अचानक होने वाले इंजन ब्रेकिंग की वजह से रियर व्हील हाॅपिंग को कम कर हैण्डलिंग को आसान बनाता है तथा राईड को आरामदायक एवं सहज बनाता है। 4-1साईड स्वेप्ट एक्ज़हाॅस्ट, रेव क्लाइम्बिंग के साथ स्पाइन-टिंगलिंग रोर (बेहतरीन आवाज़) प्रदान करता है।

प्रीमियम सिक्योरिटी
नई स्मार्ट ईएसएस (एमरजेन्सी स्टाॅप सिगनल) टेक्नोलाॅजी अचानक ब्रेकिंग को पहचान लेती है और आॅटोमेटिक रूप से फ्रन्ट और रियर हाज़ार्ड लाईट्स को एक्टिवेट कर देती है, जो आस-पास के वाहनों को सतर्क करने के लिए फ्लैश हो जाती है। नई- इलेक्ट्राॅनिक एंटी-थेफ्ट डिवाइस- होण्डा इग्निशन सिक्योरिटी सिस्टम राइडर को मन की शांति प्रदान करती है और इलेक्ट्राॅनिक कंट्रोल के ज़रिए इंजन स्टार्ट को आॅटोमेटिक तरीके से डिसेबल कर देती है।

डायनामिक रिस्पाॅन्स
होण्डा सलेक्टेबल टोर्क कंट्रोल (HSTC) राइडिंग की उग्र परिस्थितियों में भी राइडर को मन की शांति प्रदान करता है। यह सिस्टम इंजन की पावर को समायोजित कर रियर व्हील के टोर्क को अनुकूलित करता है, जिससे रियर व्हील के स्लिप होने की संभावना कम हो जाती है। बाएं स्टियरिंग व्हील पर दिए गए टोर्क कंट्रोल स्विच के साथ राइडर आन/आफ सेटिंग सलेक्ट कर सकता है। दोनों माॅडलों में इंजन और सस्पेंशन के परफोर्मेन्स को बेहतर बनाने के लिए ड्यूल रेडियल माउंड चार-पिस्टन ब्रेक कैलिपर्स दिए गए हैं, जो फ्रन्ट में 79.2cm2 फ्लोटिंग ड्यूल डिस्क और रियर में 25.4 cm2 डिस्क के साथ आते हैं। ड्यूल चैनल एबीएस सूखी और गीली दोनों तरह की परिस्थितियों में स्मूद ब्रेकिंग का अनुभव प्रदान करता है।

शोवा सेपरेट फंक्शन- बिग पिस्टन (एसएसएफ-बीपी) यूएसडी फोर्क डैम्पिंग मैकेनिज़्म तथा दाएं एवं बाएं फोर्क पर स्प्रिंग के साथ आता है। यह सिस्टम जहां एक ओर वज़न कम कर शानदार प्रत्यास्थता देता है, वहीं दूसरी ओर स्प्रिंग प्रीलोड को एडजस्ट कर बेहतरीन परफोर्मेन्स भी प्रदान करता है। प्रीमियम 5-स्पोक वाय-शेप के स्पोक से युक्त एलुमिनियम व्हील्स अन-स्प्रंग वज़न को कम करने में मदद करते हैं। लाईट हूप्स हैण्डलिंग को आसान बनाते हैं।

समग्र एलईडी लाइटिंग
सीबीआर650आर, ड्यूल एलईडी हैडलाईट्स के नए रिफलेक्टर के साथ आपके रास्ते को रोशनी में जगमगाए रखते हैं, इसका ब्लू-टिंटेड बीम आपको अंधेरे का अहसास नहीं होने देता। एलईडी टेललाईट भी स्लीक और मिनिमलिस्टिक फाॅर्म में आती है।

सीबी650आर,शार्प ब्लैक बेज़ल से युक्त सर्कुलर एलईडी हैडलाईड के साथ आती है, इसके ब्लू-टिंटेड बीम के साथ राइडर को अंधेरी सड़कों पर भी अधंेरे का अहसास तक नहीं होता। स्टील नम्बर प्लेट के उपर दी गई टेललाईट मिनिमलिस्टिक स्टाइल के साथ आती है।

राइड के दौरान हर ज़रूरी और आधुनिक जानकारी
डिजिटल एलसीडी इंस्ट्रुमेन्ट क्लस्टर को पढ़ना बेहद आसान है। गियर पाॅज़िशन, डिजिटल स्पीडोमीटर, डिजिटल बार ग्राफ टैकोमीटर, ड्युल ट्रिप मीटर, डिजिटल फ्यूल लैवल गेज और फ्यूल कन्ज़्प्शन गेज, डिजिटल क्लोक, वाॅटर टेम्प गेज, गियर पाॅज़िशन, शिफ्ट अप इंडीकेटर, राइडर को राइड के दौरान हर ज़रूरी जानकारी देते रहते हैं।

कलर, कीमत और उपलब्धता
आज से होण्डा ने अपने एक्सक्लुज़िव प्रीमियम डीलरशिप्स- बिगविंग टाॅपलाईन गुरूग्राम (हरियाणा), मुंबई (महाराष्ट्र), बैंगलुरू (कर्नाटक), इंदौर (मध्यप्रदेश), कोची (केरल) हैदराबाद (तेलंगाना) में 2021 सीबीआर650आर और सीबी650आर के लिए बुकिंग्स शुरू कर दी हैं।

सीबी 650 आर 2021 सीबीआर650आर
कलर कैण्डी क्रोमोस्फेयर रैड ग्राण्ड प्रिक्स रैड
मैट गनपाउडर ब्लैक मैटेलिक मैट गनपाउडर ब्लैक मैटेलिक
कीमत
शोरूम
गुरूग्राम (हरियाणा) रु 8.67 लाख रु 8.88 लाख

अधिक जानकारी के लिए उपभोक्ता आफिशियल वेबसाईट (www.hondabigwing.in) पर विज़िट कर सकते हैं या निर्धारित नंबर 9958223388 पर ‘मिस्ड काॅल’ दे सकते हैं।

आईआईएफएल मार्केट्स ऐप ने पार किया 5 मिलियन यूजर्स का आंकड़ा, 2 साल में 10 मिलियन यूजर्स का लक्ष्य

जयपुर 31 मार्च 2021  -भारत की अग्रणी ब्रोकिंग और सलाहकार कंपनियों में से एक आईआईएफएल सिक्योरिटीज लिमिटेड ने आज कहा कि उसके स्टॉक ब्रोकिंग ऐप – आईआईएफएल मार्केट्स ने 5 मिलियन से अधिक उपयोगकर्ताओं को अपने साथ जोड़ा है और इस तरह यह भारत के सबसे अधिक उपयोग किए जाने वाले स्टॉक ब्रोकिंग ऐप में से एक बन गया है। ऐप का लक्ष्य अगले दो वर्षों में 10 मिलियन उपयोगकर्ताओं तक पहुंचने का है।

आईआईएफएल सिक्योरिटीज अपने ब्रोकिंग राजस्व का 50 प्रतिशत से अधिक हिस्सा आईआईएफएल मार्केट्स ऐप से जुटाती है, जबकि 60 प्रतिशत से अधिक ग्राहक आईआईएफएल के साथ निवेश के लिए इस ऐप को प्राथमिक चैनल के रूप में उपयोग करते हैं।

आईआईएफएल मार्केट्स ऐप भारत का सबसे व्यापक निवेश ऐप है, जिसमें 500 से अधिक कंपनियों पर सर्वश्रेष्ठ शोध के बाद जानकारी दी गई है, जो किसी भी भारतीय ब्रोकर का सबसे बड़ा कवरेज है। ऐप में स्क्रीनर, चार्ट ट्रेडिंग, एआई पावर्ड पर्सनलाइज्ड न्यूज, स्वॉट एनालिसिस, एसडब्ल्यूओटी एनालिसिस और संवाद करने में सक्षम चैटबाॅट जैसे नवीनतम फीचर्स शामिल हैं, जो सभी प्रकार के ग्राहकों की जरूरतों को पूरा करते हैं।

आईआईएफएल मार्केट्स ऐप के 87 प्रतिशत उपयोगकर्ता टीयर 2, टीयर 3 और यहां तक कि छोटे शहरों से मिलते हैं। लगभग 70 प्रतिशत उपयोगकर्ता 35 वर्ष से कम आयु के हैं, जबकि 40 प्रतिशत पहली बारइस ऐप का उपयोग कर रहे हैं। 20 प्रतिशत महिलाएं भी आईआईएफएल मार्केट्स ऐप का इस्तेमाल करती हैं।

आईआईएफएल मार्केट्स इंडस्ट्री का सबसे अधिक सहयोगी ऐप है, जो विविधतापूर्ण प्रोडक्ट्स की पेशकश करता है। इनमें प्रमुख हैं- स्मॉलकेस, जिसके तहत निवेश के लिए अनेक शेयर उपलब्ध हैं। साथ ही, सेंसिबुल भी है जो भारत का नंबर 1 आॅप्शंस ट्रेडिंग सॉफ्टवेयर है, ट्रेंडलाइन, भारत का प्रमुख स्टॉक स्क्रीनिंग और इनसाइट्स प्लेटफॉर्म और मार्केटस्मिथ, दुनिया का अग्रणी इक्विटी रिसर्च प्लेटफाॅर्म।

आईआईएफएल सिक्योरिटीज लिमिटेड के सीईओ श्री संदीप भारद्वाज ने ऐप की उपलब्धि पर टिप्पणी करते हुए कहा, ‘‘आईआईएफएल सिक्योरिटीज लिमिटेड भारतीय ब्रोकिंग उद्योग में टैक्नोलाॅजी के जरिये बदलाव लाने वाली कंपनियों में अग्रणी रही है। हमारा ऐप 5 मिलियन ग्राहकों को निवेश से संबंधित एक ऐसा ईकोसिस्टम प्रदान करता है, जिसकी सहायता वे पूरी तरह परेशानी मुक्त तरीके से निवेश संबंधी निर्णय कर सकते हैं। हमारे 25 वर्षों के अनुभव के आधार पर यह संभव हो पाया है और इस तरह ग्राहकों का निवेश संबंधी सफर बेहद आरामदेह हो जाता है।

एप्लिकेशन को 100 से अधिक विशेषज्ञों की इन-हाउस टीम द्वारा विकसित और प्रबंधित किया जाता है। यह टीम बाजार में अपनी नेतृत्व की स्थिति को बनाए रखने के लिए अक्सर नई तकनीक और नवाचारों को जोड़ने का प्रयास करती है।

स्वास्थ्य बीमा सिर्फ टैक्स बचाने का साधन ही नहीं, बल्कि आपके स्वास्थ्य और बचत को सुरक्षित रखने का माध्यम भी है- विशेषज्ञ

जयपुर 31 मार्च 2021  – वर्ष 2018 में जहां स्वास्थ्य बीमा की कुल पहुंच 35 प्रतिशत तक थी, वहीं अब कोरोना महामारी के आने के साथ ही स्वास्थ्य बीमा की मांग बहुत तेजी से बढ़ी है। हालांकि ज्यादातर भारतीय अभी भी स्वास्थ्य बीमा के तहत कवर नहीं हैं।

जो लोग स्वास्थ्य बीमा में कवर हो रहे हैं, उनमें से ज्यादातर विभिन्न सरकारी योजनाओं से जुडे़ हैं जैसे आयुष्मान भारत योजना, सीजीएचएस आदि। एक चौथाई समूह या व्यक्तिगत स्वास्थ्य बीमा में कवर होते हैं, वहीं व्यक्तिगत स्वास्थ्य बीमा की पहुंच सिर्फ 3 प्रतिशत है।

इस चुनौती के बारे में केयर हैल्थ इंश्योरेंस के डायरेक्टर एंड हैड-रिटेल सेल्स श्री अजय शाह ने कहा, ‘‘पिछले दशक में सरकार, नियामक संस्थाओं और निजी क्षेत्र के सामूहिक प्रयासों से स्वास्थ्य बीमा की पहुंच काफी हद तक बढ़ी है, हालांकि आंकडे़ साफ तौर पर बताते हैं कि ज्यादातर भारतीयों के पास किसी भी तरह का स्वास्थ्य बीमा नहीं है। यहां तक कि बीमित जनसंख्या में भी लोगों के पास  कवरेज की रकम पर्याप्त नहीं है जबकि स्वास्थ्य सेवाओं की लागत काफी बढ़ गई है और बीमारियां भी तेजी से बढ़ी हैं।’’

स्वास्थ्य बीमा की पहुंच और स्वीकार्यता बढ़ाने के मामले में इस सेक्टर के सामने सबसे बड़ी चुनौती लोगों में जागरूकता का अभाव है। हालांकि महामारी के मौजूदा दौर में स्वास्थ्य बीमा की स्वीकार्यता कुछ बढ़ी है।

लोगों को इस बारे में जागरूक करने की जरूरत है कि स्वास्थ्य बीमा के जो फायदे दिखते है, उससे कहीं ज्यादा फायदे इसमें हैं। इसके फायदों के बारे में श्री अजय शाह ने कहा, ’’ज्यादातर लोग स्वास्थ्य बीमा अपने स्वास्थ्य की दृष्टि से नहीं बल्कि किसी वित्तीय योजना के कारण या परिवार या समुदाय में लोगों को देख कर लेते हैं। हालांकि बदलती जीवनशैली और हाल की महामारी के कारण अब हम स्वास्थ्य बीमा के प्रति पहले  से ज्यादा जागरूक हुए हैं। इसके कई फायदों को देखते हुए यह जरूरी है कि लोग अपने स्वास्थ्य और पैसे को बचाने के लिए इसे अपनाएं।’’

एक पर्याप्त और सम्पूर्ण स्वास्थ्य बीमा कवरेज के कई फायदे हैं और इनमें से कुछ इस प्रकार हैं-

स्वास्थ्य सेवाओं की बढ़ती लागत को देखते हुए स्वास्थ्य बीमा आपको सुरक्षित रखता है- सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि स्वास्थ्य बीमा एक बीमारी के उपचार पर होने वाले खर्च को कवर करता है और इसमें लगभग सभी तरह की बीमारिया और एक अच्छे अस्पताल या स्वास्थ्य केन्द्र में भर्ती किए जाने वाले खर्च कवर किए जाते हैं।

आपकी जमा पूंजी को सुरक्षित करता है- स्वास्थ्य बीमा का एक महत्वपूर्ण पहलू यह है कि यह आपकी जमा पूंजी को सुरक्षित करता है। अचानक सामने आई कोई बीमारी आपकी अब तक की बचत को खत्म कर सकती है। वहीं स्वास्थ्य बीमा के लिए दिए हुए एक छोटे से प्रीमियम से आप अचानक सामने आई बीमारी के उपचार और अस्पताल में भर्ती होने के खर्च का सामना कर सकते हैं।

सेहत संबंधी एक दीर्घावधि निर्णय- इससे जु़ड़े एक अन्य पहलू के बारे में भी हमें गम्भीरतापूर्वक सोचना चाहिए कि हम जितनी देर से स्वास्थ बीमा लेने का निर्णय करते हैं, उतना ही ज्यादा प्रीमियम हमें चुकाना पड़ता है। वहीं यदि कम उम्र में स्वास्थ्य बीमा लिया जाए तो प्रीमियम काफी कम रहता है। वहीं यदि स्वास्थ्य अच्छी स्थिति में है, तो इसके वेटिंग पीरियड को पूरा किया जा सकता है जो कुछ बीमारियों के मामले में दो से चार वर्ष है। इसके अलावा हर चीज की तरह स्वास्थ्य सेवाओं की लागत भी लगातार बढ़ रही है। कल हम जिस स्वास्थ्य सेवा का खर्च आसानी से वहन कर पा रहे थे हो सकता है आज वो कहीं ज्यादा महंगी हो जाए।

टैक्स की बचत का फायदा- स्वास्थ्य बीमा चुनने का और स्वाभाविक कारण यह है कि यह आपके टैक्स को भी बचाता है।

उपरोक्त कारणों की वजह से ही यह जरूरी है कि लोग स्वास्थ्य बीमा को सिर्फ वित्तीय योजना के उपाय या टैक्स बचाने के साधन मंे रूप में नहीं बल्कि अपने स्वास्थ्य, बचत और अच्छे जीवन की सुरक्षा के लिए भी अपनाएं।

केयर हैल्थ इंश्योरेंस कारपोरेट कर्मचारियों, व्यक्तिगत ग्राहकों और वित्तीय समावेशन के लिए स्वास्थ्य बीमा उत्पाद उपलब्ध कराता है। यह कम्पनी अपने ग्राहकों को ना सिर्फ अच्छी स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध कराती है, बल्कि इसने इसका विस्तार करते हुए हाॅस्टिपलाइजेशन से आगे बढ कर  सम्पूर्ण ‘केयर’ को इसमें शामिल किया है, जिसमें बचाव के लिए नियमित स्वास्थ्य जांच, वैलनेस, डाॅक्टर से परामर्श, स्वास्थ्य जांच और घरेलू देखभाल तक शामिल है। यह संस्थान ‘केयर’ के इस सिद्धांत पर चलता है कि प्रोडक्ट डिजाइन, क्लेम्स एडमिनिस्ट्रेशन, तकनीकी विकास और ग्राहक सेवा हर क्षेत्र में ग्राहक को ही केंद्र में रखा जाए और ग्राहकों को पूरी सहायता मिले।

डॉ. अनीश शाह महिंद्रा एंड महिंद्रा के प्रबंध निदेशक और मुख्‍य कार्यकारी अधिकारी नियुक्‍त किये गये

जयपुर 31 मार्च 2021  – भारतीय बहुर्राष्‍ट्रीय कंपनी, उत्पादन की दृष्टि से भारत के सबसे बड़े वाहन निर्माताओं में से एक और दुनिया में ट्रैक्‍टर्स के सबसे बड़े निर्माता, महिंद्रा एंड महिंद्रा के निदेशक मंडल ने घोषणा की कि डॉ. अनीश शाह, जो वर्तमान में उप-प्रबंध निदेशक और समूह के मुख्‍य वित्‍तीय अधिकारी हैं, 2 अप्रैल, 2021 से प्रबंध निदेशक और मुख्‍य कार्यकारी अधिकारी का पदभार संभालेंगे।

यह घोषणा 20 दिसंबर, 2019 को शीर्ष प्रबंधन उत्‍तराधिकार घोषणा के बाद हुई है। नवंबर में, श्री आनंद महिंद्रा द्वारा नॉन-एक्‍जीक्‍यूटिव चेयरमैन की भूमिका ग्रहण किये जाने के बाद, डॉ. अनीश शाह महिंद्रा ग्रुप के इतिहास में पहले प्रोफेशनल एमडी एवं सीईओ होंगे, जिन पर महिंद्रा ग्रुप के व्‍यवसायों की देखरेख की संपूर्ण जिम्‍मेदारी होगी।

डॉ. पवन गोयनका 2 अप्रैल, 2021 से महिंद्रा एंड महिंद्रा लिमिटेड के प्रबंध निदेशक एवं मुख्‍य कार्यकारी अधिकारी व बोर्ड ऑफ डाइरेक्‍टर्स के पद से सेवानिवृत्‍त होंगे। प्रबंध निदेशक और मुख्‍य कार्यकारी अधिकारी के रूप में उनकी भूमिका में, उन पर ऑटोमोबाइल एवं फार्म इक्विपमेंट सेक्‍टर्स के देखरेख की जिम्‍मेदारी थी। राजेश जेजुरिकर, कार्यकारी निदेशक इन क्षेत्रों की संपूर्ण जिम्‍मेदारी संभालेंगे और वो डॉ. शाह को रिपोर्ट करेंगे।

महिंद्रा ग्रुप के चेयरमैन, आनंद महिंद्रा ने कहा, ”बोर्ड की ओर से, मैं पवन जी को कंपनी में उनके सैंताइस वर्ष के कॅरियर में उनके द्वारा किये गये कार्यों को सलाम करता हूं जिनके चलते कंपनी मजबूती से आगे बढ़ी है। पिछले वर्ष की पूरी अवधि में ट्रांजिशन को यथसंभव अधिकाधिक सरल एवं सुचारू बनाने के लिए उनके प्रति कृतज्ञता ज्ञापित करता हूं।”

उन्‍होंने आगे कहा, ”पिछले 75 वर्षों की हमारी सफलता और कामयाबी का एक कारण यह था कि हमने सही समय पर सही मात्रा में सही तरीके बदलाव लाये। अनीश, महिंद्रा ग्रुप के लिए उपयुक्‍त लीडर हैं। बतौर प्रबंध निदेशक और मुख्‍य कार्यकारी अधिकारी, वो महिंद्रा ग्रुप के सभी व्‍यवसायों की संपूर्ण रूप से देखभाल करेंगे, जिसमें हमारे वैश्विक परिचालन, ट्रांसफॉर्मेशन एजेंडा एवं विभिन्‍न रणनीतिक प्रोग्राम्‍स की सहक्रियाशीलता व उन्‍हें आगे बढ़ाना शामिल हैं। अनीश, राइज की भावना के प्रतीक हैं और उनमें असाधारण नेतृत्‍व क्षमता, दमदार अंतर्राष्‍ट्रीय एक्‍सपोजर है। उनमें हमारे ग्राहकों, भागीदारों और हमारे कर्मचारियों के साथ दीर्घकालिक संबंध कायम करने की विशिष्‍ट योग्‍यता है। मेरा मानना है कि भविष्‍य में महिंद्रा का नेतृत्‍व संभालने के लिए उनसे बेहतर कोई दूसरा नहीं है।”

अपनी नियुक्ति पर टिप्पणी करते हुए, डॉ. अनीश शाह ने कहा, “मैं महिंद्रा ग्रुप जैसे असाधारण संगठन जिनकी असली संपत्ति उनके लोगों में निहित है जो इसके मूल मूल्यों को अपनाते हैं और हर दिन अपने उद्देश्य को जीते हैं, का नेतृत्‍व संभालने की जिम्‍मेदारी प्राप्‍त करके अभिभूत हूं और विनम्रतापूर्वक इसे स्‍वीकार करता हूं। मुझे उम्‍मीद है कि श्री आनंद और मेरे सभी सहयोगियों के साथ मिलकर काम करते हुए हम विकास का एक नया अध्याय लिख सकेंगे और हमारे हितधारकों के जीवन में सकारात्मक बदलाव ला सकेंगे और सभी का आगे बढ़ना सुनिश्चित कर सकेंगे।”

डॉ. अनीश शाह वर्तमान में महिंद्रा समूह के उप प्रबंध निदेशक और ग्रुप सीएफओ हैं। वह 2015 में ग्रुप प्रेसिडेंट-स्ट्रेटजी के रूप में महिंद्रा में शामिल हुए, जहां उन्होंने रणनीति विकास का नेतृत्व किया; डिजिटलीकरण और डेटा विज्ञान जैसी क्षमताएं निर्मित की; समूह की कंपनियों में तालमेल सक्षम बनाया और जोखिम और प्रदर्शन समीक्षा संगठनों का प्रबंधन किया। महिंद्रा में शामिल होने से पहले, अनीश जीई कैपिटल इंडिया के अध्यक्ष और सीईओ थे, जहां उन्होंने व्यवसाय के परिवर्तन का नेतृत्व किया, जिसमें इसके एसबीआई कार्ड संयुक्त उद्यम का बदलाव शामिल था। जीई में उनका करियर 14 साल का रहा, जिस दौरान वो जीई कैपिटल की यूएस और ग्लोबल यूनिट्स में कई लीडरशिप पदों पर रहे। जीई के अलावा, उन्‍हें वैश्विक व्यवसायों में विविधतापूर्ण अनुभव भी प्राप्‍त है। उन्होंने बैंक ऑफ अमेरिका के अमेरिकी डेबिट उत्पाद व्यवसाय का नेतृत्व किया। उन्होंने मुंबई में सिटी बैंक के साथ अपने करियर की शुरुआत की और उसके बाद बैन एंड कंपनी के स्‍ट्रेटजी कंसल्‍टेंट के रूप में बोस्टन चले गये।

अनीश ने कार्नेगी मेलन के टेपर स्‍कूल ऑफ बिजनेस से पीएचडी हासिल की है। उन्‍होंने कार्नेगी मेलन से मास्‍टर डिग्री प्राप्‍त की और इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ मैनेजमेंट, अहमदाबाद से मैनेजमेंट में पोस्‍ट-ग्रैजुएट डिप्‍लोमा किया।

महिंद्रा के विषय में

महिन्द्रा समूह 19.4 बिलियन अमेरिकी डॉलर वाला कंपनियों का संघ है, जो नये-नये मोबिलिटी समाधानों के जरिए और ग्रामीण समृद्धि, शहरी रहन-सहन को बढ़ाते हुए, नये व्यवसायों को प्रोत्साहन देकर और समुदायों की सहायता के जरिए लोगों को राइज अर्थात़ उत्थान करने में सक्षम बनाता है। इसका ट्रैक्टर, उपयोगिता वाहन, सूचना प्रौद्योगिकी और वैकेशन ओनरशिप में अग्रणी स्थान है और यह वॉल्युम की दृष्टि से दुनिया की सबसे बड़ी ट्रैक्टर कंपनी है। कृषि-व्यवसाय, एयरोस्पेस, कल-पुर्जे, परामर्श सेवाओं, प्रतिरक्षा, ऊर्जा, औद्योगिक सेवाओं, लॉजिस्टिक्स, जमीन-जायदाद, खुदरा, इस्पात और दोपहिये उद्योगों में महिन्द्रा की महत्वपूर्ण मौजूदगी है। इसका मुख्यालय भारत में है। 100 से अधिक देशों में, महिन्द्रा के 2,56,000 से अधिक कर्मचारी कार्यरत हैं।

www.mahindra.com  / ट्विटर और फेसबुक: @MahindraRise पर महिंद्रा के बारे में अधिक जानें

यूनियन बैंक और एचपीसीएल ने को-ब्रांडेड कॉन्‍टैक्‍टलेस रुपे कार्ड लॉन्‍च किया

जयपुर 31 मार्च 2021  – भारत के सबसे बड़े भारतीय सरकारी बैंकों में से एक, यूनियन बैंक ऑफ इंडिया – और हिंदुस्तान पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन लिमिटेड – महारत्‍न सेंट्रल पब्लिक सेक्टर एंटरप्राइज, ने को-ब्रांडेड कॉन्टैक्टलेस रुपे क्रेडिट कार्ड के लॉन्च की घोषणा की है। इस कार्ड के उपयोगकर्ताओं को 16X रिवॉर्ड पॉइंट्स मिलेंगे, जो कि देश भर में 18000 से अधिक एचपीसीएल आउटलेट्स पर, ईंधन की कीमत के बराबर, 4% कैशबैक के बराबर होगा। यदि वे एचपी पे वॉलेट के माध्यम से ईंधन का भुगतान करते हैं, तो ग्राहक एचपीसीएल से अतिरिक्त 1.5% रिवार्ड पॉइंट्स प्राप्त करेंगे। एचपीसीएल खुदरा दुकानों पर ईंधन लेनदेन के लिए ग्राहकों को 1% ईंधन अधिभार छूट का लाभ भी मिलेगा।

एचपीसीएल के चेयरमैन एवं प्रबंध निदेशक, श्री मुकेश कुमार सुराना, यूबीआई के मुख्‍य कार्यकारी अधिकारी एवं प्रबंध निदेशक, श्री राजकिरण राय जी, एनपीसीआई के मुख्‍य कार्यकारी अधिकारी एवं प्रबंध निदेशक, श्री दिलीप असबे, एचपीसीएल के डाइरेक्‍टर मार्केटिंग, श्री राकेश मिसरी, एचपीसीएल के कार्यकारी निदेशक – रिटेल, श्री एस के सूरी, यूनियन बैंक के ईडी, श्री दिनेश कुमार गर्ग, एनपीसीआई की सीओओ, सुश्री प्रवीणा राय और अन्‍य वरिष्ठ अधिकारियों की मौजूदगी में आयोजित एक वर्चुअल इवेंट में यह कार्ड लॉन्‍च किया गया।

पहली बार को-ब्रांडेड रुपे क्रेडिट कार्ड को एनसीएमसी (नेशनल कॉमन मोबिलिटी कार्ड) फीचर के साथ लॉन्‍च किया जा रहा है, जिससे मेट्रो, बस, टैक्‍सी, उपनगरीय रेलवे से यात्रा के दौरान, टोल पर और रिटेल खरीदारियों के लिए कॉन्‍टैक्‍टलेस ट्रांजेक्‍शन किया जा सकेगा और इससे फास्‍टैग्‍स टॉप अप भी किये जा सकेंगे। इस प्रकार, एक ही कार्ड से सभी तरह की आवश्‍यकताओं के लिए भुगतान किया जा सकता है, जिससे कई कार्ड्स रखने की जरूरत नहीं रहती।

यूबीआई -एचपीसीएल कॉन्‍टैक्‍टलेस रुपे कार्ड उपयोगकर्ताओं को 300 रु. का स्वागत बोनस भी मिलेगा जिसे कार्ड एक्टिवेशन के 60 दिनों के भीतर किसी भी एचपीसीएल रिटेल आउटलेट पर ईंधन खरीदने के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है। इसके अतिरिक्त, यदि ग्राहक 5000 रु. कार्ड जारी करने के पहले महीने में वे एक प्रतिष्ठित ब्रांड से शॉपिंग वाउचर के रूप में कार्ड एक्टिवेशन बोनस के हकदार हैं।

कार्ड पर मामूली शुल्क देय है। यूबीआई- एचपीसीएल रुपे बिना कार्ड के गैर-ईंधन श्रेणी में कई लाभ और ऑफर्स के लिए संपर्क करता है और साथ ही मनोरंजन, जीवनशैली, यात्रा, खरीदारी, भोजन वितरण और पसंद भी शामिल है। कार्ड ग्राहकों को 2X रिवॉर्ड पॉइंट्स के साथ उनके सभी गैर-ईंधन खरीद के लिए इनाम देता है। इसके अतिरिक्त, रुपये खर्च करने पर। गैर-ईंधन खरीद के लिए एक वर्ष में 1.25 लाख या उससे अधिक, उपयोगकर्ताओं को 500 अंकों का वृद्धिशील मील का पत्थर पुरस्कार और 100 अतिरिक्त अंक प्राप्त होंगे। इसके बाद 25,000 खर्च होते हैं। हर खरीद लायक के लिए। 50,000 रुपये से अधिक। गैर-ईंधन खरीद के लिए 2 लाख, ग्राहकों को अतिरिक्त 1000 इनाम अंक प्राप्त होंगे।

एचपीसीएल के चेयरमैन और प्रबंध निदेशकमुकेश कुमार सुराना ने कहा, “एचपीसीएल को यूनियन बैंक ऑफ इंडिया और एनपीसीआई के सहयोग से को-ब्रांडेड रुपे क्रेडिट कार्ड लॉन्‍च करने हेतु सहयोग करने की बेहद खुशी है। इस कार्ड में नई खूबियां मौजूद हैं जिनसे ग्राहकों को अधिक सुविधा होगी। यह ”नेशनल कॉमन मोबिलिटी कार्ड” फीचर्स युक्‍त पहला को-ब्रांडेड रुपे क्रेडिट कार्ड है, जिसके उपयोगकर्ता मेट्रो यात्रा, बस यात्रा, पार्किंग फीस के भुगतान, फास्‍टैग्‍स टॉपअप्‍स के लिए इसका उपयोग कर सकेंगे। क्रेडिट कार्ड की सभी खूबियों के अलावा, इसमें अधिक पेशकश व रिवार्ड्स हैं।

एचपीसीएल न केवल हमारे उत्‍पादों बल्कि हमारी सेवाओं में भी नयी-नयी तकनीकों को अपनाने में अग्रणी रहा है। यह कॉन्‍टैक्‍टलेस यूनिफाइड रुपे क्रेडिट कार्ड, डिजिटल पेमेंट इकोसिस्‍टम्‍स को बढ़ावा देने में सहायक होगा और आधुनिक दौर की अपेक्षाएं पूरी करेगा।”

राज किरण जी. एमडी और सीईओयूनियन बैंक ऑफ इंडिया ने कहा, “हमें यह घोषणा करते हुए खुशी हो रही है कि हम रुपे प्लेटफॉर्म पर यूनियन बैंक HPCL सह-ब्रांडेड क्रेडिट कार्ड लॉन्च कर रहे हैं। HPCL के साथ हमारी साझेदारी – ईंधन खुदरा क्षेत्र में अग्रणी खिलाड़ियों में से एक है और रुपे – भारत का वैश्विक कार्ड भुगतान नेटवर्क, हमें अपने ग्राहकों के लिए मूल्य बनाने के लिए एक साथ काम करने का अवसर प्रदान करता है।”

यूनियन बैंक ऑफ इंडिया ग्राहक केंद्रित डिजाइनिंग उत्पादों और प्रक्रियाओं के लिए प्रतिबद्ध है जो जीवन जीने में आसानी को बढ़ाते हैं। मेट्रो और नॉन-मेट्रो दोनों शहरों में देश भर में ईंधन की खपत बढ़ी है। देश भर में प्रत्येक राज्य में हमारे शाखा नेटवर्क के साथ, हम मानते हैं कि इस उत्पाद से ग्राहकों को अपने दैनिक जीवन में लाभ होगा। यह सह-ब्रांडेड क्रेडिट कार्ड हमारे ग्राहकों के लिए विशेष पुरस्कार और लाभ लाता है। कैशबैक लाभ के अलावा, एचपीसीएल आउटलेट्स पर इस कार्ड का उपयोग करते समय ईंधन अधिभार की छूट है। कार्डधारक को 10 लाख रु. का दुर्घटना बीमा कवरेज भी मिलेगा।

यूनियन बैंक एचपीसीएल सह-ब्रांडेड क्रेडिट कार्ड भारत को एक कम नकद अर्थव्यवस्था बनाने के करीब ले जाता है, जिससे हमारे माननीय प्रधान मंत्री के कैश डिजिटल इंडिया ’के सपने को साकार किया जाता है।

एनपीसीआई के एमडी और सीईओ दिलीप असबे ने कहा, “हम यूनियन बैंक एचपीसीएल रुपे को-ब्रांडेड कॉन्टैक्टलेस क्रेडिट कार्ड लॉन्च करके खुश हैं। हमारा मानना ​​है कि एचपीसीएल और यूनियन बैंक के साथ हमारी साझेदारी कार्डधारकों को पुरस्कृत और आनंदमय ईंधन और गैर-ईंधन लेनदेन अनुभव प्रदान करने के लिए निर्धारित है। हमें विश्वास है कि यह कार्ड रुपे के ग्राहक आधार को मजबूत करने में मदद करेगा क्योंकि यह विभिन्न आकर्षक लाभों और पुरस्कारों के साथ आता है। इस कार्ड की लॉन्चिंग ग्राहकों को कैश-लाइट और कॉन्टैक्टलेस ट्रांजैक्शन अपनाने के लिए प्रोत्साहित करके रिटेल शॉपिंग को फिर से परिभाषित करने में एक उत्प्रेरक के रूप में भी काम करेगी।”

महिन्द्रा इलेक्ट्रिक मोबिलिटी लिमिटेड को महिन्द्रा एंड महिन्द्रा लिमिटेड के साथ जोड़ने की सैद्धांतिक मंजूरी

जयपुर 31 मार्च 2021  – महिन्द्रा भारत में इलेक्ट्रिक वाहनों और इसकी तकनीक का इस्तेमाल करने वालों में सबसे अग्रणी है। इलेक्ट्रिक वाहनों की इसकी यात्रा दो दशक पुरानी है और  “बिजली“ के साथ शुरू हुई थी, यह अपने नाम के अनुरूप भारत का पहला व्यावसायिक और सड़क के लिए उपयुक्त इलेक्ट्रिक वाहन था। तभी से इलेक्ट्रिक वाहन इसके व्यापार के  प्रमुख अंग रहे हैं और इसने यात्री तथा व्यावसयिक वाहनों की विस्तृत रेंज दी है। भारतीय सड़कों पर अभी 32 महिन्द्रा इलेक्ट्रिक वाहन चल रहे हैं और 270 मिलियन किलोमीटर की यात्रा पूरी कर चुके हैं। फ्रांस के राष्ट्रपति के बेड़े में शामिल प्यूगेट इलेक्ट्रिक टूव्हीलर से लेकर महिन्द्र ट्रेओ के जरिए महिला उद्यमियों के नए कस्टमर बेस को खोलने और महिन्द्रा ई-रेसेज तक महिन्द्रा ने अपने ग्राहकों और साझेदारों को अनूठी इलेक्ट्रिक वाहन क्षमता दिखाई है।

इलेक्ट्रिक वाहनों का व्यापार अब अपना रूप बदल रहा है और बहुत तेजी से आगे बढने जा रहा है। ऐसे समय में कम्पनी के ढंाचे में इस बदलाव से जरूरी संसाधन मिलने और लक्षित वृद्धि प्राप्त करने में सहायतता मिलेगी।

प्रमुख बिंदु

– कंसोलिडेशन ईवी आॅपरेशन्स को दो श्रेणियों में बांटेगाः लास्ट माइल मोबिलिटी (एलएमएम) और इलेक्ट्रिक व्हीकल टेक सेंटर

– कम्पनी में ढांचे को सरल बनाने से बडे़ पैमाने पर नवाचार, क्रियान्विती, उत्कृष्टता, दक्षता और मितव्ययता आएगी। इसके अलावा इससे शेयरहोल्डर वेल्यू अनलाॅक होगी।

– इससे एलएमएम वर्टीकल को लास्ट माइल मोबिलिटी साॅल्युशेन्स के लिए वेल्यू चेन का पूर्ण स्वामित्व मिलेगा और कम्पनी का काम व वृद्धि तेज होगी।

– वहीं ईवी टेक को एमआरवी, नाॅर्थ अमेरिका और यूरोप में एमएंडएम की उत्पाद विकास क्षमता के विस्तृत इकोसिस्टम का लाभ मिलेगा और संसाधनों की उपलब्धता होगी। इसके साथ ही साझेदारी की सम्भावनाओं को भी खोेजा जा सकेगा।

महिन्द्रा एंड महिन्द्रा लिमिटेड के एक्जीक्यूटिव डायरेक्टर राजेश जेजुरीकर ने कहा, ‘‘इलेक्ट्रिक वाहन आॅटोमोटिव व्यापार का भविष्य हैं। भविष्य की तैयारी के लिए हम मानते हैं कि इलेक्ट्रिक वाहनों को मुख्यधारा का व्यापार का अंग बनना चाहिए। कंसोलिडेट करने के पीछे हमारी ईवी रणनीति है जो विभिन्न सेग्मेंट्स को इलेक्ट्रीफाई करना चाहती है ताकि ई-मोबिलिटी लोकप्रिय हो सके। हम ग्राहकों की जरूरत की गहरी समझ रखते हुए इलेक्ट्रिक  वाहनों के क्षेत्र में नए उत्पाद लाते रहेंगे।’’

भारत में इलेक्ट्रिक वाहनों के क्षेत्र में काफी तेजी आई है और आने वाले समय में यह और बढ़ेगी। सिर्फ लागत की दृष्टि से ही नहीं बल्कि सस्टेनेबिलिटी की दृष्टि से भी इलेक्ट्रिक वाहन मोबिलिटी का भविष्य हैं। एमएंडएम ने पूरे ईवी इकोसिस्टम पर फोकस किया हुआ है, जिसमें लास्ट माइल कनेक्टिविटी, फ्लीट मोबिलिटी, पर्सनल मोबिलिटी और शोध व अनुसंधान शामिल है। इसमें तकनीक और नवाचार के ईंधन से तेजी सेे विकास होगा।

Friday, March 26, 2021

दिल्ली हाट की तर्ज पर संचालित होगा जयपुर का अर्बन हाट

जयपुर 26 मार्च 2021 राजस्थान उद्योग विभाग के अधीन, राजस्थान उद्यम प्रोत्साहन संसथान द्वारा विभिन्न ग्रामीण और शहरी हाटों के संचालन  के लिए दिशा निर्देश जारी किये गए हैं।

इन दिशा निर्देशों के अधीन जयपुर के अर्बन हाट का संचालन  अब दिल्ली हाट की तर्ज पर किया जायेगा, साथ ही सभी हाटों पर नियमित कार्यक्रम आयोजित करने के लिए संगठित प्रयास किये जायेंगे।

इस उद्देश्य के लिए उद्यम प्रोत्साहन संसथान के अधीन एक राज्य स्तरीय प्रकोष्ठ का गठन भी किया जा रहा है  ।  ये निर्देश राजस्थान की उद्योग आयुक्त और उद्यम प्रोत्साहन संसथान की प्रमुख श्रीमती अर्चना सिंह द्वारा गुरुवार  को जारी किये गए।

गौरतलब है की राजस्थान के माननीय मुख्यमत्री श्री अशोक गहलोत ने वर्ष 2021-22 के बजट में राज्य  के अर्बन हाटस को दिल्ली हाट की तर्ज पर विकसित करने की घोषणा की थी।  इसके अनुपालन में उद्यम प्रोत्साहन संसथान द्वारा जारी दिशा निर्देश प्रदेश के हस्तशिल्प और हथकरघा व्यवसाय को और सम्बल प्रदान करेंगे।

प्रदेश में हस्तशिल्प और हथकरघा उद्योग को बढ़ावा देने के लिए वर्ष 1995 में उद्यम प्रोत्साहन संसथान की स्थापना  की गयी थी, इसके अधीन अभी चार शहरों में अर्बन हाट और 10  ग्रामीण हाटों का संचालन  किया जा रहा है।  अब नए दिशा निर्देशों के अधीन इन हाट स्थलों पर सम्बंधित विभागों और संस्थानों के सहयोग से नियमित रूप से कार्यक्रम आयोजित किये जायेंगे। संसथान द्वारा हथकरघा, सिल्क, खादी मेले और मसाला मेलों  के साथ 14  प्रकार के आयोजनों का चिन्हीकरण किया गया है।  इन स्थलों पर होने वाले कार्येक्रमॉ का वार्षिक कैलेंडर भी तैयार कर विभाग की वेबसाइट पर उपलब्ध कराया जायेगा ताकि सम्बंधित हस्तशिल्पी और व्यापारी इनके लिए तयारी कर सकें।  नव गठित राज्य स्तरीय प्रकोष्ठ राज्य में होने वाले कार्यक्रमों में तो सहयोग करेगा ही साथ है प्रदेश के हस्तशिल्प व्यवसायिओं को राज्य के बहार होने वाले कार्यक्रमों में भाग लेने में सहायता करेगा।

गल्फ ऑयल इंडिया ने इलेक्ट्रिक मोबिलिटी को सपोर्ट करने के लिए लॉन्च किए ‘ईवी फ्लुइड्स’

मुंबई ,  , 04  अक्टूबर , 2022 -  हिंदुजा समूह की कंपनी गल्फ ऑयल लुब्रिकेंट्स ने  ‘ ईवी फ्लुइड्स ’  की विशेष श्रेणी के लिए स्विच मोबिलिटी और ...