Friday, February 12, 2021

स्पाइस मनी ग्रामीण उद्यमियों के लिए लाया जीरो इन्वेस्टमेंट पर व्यापार का अवसर

जयपुर, 12 फरवरी, 2021ः भारत की अग्रणी ग्रामीण फिनटेक कम्पनी स्पाइस मनी ने आज घोषणा की है कि यह ग्रामीण उद्यमियों के लिए अपनी तरह का अनूठा जीरो इन्वेस्टमेंट एंट्री प्रोग्राम लेकर आई है। इससे ग्रामीण उद्यमियों को बिना किसी लागत के स्पाइस मनी अधिकारी नेटवर्क का हिस्सा बनने का मौका मिलेगा। इस सीमित अवधि के जीरो इन्वेस्टमेंट प्रोग्राम के माध्यम से स्पाइस मनी पूरे देश के एक करोड़ से ज्यादा ग्रामीण उद्यामियों को वित्तीय व डिजिटल तौर पर सशक्त करेगी और इससे अर्ध शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में कम्पनी का डिजिटल पेमेंट ईकोसिस्टम मजबूत बनेगा।

हाल में केन्द्र के बजट में वित्त मंत्री ने डिजिटल पेमेंट्स पर सरकार के फोकस का उल्लेख किया था। स्पाइस मनी सरकार के इस विजन का समर्थन करती है और अर्ध शहरी व ग्रामीण क्षेत्रों में डिजिटल भुगतान को बढ़ावा देने में अपना पूरा सहयोग देना चाहती है।

जीरो इन्वेस्टमेंट एंट्री प्रोग्राम के जरिए प्रवासी श्रमिक, किराना स्टोर मालिक, नौकरी ढूंढने वाले, नए स्नातक, गृहणियां और अन्य लोग स्पाइस मनी अधिकारी नेटवर्क से जुड़ सकेंगे और अपने लिए स्वरोजगार व आजीविका के अन्य अवसर अपने ही शहरों में प्राप्त कर सकेंगे। इस समय स्पाइस मनी के पांच लाख से ज्यादा अधिकारियों में से 65 प्रतिशत से ज्यादा तीस वर्ष से कम आयु के हैं। इनमें से कई उभरते हुए उद्यमी हैं।

स्पाइस मनी के फाउंडर दिलीप मोदी ने कहा, ‘‘जीरो इन्वेस्टमेंट एंट्री प्रोग्राम के जरिए अर्धशहरी और ग्रामीण भारत के युवाओं को स्पाइस मनी अधिकारी बनने का मौका बिना किसी लागत के मिलेगा। इस प्रोग्राम से स्पाइस मनी नेटवर्क का विस्तार होगा और बैंकों व अन्य सुविधाओं से वंचित समुदायों विशेषकर देश के दूरस्थ इलाकों में रह रहे लोगों को जरूरी डिजिटल, वित्तीय और ई-रिटेल सेवाएं मिल सकेंगी। यह पहल युवा उद्यमियों को अपनी खुद की डिजिटल दुकान के जरिए खुद की आजीविका कमाने में सहयोग करने और इसके माध्यम से भारत के डिजिटल और वित्तीय भविष्य को सुरक्षित रखने का एक और प्रयास है।’’

परोपकारी-अभिनेता सोनू सूद ने कहा, ‘‘स्पाइस मनी की तकनीकी विशेषज्ञता और इसके डिजिटल इन्फ्रास्ट्रक्चर की सहायता से मुझे सभी भारतीयों विशेषकर कम विकसित क्षेत्रो में रहने वालों के लिए सामजिक आर्थिक आजादी के विजन को पूरा करने में मदद मिल रही है। मैंने लाॅकडाउन के दौरान हजारों प्रवासी श्रमिकों के संघर्ष को देखा है। अब यह समय है कि हम आगे आएं और इन वंचित लोगों को उन्हीं के कस्बों और गांवों में उनकी आजीविका कमाने में सहयोग करें। हमें हर गांव को डिजिटली सक्षम बनाना है। स्पाइस मनी के बिना लागत के शुरू होने वाले व्यापार के प्रस्ताव से मुझे विश्वास है कि हम अर्ध शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में बड़ी संख्या में रहने वाले लोगों तक पहुंच सकेंगे और उन्हें आत्म्निर्भर बनाकर खुद के व्यापार का मालिक बनने के उनके सपने को पूरा करने में सहयोग दे सकेंगे।’’

वैश्विक महामारी के कारण हुए लाॅकडाउन में बडी संख्या में प्रवासी श्रमिक और ग्रामीणों की नौकरियां चली गईं और उनके पास कोई वित्तीय संसाधन नहीं बचे। स्पाइस मनी और परोपकारी अभिनेता सोनू सूद ने मिल कर उनकी समस्या दूर करने का प्रयास किया और इसके लिए उद्यमिता के अवसर पैदा किए। इसकी टैग लाइन थी- ‘सपाइस मनी तो लाइफ बनी’। इसके जरिए लोगों को डिजिटल व वित्तीय सेवाएं प्रदान करने का उद्यमितापूर्ण प्लेटफार्म दिया गया। जीरो इन्वेस्टमेंट एंट्री प्रोग्राम इस लक्ष्य को प्राप्त करने की दिशा में बड़ा कदम है।

जीरो इन्वेस्टमेंट प्रोग्राम के अलावा स्पाइस मनी सभी मौजूदा और नए अधिकारियों के लिए रेंटल फीस भी माफ कर रही है, ताकि वे अपनी उद्यमिता और आत्मनिर्भरता की यात्रा जारी रख सकें। अपने वित्तीय समावेशन के विजन को आगे बढ़ाने के लिए कम्पनी ने एक पहल शुरू की है, जिसके जरिए अधिकारी (उद्यमी) कम्पनी के माइक्रो एटीएम या मिनी मैजिक डिवाइसेज को शून्य लागत पर हासिल कर सकेंगे। इससे देश में विशेषकर ग्रामीण क्षेत्रों में  एटीएम इन्फ्रास्ट्रक्चर को मजबूत करने में मदद मिलेगी।

स्पाइस मनी देश भर में वित्तीय समावेशन के विस्तार के  लिए युद्ध स्तर पर काम कर रही है। इसके तहत 700 जिलों के 5000 से ज्यादा ब्लॉक्स के 18 हजार पिनकोड कवर किये गए हैं।

स्पाइस मनी के बारे में

स्पाइस मनी भारत की अग्रणी ग्रामीण फिनटेक कंपनी है जिसमें 500,000 के करीब अधिकारी (उद्यमी) विभिन्न वित्तीय सेवाएं उपलब्ध कराते हैं। इन सेवाओं में कैश डिपॉजिट, नकद निकासी के लिए आधार सक्षम भुगतान प्रणाली, मिनी एटीएम, बीमा, ऋण, बिल भुगतान, ग्राहक/एजेंटों और एनबीएफसी बैंक प्रतिनिधियों के लिए कैश कलेक्शन सेंटर, एयरटाइम रिचार्ज, पर्यटन और यात्रा, ऑनलाइन शॉपिंग, पैन कार्ड और एमपीओएस सेवाएं शामिल हैं। स्पाइस मनी नेटवर्क का 90 प्रतिशत से अधिक हिस्सा अर्धशहरी और ग्रामीण इलाकों में है। स्पाइस मनी सेवाएं स्पाइस मनी ऐप (Adhikari App) और वेब पोर्टल के माध्यम से उपलब्ध हैं। इस यूजर फ्रेंडली इंटरफेस और सुपीरियर टैक्नोलाॅजी प्लेटफाॅर्म ने गूगल प्ले स्टोर पर 4.4 की स्टार रेटिंग हासिल की है। स्पाइस मनी अपनी अत्याधुनिक तकनीक और स्पाइस मनी अधिकारियों के विस्तृत नेटवर्क के माध्यम से देशभर में विभिन्न वित्तीय सेवाओं तक पहुँच में व्याप्त अंतर को कम कर रही है। अधिक जानने के लिए  विजिट करें- https://spicemoney.com/.

No comments:

Post a Comment

आईसीआईसीआई डायरेक्ट ने लॉन्च किया आईसीआईसीआई डायरेक्ट आई लर्न

मुंबई - 1 जुलाई, 2022- विभिन्न वित्तीय सेवाओं के लिए एक डिजिटल प्लेटफॉर्म आईसीआईसीआई डायरेक्ट का संचालन करने वाली कंपनी आईसीआईसीआई सिक्योरिट...