Friday, February 19, 2021

पिरामल समूह को डीएचएफएल के अधिग्रहण के लिए आरबीआई की मंजूरी मिली

जयपुर 19 फरवरी 2021  – पिरामल ग्रुप ने गुरुवार को कहा कि रिजर्व बैंक आॅफ इंडिया ने कर्ज में डूबे डीएचएफएल के अधिग्रहण के लिए कमेटी ऑफ क्रेडिटर्स (सीओसी) द्वारा अनुमोदित रिजॉल्यूशन प्लान को मंजूरी दे दी है।

सीओसी ने पिरामल ग्रुप की कंपनी पिरामल कैपिटल एंड हाउसिंग फाइनेंस लिमिटेड द्वारा प्रस्तुत रिजॉल्यूशन प्लान को पिछले महीने मंजूरी दी थी।

पिरामल ग्रुप ने एक बयान में कहा, ‘‘हम समझते हैं कि आरबीआई ने पिरामल कैपिटल एंड हाउसिंग फाइनेंस की ओर से प्रस्तुत डीएचएफएल रिजॉल्यूशन प्लान को मंजूरी दे दी है।’’

15 जनवरी, 2021 को संपन्न हुई सीओसी की 18 वीं बैठक में इस रिजॉल्यूशन प्लान को मंजूरी दी गई थी।

पिछले हफ्ते, डीएचएफएल ने दिसंबर-2020 में समाप्त तीसरी तिमाही के लिए 13,095.38 करोड़ रुपए का समेकित शुद्ध घाटा दर्शाया था, जबकि पिछले साल की समान अवधि में कंपनी ने 934.31 करोड़ रुपए का शुद्ध लाभ अर्जित किया था। सितंबर-2020 में समाप्त दूसरी तिमाही में कंपनी का शुद्ध घाटा 2,122.65 करोड़ रुपए से अधिक हो गया।

नवंबर 2019 में, रिजर्व बैंक ने दीवान हाउसिंग फाइनेंस लिमिटेड (डीएचएफएल) को इन्सॉल्वेंसी कार्यवाही के लिए नेशनल कंपनी लॉ ट्रिब्यूनल (एनसीएलटी) के समक्ष तीसरा सबसे बड़ा प्योर-प्ले माॅर्गेज लेंडर कहा था।

डीएचएफएल पहली ऐसी फाइनेंस कंपनी थी, जिसे भारतीय रिजर्व बैंक ने विशेष अधिकारों का उपयोग करके आईबीसी की धारा 227 के तहत एनसीएलटी के लिए संदर्भित किया था। इससे पहले, कंपनी के बोर्ड को हटा दिया गया था और आर सुब्रमण्यकुमार को प्रशासक नियुक्त किया गया था। वह इन्सॉल्वेंसी एंड बैंकरप्सी कोड (आईबीसी) के तहत रिजॉल्यूशन प्रोफेशनल भी हैं।

दिसंबर 2019 से कंपनी की जांच कॉर्पोरेट मामलों के मंत्रालय द्वारा गंभीर धोखाधड़ी जांच कार्यालय (एसएफआईओ) के माध्यम से की जा रही है। प्रवर्तन निदेशालय कुछ उधारकर्ताओं को दिए गए ऋण के संबंध में भी जांच कर रहा है। सीबीआई ने कंपनी द्वारा दिए गए कुछ ऋणों के संबंध में भी जांच शुरू की है।

इसके अलावा, उत्तर प्रदेश राज्य सरकार की इकाई – प्रोविडेंट फंड द्वारा कंपनी के फिक्स्ड डिपॉजिट में निवेश की गई राशि के मामले में भी सीबीआई जांच कर रही है।

वित्तीय लेनदारों ने डीएचएफएल पर 87,031 करोड़ रुपए बकाया होने का दावा किया है।

बीएसई पर प्री-क्लोजिंग सेशन में डीएचएफएल के शेयरों में 4.94 प्रतिशत की बढ़त के साथ 18.05 रुपए पर कारोबार हुआ, जबकि पिरामल एंटरप्राइजेज का शेयर 0.82 प्रतिशत बढ़कर 1,902.70 रुपए पर बंद हुआ।

No comments:

Post a Comment

आईसीआईसीआई डायरेक्ट ने लॉन्च किया आईसीआईसीआई डायरेक्ट आई लर्न

मुंबई - 1 जुलाई, 2022- विभिन्न वित्तीय सेवाओं के लिए एक डिजिटल प्लेटफॉर्म आईसीआईसीआई डायरेक्ट का संचालन करने वाली कंपनी आईसीआईसीआई सिक्योरिट...