Tuesday, February 2, 2021

टाटा पावर को ओडिशा के उत्तर पूर्वी भाग में बिजली वितरण व्यवस्था के परिचालन के लिए लेटर ऑफ़ इंटेंट (एलओआई) मिला

जयपुर 02 फरवरी 2021  –  भारत की सबसे बड़ी एकीकृत बिजली कंपनी टाटा पावर ने आज घोषणा की है कि उन्हें ओडिशा बिजली नियामक आयोग (ओईआरसी) से ओडिशा के नेस्को के पांच सर्कल्स में बिजली के वितरण और रिटेल आपूर्ति के लिए लेटर ऑफ़ इंटेंट (एलओआई) मिला है। इनमें बालासोरभद्रकबारीपाड़ाजजपुर और केओनझार यह क्षेत्र शामिल हैं।  बोली दस्तावेजों की शर्तों के अनुसार प्रबंधन नियंत्रण में 51 प्रतिशत इक्विटी हिस्सेदारी टाटा पावर के पास रहेंगी और शेष 49 प्रतिशत इक्विटी राज्य सरकार की मलिकी की जीआरआईडीसीओ के पास रहेगी।

 ओडिशा की और एक वितरण कंपनी को शामिल कर लेने के बाद अब टाटा पावर के पास ओडिशा राज्य की पूरी आबादी को बिजली सेवा देने का विशेषाधिकार होगा। राज्य के लगभग 90,00,000 उपभोक्ता अब राज्य भर में परिचालन प्रक्रियाओं में समान प्रक्रियाओं और तालमेल का अनुभव करेंगे। इस विस्तार से अब टाटा पावर की कुल उपभोक्ता संख्या में मौजूदा 96 लाख से करीबन 120 लाख तक की वृद्धि होगी।  फ़िलहाल यह कंपनी मुंबईनयी दिल्लीअजमेर और ओडिशा के मध्यदक्षिणपश्चिम भागों में बिजली वितरण और रिटेल आपूर्ति सेवाएं मुहैया कर रही है।

 इस अवसर पर टाटा पावर के सीईओ और एमडी डॉ. प्रवीर सिन्हा ने बताया, “ओडिशा के लोगों की सेवा का अवसर हमें मिल रहा है यह हमारे लिए गर्व की बात है। आधुनिकतम प्रौद्योगिकी के जरिए उपभोक्ताओं को किफायती कीमतों में बिजली की विश्वसनीय और गुणवत्तापूर्ण आपूर्ति करनेसाथ ही उन्हें सर्वोत्तम सेवाएं प्रदान करने के लिए हम प्रतिबद्ध हैं। हमें यह अवसर देने के लिए और ओडिशा के लोगों की जिंदगियों में उजियारा लाने की टाटा पावर की प्रतिबद्धता को और अधिक मजबूत करने के लिए हम ओडिशा सरकार बिजली नियामक आयोग के आभारी हैं।

 इस भार ग्रहण के साथ अब टाटा पावर के वितरण सर्कल्स में नार्थ ईस्टर्न इलेक्ट्रिसिटी सप्लाई कंपनी ऑफ़ ओडिशा लिमिटेड (नेस्को) के 27,500 चौरस किमी से ज्यादा भौगोलिक विस्तार के क्षेत्र भी शामिल होंगेजिनमें 19 लाख से ज्यादा ग्राहक हैं और ऊर्जा का सालाना इनपुट 5450 मेगा यूनिट्स है।  अब यह कंपनी 25 सालों की लाइसेंस अवधि के लिए 90,000 सीकेटी किमी से ज्यादा के नेटवर्क का प्रबंधन करेगी।

No comments:

Post a Comment

ज्योतिष हमारी वैदिक परंपरा का हिस्सा : राज्यपाल

राज्यपाल ने किया अंतर्राष्ट्रीय एस्ट्रोलॉजी कॉन्फ्रेंस का उद्घाटन जयपुर. यूनिवर्सिटी ऑफ टेक्नोलॉजी और पाल बालाजी ज्योतिष संस्थान जयपुर जोधपु...