Wednesday, February 17, 2021

एनटीपीसी ने तपोवन मृतक श्रमिकों के परिवारों को मुआवजा देना शुरू किया

जयपुर 17 फरवरी 2021: एनटीपीसी लिमिटेड ने 7 फरवरी को उत्तराखंड प्राकृतिक आपदा में अपनी जान गंवाने वाले तपोवन श्रमिकों के परिवारों को मुआवजा जारी करना शुरू कर दिया है।

15 फरवरी को तपोवन विहार के स्वर्गीय नरेंद्र जी की पत्नी श्रीमती विमला देवी को 20 लाख रुपये का पहला चेक सौंपा गया। तपोवन परियोजना के प्रमुख आरपी अहिरवार के नेतृत्व में एनटीपीसी की एक टीम ने सोमवार को श्रीमती विमला देवी के घर जा कर संवेदना व्यक्त की।

एक ओर तपोवन टीम ने मुआवजे में तेजी लाने के लिए सभी प्रक्रियाओं को अपनाना शुरु कर दिया है, वहीं एनटीपीसी ने मृत श्रमिकों के परिवारों को राज्य सरकार द्वारा जारी की गई सूची के अनुसार मुआवजा सौंपने का फैसला किया है।

इस बीच, एनटीपीसी सहित कई एजेंसियों की तरफ से सुरंग में फंसे लोगों तक पहुंचने के लिए व्यापक समन्वित कार्य के साथ लगातार नौवें दिन साइट पर बचाव अभियान पूरे जोरों पर है।

एनटीपीसी की समर्पित टीमें बचाव दलों की सहायता करके समूचे बचाव अभियान का प्रबंधन कर रही हैं। कंपनी ने हाई एंड सबमर्सिबल स्लश रिमूवल पंपों सहित ऑपरेशन को तेज करने के लिए मशीनरी को एयरलिफ्ट किया है।

गौरतलब है कि तपोवन परियोजना अचानक आई बाढ़ के खिलाफ चट्टान की तरह अडिग खड़ी रही और प्रकृति के प्रकोप को कम करने में इसकी महत्वपूर्ण भूमिका रही। उल्लेखनीय है कि परियोजना के कारण बैराज ने कई गांवों को बह जाने से बचा लिया।

एनटीपीसी ने तपोवन स्थल पर प्रशासन के साथ समन्वय स्थापित करने और प्रत्येक लापता श्रमिक के बारे में सभी आवश्यक जानकारी एकत्र करने के लिए एक कार्यबल की स्थापना की है। बचाव अभियान के लिए सभी आवश्यक मशीनरी वर्तमान में उपलब्ध हैं, जबकि किसी भी अतिरिक्त संसाधनों की आवश्यकता को युद्धस्तर पर पूरा किया जा रहा है। बचाव प्रक्रिया में तेजी लाने के लिए इसमें शामिल एजेंसियों के साथ रीयल टाइम जानकारी साझा की जा रही है।

No comments:

Post a Comment

जेईसीआरसी इनक्यूबेशन सेंटर ने किया वेंचर कैटेलिस्ट के साथ एमओयू साइन

स्टार्टअप कॉन्क्लेव इवेंट का हुआ आयोजन ,40+ स्टार्टअप ने लिया हिस्सा जयपुर। जेआईसी, जेईसीआरसी ने स्टार्टअपस और उभरते एंटरप्रेन्योरस के एक्सप...