Friday, February 26, 2021

एजिस ने भारत में खोला इंटरनेशनल डिज़ाइन सेंटर, भारत से ग्लोबल डिज़ाइन कार्यों की सेवाएं प्रदान करना इसका उद्देश्य

जयपुर 26 फरवरी 2021 – एजिस ने ग्रुप सीईओ लाॅरेन्ट जर्मेन के भारत दौरे की घोषणा की है। एजिस ने भारत को सामरिक भोगौलिक क्षेत्र के रूप में पहचाना है और लाॅरेन्ट का दौरा भारत में एजिस की मजबूती को और बढ़ाने में मदद करेगा।

श्री लाॅरेन्ट जर्मेन, सीईओ, एजिस ग्रुप ने कहा, ‘‘मैं भारत के विकास की कहानी, खासतौर पर इन्फ्रा क्षेत्र में देश के विकास से बेहद प्रभावित हूं। आज हम गर्व से कह सकते हैं कि 25 साल पहले भारतीय बाज़ार में प्रवेश के बाद से आज तक हमने सड़कों से लेकर राजमार्गों तक अपनी आॅर्डर बुक्स का विविधीकरण किया है, इनमें अन्य क्षेत्र जैसे रेलवे, विमानन, शहरी इमारतें, जल और बंदरगाह तक सभी शामिल हैं। भारत हमारे लिए सामरिक भोगौलिक क्षेत्र है और हम यहां अपने विकास की यात्रा जारी रखेंगे तथा नई उंचाईयों तक पहुंचने का प्रयास करते रहेंगे। स्वास्थ्य सेवाओं, जल आपूर्ति, रेल, रोड, वायुमार्ग, जलमार्ग और शहरी बुनियादी सुविधाओं को विशेष महत्व दिया गया है। ये सभी पहलु इस बात की पुष्टि करते हैं कि इस देश में काम करना हमारे लिए कितना महत्वपूर्ण है।’’

एजिस ने गुरूग्राम, भारत में एक डिज़ाइन सेंटर खोलने की घोषणा की है। यह सेंटर ग्रुप के अन्तर्राष्ट्रीय कारोबार के लिए अपनी सेवाएं प्रदान करेगा। भारत में एजिस का डिज़ाइन सेंटर विश्वस्तरीय परियोजनाओं के लिए काम करेगा तथा भारत के बाहर स्थित सर्वश्रेष्ठ परियोजनाओं के लिए सर्वश्रेष्ठ प्रशिक्षण एवं कौशल विकास की सुविधाएं उपलब्ध कराएगा। पौलेंड स्थित एजिस के डिज़ाइन सेंटर के अलावा यह एशिया में कंपनी का पहला और दुनिया में दूसरा सेंटर है। यह भारत की क्षमता और तकनीकी कौशल में कंपनी के भरोसे की पुष्टि करता है।

लाॅरेन्ट जर्मेन, सीईओ, एजिस ग्रुप ने कहा, ‘‘भारत को लेकर मैं बेहद उत्साहित हूं। मैं इस नई पहल को लेकर बहुत सकारात्मक हूं, हम भारत को समूह के विश्वस्तरीय कारोबार का केन्द्र बनाना चाहते हैं। भारत हमारे लिए हमेशा से महत्वपूर्ण बाज़ार रहा है और देश में पूरी कई असंख्य परियोजनाएं इस बात का प्रमाण हैं।’’

श्री संदीप गुलाटी, एमडी, एजिस इंडिया ने कहा, ‘‘एजिस पिछले दो दशकों से भारत में मौजूद है और विभिन्न क्षेत्रों में कई परियोजनाओं को सफलतापूर्वक अंजाम दे चुका है। भारत में हमें अपार अवसर दिखाई देती हैं और हम समझते हैं कि बुुनियादी सुविधाओं का तीव्र विकास भारत के विकास की कहानी का अभिन्न हिस्सा हो सकता है। सक्षम कार्यबल और विश्वस्तरीय तकनीकी क्षमताओं के साथ हम भारत के विकास में योगदान देना चाहते हैं। हम सरकारों और क्लाइन्ट्स के सहयोग से काम करते हुए साझेदारी के नए तरीकों पर ज़ोर देते रहेंगे। हम भारत में कुछ ही कंपनियों में से एक हैं जिनका इतना विविध पोर्टफोलियो है और 8 मेट्रो, 3 हवाई अड्डो एवं 3 स्मार्टसिटीज़, कई एक्सपे्रसवे, हाईवेज, जल, बंदरगाह एवं शहरी क्षेत्रों में कई परियोजनाओं के साथ हम मजबूत स्थिति पर हैं। हमें स्वास्थ्यसेवा, ओद्यौगिक क्षेत्र एवं उर्जा जैसे नए क्षेत्रों में भी अपार अवसर दिखाई देते हैं। सरकार देश में बुनियादी सुविधाओं के विकास पर निरंतर ज़ोर दे रही है और अपने कारोबार की बात करें तो हमें गर्व है कि हम राष्ट्र निर्माण में योगदान दे रहे हैं। इसक अलावा, भारत में ग्लोबल डिज़ाइन सेंटर का लाॅन्च विश्वस्तरीय डिलीवरी की हमारी क्षमता को दर्शाता है। कुल मिलाकर, हम भारत में विकास को लेकर बेहद उत्साहित हैं और हमें खुशी है कि हमें समूह से कारोबार के लिए बहुत अच्छा समर्थन मिला है।’’

पिछले दो दशकों से ग्रुप की भारत में सशक्त मौजूदगी है और कंपनी कई हाई प्रोफाइल परियोजनाओं के साथ सक्रियता से जुड़ी हुई है। इनमें शामिल है- 8 मास रैपिड ट्रांज़िट सिस्टम (मेट्रो) और दिल्ली के आस-पास सेमी-हाई स्पीड रीजनल रेल ट्रांज़िट सिस्टम, 3 स्मार्ट सिटीज़ (चण्डीगढ़, भुवनेश्वर और अजमेर) का स्थायी विकास, शहरी रूपान्तरण के पुनरूत्थान के लिए अटल मिशन (Atal Mission for Rejuvenation of UrbanTransformation -AMRUT)और मध्यप्रदेश में प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत सभी के लिए आवास; विशेष गगनचुम्बी संरचनाएं जैसे गुजरात में स्टैच्यु आॅफ युनिटी, मुंबई में छत्रपति शिवाजी मैमोरियल स्टैच्यु, राष्ट्रीय जलमार्ग और जवाहरलाल नेहरू पोर्ट ट्रस्ट; कई एक्सप्रेसवे, मुंबई की तटीय सड़कें, राष्ट्रीय राजमार्ग, राज्यों के राजमार्ग, विभिन्न भोगौलिक क्षेत्रों में 29 भारतीय राज्यों की साझेदारी में ग्रामीण सड़कें; 3 हवाई अड्डे (लखनऊ, त्रिची और पुणे), 250 बांधों के लिए बांध पुनर्वास और सुधार परियोजना जो भारत में अपनी तरह की सबसे बड़ी परियोजनाओं में से एक है और ऐसी कई प्रतिष्ठित परियोजनाएं।

एंजेल ब्रोकिंग ने भारतीय निवेशकों को अमेरिकी स्‍टॉक्‍स में निवेश करने में सक्षम बनाने हेतु वेस्‍टेड फाइनेंस के साथ साझेदारी की

जयपुर 26 फरवरी 2021  – एंजेल ब्रोकिंग ने वेस्‍टेड फाइनेंस‘ से अपनी साझेदारी के साथ भारतीय निवेशकों के लिए अंतर्राष्‍ट्रीय निवेश की सुविधा शुरू की। इससे निवेशक, अमेरिकी स्‍टॉक्‍स और ईटीएफ में बस एक बटन दबाकर आसानीपूर्वक निवेश कर सकते हैं।

वेस्‍टेड फाइनेंस के साथ इस करार से एंजेल ब्रोकिंग द्वारा उपलब्‍ध कराई जाने वाले सेवाओं की श्रृंखला बढ़ गयी है। इन नई सेवाओं के शामिल किये जाने के कई लाभ होंगेजैसे कि फ्रैक्‍शनल शेयर्स में निवेश किया जा सकेगान्‍यूनतम बैलेंस की कोई आवश्‍यकता नहीं होगीकभी भी निकासी की जा सकेगी और इसके साइन-अप की प्रक्रिया तीव्र व आसान है।

इस प्रगति के बारे में प्रतिक्रिया व्‍यक्‍त करते हुएएंजेल ब्रोकिंग के मुख्‍य विपणन अधिकारी (चीफ मार्केटिंग ऑफिसर)श्री प्रभाकर तिवारी ने बताया, ”अमेरिका सबसे बड़े अंतर्राष्‍ट्रीय बाजारों में से एक है और दुनिया की अनेक बड़ी कंपनियां नैस्‍डेक एवं डाउ ज़ोन्‍स पर सूचीबद्ध हैं। हम हमारे ग्राहकों को अवसर उपलब्‍ध करा रहे हैं जिससे वो एंजेल ब्रोकिंग वेस्‍टेड के जरिए अमेरिकी बाजारों में प्रवेश कर सकेंगे। यह निवेशकों को फ्रैक्‍शनल इन्‍वेस्टिंग का लाभ भी प्रदान करता हैजहां कोई भी निवेशकतद्नुरूप कीमत पर आंशिक स्‍टॉक खरीद सकते हैं। हमारे इस नवीनतम करार से हमारे निवेशकप्री-बिल्‍ट पोर्टफोलियोज के साथ आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस एवं जीनोम-एडिटिंग टेक्‍नोलॉजी जैसे थिमेटिक निवेश कर सकेंगे।

एंजेल ब्रोकिंग के मुख्‍य कार्यकारी अधिकारीश्री विनय अग्रवाल ने बताया, ”भारतीय ग्राहकों के लिए अमेरिकी स्‍टॉक्‍स आकर्ष हैंजिसका कारण केवल भौगोलिक विविधता ही नहीं बल्कि मुद्रा अवमूल्‍यन भी है। यह संपूर्ण रिटर्न्‍स को बढ़ा देता है। यह एक ऐसा कारण है जिसके चलते अमेरिकी स्‍टॉक बाजारों में वैश्विक इक्विटी मूल्‍य के 50 प्रतिशत से अधिक है। इस राष्‍ट्र में अपार संभावना वाले अनेक नवोन्‍मेषी मार्केट प्‍लेयर्स मौजूद हैं। हमारे वेस्‍टेड गठबंधन के साथहमें विश्‍वास है कि हमारे ग्राहक मौजूदा बाजार अवसर का अधिक से अधिक लाभ उठा सकेंगे।

वेस्‍टेड फाइनेंस के मुख्‍य कार्यकारी अधिकारी एवं सह-संस्‍थापकश्री विरम शाह ने बतायाहमने युवा एवं तकनीकी जानकार और अनुभवी स्‍टॉक मार्केट निवेशकों दोनों में ही उनके पोर्टफोलियोज को अमेरिकी बाजारों में विविधीकरण को लेकर बढ़ती रूचि देखी है। हमें एंजेल ब्रोकिंग के साथ सहयोग करने की खुशी हैक्‍योंकि वो निवेशकों को डिजिटल निवेश अवसरों को आसानीपूर्वक सुलभ कराने में अग्रणी रहे हैं। हमें उम्‍मीद है कि हम एंजेल ब्रोकिंग के साथ मिलकर इन भारतीय निवेशकों के लिए वैश्विक निवेश को अधिक सुलभ करा सकेंगे। वेस्‍टेड का उद्देश्य निवेशकों को सरलतम तरीके से उनके पोर्टफोलियो को वैश्विक रूप से विविधता प्रदान करने में सक्षम बनाना है और यह साझेदारी सही दिशा में बढ़ाया गया कदम है। हमें भारत में भौगोलिक विविधीकरण क्रांति में अग्रणी होने की बेहद प्रसन्‍नता है।

एंजेल ब्रोकिंग के विषय में:

एंजेल ब्रोकिंग (एबीएल)एनएसई पर सक्रिय क्‍लाइंट्स की दृष्टि से भारत के सबसे बड़े रिटेल ब्रोकिंग हाउसेज में से एक है। एबीएलप्रौद्योगिकी-चालित वित्‍तीय सेवा कंपनी है जो एंजेल ब्रोकिंग” ब्रांड के अंतर्गत अपने क्‍लाइंट्स को ब्रोकिंग एवं सलाहकार सेवाएंमार्जिन फंडिंगशेयर्स पर लोन्‍स एवं वित्‍तीय उत्‍पाद वितरण उपलब्‍ध कराती है। ब्रोकिंग एवं संबंधित सेवाएं(1) ऑनलाइन एवं डिजिटल प्‍लेटफॉर्म्‍सऔर (2) 14,000 से अधिक अधिकृत व्‍यक्तियों के नेटवर्क के जरिए उपलब्‍ध करायी जाती हैं।

एबीएल के एंजेल ब्रोकिंग मोबाइल एप्लिकेशन को 7.0 मिलियन से अधिक डाउनलोड किया जा चुका है और एंजेल बी मोबाइल एप्लिकेशन को 1.0 मिलियन से अधिक डाउनलोड किया जा चुका हैजिनसे ग्राहक डिजिटल तरीके से सेवाओं का लाभ ले सकेंगे। हमारी पहुंच भारत के लगभग 97.6 प्रतिशत या 18,797 पिन कोड्स के ग्राहकों तक है। एबीएलक्‍लाइंट एसेट्स में ~₹ 236,960 मिलियन का प्रबंधन करती है और इसके यहां 3.19 मिलियन परिचालनरत ब्रोकिंग एकाउंट्स हैं।

वेस्‍टेड फाइनेंस के विषय में:

वेस्‍टेड फाइनेंसजिसका मुख्‍यालय कैलिफोर्निया में है, यू.एस. सिक्‍योरिटीज एंड एक्‍सचेंज कमीशन (एसईसी) रजिस्‍टर्ड इन्‍वेस्‍टमेंट एडवाइजर (आरआईए) है जो निवेश के लिए ऑनलाइन प्‍लेटफॉर्म उपलब्‍ध कराता है ताकि भारतीय निवेशकअमेरिकी स्‍टॉक बाजार में निवेश कर सकें। कंपनी का उद्देश्‍य स्‍थानीय निवेशकों को वैश्विक निवेश करने में सक्षम बनाकर टिकाऊ संपत्ति निर्माण में समर्थ बनाना है।  ड्राइववेल्‍थस्‍थानीय बैंकोंएवं अन्‍य फिनटेक कंपनियों के साथ सहयोग करकेवेस्‍टेडअंतर्राष्‍ट्रीय निवेश को बाधाओं को काफी कम कर रहा है। कंपनी के कार्यालयसिलिकन वैली और मुंबई में हैं। अधिक जानकारी हेतुकृपया Vested.co.in पर जाएं।

ईआरएम इकोसिस्टम मजबूत करने के लिए आईसीआईसीआई लोम्बार्ड और आईआरएम की साझेदारी

जयपुर 26 फरवरी 2021 : इंटरप्राइज रिस्क क्वालिफिकेशन  (ERM) के लिए इंस्टीट्यूट ऑफ रिस्क मैनेजमेंट के भारत से संबद्ध संगठन (IRM India) आईआरएम इंडिया और देश के शीर्ष जनरल इंश्योरेंस कंपनियों से एक आईसीआईसीआई लोम्बार्ड जनरल इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड (ICICI Lombard) ने नॉलेज पार्टनरशिप के लिए एक एमओयू पर हस्ताक्षर किए हैं.

दोनों कंपनियां मिलकर मजबूत और जोखिम का सही ढंग से सामना करने वाला कॉरपोरेट भारत बनाने की दिशा में काम करेंगीं. इससे कंपनियां बिजनेस ग्रोथ मॉडल में इंटरप्राइज रिस्क मैनेजमेंट को बेहतर तरीके से अपना सकेंगीं.

आईसीआईसीआई लोम्बार्ड इस तरह की नायाब पहल के लिए आईआरएम इंडिया से पार्टनरशिप करने वाली पहली कंपनी है. आईआरएम इंडिया इंश्योरेंस सेक्टर की कंपनियों में से आईसीआईसीआई लोम्बार्ड के साथ ही काम करना चाहती है.

आईसीआईसीआई लोम्बार्ड के चीफ फाइनेंशियल ऑफिसर और चीफ रिस्क ऑफिसर श्री गोपाल बालाचंद्रन ने  इस पार्टनरशिप पर अपना नजरिया व्यक्त करते हुए कहा “ इंटरप्राइज रिस्क मैनेजमेंट आईसीआईसीआई लोम्बार्ड में हमारे निर्णय लेने की प्रक्रिया का एक अहम हिस्सा है. हमारी कोशिश रहती है कि हम अपने ग्राहकों के पसंदीदा मैनेजमेंट पार्टनर बने रहें और उन्हें टेक्नोलॉजी आधारित इंश्योरेंस सॉल्यूशंस मुहैया कराते रहें ताकि आज के चुनौतीपूर्ण दौर में अलग-अलग जोखिमों का प्रभावी ढंग से प्रबंधन हो सके. हमारा मानना है कि ईआरएम में उनकी लीडरशिप और ग्लोबल मौजूदगी को देखते हुए आईआरएम इंडिया इस दिशा में आईसीआईसीआई लोम्बार्ड का बिल्कुल आदर्श पार्टनर है.इस पार्टनरशिप से आईसीआईसीआई सभी बिजनेस सेक्टरों में रिस्क मैनेजमेंट कम्यूनिटी के साथ मिल कर उनकी चुनौतियों को समझ पाएगी और प्रभावी इंटरप्राइज रिस्क मैनेजमेंट सॉल्यूशन को विकसित कर पाएगी. ”

इस पार्टनरशिप के बारे में आईआरएम इंडिया के सीईओ श्री हर्ष शाह ने कहा, “  अर्थव्यवस्था के रफ्तार पकड़ने के दौर में कंपनियों को बदलते कारोबारी माहौल से पैदा जोखिमों के प्रति सतर्क रहना चाहिए. आईआरएम इंडिया में हमारा मकसद भविष्य के किसी भी संकट से सुरक्षा मुहैया कराना है. इसके लिए हम अग्रणी कंपनियों के साथ मिल कर ईआरएम कम्यूनिटी बनाते हैं और उसे मजबूत करते हैं. इस दिशा में हमने अपने नॉलेज पार्टनर के तौर पर आईसीआईसीआई लोम्बार्ड का चयन किया है क्योंकि यह कंपनी मार्केट लीडर है और इसके अच्छे प्रदर्शन का ठोस रिकार्ड है. ईआरएम की बुनियादी चीजों पर आधारित इकोसिस्टम को आगे बढ़ाने का इसका अच्छा रिकार्ड है. इसके इस इकोसिस्टम में इंटरप्राइज रिस्क मैनेजमेंट के विकसित और  बारीक तरीके अपनाए जाते हैं . अपनी गहरी समझ वाली लीडरशिप, गवर्नेंस फोकस, अलग-अलग तरह के अनुभव और मजबूत ईआरएम तौर-तरीकों की वजह से आईसीआईसीआई लोम्बार्ड भारतीय बिजनेस कम्यूनिटी और हमारे स्टूडेंट्स के लिए काफी मूल्यवान साबित होगी.

आईसीआईसीआई लोम्बार्ड और आईआरएम इंडिया मिलकर व्हाइटपेपर्स, कॉन्फ्रेंसों, सेमिनारों, पैनल डिस्कशन और वेबिनारों के जरिये इंटरप्राइज रिस्क मैनेजमेंट की जरूरत और इनके महत्व के बारे में जागरुकता फैलाएगी.

घरेलू पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए क्लब महिंद्रा ने लॉन्च किया अनूठा लीडरशिप कैम्पेन – ‘वी कवर इंडिया, यू डिस्कवर इंडिया’

जयपुर 26 फरवरी 2021 – महिंद्रा हॉलिडेज एंड रिसॉर्ट्स इंडिया लिमिटेड के प्रमुख ब्रांड क्लब महिंद्रा ने हाल ही में एक नया कैम्पेन – ‘वी कवर इंडिया, यू डिस्कवर इंडिया’ लॉन्च किया है। यह कैम्पेन दरअसल देश के खूबसूरत और अनजाने पर्यटन स्थलों की सैर को प्रोत्साहित करने के लिए डिजाइन किया गया है। इसमें ऊंचे और दुर्गम पहाड़ों, वन्यजीवों से लेकर समुद्र तटों तक, यानी हर यात्री के लिए यह कुछ न कुछ है। पहाड़ों, रेगिस्तानों, समुद्र तटों और बैक वॉटर के रिसॉर्ट्स के साथ क्लब महिंद्रा पूरे भारत में मौजूद है। अभियान उन अद्भुत अनुभवों को साझा करता है जो भारत में उपलब्ध हैं और किसी को इसके लिए विदेश यात्रा करने की आवश्यकता भी नहीं है।

महामारी के कारण, कई देशों में यात्रा पर प्रतिबंध लगाए गए हैं। चूंकि अंतरराष्ट्रीय उड़ानों पर  अभी भी प्रतिबंध है, ऐसे में घरेलू अवकाश यात्रा, विशेष रूप से दर्शनीय स्थलों के लिए, अभी भी डिमांड में है। भारत भर में विभिन्न स्थानों पर 60 से अधिक रिसॉर्ट्स के साथ, क्लब महिंद्रा 2000 से अधिक ऐसे अनूठे अनुभव प्रदान करता है, जिनके माध्यम से आप संपूर्णता में अपने देश को जानने का प्रयास कर सकते हैं।

अभियान के बारे में टिप्पणी करते हुए महिंद्रा हॉलिडेज एंड रिसॉर्ट्स इंडिया लिमिटेड के चीफ मार्केटिंग आॅफिसर श्री प्रतीक मजूमदार ने कहा, ‘‘इस अभियान की शुरुआत के साथ हम लोगों को देश के अनेक बेजोड़ स्थानों के पर्यटन का आनंद लेने के लिए प्रेरित करने का लक्ष्य रखते हैं। क्लब महिंद्रा का यह अनूठा आॅफर पर्यटकों को भारत की खोज करने का एक ऐसा अवसर देता है, जैसा पहले कभी नहीं था। क्लब महिंद्रा में हमारा ध्यान अपने मेहमानों के सैर-सपाटे से संबंधित अनुभवों को बेहद दिलचस्प और यादगार बनाना है। 2000 से अधिक अनूठे अनुभवों के साथ विभिन्न स्थानों पर 60 से ज्यादा रिसॉर्ट्स मौजूद हैं और हम चाहते हैं कि लोग क्लब महिंद्रा के माध्यम से भारत को नए सिरे से जानने का प्रयास करें।’’

इस अभियान को टीवी, प्रिंट और डिजिटल में मल्टीमीडिया पर तैयार और लॉन्च किया गया है, ताकि लोगों को देश भर में उपलब्ध शानदार अनुभवों के बारे में नए सिरे से जानकारी दी जा सके।

टीवी लिंक – https://youtu.be/kDFe1Hxup18

महिंद्रा हॉलिडेज एंड रिसॉट्र्स इंडिया लिमिटेड के बारे में

अवकाश आतिथ्य उद्योग में भारत की अग्रणी कंपनी महिंद्रा हॉलिडेज एंड रिसॉट्र्स इंडिया लिमिटेड (एमएचआरआईएल), मुख्य रूप से वैकेशन ऑनरशिप मैम्बरशिप के माध्यम से गुणवत्ता वाले पारिवारिक अवकाश प्रदान करती है। क्लब महिंद्रा प्रमुख ब्रांड है, कंपनी द्वारा पेश किए गए अन्य ब्रांड हैं – क्लब महिंद्रा फनडेज और हेल्थ स्पा।

31 दिसंबर, 2020 तक एमएचआरआईएल के भारत और विदेश में 70 रिसॉट्र्स हैं और इसकी सहायक कंपनी, हॉलिडे क्लब रिसॉट्र्स ओए, फिनलैंड, यूरोप की एक प्रमुख अवकाश स्वामित्व कंपनी है जिसके पास फिनलैंड, स्वीडन और स्पेन में 33 रिसॉर्ट हैं।

विजिट करें- www.clubmahindra.com

महिंद्रा ग्रुप के बारे में

महिंद्रा ग्रुप, 19.4 बिलियन अमेरिकी डॉलर की कंपनियों का फेडरेशन है जो लोगों को आवागमन के नए समाधान पाने, ग्रामीण समृद्धि को बढ़ावा देने, शहरी जीवन के विस्तार से लेकर नए व्यवसायों का पोषण करने और समुदायों को बढ़ावा देने में सक्षम बनाता है। उपयोगी वाहनों, सूचना प्रौद्योगिकी, वित्तीय सेवाओं और वैकेशन के मामले में इसकी स्थिति एक नेतृत्वकारी की रही है और उत्पादों की संख्या के आधार पर यह दुनिया की सबसे बड़ी ट्रैक्टर कंपनी है। महिंद्रा, कृषि व्यवसाय, खाद, वाणिज्यिक वाहनों, परामर्श सेवाओं, ऊर्जा, औद्योगिक उपकरण, रसद, रियल एस्टेट, स्टील, एयरोस्पेस, डिफेंस और टू-व्हीलर में अपनी मजबूत उपस्थिति का भी आनंद उठाता है। भारत में मुख्यालय वाला महिंद्रा 100 देशों में 2,56,000 से अधिक लोगों को रोजगार देता है।

होण्डा 2 व्हीलर्स इंडिया अब उत्तर भारत में 70 लाख परिवारों की पहली पसंद

जयपुर 26 फरवरी 2021 : भारतीय संचालन के अपने 20वें वर्ष में होण्डा मोटरसाइकल एण्ड स्कूटर इंडिया प्रा. लिमिटेड ने आज घोषणा की है कि उत्तरी भारत (जम्मु-कश्मीर, लद्दाख, राजस्थान, पंजाब, हरियाणा, हिमाचलप्रदेश, दिल्ली और चण्डीगढ) में इसके दोपहिया वाहनों की समग्र बिक्री 7 लाख युनिट्स के आंकड़े को पार कर गई है।

उत्तरी भारत में 70 लाख दोपहिया वाहनों की उपलब्धि तक पहुंचने की होण्डा की यात्रा

2001 में, होण्डा 2व्हीलर्स ने अपने पहले दोपहिया वाहन एक्टिवा के साथ अपना संचालन शुरू किया। इसे उत्तरी भारत में पहले 35 लाख उपभोक्ताओं तक पहुंचने में 15 साल लगे।

3 गुना गति के साथ अपने उपभोक्ताओं को संतोषजनक सेवाएं प्रदान करते हुए उत्तरी भारत में होण्डा के उपभोक्ताओं की संख्या सफलतापूर्वक दोगुनी हो गई है, मात्र 5 वर्षों में हाल ही के 35 लाख उपभोक्ता इसके साथ जुड़े हैं। इसी के साथ होण्डा अब सिर्फ उत्तरी क्षेत्र में 70 लाख से अधिक दोपहिया उपभोक्ताओं को राइडिंग का उत्कृष्ट अनुभव प्रदान कर रही है।

इस ऐतिहासिक उपलब्धि पर उपभोक्ताओं का आभार व्यक्त करते हुए श्री यदविंदर सिंह गुलेरिया, डायरेक्टर-सेल्स एण्ड मार्केटिंग, होण्डा मोटरसाइकल एण्ड स्कूटर इंडिया प्रा. लिमिटेड ने कहा, ‘‘हम पूरे उत्तरी क्षेत्र में अपने 70 लाख उपभोक्ताओं के प्रति आभारी हैं जिन्होंने होण्डा को अपना पसंदीदा दोपहिया वाहन बनाया है। वास्तव में उत्तरी क्षेत्र में हमारी पहली फैक्टरी की शुरूआत 2001 में हरियाणा में हुई। मांग बढ़ने के साथ उत्तरी क्षेत्र में ही राजस्थान में दूसरी फैक्टरी शुरू की गई। होण्डा भारत में अपने तीसरे दशक की शुरूआत करने जा रही है, इसी के साथ हम उत्तरी क्षेत्र पर ध्यान केन्द्रित करते रहेंगे। होण्डा अपने दिग्गज ब्राण्ड एक्टिवा के साथ स्कूटर सेगमेन्ट में अपने नेतृत्व को सशक्त बनाती रहेगी। साथ ही, हमारी नई BS-VI मोटरसाइकल श्रृंखला भी क्वाइट रेवोल्यूशन को प्रोत्साहित कर रही है। आने वाले समय में हमें अपने भरोसेमंद रैड विंग (डोमेस्टिक स्कूटर और मोटरसाइकल श्रृंखला) और एक्सक्लुज़िव सिल्वर विंग (300 सीसी से 1800 सीसी की रेंज में प्र्रीमियम मोटरसाइकलें) दोनों से बहुत अधिक उम्मीदें हैं।’

2001 में दिग्गज ब्राण्ड एक्टिवा के नेतृत्व में होण्डा ने उत्तर भारत में स्कूटरीकरण की लहर का नेतृत्व किया। 7 शानदार BS-VI मोटरसाइकलें (सीडी 110 ड्रीम, लीवो, एसपी125, शाईन, यूनिकॉर्न, एक्स-ब्लेड और होर्नेट 2.0) इस लहर को आगे बढ़ा रही हैं।

प्रीमियम मोटरसाइकल बिज़नेस की बात करें, तो होण्डा अपने एक्सक्लुज़िव बिग विंग नेटवर्क के माध्यम से अपने प्रशंसकों तक पहुंच रही है।

पहले से, जयपुर और लुधियाना में होण्डा के 2 बिगविंग (300-500 सीसी मिड-साइज़ प्रीमियम मोटरसाइकल के लिए) और गुरूग्राम में 1 होण्डा बिगविंग टॉपलाईन (300 सीसी से शुरू होने वाली सम्पूर्ण प्रीमियम मोटरसाइकल रेंज के लिए) अपना संचालन शुरू कर चुके हैं और जल्द ही उत्तरी क्षेत्र में कई और बिग विंग नेटवर्क शामिल किए जाएंगे।

उत्तरी क्षेत्र में समाज के प्रति होण्डा की प्रतिबद्धता

कारोबार के दायरे से आगे बढ़कर, होण्डा समाज के अनुकूल कंपनी बनने के लिए प्रयासरत है। उत्तरी क्षेत्र में होण्डा की 2 मैनुफैक्चरिंग युनिट्स हैं जो मनेसर (हरियाणा) और तापुकारा (राजस्थान) में हैं।

ग्रामीण शिक्षा, महिला सशक्तीकरण, स्वास्थ्यसेवा, सड़क सुरक्षा शिक्षा और सामुदायिक विकास के क्षेत्र में अपनी सीएसआर पहलों के माध्यम से होण्डा उत्तरी क्षेत्र में 9 लाख से अधिक लोगों को लाभान्वित कर चुकी है।

इसके अलावा एक ज़िम्मेदार कॉर्पोरेट होने के नाते, होण्डा अपने 5 टै्रफिक ट्रेनिंग पार्कों (जयपुर, लुधियाना, करनाल, दिल्ली) और ऊना स्थित 1 सेफ्टी ड्राइविंग एजुकेशन सेंटर के माध्यम से सड़क सुरक्षा पर जागरुकता का प्रसार कर रही है।

साथ ही, होण्डा के 11 अडॉप्टेड कौशल संवर्धन केन्द्र (आईटीआई) नौकरी उन्मुख तकनीकी कौशल के साथ गुरूग्राम, रोहतक, पानीपत, बद्दी, भटिंडा, जोधपुर, कोटा, पटियाला, दिल्ली (3) के स्थानीय युवाओं को सशक्त बना रहे हैं।

Thursday, February 25, 2021

इलेक्ट्रिक वाहनों को प्रोत्साहन देने के लिए रीको की पहल

 जयपुर 25 फरवरी 2021 – शुक्रवार को  राजस्थान राज्य औद्योगिक विकास और निवेश निगम (रीको) इलेक्ट्रिक वाहनों (ईवी) और संबंधित कंपोनेंट्स के निर्माण में निवेश को प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से वेबिनार का आयोजन करने जा रहा है। वेबिनार संभावित निवेशकों को आमंत्रित करने के लिए राज्य के उद्योग विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ नीति आयोग के इंफ्रास्ट्रक्चर कनेक्टिविटी एंड इलेक्ट्रिक मोबिलिटी सलाहकार सुधेन्दु ज्योति सिन्हा भी शामिल होंगे।

राजस्थान मोटर वाहन निर्माण में देश का एक प्रमुख गंतव्य स्थान बनने के बाद इलेक्ट्रिक वाहन (ईवी) और संबंधित कंपोनेंट्स में विनिर्माण के लिए गंतव्य स्थान बनने की ओर अग्रसर है। राज्य में वेबिनार के दौरान ‘कंपोनेंट मैन्युफैक्चरिंग और रोबस्ट ईवी इकोसिस्टम’ को बढ़ावा देने के लिए गहन चर्चा होगी।

यस बैंक के साथ राजस्थान सरकार की सर्वोच्च औद्योगिक विकास एजेंसी रीको वेबिनार का आयोजन कर रही है। वेबिनार में, श्रीराम पिस्टन एंड रिंग्स के प्रबंध निदेशक और सीईओ श्री अशोक कुमार तनेजा सहित सोना कॉमस्टार के एमडी और ग्रुप सीईओ श्री विवेक विक्रम सिंह, महिंद्रा इलेक्ट्रिक के सीईओ श्री महेश बाबू, ओकिनावा ऑटोटेक के प्रबंध निदेशक श्री जीतेंद्र शर्मा, और टाटा केमिकल्स के हेड इनोवेशन और सीक्यूएच – बिजनेस एक्सीलेंस डॉ. रिचर्ड लोबो भी विचार व्यक्त करेंगे।

एस्सार का रिन्यूएबल एनर्जी में प्रवेश

जयपुर 25 फरवरी 2021 – एस्सार ग्लोबल फंड (ईजीएफएल) की निवेश कंपनी एस्सार पावर लिमिटेड के बोर्ड ने मध्य प्रदेश में 90 मेगावॉट पीवी सौर ऊर्जा संयंत्र के लिए 300 करोड़ रुपये के निवेश को मंजूरी दे दी है. यह निर्णय अक्षय ऊर्जा क्षेत्र में कंपनी के प्रवेश को चिह्नित करता है.

नवीकरणीय ऊर्जा में प्रवेश ईजीएफएल के रणनीतिक निर्णय का हिस्सा है, जिसके तहत ये ब्रिटेन में हाइड्रोजन पावर और भारत में कोल एनर्जी में निवेश करने के बाद कोयला ऊर्जा से हरित ऊर्जा की तरफ बढते हुए अपने पावर पोर्टफोलियो को पुन:संतुलित करेगा.

ये फंड अगली दो तिमाहियों में निवेश करने वाली कंपनियों के डिलेवरेजिंग कार्यक्रम को पूरा होता देखेगी. यह 10,000 करोड़ रुपये के शेष ऋण को चुकाने का इरादा रखता है जो कि बड़े पैमाने पर बिजली पोर्टफोलियो में है.

श्री कुश सिंह, सीईओ, एस्सार पावर लि. ने कहा, “ये निर्णय हमारे ऊर्जा पोर्टफोलियो को पुनर्संतुलित करने की रणनीतिक योजना के अनुरूप है. चरणबद्ध तरीके से यह बदलाव कंपनी को 10,000 करोड़ रुपये के मौजूदा स्तर को मौजूदा परिसंपत्तियों के पुनर्गठन और मॉनेटाइजेशन के जरिए 3,000 करोड़ रुपये तक लाने की अनुमति देगा और साथ ही हम आगे भी ग्रीन पोर्टफोलियो में निवेश कर सकेंगे.”

सीबीएम जैसी अपरंपरागत ऊर्जा उत्पादन और हमारी स्टेनलो रिफाइनरी, ब्रिटेन में चल रही हाइड्रोजन जेनरेशन प्रोग्राम जैसे पहल से हासिल की गई शानदार सफलता के मद्देनजर, अक्षय ऊर्जा में एस्सार का प्रवेश कोल सेक्टर से बाहर निकलने में मददगार साबित होगा. इससे ईजीएफएल की ईएसजी मानकों के प्रति प्रतिबद्धता और मजबूत होगी और ये स्थिरता अनुपालन में एक गोल्ड स्टैंडर्ड को चिह्नित करेगा.

श्री सिंह ने कहा, “स्टैनलो रिफाइनरी, यूके में चल रहे हाइड्रोजन जेनरेशन प्रोग्राम के साथ-साथ, हमने अपने निवेश के विकास के नए चरण की ओर कदम बढा दिया है. हमने ये कदम 2030 तक अक्षय ऊर्जा के 450 गीगावाट की स्थापित क्षमता के महत्वाकांक्षी लक्ष्य को बढ़ावा देने और प्राप्त करने के लिए भारत सरकार की महत्वकांक्षा के अनुरुप उठाया है.”

प्रस्तावित बिजली संयंत्र मध्य भारत के मध्य प्रदेश के दतिया जिले में 105 हेक्टेयर भूमि पर भांडेर में स्थापित होने वाला एक सौर फोटोवोल्टिक परियोजना है और इसे दो भागों में निष्पादित किया जाएगा. पहला हिस्सा 33.7 मेगावाट और दूसरा हिस्सा 56.17 मेगावाट का होगा.

इस संयंत्र से उत्पन्न बिजली को 132 केवी स्तर पर इवैकुएट किया जाएगा और इसे भांडेर 132/33 केवी एमपीपीटीसीएल सबस्टेशन से जोड़ा जाना प्रस्तावित है, जो लगभग 5 किमी की दूरी पर स्थित है और मध्य प्रदेश के भीतर औद्योगिक उपभोक्ताओं को इसकी आपूर्ति की जाएगी. इस परियोजना के जून 2022 तक पूरा होने की उम्मीद है.

एस्सार पावर की वर्तमान परिचालन क्षमता लगभग 3185 मेगावाट है. ईजीएफएल ने 12,000 करोड़ रुपये की इक्विटी सहित पावर पोर्टफोलियो में लगभग 32,000 करोड़ रुपये का निवेश किया है. ईजीएफएल ने 465 किमी अंतर्राज्यीय ट्रांसमिशन सिस्टम का निर्माण करके ट्रांसमिशन व्यवसाय में भी निवेश किया है, जो तीन भारतीय राज्यों में फैला हुआ है. कंपनी ने अपना कैपेक्स कार्यक्रम पूरा कर लिया है और यह ऑपरेटिंग परिसंपत्तियों की लाभप्रदता बढ़ाने पर केंद्रित है.

फंड के ऊर्जा पोर्टफोलियो के अन्य दो व्यवसाय भी भारत और यूके में प्रगति पथ पर हैं. एस्सार ऑयल एक्सप्लोरेशन एंड प्रोडक्शन लिमिटेड  देश का सबसे बड़ा अपरंपरागत एनर्जी प्लेयर है और खनिज समृद्ध पूर्वी क्षेत्र में कोल बेड मीथेन  गैस के एक स्तंभ के रूप में उभरा है.

Wednesday, February 24, 2021

बजाज अलियांज लाइफ ने लॉन्च किया शानदार एन्यूटी प्रोडक्ट

जयपुर 24 फरवरी 2021  : भारत के प्रमुख जीवन बीमाकर्ता में से एक बजाज आलियांज लाइफ ने आज अपने वैल्यू पैक्ड एन्यूटी (पेंशन) प्लान- बजाज आलियांज लाइफ गारंटीड पेंशन गोल को लांच किया है. ये प्लान विभिन्न प्रकार के ग्राहकों की पेंशन आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए डिज़ाइन किया गया है और नौ एन्यूटी विकल्प में से चुनने की पेशकश करता है. यह एकमात्र जीवन बीमा योजना है जो एक रेगुलर प्रीमियम डेफर्ड एन्यूटी ऑप्शन प्रदान करती है. इससे पॉलिसीधारकों को सेवानिवृत्ति के समय अपनी पेंशन राशि की नियमित समय तक भुगतान गारंटी में सक्षम बनाती है. इसके अलावा, यह प्लान पॉलिसीधारकों के जीवनसाथी को अपने जीवनकाल के दौरान गारंटीकृत आय प्राप्त करने का भी एक विकल्प देती है. इसके अलावा रिटर्न ऑफ परचेज प्राइस (आरओपी) सुनिश्चित करके नॉमिनी के लिए एक विरासत छोड़ी जा सकती है.

जैसे-जैसे स्वास्थ्य देखभाल की लागत बढ़ती जा रही है, वैसे-वैसे एक मजबूत पेंशन योजना होना आवश्यक है, जो व्यक्तियों को सेवानिवृत्ति के बाद भी इन खर्चों को पूरा करने में मदद करेगा.  यह पेंशन पॉलिसीधारक के जीवनकाल की जरूरतों को पूरा करने में सक्षम होना चाहिए, जो जीवन प्रत्याशा में सुधार के साथ-साथ बढ़ रही है. इसलिए, वित्तीय समाधान, जैसे कि बजाज आलियांज लाइफ गारंटीड पेंशन गोल, एक बेहतर समाधान है, क्योंकि यह नियमित आय की गारंटी देता है, जब तक पॉलिसीहोल्डर जीवित है. यह संभव है क्योंकि बीमा प्लान पॉलिसी खरीदने के समय वार्षिकी राशि (एन्यूटी अमाउंट) को लॉक करती है, और यह जीवन भर के लिए निर्धारित रहती है.

बजाज आलियांज लाइफ के एमडी और सीईओ, श्री तरुण चुघ ने कहा, “अन्य विकासशील देशों की तरह, भारत भी बढ़ती उम्र और जीवन प्रत्याशा दर में सुधार के साथ जनसांख्यिकीय परिवर्तन से गुजर रहा है. अब एक बेहतर जिन्दगी जीने की लागत बढ़ रही है, और न्यूक्लियर फैमिली सेट अप संपन्न हो रहा है. लेकिन एक व्यापक सामाजिक सुरक्षा प्रणाली हमारे पास मौजूद नहीं है. यह विकासशील वातावरण व्यक्तियों को अपने सेवानिवृत्त जीवन के लिए बचत करने को महत्वपूर्ण बनाता है, जो आमतौर पर काम करने के बाद 25-30 वर्षों का समय (आमतौर पर भारत में 60 वर्ष) होता है. हालांकि, कई बचत उपकरण हैं जो सेवानिवृत्ति के बाद के समय के लिए फंड बनाने में मदद करेंगे, लेकिन एन्यूटी प्लान लोगों को उनके सेवानिवृत्त जीवन के बाद निरंतर तरीके से आय प्राप्त करने के लिए सबसे प्रभावी उपकरण हैं. किसी भी व्यक्ति के सेवानिवृत्त जीवन की योजना को सुविधाजनक बनाने के लिए, हमने अपने नवीनतम उत्पाद बजाज आलियांज लाइफ गारंटीड पेंशन गोल में नियमित प्रीमियम सुविधा के साथ डॆफर्ड एन्यूटी की शुरुआत की है. यह अपनी तरह की पहली सुविधा है, जो हमारे ग्राहकों को अधिक सुविधा देगी और पॉलिसीधारकों को उनके सेवानिवृत्त जीवन के दौरान भी अपनी जीवनशैली को बनाए रखने में मदद करेगी.”

बजाज आलियांज लाइफ गारंटीड पेंशन गोल पॉलिसी होल्डर्स को तत्काल वार्षिकी योजना के माध्यम से तत्काल नियमित आय का विकल्प चुनने के लिए या आस्थगित वार्षिकी योजनाओं (डेफर्ड एन्यूटी) के माध्यम से बाद में आय शुरू करने में सक्षम बनाती है. इसे लोगों को अपनी सेवानिवृत्ति आय को सुरक्षित रखने में मदद करने के लिए डिज़ाइन किया गया है.

बजाज आलियांज लाइफ गारंटी पेंशन गोल की प्रमुख विशेषताएं:

प्लान निम्नलिखित वैल्यू पैक्ड सुविधाएं प्रदान करती है:

1) गारंटीकृत आजीवन नियमित आय: पॉलिसीधारक के लिए एक सुरक्षित वित्तीय भविष्य और उनकी पेंशन राशि को वार्षिक / अर्धवार्षिक / त्रैमासिक या मासिक रूप से प्राप्त करना, पॉलिसी की शुरुआत में वार्षिकी (पेंशन) राशि निर्धारित की जाती है. वार्षिकी (पेंशन) का भुगतान पॉलिसीधारकों को उनके जीवन में उनकी पसंद और आवश्यकता के अनुसार नियमित रूप से किया जाता है.

2) दोनों जिन्दगी के लिए निरंतर भुगतान के साथ ज्वायंट लाइफ ऑप्शन:: पॉलिसीधारक की मृत्यु के बाद, जीवनसाथी को देय 50% या 100% वार्षिकी (पेंशन) के साथ ज्वायंट लाइफ एन्यूटी (पेंशन) लेने का विकल्प है. इस प्रकार उनके परिवार के जीवन लक्ष्यों को सुनिश्चित करना इसका लक्ष्य है, तब भी जब वे इस दुनिया में नहीं होते.

3) पूंजी की वापसी (परचेज प्राइस): चाहे ग्राहक सिंगल लाइफ या ज्वायंट लाइफ ऑप्शन चुनें, प्लान मृत्यु पर संपूर्ण पूंजी प्राप्त करने का विकल्प प्रदान करती है. यह प्लान सर्वाइवल पर रिटर्न ऑफ परचेज प्राइस विकप्ल के साथ भी आता है. दोनों मामलों में पेंशन आजीवन देय है.

  1. पॉलिसीधारक की मृत्यु पर पहले विकल्प में, खरीद मूल्य नामित व्यक्ति को वापस कर दिया जाएगा
  2. दूसरे विकल्प में, खरीद मूल्य 85 वर्ष की आयु में पॉलिसीधारक को पेंशन जारी रखने के साथ वापस कर दिया जाता है. 75 वर्ष की आयु से वार्षिक किस्तों में खरीद मूल्य भी प्राप्त कर सकते हैं.

4) चुनने के लिए नौ एन्यूटी (पेंशन) विकल्प: पॉलिसीधारक अपने सेवानिवृत्ति के बाद लक्ष्य को पूरा करने के लिए एन्यूटी (पेंशन) विकल्पों की एक विस्तृत श्रृंखला में से अपने लिए सबसे सही चुन सकते हैं. ये हैं

  1. लाइफ एन्यूटी
  2. मृत्यु पर लाइफ एन्यूटी रिटर्न ऑफ परचेज प्राइस
  3. 5/10/15/20 वर्ष के लिए लाइफ एन्युटी गारंटी
  4. जीवनसाथी को 50% एन्यूटी के साथ ज्वायंट लाइफ
  5. जीवनसाथी को 100% एन्यूटी के साथ ज्वायंट लाइफ
  6. जीवनसाथी की 100% के एन्यूटी के साथ ज्वाय्ंट लाइफ लास्ट सर्वाइवर और लास्ट सर्वाइवर की मौत पर खरीद मूल्य की वापसी के साथ
  7. मृत्यु / सर्वाइवल पर खरीद मूल्य की वापसी के साथ लाइफ एन्यूटी
  8. मृत्यु पर खरीद मूल्य के साथ लाइफ एन्यूटी या सर्वाइवल पर वार्षिक किश्तों में
  9. पारिवारिक पेंशन

 5) 5 से 10 साल की प्रीमियम भुगतान अवधि; एकल प्रीमियम विकल्प भी उपलब्ध: पॉलिसीधारक अपनी सुविधानुसार 5 से 10 वर्ष की अवधि के लिए या एक बार प्रीमियम का भुगतान करने जैसे चुन सकता है.

6) एन्यूटी (पेंशन) फ्रीक्वेंसी को बदलने का विकल्प: पॉलिसीधारक के पास किसी भी पॉलिसी की वर्षगांठ पर वार्षिकी (पेंशन) भुगतान आवृत्ति को बदलने का विकल्प होगा.

7) गारंटीड एडिशन (जीए): डेफर्ड एन्युइटी पॉलिसी के मामले में गारंटीड एडिशन जोड़े जाते हैं.  यह एन्यूटी पेमेंट से पहले होता है.

 उत्पाद के नियम और शर्तों, जोखिम कारकों, एक्सक्लुजन आदि के बारे में अधिक जानकारी के लिए और बजाज अलियांज लाइफ के बीमा पोर्टफोलियो की पूरी श्रृंखला जानने के लिए, कृपया हमारी वेबसाइट देखें: https://www.bajajallianzlife.com/

पिरामल ग्रुप ने कल्पेश किकानी को पिरामल अल्टरनेटिव्स के सीईओ के रूप में नियुक्त करने की घोषणा की

जयपुर 24 फरवरी 2021  – पिरामल एंटरप्राइजेज लिमिटेड (‘PEL’, NSE: PEL, BSE: 500302) ने आज कल्पेश किकानी को इसके 11,000 करोड़ रुपए से अधिक के एयूएम वाले अल्टरनेटिव्स बिजनेस के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) के रूप में नियुक्त करने की घोषणा की। अल्टरनेटिव्स बिजनेस पिरामल ग्रुप की सहायक कंपनियों और संयुक्त उद्यमों द्वारा प्रबंधित किया जाता है, जो सीडीपीक्यू, सीपीपीआईबी, एपीजी, इवानो कैम्ब्रिज और बैन कैपिटल जैसे वैश्विक निवेशकों के साथ पिरामल ग्रुप की लंबे समय की भागीदारी का लाभ उठाते हैं।

कल्पेश को निवेश और वित्तीय सेवाओं की दुनिया में पच्चीस साल की विशेषज्ञता हासिल है, जिसमें एआईओएन कैपिटल (अपोलो ग्लोबल मैनेजमेंट और आईसीआईसीआई समूह के बीच एक जेवी) में प्रबंध निदेशक के रूप में एक दशक का अनुभव शामिल है। एआईओएन कैपिटल मूल्य, ऋण और नियंत्रण पर ध्यान केंद्रित करने के साथ एक भारत केंद्रित निजी इक्विटी व्यवसाय के निर्माण में अग्रणी है। एआईओएन में, कल्पेश ने 1.25 बिलियन डाॅलर से अधिक की पूंजी जुटाने और इसका उपयोग करने के कार्य का नेतृत्व किया और इसकी अनेक पोर्टफोलियो कंपनियों के बोर्डों में सेवाएं प्रदान की।

इससे पहले, कल्पेश ने आईसीआईसीआई बैंक में 15 साल से अधिक का समय बिताया। कल्पेश ने बैंक के वाणिज्यिक बैंकिंग व्यवसाय को 10 बिलियन डाॅलर से अधिक और स्ट्रक्चर्ड फाइनेंस बिजनेस को 5 बिलियन डाॅलर से अधिक के स्तर पर पहुंचाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। इससे पहले, कल्पेश ने लंदन में बैंक के कॉर्पोरेट और निवेश बैंकिंग व्यवसाय को खड़ा किया और इसे 4 बिलियन डाॅलर तक पहुंचाया। इससे पहले कल्पेश आईसीआईसीआई लिमिटेड और आईसीआईसीआई बैंक लिमिटेड के विलय के समय खुदरा बैंकिंग टीम का हिस्सा थे। कल्पेश ने आईसीआईसीआई लिमिटेड में प्रोजेक्ट फाइनेंस में अपना करियर शुरू किया, जहां उन्होंने मल्टीबिलियन डॉलर कॉर्पोरेट और इन्फ्रास्ट्रक्चर फाइनेंसिंग में भाग लिया।

कल्पेश के पास कंप्यूटर साइंस में बैचलर ऑफ इंजीनियरिंग की डिग्री है और वे बॉम्बे यूनिवर्सिटी से फाइनेंस में एमबीए और सीएफए इंस्टीट्यूट, यूएसए के सदस्य हैं।

पिरामल ग्रुप के एक्जीक्यूटिव डायरेक्टर आनंद पिरामल ने कल्पेश की नियुक्ति पर टिप्पणी करते हुए कहा, ‘‘हम पिरामल परिवार में कल्पेश का स्वागत करते हुए बहुत खुशी का अनुभव कर रहे हैं। कल्पेश वैश्विक स्तर और मानकों वाला अल्टरनेटिव्स बिजनेस खड़ा करने का समृद्ध अनुभव अपने साथ लेकर आए हैं। साथ ही, भारत में सफलतापूर्वक निवेश करने का 25 साल से अधिक का ट्रैक रिकॉर्ड और प्रमुख वैश्विक निवेशकों के साथ मजबूत संबंधों का अनुभव भी उन्हें है।

एक तरफ विश्व स्तर पर, वैकल्पिक संपत्ति पिछले 10 वर्षों में बढ़कर 11 ट्रिलियन यूएस डाॅलर से अधिक हो गई है और दूसरी तरफ भारत में परिसंपत्ति वर्ग मंे 20 प्रतिशत सीएजीआर से अधिक की बढ़ोतरी दर्ज की गई है, जिससे यह भारत के उच्चतम विकास अवसरों में से एक बन गया है।

हमारी इच्छा विविध परिसंपत्ति वर्गों में एक विश्व स्तरीय वैकल्पिक व्यवसाय बनाने की है, जो भारतीय व्यवसायों द्वारा आवश्यक दीर्घकालिक जोखिम पूंजी के एक महत्वपूर्ण घाटे को दूर करने में मदद करता है और इस तरह वे देश की अर्थव्यवस्था को 5 ट्रिलियन डाॅलर की अर्थव्यवस्था बनाने में मदद करते हैं। अल्टरनेटिव्स बिजनेस पिरामल ग्रुप में नए दौर के डिजिटल रूप से संचालित, विविध वित्तीय सेवाओं के समूह के निर्माण की दिशा में एक और कदम है।’’

पिरामल अल्टरनेटिव्स के नवनियुक्त सीईओ कल्पेश किकानी ने कहा, ‘‘मैं पिरामल टीम में शामिल होने को लेकर बहुत उत्साहित हूं। पिरामल अल्टरनेटिव्स के पास एक महत्वपूर्ण व्यवसाय मॉडल है, जिसने अपनी श्रेणी में सर्वश्रेष्ठ वैश्विक निवेशकों के साथ भागीदारी की है, और जो निजी ऋण, निजी इक्विटी, और बुनियादी ढांचे को मिलाकर एक अग्रणी अल्टरनेटिव्स बिजनेस विकसित करने के लिए तत्पर है। जैसे-जैसे भारतीय अर्थव्यवस्था विकसित होती है, पिरामल अल्टरनेटिव्स हाई क्वालिटी वाले ऐसे भारतीय कॉर्पोरेट्स को कस्टमाइज्ड फाइनेंशियल साॅल्यूशंस का एक महत्वपूर्ण प्रोवाइडर हो सकता है, जो अपनी क्षमता को अधिकतम करने के लिए प्रयास कर रहे हैं।’’

एसएमसी ग्‍लोबल सिक्‍योरिटीज लिमिटेड ने स्‍टॉक एक्‍सचेंजों पर अपने इक्विटी शेयर्स सूचीबद्ध किये

जयपुर 24 फरवरी 2021  – एसएमसी ग्‍लोबल सिक्‍योरिटीज लिमिटेड, जो कि भारत की विविधीकृत वित्‍तीय सेवा कंपनी है, के इक्विटी शेयर्स आज 24 फरवरी, 2021 को नेशनल स्‍टॉक एक्‍सचेंज ऑफ इंडिया लिमिटेड और बॉम्‍बे स्‍टॉक एक्‍सचेंज लिमिटेड पर सूचीबद्ध हो गये।

एसएमसी ग्‍लोबल ने एनएसई पर ओपनिंग बेल की रिंगिंग के साथ राष्‍ट्रीय स्‍टॉक एक्‍सचेंजों पर पहली बार शेयर्स सूचीबद्ध किये। ये शेयर्स एनएसई पर 90.90 रु. और बीएसई पर 91.60 रु. पर सूचीबद्ध हुए।

लिस्टिंग से जुड़े इस आयोजन के अवसर पर नेशनल स्‍टॉक एक्‍सचेंज के प्रबंध निदेशक एवं मुख्‍य कार्यकारी अधिकारी, एसएमसी ग्‍लोबल सिक्‍योरिटीज के चेयरमैन एवं प्रबंध निदेशक, श्री सुभाष सी. अग्रवाल, एसएमसी ग्‍लोबल सिक्‍योरिटीज लिमिटेड के सह-संस्‍थापक, वाइस-चेयरमैन एवं प्रबंध निदेशक, श्री महेश सी. गुप्‍ता और कंपनी के अन्‍य प्रबंधन एवं स्‍वतंत्र निदेशकों की गरिमामय मौजूदगी रही।

इस आयोजन के दौरान, एसएमसी कैपिटल्‍स लिमिटेड और पीएचडी चैंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्‍ट्री (पीएचडीसीसीआई) के तत्काल पूर्व के प्रेसिडेंट, डॉ. डी.के. अग्रवाल, एनएसई लिमिटेड के चीफ बिजनेड डेवलपमेंट ऑफिसर, श्री रवि वाराणसी, एनएसई लिमिटेड के चीफ बिजनेस ऑफिसर, ऑल प्रोडक्‍ट्स, हरि के., एनएसई लिमिटेड के चीफ बिजनेस ऑफिसर, कमोडिटी एवं आईएफएससी, श्री नागेन्‍द्र कुमार, एनएसई लिमिटेड के वाइस प्रेसिडेंट एवं हेड, बिजनेस डेवलपमेंट, नॉर्थ, श्री गौरव कपूर, एनएसई लिमिटेड के चीफ मैनेजर, श्री भुवनेश शर्मा भी उपस्थित थे।

लिस्टिंग सेरेमनी के बारे में अपने विचार व्‍यक्‍त करते हुए, नेशनल स्‍टॉक एक्‍सचेंजप्रबंध निदेशक एवं मुख्‍य कार्यकारी अधिकारीश्री विक्रम लिमये ने कहा, एनएसई के मुख्‍य बोर्ड प्‍लेटफॉर्म पर एसएमसी ग्‍लोबल का स्‍वागत करते हुए हमें बेहद खुशी हो रही है। हमें विश्‍वास है कि ब्रोकिंग इंडस्‍ट्री की यह कंपनी वित्‍तीय समावेशन एवं डिजिटल क्रांति में महत्‍वपूर्ण भूमिका निभायेगी।

 इस उपलब्धि को हासिल करने के बारे में अपने विचार व्‍यक्‍त करते हुए, एसएमसी ग्‍लोबल सिक्‍योरिटीज लिमिटेड के श्री सुभाष सी अग्रवाल ने कहा, आज का दिन एसएमसी ग्‍लोबल के लिए एक महत्‍वपूर्ण उपलब्धि का दिन है और हम आगे के सफर को लेकर बेहद उत्‍साहित हैं। एसएमसी की सुविविधीकृत वित्‍तीय सेवाओं में विकास की भारी संभावना एवं अवसर मौजूद हैं और हमें उम्‍मीद है कि हम हमारे क्‍लाइंट्स एवं निवेशकों को यथासंभव सर्वोत्‍तम सेवा प्रदान कर सकेंगे। हमारी सार्वजनिक हिस्‍सेदारी व्‍यापक रूप से विविधीकृत है और इस लिस्टिंग से हमारे शेयरधारकों को लिक्विडिटी मिल सकेगी। मैं हमारे सभी शेयरधारकों को धन्‍यवाद देना चाहूंगा जिन्‍होंने इस रोमांचक नये सफर के रास्‍ते पर बढ़ाया है। यह उपलब्धिग्राहकोन्‍मुखी एप्रोच के जरिए वित्‍तीय एवं निवेश सेवाओं में दमदार स्थिति वाले वैश्विक संगठन बनने की हमारी आकांक्षा को पूरा करने की दिशा में बढ़ाया गया एक कदम है।

गोदरेज लॉक्स ने स्‍मार्ट किचेन स्‍टोरेज समाधान ब्रांड ‘स्किडो’ लॉन्‍च किया

जयपुर 24 फरवरी 2021 : गोदरेज एंड बॉयसजो गोदरेज ग्रुप की प्रतिष्ठित कंपनी हैने आज घोषणा की कि इसकी व्‍यावसायिक इकाईगोदरेज लॉक्‍स एंड आर्किटेक्‍चरल फिटिंग्‍स एंड सिस्‍टम्‍स की नजर अगले पांच वर्षों में इसके गोदरेज किचेन फिटिंग्‍स एवं सिस्‍टम्‍स बिजनेस से 100 करोड़ रु. का राजस्‍व हासिल करने पर टिकी है। कंपनी ने स्‍मार्ट किचेन स्‍टोरेज समाधानों की अभिनव रेंजस्किडो – स्‍मार्ट किचेन ड्रॉअर्स एंड ऑर्गेनाइजर्स लॉन्‍च किया है। भारतीय किचेन की विशिष्‍ट आवश्‍यकताएं पूरी करने के लिएकंपनी ने स्किडो तैयार कियाजो भारत में डिजाइन किया गया है और भारत में ही निर्मित है।

इस रेंज में आठ प्रोडक्‍ट्स हैं – जिसमें किचेन ड्रॉअर्स एवं कटलरी, कप एवं सॉसर, वॅक, फ्राइ पैन, कंटेनर्स, एवं जार व बॉटल्‍स के लिए ऑर्गेनाइजर्स शामिल हैं।

स्किडो, भारतीय किचेन्‍स और खाना पकाने की अलग शैली का अध्ययन करने के लिए कंपनी द्वारा किए गए व्यापक शोध का परिणाम है। अध्‍ययन से प्राप्‍त जानकारियों के आधार पर, गोदरेज लॉक्‍स ने ऐसे नये स्‍टोरेज समाधानों की स्किडो रेंज तैयार की जिनसे किचेन यूजर्स के जीवन को आसान और बेहतर बनाया जा सके। कंपनी का लक्ष्य पश्चिमी समाधानों पर निर्भरता को कम करना है जो कि उपभोक्ताओं के लिए एकमात्र विकल्प थे, और भारतीय किचेन के लिए अनुकूलित समाधान प्रदान करना है। स्किडो स्टोरेज सॉल्यूशंस इंस्टॉल करने में आसान हैं, संभालने में आसान हैं और बहुपयोगी हैं।

स्किडो के लॉन्च पर टिप्पणी करते हुए कहा, श्याम मोटवानीईवीपी और बिजनेस हेडगोदरेज लॉक्स एंड आर्किटेक्चरल फिटिंग्स एंड सिस्टम्स, “भारतीय मॉड्यूलर किचन का कारोबार 2,500 करोड़ रु. का है और 2019-2024 के दौरान इसके 27% से अधिक सीएजीआर से बढ़ने का अनुमान है। हमें इस सेगमेंट में जबरदस्त वृद्धि की संभावना नजर आ रही है, चूंकि पिछले वर्ष हमारी कुल बिक्री का 4% इसी सेगमेंट से हुआ था। अगले कुछ वर्षों के लिए, हमारा जोर इस खंड से 100 करोड़ रु. का राजस्व प्राप्त करना होगा। हमने रसोई के सामान में नए सिरे से मांग देखी है कि आधुनिक भारतीय परिवार अब अपनी रसोई का उपयोग पहले से अधिक कर रहे हैं और प्रभावी समाधान तलाश रहे हैं। यह मांग निश्चित रूप से विकास का वाहक होगी।”

गोदरेज लॉक्‍स, वर्ष 2015 से किचेन सिस्‍टम्‍स श्रेणी में मौजूद है। इस व्यवसाय के तहत, कंपनी विभिन्‍न तरह के उत्‍पाद उपलब्‍ध कराती है जैसे कि अर्गो ड्रॉअर्स, वायर बास्‍केट्स, कॉर्नर सॉल्‍यूशंस, टॉल यूनिट्स, सॉफ्ट प्रो सिस्‍टम्‍स, ड्रॉअर चैनल्‍स, एवं हिंजेज। स्किडो, इस सेगमेंट की नवीनतम पेशकश है। स्किडो की शुरुआती कीमत 15000-20000 रु. प्रति सेट है और यह सामान्‍य ट्रेड एवं हार्डवेयर स्‍टोर्स में उपलब्‍ध होगा।

वी ने हंगामा के सहयोग से वी मुवीज़ एण्ड टीवी ऐप पर लाॅन्च की प्रीमियम वीडियो ऑन डिमांड (पीवीओडी) सर्विस

जयपुर 24 फरवरी 2021  – अग्रणी दूरसंचार ब्राण्ड वी ने आज हंगामा डिजिटल मीडिया एंटरटेमेन्ट की ओर पेश की गई डील्स के साथ अपने पे पर व्यू सर्विस माॅडल का लाॅन्च किया है। यह भारत के उभरते प्रीमियम वीडियो आॅन डिमांड (पीवीओडी) बाज़ार में किसी दूरसंचार सेवा प्रदाता द्वारा पेश की गई अपनी तरह की पहली पेशकश है।

इसके साथ वी के उपभोक्ता चार भाषाओं- हिंदी, अंग्रेज़ी, तमिल और तेलुगु में 380 से अधिक फिल्मों का आनंद उठा सकेंगे, जिनमें मास्टर फिल्म निर्माता क्रिस्टोफर नोलन द्वारा पेश की गई 2020 की सबसे चर्चित फिल्म- ‘टेनेट’ भी शामिल है।

भारत में पीवीओडी बाज़ार अपनी शुरूआती अवस्था में हैं, किंतु यह तेज़ी से विकसित हो रहा है, भारतीय उपभोक्ता आज कीमत और पंसद को लेकर बेहद सजग हो गया है। महामारी के दौर के बाद पीवीओडी माॅडल्स में तेज़ी से बदलाव आ रहे हैं, आज उपभोक्ता अपने घर में आराम से बैठकर मनोरंजन के विकल्पों का आनंद उठाना चाहते हैं।

टीवी मुवीज़ एण्ड टीवी पे पर व्यू माॅडल हमारी मनोरंजन पेशकश का प्राकृतिक विस्तार है। मौजूदा पेशकश के साथ उपभोक्ता अपने रीचार्ज या पोस्ट-पेड प्लान के मुताबिक बिना किसी अतिरिक्त लागत के कंटेंट देख सकते हैं। पे पर व्यू लाॅन्च के तहत उपभोक्ता को सिर्फ उसी कंटेंट के लिए कीमत चुकानी होगी, जिसे वे अपनी पसंद की भाषा में देखना चाहते हैं।

इस साझेदारी पर बात करते हुए अवनीश खोसला, सीएमओ, वी ने कहा, ‘‘वी उपभोताओं के लिए नए प्रस्ताव एवं लागत प्रभावी पेशकश लाने के लिए शीर्ष पायदान के कंटेंट प्रदाताओं के साथ निरंतर साझेदारियां कर रहा है। अर्थव्यवस्था और मनोरंजन कारोबार धीरे-धीरे पटरी पर लौटने लगे हैं, इसी बीच कंटेंट उपयोग के नए माॅडल विकसित हो रहे हैं, जहां उपभोक्ता किसी विशेष कीमत पर एक विशेष कंटेंट देखना चाहते हैं। आधुनिक एवं साझेदारी उन्मुख कंटेंट रणनीति के साथ हम दूरसंचार जगत में यह अनूठी पहल लेकर आए हैं। हमें उम्मीद है कि हमारे जैसी सोच वाले हंगामा डिजिटल जैसे साझेदारों के साथ काम करते हुए हम इस सेगमेन्ट में तेज़ी से विकसित हो सकेंगे।’’

साझेदारी पर बात करते हुए सिद्धार्थ राॅय, सीओओ, हंगामा डिजिटल मीडिया ने कहा, ‘‘इंटरनेशनल स्टुडियोज़ के साथ साझेदारी के माध्यम से हंगामा प्ले, हाॅलीवुड ब्लाॅकबस्टर्स की थिएटर में रिलीज़ के कुछ ही सप्ताहों के भीतर अपने उपयोगकर्ताओं को पे पर व्यू माॅडल के आधार पर इनका आनंद उठाने का अवसर प्रदान करता है। हंगामा प्ले की इस ट्राज़ैक्शनल सर्विस तथा वी मुवीज़ एण्ड टीवी के एकीकरण से उपयोगकर्ता अपने फोन पर ही हाॅलीवुड की नई फिल्मों के साथ विश्वस्तरीय मनोरंजन का आनंद उठा सकेंगे। वी के साथ हमारी लम्बी एवं अच्छी साझेदारी रही है और हमें विश्वास है कि इस नई साझेदारी से आॅन-डिमांड सेवाओं का दायरा विस्तारित होगा, और वी के उपयोगकर्ता इनका आनंद उठा सकेंगे।’’

वी और हंगामा के बीच की यह साझेदारी भारत में डिजिटल प्रणाली को प्रोत्साहित करेगी जिससे वी के उपभोक्ता हाॅलीवुड की प्रीमियम फिल्मों का आनंद उठा सकेंगे। ऐसे कुछ टाइटल जो इस पहल के तहत वी के उपभोक्ताओं के लिए उपलब्ध हैं, उनमें शामिल हैं- टेनेट, जोकर, बर्ड्स आॅफ प्रे, स्कूब, एक्वामैन आदि।

2020 की कई अन्य फिल्मों के साथ टेनेट अब वी के उपभोक्ताओं के लिए रु 120 की आकर्षक कीमत पर उपलब्ध होगी, जबकि अन्य फिल्में रु 60 पर उपलब्ध होंगी। यह हंगामा मुवीज़ के लिए बाज़ार की सर्वश्रेष्ठ कीमतें हैं। उपयोगककर्ता एक फिल्म टाइटल रेंट पर ले सकते हैं और 48 घण्टे के भीतर अपने घर में आराम से बैठकर इसका लुत्फ़ उठा सकते हैं। उनके पास फिल्म को क्रोमकास्ट करने और बड़े पर्दे पर देखने का विकल्प भी होगा।

“वाविन-वेक्टस” की संयुक्तरूप से प्रथम चैनल पार्टनर मीट जश्न के साथ संपन्न हुई

जयपुर। बिल्डिंग और इंफ्रास्ट्रक्चर इंडस्ट्री के ग्लोबल लीडर वाविन ने वॉटर स्टोरेज टैंक्स और पाइपिंग सिस्टम के क्षेत्र में देश की बहुप्रतिष्ठ...