Saturday, January 2, 2021

गत वर्ष की चुनौतियों और नव वर्ष से अपेक्षाओं के बारे में वेदांता लिमिटेड के चेयरमैन, श्री अनिल अग्रवाल का कथन

जयपुर 02 जनवरी 2021 -‘हम उन सभी कोविड वॉरियर्स और सरकार द्वारा उठाये गये कदमों को लेकर उनके प्रति आभारी हैं जिन्होंने पिछले नौ महीने में हमें सुरक्षित रखा है। उपयुक्त रूप से, हम अब भारत को आत्मनिर्भर बनाने के पथ पर अग्रसर हैं। आत्मनिर्भर भारत के लक्ष्‍य के अनुरूप वर्ष 2020 में अनेक महत्वपूर्ण संरचनात्मक सुधार हुए हैं। भारत जैसे युवा राष्ट्र में रोजगार सृजन को सर्वोपरि प्राथमिकता प्राप्त है, जहां हर वर्ष लाखों युवा कार्यबल में शामिल होने हेतु तैयार हैं।

 प्राकृतिक संसाधन क्षेत्र मेंआयात पर निर्भरता कम करना सर्वाधिक महत्वपूर्ण है। इससे हमें तेल एवं गैस क्षेत्र में आयात पर होने वाले खर्च को काफी हद तक करने में मदद भी मिलेगीऔर इससे देश को ऊर्जा व संसाधन की सुरक्षा प्राप्‍त हो सकेगी। खनन एवं धातु (मेटल्स) क्षेत्र मेंपर्यावरण की पर्याप्त सुरक्षा सुनिश्चित करते हुए, 500 खदानों को खोलने का बहुत व्‍यापक प्रभाव पड़ेगाचूंकि खनन का बहुगुणक असर सर्वविदित है। आजभारत में खनन देश की जीडीपी का 2 प्रतिशत से भी कम हैलेकिन व्‍यावसायिक रूप से टिकाऊ खनन को आसान बनाने पर जोर देने वाली प्रगतिशील नीतियों सेइसकी हिस्‍सेदारी बढ़कर 6-8 प्रतिशत तक जा सकती है। उक्त नीतियों के अंतर्गत परिचालन करते हुएप्रौद्योगिकी एवं नवाचार के प्रभावी उपयोग से कार्बन फुटप्रिंट घटेगा। भारत के पास दुनिया का सबसे जिम्मेदारीपूर्ण खनन एवं निर्माण वाहक बनने के लिए अपार अवसर उपलब्‍ध हैजिससे हमारे लोगों के लिए आजीविका के नये-नये अवसर पैदा होंगे।

 आने वाले वर्षों मेंदुनिया भर के देशों को साथ मिलकर पारिस्थितिकी तंत्र को अधिक टिकाऊ बनाने हेतु कार्य करना होगाताकि समुदाय अधिक समृद्ध बन सकें। वेदांताहमारे प्रसिद्ध नंदघर प्रोग्राम के जरिए जरुरतमंद लोगों के उत्थान के लिए लगातार कार्य करता रहेगा और यह प्रोग्राम, कोविड-काल में डिजिटल तकनीक जरिए महिलाओं व बच्चों की सहायता करने में अग्रणी रहा है।

No comments:

Post a Comment

अपने दिल के स्वास्थ्य को सुरक्षित रखें केयर हेल्थ इंश्योरेन्स के एक्सक्लुज़िव हार्ट इंश्योरेन्स प्लान के साथ

29 सितम्बर, 2022: इस विश्व हृदय दिवस के मौके पर हर दिल की सुरक्षा के लिए दिल से सोचें। अपने दिल का इस्तेमाल प्रकृति, मानवता के लिए और सबसे ज़...