Thursday, January 7, 2021

एचएफसीएल ने उत्पादन शुरू करने के बाद पहले साल में वाईफाई प्रोडक्ट पोर्टफोलियो की एक लाख यूनिट की शिपमेंट पूरी की

जयपुर 07 जनवरी 2021 – भारत की अग्रणी टेलीकाॅम कम्पनी एचएफसीएल ने वाईफाई एक्सेस पाॅइंट्स और पाॅइंट टू पाॅइंट अनलाइसेंस्ड बैंड रेडियो वाले वायरलैस नेटवर्किंग पोर्टफोलियो की एक लाख यूनिट की शिपमेंट पूरी कर ली है। एचएफसीएल ने यह उपलब्धि प्रोडक्शन शुरू करने के बाद एक वर्ष से भी कम समय में हासिल की है। एक लाख यूनिट की शिपमेंट पूरी करने के बाद एचएफसीएल के वाईफाई रेंज के प्रोडक्ट पूरे देश में पहुंच गए हैं और विभिन्न श्रेणियों के ग्राहकों की जरूरतों को पूरा कर प्रतिदिन कई टेराबाइट डाटा प्रोसेस कर रहे हैं।

पूरा प्रोडक्ट पोर्टफोलियो एचएफसीएल ने भारत में ही डिजाइन, विकसित  और निर्मित किया है और इस प्रक्रिया में वैश्विक आवश्यकताओं का ध्यान रखा गया है। ये प्रोडक्ट अभी आईओ.ए ब्रांड नाम से बेचे जा रहे हैं। एचएफसीएल की आईओ रेंज के प्रोडक्ट पोर्टफोलियो में वाईफाई इंडोर और आउटडोर एक्सेस पाॅइंट्स तथा अनलाइसेंस्ड बैंड में  पाॅइंट टू पाॅइंट और पाॅइंट टू मल्टीपल रेडियो तथा जीरो टच प्रोविजनिंग वे नेटवर्क एलीमेंट्स के आसान प्रबंधन के लिए बडे पैमाने पर क्लाउड प्लेटफार्म शामिल है।

इस उपलब्धि के बारे में एचएफसीएल के मैनेजिंग डायरेक्टर महेन्द्र नाहटा कहते हैं, ‘‘आज के परिदृश्य में उंची बैंडविड्थ की बहुत ज्यादा मांग है, ऐसे में निर्बाध कनेक्टिविटी और उपकरण ग्राहकों के लिए जीवनरेखा की तरह जरूरी हो गए हैं ताकि वे अपने कार्यस्थल और परिवार के साथ डिजिटली कनेक्ट रह सकें। एचएफसीएल द्वारा स्वयं डिजाइन और उत्पादित किए गए एक्सेस पाॅइंट्स और अनलाइसेंस्ड बैंड रेडियो उन ग्राहकों के लिए सबसे ज्यादा स्वीकार्य और टिकाऊ नेटवर्किंग साॅल्यूशंस साबित हुए हैं, जिन्हें उच्च प्रदर्शन और बडे़ पैमाने पर काम करने वाले उत्पाद चाहिए। हम हमारे मेड इन इंडिया उत्पादों के जरिए  वैश्विक स्तर पर विस्तार की योजना बना रहे हैं और आत्मनिर्भर भारत के लक्ष्य को पूरा करने में हम सक्रिय भूमिका निभाते रहेंगे।’’

कम्पनी का लक्ष्य है कि भारत को टेलीकाॅम उत्पादों में अत्याधुनिक नवाचार और निर्माण का हब बनाया जाए। देश में 2021 में 5जी की शुरूआत होने जा रही है। ऐेसे में एचएफसीएल भारत के ग्राहकों की अत्याधुनिक कम्युनिकेशन जरूरतों को पूरा करने के लिए पूरी तरह तैयार है ताकि भारत की 4 जी कनेक्टिविटी को बूस्ट किया जा सके और 5 जी के लिए इसकी तैयारी को बढाया जा सके।

एचएफसीएल के बारे में

एचएफसीएल लिमिटेड (हिमाचल फ्यूचरस्टिक कम्युनिकेशन लिमिटेड) एक अग्रणी टेलीफोनी उद्यम है जो उच्च क्षमता के ट्रासंमिशन और एक्सेस उपकरण, आॅप्टिकल फाइबर, आॅप्टिकल फाइबर केबल्स आदि का निर्माण करता है और टेलीकाॅम सेवा प्रदाताओं, रेलवे, रक्षा, स्मार्ट सिटी और सर्विलांस प्रोजेक्ट्स के लिए आधुनिक कम्युनिकेशन नेटवर्क तैयार करने में विशेषज्ञ है।

कम्पनी का स्वयं का सेंटर फाॅर एक्सीलेंस इन रिसर्च गुडगांव और बंगलुरू में स्थापित है। इसके अलावा कई आरएंडडी हाउसेस और भारत तथा विदेश में कई स्थानों पर साझेदारों के साथ मिल कर शोध व अनुसंधान का काम किया जाता है तथा टेक्नोलाॅजी उत्पादों व साॅल्युशंस की भविष्य की रेंज तैयार की जाती है। स्वयं के शोध व अनुसंधान केन्द्र में कम्पनी ने वाईफाई सिस्टम, अनलाईसेंस्ड बैंड रेडियो, क्लाउड मैनेजमेंट सिस्टम और वीडियो मैनेजमेंट सिस्टम तैयार किए हैं। इसके अलावा कई उत्पाद विकसित किए जा रहे है, जिनमें इलेक्ट्रिोनिक फ्यूज, इलेक्ट्रो आॅप्टिक डिवाइस, साॅफ्टवेयर डिफाइन्ड रेडियो, स्विच, राउटर, इंटेलिजेंट एंटेना सिस्टम और ग्राउंड सर्विलांस रडार शामिल हैं।

कम्पनी की अत्याधुनिक आॅप्टिकल फाइबर और आॅप्टिकल फाइबर केबल निर्माण यूनिट हैदराबाद में है आॅप्टिकल फाइबर केबल निर्माण प्लांट गोवा में और इसकी सब्सिडरी एचटीएल लिमिटेड चेन्न्ई में है। इसके अलावा एफआरपी राॅड निर्माण युनिट होसुर में है। इसके अलावा सोलन में एक टेलीकाॅम उपकरण निर्माण युनिट भी है।

कम्पनी पिछले सात वर्ष से 27 प्रतिशत रेवेन्यू और 23 प्रतिशत लाभ का सीएजीआर बनाए हुए है।इसके अलावा वित्तीय वर्ष 2020 में आरओसीई 21.50 प्रतिशत था तथा डेट इक्विटी रेश्यो 0.43 था। वित्तीय वर्ष 2021 की पहली छमाही में कम्पनी की कुल आय 1762.24 करोड़ रुपए थी और कर चुकाने के बाद लाभ 74.66 करोड़ रुपए था।

No comments:

Post a Comment

जेकेके में महाकाव्य महाभारत पर आधारित नाटक 'उरूभंगम' का हुआ मंचन

जयपुर।  जवाहर कला केंद्र (जेकेके) के  रंगायन  में पाक्षिक नाट्य योजना के तहत रंग साधना थिएटर ग्रुप, जयपुर द्वारा शनिवार शाम को नाटक 'उरू...