Friday, January 8, 2021

होण्डा के एक्टिवा ब्राण्ड ने भारतीय 2 व्हीलर उद्योग में रचा नया इतिहास

जयपुर 08 जनवरी 2021 –  होण्डा 2व्हीलर्स इंडिया ने आज घोषणा की है कि भारत के नंबर 1 बिकने वाले स्कूटर ब्राण्ड ‘एक्टिवा’ ने अब नई उपलब्धि हासिल कर ली है क्योंकि यह भारतीय दोपहिया उद्योग के इतिहास में 2.5 करोड़ उपभोक्ताओं के आंकड़े को पार करने वाला एकमात्र स्कूटर ब्राण्ड बन गया है।

उल्लेखनीय है कि, 20 साल पहलेे जब भारत के स्कूटर बाज़ार में तेज़ी से गिरावट आ रही थी, होण्डा ने 2001 में अपने पहले दो पहिया वाहन- 102 सीसी एक्टिवा के साथ इस सेगमेन्ट में सोलो एंट्री की और उसके बाद इतिहास रच दिया! पिछले सालों के दौरान होण्डा के ब्राण्ड एक्टिवा ने अपने नए ठैटप् अवतार तक पहुंचने तक कई उल्लेखनीय उलपब्धियां हासिल की हैं।

2.5 करोड़ भारतीय परिवारों को पंख देने वाली और भारत को गति प्रदान करने वाली एक्टिवा की यात्रा
एक्टिवा के साथ भारत के जुड़ाव की कहानी हर पीढ़ी के साथ मजबूत होती चली गई। 2001 में अपनी शुरूआत के मात्र 3 सालों के अंदर एक्टिवा 2003-04 तक स्कूटर सेगमेन्ट में निर्विवादित लीडर बन गया। अगले 2 सालों में इसने 10 लाख उपभोक्ताओं का ऐतिहासिक आंकड़ा भी पार कर लिया।

टेकनोलाॅजी के क्षेत्र में लीडरशिप तथा निर्धारित समय से पहले विकास जारी रखते हुए, ब्राण्ड एक्टिवा 15 सालों के अंदर 2015 में शुरूआती 1 करोड़ उपभोक्ताओं के आंकड़े तक पहुंच गया। स्कूटर की लोकप्रियता बढ़ने के साथ, एक्टिवा ब्राण्ड ने भारत को गति प्रदान करना जारी रखा और भारतीय परिवारों की पहली पसंद बन गया। यह ब्राण्ड की लोकप्रियता ही है कि हाल ही में मात्र पांच सालों में 3 गुना गति के साथ इसके परिवार में 1.5 करोड़ उपभोक्ता शामिल हो गए।

इस ऐतिहासिक उपलब्धि पर आभार व्यक्त करते हुए श्री अत्सुशी ओगाता, मैनेजिंग डायरेक्टर, प्रेज़ीडेन्ट एवं सीईओ, होण्डा मोटरसाइकल एण्ड स्कूटर इंडिया प्रा. लिमिटेड ने कहा, ‘‘2001 में अपने लाॅन्च के बाद से, फिर चाहे 100-110 सीसी इंजन हो या नया पावरफुल 125 सीसी इंजन, एक्टिवा परिवार की सफलता का रहस्य इसकी लीडरशिप में बरक़रार है। 20 सालों से एक्टिवा तकनीकी इनोवेशन में अग्रणी है और कभी कभी उद्योग जगत के नियमों से एक दशक आगे रहा है। होण्डा की पेटेंटेड टफ-अप ट्यूब हो या 2001 में क्लिक ;ब्स्पब्द्ध मैकेनिज़्म, 2009 में होण्डा का काॅम्बी ब्रेक सिस्टम विद इक्वीलाइज़र, 2013 में 10 फीसदी ज़्यादा माइलेज देने वाली क्रान्तिकारी होण्डा ईको टेक्नोलाॅजी ;भ्म्ज्द्ध या मैच् से पावर्ड स्मार्ट भ्म्ज् च्ळड.थ्प इंजन और ठै.टप् दौर में दुनिया की पहली टम्बल-फ्लो टेक्नोलाॅजी; एक्टिवा ब्राण्ड की हर पीढ़ी लगातार विकसित होते हुए स्कूटर सेगमेन्ट में क्रान्तिकारी बदलाव लाती रही है और भारत को नई गति प्रदान करती रही है। हमें खुशी है कि दिग्गज ब्राण्ड एक्टिवा के प्रति भारत का प्यार हमेशा से अपने चरम पर है।’’

एक्टिवा ब्राण्ड की 2 दशक की यात्रा पर विचार व्यक्त करते हुए श्री यदविंदर सिंह गुलेरिया, डायरेक्टर- सेल्स एण्ड मार्केटिंग, होण्डा मोटरसाइकल एण्ड स्कूटर इंडिया प्रा. लिमिटेड ने कहा,‘‘ऐसा बहुत कम होता है कि एक दोपहिया वाहन युटिलिटी की अवधारणा से कहीं आगे बढ़कर उपभोक्ताओं की भावनाओं के साथ जुड़ जाए और समाज का अभिन्न हिस्सा बन जाए, जैसा कि एक्टिवा ने कर दिखाया है। इस अवधि में हमारे आस-पास बहुत कुछ बदला है, किंतु स्कूटर खरीदने की बात करें तो एक्टिवा भारतीय परिवारों की पहली पसंद बना रहा है। पीढ़ियां लगातार विकसित होती रहीं, छोटे बच्चे पिलियन राइडर बने और फिर पहली बार वाहन चलाने लगे, इसी तरह पहली बार दोपहिया वाहन चलाने वाली महिलाओं से लेकर दादा-दादी की पीढ़ी तक, हर कोई एक्टिवा से जुड़ा रहा है; होण्डा को गर्व है कि एक्टिवा ब्राण्ड इस महान देश को गति प्रदान करने में उल्लेखनीय भूमिका निभा रहा है। हमारे बहुत से उपभोक्ता हर पीढ़ी के साथ जुड़ी एक्टिवा की यादों को साझा करते हैं। धन्यवाद भारत! 2.5 करोड़ उपभोक्ताओं ने एक्टिवा को आपकी रोज़मर्रा की राईड का गोल्ड स्टैण्डर्ड बना दिया है।’’

उल्लेखनीय है कि इस विकास का श्रेय तकनीकी उन्नति को जाता है, जिसके चलते एक्टिवा दोपहिया उद्योग में अग्रणी स्कूटर बन गया है। 20 साल पहले आए एक्टिवा की हर पीढ़ी ने भारतीय राइडरों को समय से पहले आधुनिक विश्वस्तरीय तकनीकों के साथ जोड़ा है- फिर चाहे वह 2009 में कोम्बी-ब्रेक सिस्टम हो (नियमों से एक दशक पहले), 2013 में होण्डा ईको टेक्नोलाॅजी ;भ्म्ज्द्ध या एन्हान्स्ड स्मार्ट पावर ;मैच्द्ध टेक्नोलाॅजी और 2020 में एक्टिवा 6 जी में 26 नए पेटेंट ऐप्लीकेशन्स।

एक्टिवा- दिग्गज ब्राण्ड की 20 सालों की शानदार यात्रा
साल उपलब्धि मुख्य उपलब्धियां
2001.02
15 साल में पहले 1 करोड़ उपभोक्ता होण्डा ने भारत मं लाॅन्च किया अपना पहला दोपहिया वाहन- 100 सीसी एक्टिवा
उद्योग जगत में पहली टफ-ट्यूब पेश की
(होण्डा की पेटेंटेड पंक्चर रेज़िस्टेन्स टेक्नोलाॅजी जो अचानक पंक्चर की संभावना को 70 फीसदी तक कम करती है)
उद्योग जगत मंे पहली बार क्लिक ;ब्स्पब्द्ध (सुविधाजनक स्वतन्त्र लिफ्ट-अप कवर) मैकेनिज़्म आसान रखरखाव के लिए
यूनिसेक्स डिज़ाइन, रिफाइन्ड होण्डा वी-मैटिक ट्रांसमिशन, शानदार माइलेज, अतिरिक्त सुविधा और टिकाउपन के साथ एक्टिवा ने 2001-02 में ही 55,000 युनिट्स की बिक्री का आंकड़ा पार कर लिया।
2004.05 एक्टिवा भारतीय स्कूटर सेगमेन्ट में नया मार्केट लीडर बन गया।
2005.06 उपलब्धि- एक्टिवा- ने मात्र 55 महीनों में 1 मिलियन युनिट्स की बिक्री का आंकड़ा पार किया!
2008.09 नेक्स्ट जनरेशन एक्टिवा ने जारी रखी खुशियां
15 फीसदी ज़्यादा माइलेज देने वाला नया बड़ा 110 सीसी इंजन!
भारत में पहली बार पेश की गई टेक्नोलाॅजी- होण्डा ने काॅम्बी-ब्रेक सिस्टम विद इक्वीलाइज़र टेक्नोलाॅजी पेश की- भारत में निर्धारित नियमों से एक एक दशक पहले यह तकनीक होण्डा द्वारा पेश की गई!
उपलब्धि- 2001 में सालाना 55,000 युनिट्स की बिक्री से बढ़कर अब एक्टिवा की मासिक बिक्री 50,000 युनिट्स के आंकड़े को पार कर गई है!

2012.13 उपलब्धि-एक्टिवा ने कुल 5 मिलियन युनिट्स की बिक्री का आंकड़ा पार कर लिया, 2012-13 में मासिक बिक्री 1 लाख युनिट्स को पार कर गई।

2013.14 टेकनोलाॅजी मंे बदलावः होण्डा ईको टेक्नोलाॅजी ;भ्म्ज्द्ध भारत पहुंची। भ्म्ज् फ्रिक्शन का कम करती है, कम्बशन और ट्रांसमिशन को बेहतर बनाती है और 60 ाउचस की बेहतरीन माइलेज (होण्डा मोड) देती है।
होण्डा ने लाॅन्च किया एक्टिवा आई- रोज़मर्रा की यात्रा के लिए निजी काॅम्पैक्ट स्कूटर
2014.15 होण्डा ने भारत में लाॅन्च किया अपना पहला 125 सीसी स्कूटर- एक्टिवा 125
डिज़ाइन में शानदार बदलाव के साथ एक्टिवा 3 जी को भारत में लाॅन्च किया गया।
उपलब्धि- एक्टिवा ब्राण्ड मोरटसाइकलों को पछाड़ते हुए भारत का नंबर 1 बिकने वाला दोपहिया वाहन बन गया।
2015.16 ब्राण्ड एक्टिवा ने तोड़े सभी रिकाॅर्ड, 1 करोड़ उपभोक्ताओं की उपलब्धि हासिल करने वाला भारत का पहला स्कूटर ब्राण्ड बना
2016.17 हाल ही में 5 साल में 1.5 करोड़ उपभोक्ता एक्टिवा 125 भारत का पहला स्कूटर है ।भ्व् और ठै.4 कम्प्लायन्ट है।
2017.18 एक्टिवा 5 जी को नए डीलक्स वेरिएन्ट में लाॅन्च किया गया। यह 110 सीसी सेगमेन्ट में पहली बार- फुल एलईडी हैडलैम्प और पाॅज़िशन लैम्प के साथ आता है; साथ ही अतिरिक्त सुविधा के लिए डिजिटल एनालोग मीटर, 4-इन-1 लाॅक विद सीट ओपनर स्विच का लाॅन्च भी पेश किया गया।
2019 होण्डा ने निर्धारित समय से 6 माह पहले ठै.टप् दौर में प्रवेश किया। एक्टिवा125 ठै.टप् के साथ शुरू की क्वायट रेवोल्यूशन इसके बाद एक्टिवा 6ळ को बाज़ार में उतारा।
टेक्नोलाॅजी लीडरशिप- 26 नए पेटेंट ऐप्लीकेशन्स, एक्टिवा 125 ठै.टप् में 13 फीसदी ज़्यादा माइलेज
टेक्नोलाॅजी इनोवेशन- पेटेन्टेड एसीजी स्टार्टर मोटर के साथ नया साइलेन्ट स्टार्ट, दुनिया की पहली टम्बल फ्लो टेक्नोलाॅजी
नई टेक्नोलाॅजी- आइडलिंग स्टार्ट-स्टाॅप सिस्टम, साईड स्टैण्ड इंडीकेटर विद इंजन इन्हीबिटर
उद्योग जगत में पहली बार 6 साल की आॅप्शनल एक्सटेंडेड वारंटी
2020 एक्टिवा ने 20 साल पूरे होने के उपलक्ष्य में पेश किया 20वी एनीवर्सरी लिमिटेड एडीशन
एक्टिवा ब्राण्ड ने 2.5 करोड़ उपभोक्ताओं का आंकड़ा पार किया, और वो भी मात्र 20 सालों में। एक्टिवा इस उपलब्धि को हासिल करने वाला पहला स्कूटर ब्राण्ड है।

No comments:

Post a Comment

जेकेके में महाकाव्य महाभारत पर आधारित नाटक 'उरूभंगम' का हुआ मंचन

जयपुर।  जवाहर कला केंद्र (जेकेके) के  रंगायन  में पाक्षिक नाट्य योजना के तहत रंग साधना थिएटर ग्रुप, जयपुर द्वारा शनिवार शाम को नाटक 'उरू...