Wednesday, January 20, 2021

होण्डा 2 व्हीलर्स इंडिया ने मनाया 32वां राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा माह

जयपुर 20 जनवरी 2021 –  होण्डा मोटरसाइकल एण्ड स्कूटर इंडिया प्रा. लिमिटेड ने 32वें राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा माह (NRSM) के लिए 360 सड़क सुरक्षा जागरुकता अभियान का ऐलान किया है, सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय द्वारा निर्धारित विषय ‘सड़क सुरक्षा जीवन रक्षा’ के तहत कल इस राष्ट्र-व्यापी अभियान की शुरूआत हुई। सड़कों पर सबकी सुरक्षा को सुनिश्चित करने के लिए दुर्घटना मुक्त समाज के निर्माण के उद्देश्य के साथ होण्डा अपने अनूठे डिजिटल अभियान रोड सेफ्टी ई-गुरूकुल तथा देश भर में आॅफलाईन प्रशिक्षण के ज़रिए नागरिकों को सड़क सुरक्षा पर प्रशिक्षित करने के प्रयासों को और तेज़ करेगी।

जयपुर में होण्डा ने शास्त्री नगर स्थित चिल्ड्रन टैªफिक ट्रेनिंग पार्क में नियमित गतिविधियों के माध्यम से 3 लाख से अधिक बच्चों और व्यस्कों को शिक्षित किया है। कोविड-19 के चलते न्यू नाॅर्मल के इस दौर में होण्डा जपुर मई 2020 के बाद से 10,000 से अधिक नागरिकों को डिजिटल प्रशिक्षण दे चुकी है। इस राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा माह के अवसर पर होण्डा विभिन्न आयुवर्गों के लिए पेश किए गए 7 आॅनलाईन ट्रेनिंग मोड्यूल्स ( सभी आयु वर्गों के लिए अच्छा समारितन कानून, मोटर वाहन जागरुकता अधिनियम, पैदल यात्री की सुरक्षा के बारे में जागरुकता तथा सड़क सुरक्षा के सुनहरे नियम; व्यस्कों के लिए सड़क इंजीनियरिंग, वाहन के स्वास्थ्य की जांच और दस्तावेज तथा विशेष रूप से बस चालकों एवं कंडक्टरों के लिए स्कूल बस कम्युटेशन) के माध्यम से सड़क सुरक्षा जागरुकता को बढ़ावा देगी।

होण्डा का 360 डिग्री जागरुकता अभियान सभी आयु वर्गों के लोगों को सड़क सुरक्षा की स्वस्थ प्रथाओं पर शिक्षित करेगा। लर्नर लाइसेंस के लिए आवेदन करने वालों और यातायात नियमों का उल्लंघन करने वालों को 6 शहरों में स्थित होण्डा के सेफ्टी ड्राइविंग एजुकेशन सेंटरों में क्लासरूम प्रशिक्षण सत्रों के माध्यम से यातायात नियमों एवं सड़क सुरक्षा के बारे में जानने का मौका मिलेगा। साथ ही, 11 शहरों में होण्डा के 12 टैªफिक टेªनिंग पार्क 7 की क्षमता का डिजिटल उपयोग करते हुए देश भर की विभिन्न राज्य सरकारों, स्कूलों, काॅलेजों एवं काॅपोरेट्स के सहयोग से नागरिकों को सड़क सुरक्षा पर प्रशिक्षण प्रदान करेंगे। इसके अलावा होण्डा के 6300 से अधिक सेल्स एवं सर्विस आउटलेट्स देश भर के 1000 से अधिक नगरों और शहरों में होण्डा के दोपहिया उपभोक्ताओं को शिक्षित करेंगे। इस पहल को आगे बढ़ाते हुए होण्डा अपने 1000 से अधिक डीलरों, 4 मैनुफैक्चरिंग प्लान्ट्स, 17 ज़ोनल कार्यालयों, 5 क्षेत्रीय कार्यालयों और अपने मुख्यालय में आॅनलाईन सड़क सुरक्षा जागरुकता क्विज़ का आयोजन भी करेगी।

इस अवसर पर श्री प्र्रभु नागराज-सीनियर वाईस प्रेज़ीडेन्ट, ब्राण्ड एण्ड कम्युनिकेशन, होण्डा मोटरसाइकल एण्ड स्कूटर इंडिया प्रा. लिमिटेड ने कहा, ‘‘20 सालों से होण्डा सड़कों पर ‘सब की सुरक्षा’ के दृष्टिकोण के साथ प्रयास कर रही है। हर साल भारतीय सड़कों को सुरक्षित बनाने के उद्देश्य के साथ भारत में राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा सप्ताह का आयोजन किया जाता है। एक ज़िम्मेदार काॅर्पोरेट होने के नाते, होण्डा विशेष ई-गुरूकुल जागरुकता अभियान के माध्यम से देश भर के कई नगरों और शहरों में सड़क सुरक्षा अभियान का संचालन कर रही है। होण्डा के सेफ्टी इन्स्ट्रक्टर्स महत्वपूर्ण विषयों पर ज़ोर देंगे जैसे सड़क इंजीनियरिंग, मोटर वाहन अधिनियम, वाहनों की नियमित जांच का महत्व, राइडिंग की सही तकनीकंे और सड़क सुरक्षा के सुनहरे नियम आदि। इस पहल के साथ, होण्डा सड़क का उपयोग करने वाले हर व्यक्ति को जागरुक बनाना चाहती है, फिर चाहे वे मौजूदा या नए राइडर हों या फिर छोटे बच्चे जो सड़क पर पैदल चलते हैं या वे लोग पिलियन राइडर के रूप में दोपहिया वाहन की सवारी करते हैं।’’

एक माह तक चलने वाले इस अभियान के दौरान होण्डा अपने विशेष लर्निंग मोड्यूल्स एवं गतिविधियों के माध्यम से इन लोगों को जागरुक बनाएगीः
1. स्कूली बच्चेः होण्डा डिजिटल तरीकों से स्कूलीे बच्चों को महत्वपूर्ण विषयों जैसे सुरक्षा गियर, सड़क सुरक्षा के नियम, यातायात संकेतों आदि पर शिक्षित करेगी। प्रशिक्षण को और अधिक रोचक बनाते हुए होण्डा सड़क सुरक्षा पर आधारित क्विज़ प्रतियोगिता, पोस्टर मेकिंग एवं पेंटिंग प्रतियोगिताओं का आयोजन भी करेगी।
2. नए एवं मौजूदा राइडर और ड्राइवरः होण्डा के सेफ्टी इंस्ट्रक्टर डिजिटल तरीकों से राइडरों और ड्राइवरों को ब्लैकस्पाॅट, अच्छे समारितन कानून, वाहन की जांच आदि पर शिक्षित करेंगे।
3. होण्डा के उपभोक्ताः 16 वर्ष से अधिक उम्र के उपभोक्ताओं के लिए एक विशेष राइडर प्रशिक्षण गतिविधि का आयोजन किया जाएगा, जिन्हें सड़क पर 100 से अधिक संभावी खतरों पर जागरुक बनाया जाएगा। होण्डा के टच पाॅइन्ट्स विभिन्न गतिविधियों के माध्यम से उपभोक्ताओं को प्रशिक्षित करेंगे जैसे कस्टमर लाउंज पर सड़क सुरक्षा वीडियो, यातायात के नियम एवं सड़क सुरक्षा संकेतों के लिए पेम्पलेट का वितरण और बैनर्स के डिस्प्ले आदि।

सड़क सुरक्षा संवर्धन में होण्डा की भूमिकाः
1970 के बाद से होण्डा न केवल राइडरों को बल्कि सड़क पर हर व्यक्ति को सड़क सुरक्षा की शिक्षा प्रदान करने वाली पहली आॅटोमोबाइल निर्माता है। होण्डा ‘हर किसी की सुरक्षा’ के दृष्टिकोण को दुनिया के 41 देशों में विस्तारित कर चुकी है।
भारत में भी होण्डा सड़क सुरक्षा शिक्षा को बढ़ावा देने वाली पहली दोपहिया निर्माता थी। 20 सालों में होण्डा 38 लाख से अधिक लोगों को सड़क सुरक्षा पर शिक्षित और प्रशिक्षित कर चुकी है। होण्डा के 12 अडाॅप्टेड टैªफिक ट्रनिंग पार्क रोज़ना बच्चों और व्यस्कों के लिए शैक्षणिक कार्यक्रमों का आयोजन करते हैं; इसके 6 सुरक्षा ड्राइविंग एजुकेशन सेंटर लर्नर लाइसेंस के लिए आवेदन करने वालों और यातायात नियमों का उल्लंघन करने वालों को प्रशिक्षण देते हैं। देश भर मंे होण्डा की सभी 1000 से अधिक डीलरशिप्स नए उपभोक्ताओं को प्री-डिलीवरी सुरक्षा प्रशिक्षण देती हैं, उन्हें वर्चुअल सिमुलेटर के माध्यम से व्यवहारिक प्रशिक्षण दिया जाता है। इसके अलावा होण्डा के कुशल सेफ्टी इंस्ट्रक्टर स्कूलों, काॅलेजों, सोसाइटियों एवं काॅर्पोरेट्स में नियमित शिविरों के माध्यम से सड़क सुरक्षा का संदेश प्रसारित करते हैं।
मई 2020 में होण्डा ने अपने डिजिटल सड़क सुरक्षा अभियान -‘होण्डा रोड सेफ्टी ई-गुरूकुल’ का लाॅन्च किया। तब से होण्डा की सुरक्षा टीम डिजिटल माध्यमों से भारत के 185 से अधिक नगरों में 2 लाख से अधिक लोगों को प्रशिक्षित कर चुकी है।

No comments:

Post a Comment

उत्कर्ष : तिरंगा थीम पर आयोजित विशाल रक्तदान शिविर का उत्साहपूर्ण समापन

जोधपुर।  उत्कर्ष क्लासेस द्वारा शिक्षाविद एवं समाजसेवी तथा संस्था के संस्थापक व निदेशक डॉ. निर्मल गहलोत के 44वें जन्मदिवस के अवसर पर शनिवार,...