Saturday, January 30, 2021

ब्रूकफिल्ड इंडिया रियल इस्टेट ट्रस्ट का आईपीओ 03 फरवरी, 2021 को खुलेगा और 05 फरवरी, 2021 को बंद होगा

जयपुर 30 जनवरी 2021: ब्रूकफिल्‍ड इंडिया रियल इस्टेट ट्रस्ट (”ब्रूकफिल्ड आरईआईटी”), जो भारत का एकमात्र 100 प्रतिशत संस्‍थागत रूप से प्रबंधित पब्लिक कॉमर्शियल रियल इस्‍टेट व्‍हीकल है, यह आईपीओ 03 फरवरी, 2021 को खुलेगा। इस आईपीओ का प्राइस बैंड 274 रु. से 275 रु. प्रति यूनिट के बीच तय किया गया है। ब्रूकफिल्‍ड आरईआईटी, ₹38,000 मिलियन तक के यूनिट्स जारी कर रहा है (”इश्‍यू”)। यह आईपीओ, भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड (रियल इस्‍टेट इन्‍वेस्‍टमेंट ट्रस्‍ट्स) विनियमन, 2014 यथा संशोधित के अधिनियम 14(1) (”आरईआईटी विनियमन”) के अनुसार उपलब्‍ध कराया जा रहा है।

ब्रूकफिल्‍ड आरईआईटी की यूनिट्स, बीएसई लिमिटेड (”बीएसई”) और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज ऑफ इंडिया लिमिटेड (”एनएसई”, बीएसई के साथ, ”स्‍टॉक एक्‍सचेंजेज”) पर सूचीबद्ध किये जाने हेतु प्रस्‍तावित हैं। ब्रूकफिल्‍ड आरईआईटी को दिनांक 2 नवंबर, 2020 और 5 नवंबर, 2020 के पत्रों के अनुसार हमारे यूनिट्स की लिस्टिंग के लिए क्रमश: बीएसई और एनएसई से इन-प्रिंसिपल स्‍वीकृतियां मिल चुकी हैं। इश्‍यू का विनिर्दिष्‍ट स्‍टॉक एक्‍सचेंज, बीएसई है।

इश्‍यू से होने वाली शुद्ध आय का उपयोग अग्रलिखित उद्देश्‍यों हेतु किया जायेगा: (1) एस्‍सेट एसपीवी की मौजूदा ऋणों के आंशिक या पूर्ण भुगतान या निर्धारित चुकौती (27 जनवरी, 2021 की तिथि के ऑफर डॉक्यूमेंट के पृष्ठ 219 पर ‘यूज ऑफ इश्‍यू प्रोसिड्स – रिक्‍वायरमेंट ऑफ फंड्स’ के तहत निर्धारित शुद्ध आय निर्देशों के उपयोग के अनुसार); और (2) सामान्‍य उद्देश्य।

यह इश्‍यू, आरईआईटी विनियमनों और सेबी दिशानिर्देशों (जैसा कि ऑफर दस्‍तावेज में उल्‍लेखित है) और बुक बिल्डिंग प्रक्रिया के अनुसार उपलब्‍ध कराया जा रहा है, जहां इश्‍यू का 75 प्रतिशत से अनधिक हिस्‍सा संस्थागत निवेशकों को आनुपातिक आधार पर आवंटन हेतु उपलब्‍ध होगा, हालांकि मैनेजर, लीड मैनेजर्स के परामर्श से संस्‍थागत निवेशक हिस्‍से का 60 प्रतिशत तक हिस्‍सा, आरईआईटी विनियमनों एवं सेबी दिशानिर्देशों के अनुसार विवेकानुसार एंकर निवेशकों को आवंटित कर सकते हैं।

आगे, इश्‍यू का 25 प्रतिशत से अनधिक हिस्‍सा, आरईआईटी विनियमनों एवं सेबी दिशानिर्देशों के अनुसार गैर-संस्‍थागत निवेशकों को आनुपातिक आधार पर आवंटित किये जाने हेतु उपलब्‍ध होगा, बशर्ते वैध बोलियां इश्‍यू मूल्‍य पर या इससे ऊपर प्राप्‍त हों। मैनेजर, लीड मैनेजर्स के परामर्श से आरईआईटी विनियमन और सेबी दिशानिर्देशों के अनुसार इश्‍यू के ओवरसब्‍सक्रिप्‍शन को बनाये रख सकता है।

एंकर निवेशकों को छोड़कर, सभी बोलीदाताओं को इस इश्‍यू में भाग लेने के लिए एप्लिकेशन सपोर्टेड बाय ब्‍लॉक्‍ड एमाउंट (”एएसबीए”) प्रक्रिया का अनिवार्य रूप से उपयोग करना होगा और उन्‍हें अपने-अपने बैंक खातों की जानकारी देनी होगी, जिसे सेल्‍फ सर्टिफाइड बैंक्‍स (”एससीएसबी”) द्वारा ब्‍लॉक कर दिया जायेगा।

एंकर निवेशकों द्वारा सब्‍सक्राइब किये जाने हेतु उपलब्‍ध यूनिट्स के अलावा, बोलदाताओं द्वारा न्‍यूनतम 200 यूनिट्स व उसके बाद 200 यूनिट्स के गुणकों में बोलियां लगायी जा सकती हैं।

एक्सिस ट्रस्‍टी सर्विसेज लिमिटेड, ट्रस्‍टी है, जबकि बीएसआरईपी इंडिया ऑफिस होल्डिंग्‍स वी प्राइवेट लिमिटेड, स्‍पॉन्‍सर है। ब्रूकप्रॉप मैनेजमेंट सर्विसेज प्राइवेट लिमिटेड, मैनेजर है।

इश्‍यू के ग्‍लोबल कोऑर्डिनेर्ट्स और बुक रनिंग लीड मैनेजर्स (”जीसीबीआरएलएम”) मॉर्गन स्‍टेनली इंडिया कंपनी प्राइवेट लिमिटेड, बोफा सिक्‍योरिटीज इंडिया लिमिटेड, सिटीग्रुप ग्‍लोबल मार्केट्स इंडिया प्राइवेट लिमिटेड और एचएसबीसी सिक्‍योरिटीज एंड कैपिटल मार्केट्स (इंडिया) प्राइवेट लिमिटेड हैं। इश्‍यू के बुक रनिंग लीड मैनेजर्स (”बीआरएलएम”) एम्बिट प्राइवेट लिमिटेड, एक्सिस कैपिटल लिमिटेड, आईआईएफएल सिक्‍योरिटीज लिमिटेड, जेएम फाइनेंशियल लिमिटेड, जे.पी. मॉर्गन इंडिया प्राइवेट लिमिटेड, कोटक महिंद्रा कैपिटल कंपनी लिमिटेड और एसबीआई कैपिटल मार्केट्स लिमिटेड हैं।

 

  

No comments:

Post a Comment

सीत कमल को विभिन्न श्रेणी में मिले दो अवार्ड

कपड़ा मंत्री पीयूष गोयल ने सीत कमल के  गौतम नाथानी को सम्मान से नवाज़ा नई दिल्ली। नई दिल्ली में हस्तशिल्प निर्यात संवर्धन परिषद (ईपीसीएच) ने ...