Thursday, December 17, 2020

स्नैपडील ने ऑनलाइन आर्डर के लिए क्यूआर कोड भुगतान को आसान बनाने के लिए एनपीसीआई के साथ की साझेदारी

जयपुर 17 दिसंबर 2020 -भारत के अग्रणी वैल्यू-फोकस्ड आॅनलाईन मार्केटप्लेस स्नैपडील ने आॅर्डर की डिलीवरी के समय उपभोक्ताओं के लिए क्यूआर-आधारित डिजिटल पेमेन्ट की प्रक्रिया को आसान बनाने के लिए भारतीय राष्ट्रीय भुगतान निगम (एनपीसीआई) के साथ साझेदारी की है।

यह सुविधा खासतौर पर उन नए या पहली बार खरीददारी करने वाले उपभोक्ताओं को ध्यान में रखते हुए पेश की गई है जो सामान की खरीद के समय प्री-पेमेन्ट करने में सहज महसूस नहीं करते।

डिलीवरी प्रक्रिया के दौरान उपभोक्ता को डिलीवरी देते समय ‘क्यूआर-कोड पेमेन्ट का विकल्प’ दिया जाएगा। डिलीवरी ऐप पर इस लिंक का उपयोग करते हुए, डिलीवरी एक्ज़िक्युटिव, आॅर्डर की राशि के लिए यूपीआई-लिंक्ड क्यूआर कोड जनरेट करेगा। उपभोक्ता अपने फोन पर किसी भी यूपीआई-लिंक्ड पेमेन्ट ऐप के साथ इस कोड को स्कैन कर सकेंगे और अपनी खरीद के लिए भुगतान कर सकेंगे। उपभोक्ता भुगतान से पहले भुगतान करने वाले के नाम और राशि की पुष्टि भी कर सकेंगे।

यह सुविधा यूपीआई के सभी भुगतान विकल्पों जैसे भीम, गूगल पे, व्हाॅटसऐप पे, फोनपे, पेटीएम और निजी एवं सार्वजनिक क्षेत्रों के अग्रणी बैंकों जैसे एचडीएफसी, एसबीआई, आईसीआईसीआई आदि के यूपीआई ऐप्स के साथ काम करेगी।

गैर-महानगरों में उपभोक्ताओं के साथ स्नैपडील के मजबूत कनेक्शन को देखते हुए, यह साझेदारी छोटे शहरों में यूपीआई आधारित भुगतान के उपयोग को प्रोत्साहित करेगी। सार्वजनिक एवं निजी क्षेत्रों के मुख्य बैंकों के अलावा, स्नैपडील के उपभेाक्ता जो सहकारी बैंकों (शेड्यूल्ड को-आॅपरेटिव बैंक, जिला सहकारी बैंक, राज्य सहकारी बैंक, शहरी सहकारी बैंक) तथा क्षेत्रीय ग्रामीण बैंकों के साथ बैंकिंग करते हैं, वे भी इस फीचर के ज़रिए भुगतान कर सकेंगे।

यह साझेदारी लक्षित उपभोक्ताओं को ध्यान में रखते हुए स्नैपडील और एनपीसीआई दोनों के संबंधों को मजबूत बनाएगी। यूपीआई की बात करें तो विभिन्न प्रकार के मर्चेन्ट्स पर इनके लिए सहज भुगतान के अवसरों को बढ़ावा मिलेगा।

रजनीश वाही, सीनियर वाईस प्रेज़ीडेन्ट, स्नैपडील के अनुसार, ‘‘हम उपभोक्ताओं, खासतौर पर उनके लिए आॅनलाईन अनुभव को और अधिक बेहतर एवं सुविधाजनक बनाना चाहते हैं, जो हमारे साथ आॅनलाईन यात्रा की शुरूआत कर रहे हैं। एनपीसीआई के साथ इस साझेदारी के माध्यम से उपभोक्ता सहजता से भुगतान कर सकेंगे और साथ ही हमारे डिलीवरी पार्टनर के लिए भी कैश हैण्डल करने की समस्या कम हो जाएगी। हमारा मानना है कि इससे देश के छोटे शहरों और नगरों में यूपीआई के उपयोग को बढ़ावा मिलेगा।’’

कुनाल कलावाटिया, चीफ़ आॅफ मार्केटिंग, एनपीसीआई ने कहा, ‘‘स्नैपडील के साथ जुड़ते हुए हमें बेहद खुशी का अनुभव हो रहा है, इस साझेदारी के माध्यम से हम उपभोक्ताओं को यूपीआई के ज़रिए भुगतान का सहज एवं सुविधाजनक अनुभव प्रदान कर सकेंगे। हमारा मानना है कि यह पहल असंख्य खरीददारों में यूपीआई लेनदेन को बढ़ावा देगी, और उन्हें डिजिटल लेनदेन के लिए ज़्यादा आत्मविश्वास देगी, फिर चाहे वे सीओडी को पेमेन्ट के विकल्प के रूप में चुनें। यूपीआई के माध्यम से एनपीसीआई भारतीय उपभोक्ताओं को भुगतान के स्मार्ट, सुरक्षित एवं सहज समाधान उपलब्ध कराने के लिए प्रयासरत है। हमें उम्मीद है कि इस तरह की सामरिक पहलों के साथ भारत जल्द ही डिजिटल समाज के लक्ष्यों को हासिल करने में सफल होगा।’’

डिजिटल पे-आॅन-डिलीवरी का विकल्प अपनाने से डिलीवरी के समय टाईम की बचत होती है। इससे डिलीवरी एक्ज़िक्युटिव और कोरियर कंपनियों के लिए भी कैश हैण्डल करने की समस्या कम हो जाती है, क्योंकि भुगतान की राशि सीधे उपभोक्ता के बैंक खाते से मार्केटप्लेस के निर्धारित खाते में स्थानान्तरित हो जाती है।

इस साझेदारी के माध्यम से यूपीआई के उपयोगकर्ता स्नैपडील आॅर्डर की डिलीवरी लेते समय आसानी से डिजिटल भुगतान कर सकेंगे।

स्नैपडील अपने प्लेटफाॅर्म पर डिजिटल भुगतान की व्यापक रेंज पेश करता है। इसमें क्रेडिट और डेबिट कार्ड, ईएमआई, नेट बैंकिंग, ई-गिफ्ट कार्ड और ई-वाॅलेट आदि शामिल हैं। यह ई-काॅमर्स फर्म इस साल त्योहारों की शुरूआत से ही भुगतान के ढेरों आकर्षक आॅफर पेश कर रही है।

No comments:

Post a Comment

जेकेके में महाकाव्य महाभारत पर आधारित नाटक 'उरूभंगम' का हुआ मंचन

जयपुर।  जवाहर कला केंद्र (जेकेके) के  रंगायन  में पाक्षिक नाट्य योजना के तहत रंग साधना थिएटर ग्रुप, जयपुर द्वारा शनिवार शाम को नाटक 'उरू...