Sunday, November 15, 2020

17 नवंबर से ऑल कोचिंग इंस्टिट्यूट महासंघ के पदाधिकारी करेंगे आमरण अनशन


 


शहीद स्मारक पर फीस तथा शिक्षण संस्थानों को खुलवाने के मुद्दे पर शिक्षण संस्थान के संचालक तथा कोचिंग संस्थाएं होंगी एक साथ आंदोलन में शरीक

17 नवंबर से शहीद स्मारक में स्कूल संचालक तथा कर्मचारियों द्वारा चलाए जा रहे फीस मुद्दे के आंदोलन में ऑल कोचिंग इंस्टिट्यूट महासंघ के पदाधिकारी भी आमरण अनशन के साथ जुड़ने वाले हैं. फोरम ऑफ प्राइवेट स्कूल राजस्थान के तत्वाधान में चल रहे आंदोलन में स्कूल संचालकों की ओर से हेमलता तथा उनके सहयोगी पिछले लगभग 1 सप्ताह से आमरण अनशन कर रही हैं ऐसे में ऑल कोचिंग इंस्टिट्यूट महासंघ ने घोषणा की है कि 16 नवंबर तक स्कूल संचालकों के फीस के मुद्दे पर तथा कोचिंग तथा शिक्षण संस्थाओं को खोलने के मुद्दे पर सरकार ने सकारात्मक रूप नहीं दिखाया तो राज्य भर में जिला स्तर पर तथा तहसील स्तर पर आंदोलन किया जाएगा इस आंदोलन में प्रदेश भर के सभी कोचिंग संस्थान , शिक्षण संस्थान होस्टल तथा लाइब्रेरी संस्थान शामिल होंगे. ओल कोचिंग इंस्टिट्यूट महासंघ के प्रदेश अध्यक्ष आर सी शर्मा ने बताया है कि लॉकडाउन शुरू होने के प्रथम दिन से अब तक प्रदेश में शिक्षण तथा कोचिंग संस्थान बंद है जिसके चलते इन संस्थानों में कार्य करने वाले शिक्षक तथा कर्मचारियों के साथ कोचिंग संचालक बर्बादी के कगार पर पहुंच चुके हैं जिन्हें किसी प्रकार की अन्य आर्थिक सहायता भी राज्य सरकार द्वारा उपलब्ध नहीं कराई जा रही है ऐसे में उनके पास बचे एकमात्र जीविकोपार्जन का जरिया शिक्षण संस्थाएं तथा कोचिंग संस्थाएं हैं जिनके बंद रहने के कारण उनके सामने जिंदा रहने की समस्या आ खड़ी हुई है इस समस्या के चलते राज्य में कई शिक्षण संस्थाएं तथा कोचिंग संस्थाएं बंद हो चुकी है और लोग इस विकट समस्या का समाधान खोजने की गुजारिश सरकार से पिछले 3 महीने से लगातार कर रहे हैं लेकिन सरकार नहीं सुन रही है. ऑल कोचिंग इंस्टिट्यूट महासंघ के प्रदेश संयोजक अनीष कुमार ने नवंबर 17 तारीख को आमरण अनशन में बैठने की घोषणा करते हुए कहा है कि 16 नवंबर तक सरकार ने उचित फैसला नहीं दिया तो राज्य भर की शिक्षण संस्थाओं ,कॉलेजों ,कोचिंग संस्थाओं ,लाइब्रेरीओं, तथा हॉस्टलों में काले झंडे लगा दिए जाएंगे तथा राज्य स्तरीय आंदोलन की शुरुआत कर दी जाएगी. ऑल कोचिंग इंस्टिट्यूट महासंघ के प्रदेश संयोजक अनीष कुमार  ने राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ,शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा ,परिवहन एवं सैनिक कल्याण मंत्री प्रतापसिंह खाचरियावास तथा कांग्रेस के वरिष्ठ नेता महेश जोशी से अपील की है कि वे इस आंदोलन को नजरअंदाज न कर आंदोलन से जुड़े लाखों लोगों की चिंता करें क्योंकि शिक्षण जगत से जुड़े लाखों लोग संजीवनी की आशा में इन नेताओं की ओर देख रही है 

No comments:

Post a Comment

टाटा पावर ने भारत में ईवी-चार्जिंग के बुनियादी ढांचे को ऊर्जा प्रदान करने के लिए ह्युंदाई मोटर इंडिया के साथ की साझेदारी

राष्ट्रीय 17 मई 2022 : देश की एक सबसे बड़ी एकीकृत बिजली कंपनी और ईवी चार्जिंग की बुनियादी सुविधाएं प्रदान करने वाली अग्रणी कंपनी टाटा पावर ने...